योनि का सूखापन का उपाय और कारण Vaginal Dryness reasons and cure

Yoni dryness ke karan aur ilaj in Hindi. Yoni ka sukhapan kaise dur kare. Know the reasons behind vegina dryness and how to treat vegainal dryness naturally in Hindi.

योनि का सूखापन को इंग्लिश में वेजाइनल ड्राईनेस कहते है। इसे योनिक सूखापन, योनि शुष्कता, आदि नामों से भी जानते हैं।

Loading...

इसमें योनि से उस साफ़ स्राव का रिसाव कम या नहीं होता जो इसको चिकना और नमी युक्त रखता है। योनि का यह सामान्य स्राव लुब्रिकेशन के काम आता है और योनि को संक्रमण से भी बचाता है। यह स्राव एस्ट्रोजन हॉर्मोन के द्वारा प्रभावित होता है।

योनि में प्राकृतिक रूप से पाई जाने वाली चिकनाहट इसकी लाइनिंग को स्वस्थ्य, मोटा और इलास्टिक बनाये रखती है। यह स्राव एसिडिक होता है व संक्रमण होने की संभावना को कम करता है। सेक्स के दौरान बर्थोलिन डक्ट से इस स्राव की मात्रा और बढ़ जाती है।

योनि का सूखा होना या ड्राईनेस कई कारणों से हो सकती है। मेनोपाज़, स्तनपान, ओवरी के हटा देना और फिब्रोइड के इलाज़ में प्रयोग की जाने वाले दवाएं वेजाइनल ड्राईनेस कर सकती हैं। इसके अतिरिक्त अन्य बहुत से कारण भी हो सकते हैं। रजोनिवृति से पहले तथा हो जाने पर, स्तनपान के दौरान भी यह समस्या देखी जाती है। ऐसा एस्ट्रोजन की कमी के कारण होता है।

वेजाइनल ड्राईनेस का सबसे अधिक असर सेक्स लाइफ पर पड़ता है। इस कारण सेक्स करना न केवल कठिन हो जाता है अपितु दर्दनाक भी हो सकता है। योनि की शुष्कता के कारण सहवास में असमर्थता हो सकती है। वेजाइनल ड्राईनेस से खुजली, जलन और दर्द होने से महिला के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ता है।

यदि ऐसा हो तो स्त्रीरोग विशेषज्ञ | गायनेकोलोजिस्ट से कंसल्ट करना चाहिए।

Atrophic Vaginitis, Vaginitis due to reduced estrogen, Menopause vaginal dryness or Vaginal dryness are synonyms for condition in which tissues of the vagina are not lubricated. Normally, vagina secretes a clear fluid which keeps it moist and healthy. Lack of this clear vaginal discharge causes dryness and makes sex difficult and painful. There can be various reason for this condition. Reduced level of estrogen, removal of ovaries, certain drugs, are few contributing factors. You should consult gynecologist when the condition is persistent and does not go away with the use of water based lubricants.

इसे भी पढ़ें -  सिजेरियन डिलीवरी कैसे होती है और इसके खतरे क्या हैं

योनि का सूखापन या वेजाइनल ड्राईनेस के क्या कारण हैं?

वेजाइनल ड्राईनेस के बहुत से कारण हैं। यह किसी भी उम्र की महिला को हो सकता है।

Yoni me dryness ke karan

  1. साबुन, कपड़े धोने के डिटर्जेंट, लोशन, डियो या धोने से भी सूखापन हो सकता है।
  2. कुछ दवाएं, धूम्रपान, टैम्पोन, और कंडोम योनि में सूखापन भी पैदा कर सकते हैं या स्थिति को और खराब कर सकते हैं।
  3. यदि प्रजनन अंगों को सूखा रखने के लिए कोई महिला पाउडर का इस्तेमाल योनि क्षेत्र में करती है तो भी यह समस्या हो सकती है।
  4. स्ट्रेस, स्प्रे का प्रयोग, स्विमिंग पूल में जाना, वाशिंग पाउडर, आदि से भी यह समस्या हो सकती है।

अन्य सेक्स सम्बन्धी कारण हैं:

  1. फोरप्ले न करना
  2. सेक्स में रूचि की कमी
  3. संबंधों में दिक्कत
  4. मन में गलती का भाव
  5. प्यार की कमी
  6. शरीर में एस्ट्रोजन का गिरता स्तर

एस्ट्रोजेन योनि के ऊतकों को चिकनाई देता है और उन्हें स्वस्थ रखता है। आम तौर पर, योनि की परत एक स्पष्ट, स्नेहन तरल पदार्थ बनाती है। यह द्रव यौन संभोग को और अधिक आरामदायक बनाता है। यदि एस्ट्रोजन का स्तर गिरता है तो योनि के ऊतक कम और पतले हो जाते हैं और योनि के सूखापन और सूजन हो सकती है।

