ढीली योनि को टाइट करने के असरदार तरीके Tighten Your Vagina – Vaginal Tightening

क्या योनि को दुबारा टाइट करना सम्भव है? विज्ञान के अनुसार अभी तक वजाइना को टाइट करने के तीक उपाय उपलब्ध हैं। इंट्रा योनि दवा intra-vaginal application of medicine, कीगल एक्सरसाइज Kegel exercises और सर्जरी Vaginoplasty। आप इन तीनो के संयोजन से उआपस अपनी योनि को कड़ा कर सकती हैं।

स्त्रियों में पूरी प्रजनन प्रणाली श्रोणि pelvis में होती है। योनि पैर के बीच में स्थित होती है। योनि की ओपनिंग को वल्वा ढकी हुई रखती है। आंतरिक प्रजनन अंग में आंतरिक योनि, गर्भाशय, फैलोपियन ट्यूब और अंडाशय हैं।

Loading...

योनि एक पेशीय कैनाल है। यह एक मांसल, खोखली ट्यूब है जो योनि की बाहरी ओपनिंग से गर्भाशय तक फैली हुई है। वयस्क महिला में योनि लगभग 3 से 5 इंच (8 से 12 सेंटीमीटर) लंबी होती है। योनि मस्कुलर ओरगन है इसलिए यह फैलती और सिकुड़ती है। योनि की मांसपेशियां लोचदार होती हैं और उनमें वापस आने की क्षमता होती है। संकुचित होने की क्षमता से योनि बंद रहती है। फैलने की क्षमता से प्रसव के दौरान एक बच्चे को जन्म दिया जा सकता है।

योनि की पेशी की दीवारें में श्लेष्म झिल्ली होती हैं, जो इसे सुरक्षित और नम रखती हैं। उत्तेजना होने पर आपका शरीर नाइट्रिक ऑक्साइड को रिलीज करता है, जिससे आपकी योनि और गर्भाशय ग्रीवा में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है। यह योनि स्नेहन भी बढ़ा देता है। अतिरिक्त स्नेहन से योनी लूज़ लगती है लेकिन ऐसा मांसपेशियों के रिलैक्स होने और गीलेपन के कारण होता है।

योनी टाइट है या नहीं vaginal looseness कि जांच करने के लिए योनि में एक उंगली रखकर और आस-पास के भीतर की मांसपेशियों को सिकोड़ें। यदि उंगली पर कम दबाव या कोई दबाव नहीं लगता है, तो ढीली योनी loose vagina है।

वैज्ञानिक रूप से वर्तमान में योनि की मांसपेशियों को कसने के केवल दो ही साधन हैं – कीगल एक्सरसाइज और सर्जरी। कीगल एक्सरसाइज Kegel’s exercises व्यायाम के सेट हैं जो पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों पर काम करते हैं। इसको नियमित करने से वेजाईनल कैनाल की मांसपेशियों को कसने में मदद मिलती है। इसे नियमित रूप से कई महीने तक करने से लाभ मिलता है और ढीली योनी में कसाव आता है। इसे बच्चा होने के बाद भी नियमित करना चाहिए।  जल्दी से परिणाम पाने के लिए केवल सर्जरी एकमात्र साधन है। जिसके लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ / कॉस्मेटिक सर्जन के साथ मिलकर इस विकल्प के बारे में जानना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  गर्भवती होने का सही समय के लिए ओवुलेशन किट कैसे इस्तेमाल करें Ovulation Test Kit in Hindi

योनि ढीली होने के क्या कारण हैं?

बच्चे के जन्म के बाद, बच्चे का आकार, एक के बाद एक कई वेजाइनल डिलीवरी, आनुवांशिकी, उम्र, हॉर्मोन में परिवर्तन, अधिक वज़न ये सभी फैक्टर योनि में ढीलापन ला सकते हैं।

 उम्र

योनी में उम्र के साथ शिथिलता आने लगती है। जैसे जैसे एस्ट्रोजेन का स्तर घटता है, योनि के ऊतक पतले हो जाते हैं और मांसपेशियों के अट्रोफी होने से योनि के कसने की क्षमता कम हो सकती है।

