पीरियड्स के दौरान सेक्स Sex During Periods

क्या हमें पीरियड के दौरान शारीरिक संबंध बनाने चाहिए, Period ke samay sex karane ke kya kusaan hain, पीरियड्स में क्या नहीं करना चाहिए और क्या मासिक के दौरान सेक्स से प्रेगनेंसी हो सकती है? क्या मासिक धर्म के दौरान सेक्स सुरक्षित है?

पीरियड्स, मासिक, एमसी, मासिक धर्म, मेंसेस, ऋतुस्राव आदि मेंसट्रूएशन Menstruation के लिया आम बोलचाल के नाम हैं। मासिक धर्म, फीमेल्स में हर महीने, योनि से होने वाली ब्लीडिंग है। पीरियड्स की ब्लीडिंग गर्भाशय से आती है। गर्भाशय का रक्तस्राव, सर्विक्स cervix तक जाता है और योनि से शरीर के बाहर कर दिया जाता है। ज्यादातर स्त्रियों में मासिक धर्म 3 से लेकर 5 दिनों तक चलता है। कुछ में इससे कम और कुछ में एक दो दिन ज्यादा भी चल सकता है।

Loading...

इसे मासिक धर्म या चक्र कहा जाता है क्योंकि यह हर महीने आते हैं। पीरियड के पहले दिन मासिक गिना जाता है और औसतन 28 दिन के गैप के बाद यह फिर होता है। कुछ में पीरियड 21, 35 या 45 दिन के अंतराल में आ सकते हैं जोकि पूरी तरह से नार्मल है।

बहुत से लोग अक्सर जानना चाहते हैं, क्या सेक्स के दौरान सेक्स किया जा सकता है या ऐसा करना सेहत के हिसाब से सही है। इसका कोई नुकसान है कि नहीं और क्या इसका कोई फायदा है?  इन सभी या ऐसे ही प्रश्नों के उत्तर इस पेज पर देने की कोशिश की गई है।

पीरियड्स के दौरान सेक्स कर सकते हैं?

हाँ, ऐसा कर सकते हैं और बहुत से ऐसे लोग हैं जो ऐसा नियमित करते भी हैं। लेकिन इनकी संख्या कम है। पीरियड के दौरान एक पर्सनल इशू और चॉइस है।

कुछ लोग रिलीजियस कारणों से ऐसा नहीं करते। पीरियड्स के दौरान सेक्स एक टैबू इशू है जिसके बारे में लोग ज्यादा बात नहीं करते।

इसे भी पढ़ें -  महिलाओं में सेक्सुअल उत्तेजना के ४ चरण

कुछ लोग इसे गन्दा मानते हैं और कुछ को इसमें कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन यह तभी किया जाना चाहिए जब दोनों पार्टनर को इससे कोई दिक्कत नहीं हो।

मासिक धर्म के दौरान सेक्स हर किसी के लिए नहीं है, अगर दोनों पार्टनर स्वस्थ्य हैं, एसटीडी निश्चित रूप से नहीं है (नकारात्मक प्रयोगशाला परीक्षण), मल्टिपल सेक्स पार्टनर नहीं हैं, और आप माहवारी के दौरान सम्भोग एन्जॉय कर सकते हैं तो इसे किया जा सकता है।

पीरियड्स के दौरान सेक्स कैसे कर सकते हैं?

Loading...
  1. पीरियड के दौरान सेक्स करना, नार्मल सेक्स से थोड़ा अलग हो सकता है।
  2. बिस्तर पर तौलिया या मोटी शीट लगानी होगी जिससे खून बेड पर नं लगे। या बाथरूम के शावर में जाकर सेक्स करना पड़ेगा।
  3. इसके आलावा, गुप्तागों, जाँघों और ऊँगली लगाने पर खून लग सकता है।
  4. पीरियड के दूसरे और तीसरे दिन ब्लीडिंग ज्यादा होती है। इसलिए पीरियड के ब्लड क्लॉट और ब्लीडिंग से दिक्कत हो सकती है।
  5. पीरियड के दौरान सेक्स के लिए आपको तैयारी की ज़रूरत होती है और उसे करने के बाद साफ़-सफाई की।

पीरियड्स के दौरान सेक्स करने का मेडिकल पॉइंट क्या है?

चिकित्सा दृष्टिकोण से ऐसा कुछ नहीं पाया जाता कि कब आपको सेक्स करना चाहिए और कब नहीं बशर्ते आप और आपके साथी दोनों ही एचआईवी, हेपेटाइटिस या किसी भी यौन संचारित रोग से ग्रसित नहीं हैं, योनि की कोई समस्या नहीं है, या कोई ऐसी स्वास्थ्य समस्या नहीं है जिससे सेक्स से दिक्कत हो।

मासिक धर्म के दौरान सेक्स से न करने का कोई स्वास्थ्य संबंधी कारण नहीं है। लेकिन अगर पीरियड में महिला को अत्यधिक रक्तस्राव या उसे कोई अन्य से मासिक धर्म संबंधी समस्या है, तो इसे न करने में ही भलाई है।