एस्ट्रोजेन का स्तर सामान्यतः रजोनिवृत्ति के बाद कम हो जाता है। लेकिन निम्नलिखित कारणों से भी एस्ट्रोजेन के स्तर में कमी आ सकती है:

  1. स्तन कैंसर, एंडोमेट्रियोसिस, फाइब्रॉएड या बांझपन के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवाएं या हार्मोन
  2. डिप्रेशन क एलिए दी जाने वाली दवाएं
  3. अंडाशय को निकालने के लिए सर्जरी
  4. पैल्विक क्षेत्र में विकिरण उपचार
  5. गंभीर तनाव, अवसाद,
  6. तीव्र अभ्यास

कुछ महिलाओं को प्रसव के बाद या स्तनपान कराने के बाद यह समस्या हो सकती है क्योंकि इस समय एस्ट्रोजेन का स्तर कम हो जाता है।

योनि का सूखापन वेजाइनल ड्राईनेस के लक्षण क्या हैं?

Loading...

इसके कोई विशिष्ट शारीरिक लक्षण नहीं होते।

इसे भी पढ़ें -  टुडे गर्भनिरोधक Today Women's Contraceptive Uses, Benefits, Side Effects, Warnings in Hindi

इसके योनि संबंधित लक्षणों में शामिल हैं:

  1. पेशाब में जलन
  2. संभोग के बाद ब्लड जाना
  3. सेक्स के दौरान दर्द
  4. योनि स्राव
  5. योनि में दर्द, खुजली या जलन

योनि का सूखापन लिए कौन से परीक्षाएं और टेस्ट उपलब्ध हैं?

पैल्विक एग्जामिनेशन से पता चलता है कि योनि की दीवारें पतली, लाल हैं या उनमें सूखापन है।

योनि स्राव के कम होने के कारण को जानने के लिए होर्मोन टेस्ट किये जा सकते हैं। हार्मोन स्तर परीक्षण से मिल यह पता लग सकता है कि हॉर्मोन का स्तर कम हो रहा है या रजोनिवृत्ति होने वाली है।

Yoni ke sukhapan ka ilaj वेजाइनल ड्राईनेस का इलाज क्या है?

योनि सूखापन के लिए कई उपचार हैं। लक्षणों और कारण के आधार पर उपचार किया जाता है:

स्नेहक और योनि मॉइस्चराइजिंग क्रीम का उपयोग करने की कोशिश करें।

संभोग के दौरान एक पानी में घुलनशील योनि स्नेहक का उपयोग करें। पेट्रोलियम जेली, खनिज तेल या अन्य तेलों के साथ उत्पादों में लेटेक्स कंडोम या डायाफ्राम फट सकता है।

सुगंधित साबुन, लोशन, इत्र या पाउडर या योनि को बहुत अधिक धोने से बचें।

त्वचा के पैच के रूप में एस्ट्रोजेन (हार्मोन थेरेपी) ले सकते हैं या एक गोली के रूप में सीए ले सकते है यदि में जो मुंह से लेते हैं यदि रजोनिवृत्ति के अन्य लक्षण हैं।

  1. योनि के सूखेपन से क्या संभव जटिलतायें हैं?
  2. यीस्ट या जीवाणु संक्रमण होने की संभावना अधिक हो जाती है।
  3. योनि में घाव या जलन और दर्द रह सकता है।
  4. संभोग के समय दर्द आपके साथी या पति के साथ आपके संबंध को प्रभावित कर सकता है।

कब डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए?

यदि योनि में सूखापन या दर्द, जलन, खुजली, या संभोग के दौरान दर्द है, जो पानी के घुलनशील स्नेहक सका उपयोग करते हुए भी दूर नहीं होता तो डॉक्टर को दिखाएँ।

खुद से लिए जा सकने वाले उपाय क्या है?

  1. ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त आहार जैसे की बीजों (तिल, सूर्यमुखी, अलसी) का सेवन करें।
  2. प्रोबायोटिक्स, ताज़े फल और सब्जी का सेवन करें।
  3. चाय, काफी, कोल्ड ड्रिंक्स आदि का सेवा न करें।
  4. शराब, सिगरेट का प्रयोग न करें।
  5. पानी खूब पियें। पानी कम पीने से जैसे होंठ सूखते है वैसे ही योनि में भी सूखापन हो सकता है।
  6. सेक्स के दौरान फोरप्ले पर अधिक ध्यान दें।
  7. सेक्स को लेकर भय या स्ट्रेस में न रहें। यदि ऐसा हो तो आपस में बात करें।
  8. ज़रूरत हो तो वाटर बेस्ड ल्यूब्स (एस्ट्रोग्लाइड Astroglide) का प्रयोग करें। ऐसे लुब्रिकेंट्स का प्रयोग करें जो कि योनि के लिए विशेष रूप से निर्मित हैं।
  9. इंटिमेट एरिया के आस-पास कोई भी डियो, परफ्यूम, साबुन, प्रयोग न करें।
  10. तनाव कम करें, खुश रहें।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!