नेचुरल प्रसव

कुछ महिलाओं, विशेष रूप से, जिन्होंने कई बार योनि से बच्चे की डिलीवरी की है, योनी में स्थायी ढिलाई या ढीलापन का अनुभव करती हैं। ऐसा

मांसपेशियों की फ़ैल जाने और फिर वापस से नहीं सिकुड़ पाने के कारण होता है। ज्यादातर मामलों में योनि से जन्म देने के बाद 12 महीनों में यह वापस से अपनि ओरिजिनल शेप ले लेती है।

वज़न बढ़ना

अधिक वज़न पैल्विक फ्लोर में बदलाव ला सकता है जिससे योनी ढीली हो सकती है।

योनि को कसने के लिए क्या विकल्प हैं? ढीली योनि को टाइट करने के उपाय क्या हैं? How can I tighten my loose vagina?

योनी को टाइट करने के लिए अकेले या संयोजन में तीन विकल्प हैं:

  • इंट्रा योनि दवा intra-vaginal application of medicine
  • कीगल एक्सरसाइज Kegel exercises
  • सर्जरी Vaginoplasty

कीगल एक्सरसाइज सबसे सुरक्षित विकल्प है। गर्भावस्था, प्रसव, सर्जरी, बुढ़ापे, कब्ज या पुराने खांसी जैसे कारक आपके पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को कमजोर कर सकते हैं जिससे यह मांसपेशियाँ ढीली हो जाती हैं। कीगल एक्सरसाइज करने से मांसपेशियाँ टाइट होती हैं। बस अपनी पैल्विक मंजिल की मांसपेशियों को दबाएं और कुछ सेकंड के लिए रखें, फिर आराम करें।

कीगल एक्सरसाइज क्या है?

Loading...

यदि आप योनि ढीले होने के बारे में चिंतित हैं, तो आप नियमित कीगल एक्सरसाइज के द्वारा अपने पैल्विक फ्लोर को मजबूत कर सकते हैं। वे अविश्वसनीय रूप से आसान हैं, और आपको किसी भी उपकरण की ज़रूरत नहीं है।

इसे भी पढ़ें -  एंडोमेट्रियोसिस Endometriosis और महिला में सेक्स समस्याएं

कीगल एक्सरसाइज (डॉ अर्नोल्ड केगल के नाम पर), एक पैल्विक फ्लोर व्यायाम है इसमें उन मांसपेशियों जो पेल्विक फ्लोर का हिस्सा होते हैं, को सिकोड़ा और आराम दिया जाता है। इसका उद्देश्य पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को मजबूत करके टोन में सुधार करना होता है।

  • Kegel एक्सरसाइज, पेशाब नहीं रोक पाना और अन्य पेल्विस सम्बंधित समस्याओं को रोकने या नियंत्रण में मदद कर सकते हैं।
  • कीगल एक्सरसाइज पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को जो गर्भाशय, मूत्राशय, छोटी आंत और मलाशय को सपोर्ट करती हैं, को मजबूत करती है।
  • इसे कभी भी किया जा सकता है।
  • आपको केगल व्यायाम करने से फायदा हो सकता है यदि आप:
  • छींकने, हँसने या खाँसी के दौरान मूत्र को रोक नहीं पाते
  • स्टूल को रोकने में दिक्कत आती है
  • Kegel व्यायाम गर्भावस्था के दौरान या प्रसव के बाद, मूत्र को नहीं रोक पाने में किया जा सकता है।
  • पूरी दुनिया में डॉक्टरों द्वारा इसकी सिफारिश की जाती है।

कैगल व्यायाम कैसे करें?

सही मांसपेशियों को खोजें Find the right muscles

अपने पैल्विक फर्श की मांसपेशियों को पहचानने के लिए, बीच में पेशाब रोकें। यदि आप सफल होते हैं, तो आपको सही मांसपेशियां मिल गई है। एक बार जब आप अपनी पैल्विक फ्लोर की मांसपेशियों की पहचान कर लेते हैं, तो आप किसी भी स्थिति में व्यायाम कर सकते है।

तकनीक सही रखें

अपनी पैल्विक मंजिल की मांसपेशियों को कस लें, पांच सेकंड के लिए संकुचन रखें, और फिर पांच सेकंड के लिए आराम करें। इसे चार या पांच बार लगातार करें। बाद में, एक बार में 10 सेकंड के लिए संकुचन और 10 सेकंड के लिए आराम करें।