वास्तव में, कुछ महिलाओं का दावा है कि सेक्स से पहले या माहवारी के दौरान सेक्स करने से और पीरियड कम दिन होता है और मासिक में ऐंठन कम होती है।

इसे भी पढ़ें -  फीमेल कंडोम यूज़, कंडोम डालने और निकालने का तरीका

मासिक के दौरान निकलने वाला स्राव अनहेल्थी नहीं माना जाता। यह वो गर्भाशय की लाइनिंग है जोकि गर्भ न ठहरने के कारण टूट गई है।

जो कपल मासिक के दौरान सेक्स करते हैं, उन्हें कुछ बातें ध्यान रखनी चाहिए:

माहवारी में योनि में प्राकृतिक रूप से निकलने वाला ल्यूब कम हो जाता है जिससे संभोग के दौरान ल्यूब का इस्तेमाल ज़रूरी हो सकता है।

मासिक के स्राव को रोकने से लिए स्त्री सर्वाइकल कैप या डायाफ्राम का इस्तेमाल कर सकती हैं।

मासिक के दौरान होने वाले शारीरिक लक्षणों जैसे कि जैसे सूजन, ऐंठन, और स्तन में दर्द-भारीपन, पेट ख़राब होना, दर्द होना आदि से महिला में यौन इच्छा या आनंद कम हो सकता है।

पीरियड्स के दौरान सम्भोग के क्या संभावित नुकसान हो सकते हैं?

किसी भी तरह के यौन संचारित रोग होने पर, एचआईवी या हेपेटाइटिस बी से संक्रमित होने पर है, मासिक के दौरान संभोग से दोनों पार्टनर को इन बीमारियों के संचरण की संभावना बढ़ सकती है।

महिला पार्टनर में किसी भी तरह के इन्फेक्शन जैसे कि यीस्ट इन्फेक्शन, की संभावना बढ़ जाती हैं क्योंकि सर्विक्स जो गर्भाशय की ग्रीवा है, वो मासिक के दौरान अधिक खुल जाती है।

पैल्विक इन्फ्लेमेटरी (पीआईडी) रोग का मासिक धर्म के दौरान के सेक्स से सबसे अधिक रिस्क रहता है।

पीरियड के दौरान टैम्पून, पैड आदि इस्तेमाल करने से योनि में ड्राईनेस होती हैं जिससे सेक्स करने में दिक्कत हो सकती है।

यदि सेक्स के दौरान स्त्री को ओरगेजम नहीं होता तो पीरियड के दौरान दर्द बढ़ सकता है।

कुछ पुरुषों में जैसे ही पेनिस मासिक के स्राव के संपर्क में आता है तो जलन होने लगती है।

क्या मासिक के दौरान सेक्स से प्रेगनेंसी हो सकती है?

कुछ स्त्रियों में पीरियड्स कम दिन के गैप पर आते हैं ऐसे में, पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से बच्चा ठहर सकता है। स्त्री के शरीर में स्पर्म 5 दिन तक जीवित रह सकते हैं और ऐसे में इसे यदि कुछ दिन पर ओवुलेशन हो जाता है तो गर्भ ठहर जाएगा।

इसे भी पढ़ें -  स्तन (ब्रेस्ट) से पानी आना : कारण और उपचार

क्या मासिक धर्म के दौरान संभोग के फायदे हैं?

ऐसा कोई विशेष लाभ नहीं है। यह रिस्की है। इस समय भी आपको प्रोटेक्शन इस्तेमाल करनी ही होगी और ल्यूब भी लगाना पड़ सकता है।

केवल एक लाभ हो सकता है कि पूरे महीने में आप अधिक बार सेक्स कर सकते हैं।

कुछ जोड़ों के लिए, मासिक धर्म के दौरान संभोग दोनों स्वीकार्य और सुखद है, जबकि दूसरों के लिए यह अवांछनीय या अस्वीकार्य है। पीरियड्स के दौरान संभोग के लाभ और संभव नुकसान दोनों को ध्यान में रखें। महीने में कुछ दिन सेक्स नहीं करने से कोई नुकसान नहीं है इसलिए परहेज रखना ही ठीक है।

Sexual intercourse during menses can be acceptable and pleasurable for few but for many it is an undesirable or unacceptable. Sexual intercourse during menses has its own possible disadvantages.

Sex during period, is dirty. It increases risk of infections such as Pelvic inflammatory disease (PID). You have to use condom and lubrications to avoid pregnancy and discomfort.

Woman may not find it enjoyable due to less lubrication, bleeding, discharge of clots, and other physical symptoms related to periods. Women with very short monthly cycles may from time to time ovulate during menses. She can get pregnant as sperms live in the body for 4-5 days.

The use of tampons during menses may make the vagina very dry and extra lubrication may be required. She has to remove the tampon or pad for the sex which is very-very uncomfortable. If sexual intercourse during menses does not lead to orgasm for the woman pelvic congestion may be increased thereby increasing the dysmenorrhea a woman experiences. Flowing blood also makes this picture dirty. Having said this, it is better to avoid sex for 4-5 days during periods. Gap of few days, increases chances of better orgasm.

Loading...

2 Comments

  1. this information is really useful

  2. Most usefully information in dally life.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.