अपना फ़ोकस बनाए रखें

  • सर्वोत्तम परिणामों के लिए, केवल अपने पैल्विक फर्श की मांसपेशियों को कसने पर ध्यान केंद्रित करें।
  • सावधान रहें कि पेट, जांघों या नितंबों में मांसपेशियों को फ्लेक्स न करें।
  • अपनी सांस रोकने से बचें इसके बजाय, व्यायाम के दौरान ठीक से साँस लें।
  • दिन में तीन बार दोहराएं। एक दिन में 10 बार करने के कम से कम तीन सेटों का लक्ष्य रखें।
इसे भी पढ़ें -  वियाग्रा Blue Pill Viagra Pfizer (Sildenafil)

पेशाब को शुरू करने और रोकने के लिए कैगेल को आदत नहीं बनाएं। इससे मूत्राशय आधा खाली हो सकता है – जो मूत्र पथ के संक्रमण के जोखिम को बढ़ाता है।

ढीली योनि को टाइट करने के लिए मार्किट में मिलने वाले प्रोडक्ट्स के नाम

नीचे ढीली योनि में कसाव लाने के लिए मार्किट में उपलब्ध कुछ क्रीम और जेल के नाम दिए गए हैं। इनमें से ज्यादातर उत्पाद को दिन में दो बार योनि पर बाहर से लगाया जाता है।

यह जेल और क्रीम, दावा करते हैं कि इन्हें लगाने से ब्लड सरकुलेशन बढ़ता हैं और साथ की योनि की सेल्स में रिजुवनेशन होता है। यह गुप्तांगों की मांसपेशियों के लचीलेपन को बढ़ाती हैं और एजिंग से बचाती हैं। कुछ प्रोडक्ट एंटी बैक्टीरियल और एंटी सेप्टिक होने का दावा भी करते हैं। लेबल पर दी जानकारी के अनुसार यह योनि की ताकत और पकड़ में सुधार करते हैं, संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं, प्राकृतिक स्नेहन को प्रोत्साहित करते हैं।

इन उत्पादों का दावा कितना सही है, हमें इसकी जानकारी नहीं है। हम यह भी नहीं कह सकते कि ये उत्पाद काम करते हैं कि नहीं। इन उत्पादों के सेफ्टी के लिए किए गए किसी भी क्लिनिकल टेस्ट के बारे में हमे जानकारी नहीं है।

विज्ञान के अनुसार, क्रीम या जेल से योनि में कसाव लाना संभव नहीं है।

  • 18 Again V Tightening Cream
  • V-Tight Gel All Natural Vaginal Tightening Cream
  • V-Firm Vaginal Tightening Cream
  • Reeflec V Cream Vaginal Tightening Cream (Ayurvedic)
  • Everteen vagina tightening and revitalising gel

18 Again V Tightening Cream को लगाने के लिए अपने हाथों को और योनि को पानी से साफ कर लें। बोतल खोलें और अपनी उंगलियों पर एक छोटी मात्रा (लगभग 4 से 5 ग्राम) लें। धीरे से योनि में अपनी उंगली डालें और योनि के अंदर सभी दिशाओं में जेल लागू करें। ऐसा दिन में दो बार करें और ।लगातार 3 महीने करें। साथ की उत्पाद पत्रक में उल्लिखित योनि कसने के व्यायाम रोज करें। लगातार 2-3 महीने तक ऐसा करने पर रिजल्ट मिल सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  सेफ सेक्स कैसे करें surakshit sex kaise karen

किसी भी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करते समय जलन, खुजली या अन्य आसामान्य लक्षण लगे तो प्रोडक्ट को इस्तेमाल करना बंद कर देना चाहिए। माहवारी और प्रेगनेंसी के दौरान क्रीम को नहीं लगाना चाहिए।

योनि टाइट करने के उत्पाद को कैसे कैसे स्टोर करें?

  • प्रोडक्ट को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। इसे रौशनी और नमी से दूर रखें। दवा को अँधेरे में सूखे स्थान पर रखें।
  • प्रोडक्ट के इस्तेमाल से पहले एक्सपायरी डेट चेक करें।
  • प्रोडक्ट को बच्चों की दृष्टि और पहुँच से दूर रखें।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!