प्यूबिक हेयर (योनी क्षेत्र) के बालों को हटाने के फायदे और नुकसान

जानिये प्यूबिक हेयर (योनी के बाल या झांट का बाल) को साफ़ करने के तरीके, इसको कैसे सेव किया जाता है और इसको क्रीम से साफ़ करने के क्या नुक्सान हो सकता है? योनी क्षेत्र को साफ रखने के लिए बालों को हटाने की कोई आवश्यकता नहीं होती है फिर भी अब बहुत सारे लोग इसे हटाते हैं।

मनुष्यों में प्युबर्टी होने पर गुप्तांगों पर बाल आ जाते हैं मोटे, घुमावदार और छोटे होते हैं जिसे प्यूबिक हेयर (झांट का बाल) भी कहते हैं। सिर के बालों की ही तरह इनका रंग, वॉल्यूम और आकार व्यक्ति से व्यक्ति भिन्न हो सकता है। प्यूबिक के बाल लड़के और लड़कियों दोनों में होते हैं।

Loading...

आजकल के मॉडर्न समय में जब लोगों को इतना एक्स्पोजर है और वे सुन्दरता को लेकर अधिक जागरूक हैं, उन्हें प्यूबिक के बाल अनचाहे लगते हैं। बहुत सी लड़कियां बिकिनी पहनने के लिए या वैसे भी इन बालों को साफ़ करना पसंद करती हैं। ये आजकल का ट्रेंड बन रहा है। मेनी-पेडी, भहों, होंठ के ऊपर, माथे और अंडरआर्म के साथ साथ योनि के बाल भी हटाया जाना शामिल हो गया है।

लड़कियों में प्यूबिक हेयर पहले पीरियड के बाद से आने शुरू हो जाते हैं। पहले बाल छोटे और पतले होते हैं। बाद में यह थिक और अधिक बड़े हो जाते हैं और पूरे गुप्तांग को वी आकार में कवर करते हैं।

शरीर के बाल सामान्य हैं, और कुछ लोगों को इससे कोई समस्या नहीं है। बहुत सी महिलाएं और लड़कियां अपने पैर और अंडरमर्स जैसे स्थानों से शरीर के बाल हटा देती हैं, हालांकि ऐसा करने के लिए कोई वास्तविक स्वास्थ्य कारण नहीं है। प्यूबिक हेयर किसी उद्देश्य से वहां है। यह घर्षण के खिलाफ एक कुशन प्रदान करता है जिससे त्वचा घर्षण और चोट से बच जाती है। यह बैक्टीरिया और अन्य अवांछित रोगजनकों से सुरक्षा देते हैं। इसलिए इन्हें हटाने से पहले विचार करें।

प्यूबिक हेयर कैसे हटाते हैं / जघन क्षेत्र (pubic area) के बाल कैसे साफ़ करते हैं?

शरीर के बालों को हटाने के कुछ लोकप्रिय युक्तियां यहां कुछ दी गई हैं। बालों को साफ़ करने के लिए निम्न तरीके अपनाये जाते हैं:

शेविंग Shaving

  • नहाते समय शेविंग की कोशिश करें जब त्वचा नरम हो।
  • शेविंग क्रीम या जेल का उपयोग करें।
  • तेज ब्लेड इस्तेमाल करें, इससे कट लगने की समस्या कम करने में मदद मिलती है।
  • शेविंग बालों की बढ़ने की डायरेक्शन में करें।
  • संक्रमण से बचने के लिए, रेज़र किसी से साझा नहीं करें।
इसे भी पढ़ें -  गुदा में फोड़ा का इलाज कैसे करें | एनोरेक्टल फोड़ा (Anorectal Abscess )

बालों को हटाने के क्रीम, जैल, और तरल पदार्थ (डिबिलेटरीज) Hair removal creams, gels, and liquids (depilatories)

बाल हटाने के लगाने वाले क्रीम, जेल आदि केमिकल बालों को पिघला कर काम करते हैं। यह रसायन आपकी त्वचा में जलन कर सकते हैं।

निर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करें, और उत्पाद को केवल सिफारिश समय की अवधि में इस्तेमाल करें। बताए हुए समय से ज्यादा उत्पाद को त्वचा पर नहीं छोड़ें।

आंखों या कटी – जलनयुक्त त्वचा पर उपयोग न करें।

कभी-कभी इनसे चकत्ते, जलन और अन्य त्वचा की समस्याएं को सकती हैं, इसलिए पहली बार जब आप इसे उपयोग करते हैं तो एक छोटे से क्षेत्र में उत्पाद का परीक्षण करें। यदि संवेदनशील त्वचा है तो इन उत्पादों का इस्तेमाल नहीं करें।

किसी भी उत्पाद जिससे जलन होती है, इस्तेमाल नहीं करें। आफ़्टरशेव लोशन, डाई या सुगंध के वाले उत्पादों का उपयोग न करें।

वैक्सिंग Waxing

वैक्सिंग में त्वचा पर ठंडा या गर्म मोम लगाया जाता है, मोम और बालों को खींचने के लिए एक कपड़ा का उपयोग किया जाता है। वैक्सिंग में दर्द होता है और त्वचा खिंच सकती है।

इसे घर पर अपने से या सैलून पेशेवर द्वारा किया जाता है। जा सकते हैं। यदि आप खुद को मोम इस्तेमाल करते हैं तो उत्पाद के साथ आने वाले सभी दिशाओं का पालन करना सुनिश्चित करें।

यदि आपके पास संवेदनशील त्वचा है तो इसे नहीं करें। साथ ही सनबर्न, मस्से, कटी, जलन वाली त्वचा पर इसे नहीं करें।

प्यूबिक हेयर हटाने के फायदे Benefits of Pubic Hair Removal in Hindi

  • मासिक के दरान योनि साफ़ करना आसान होता है।
  • बाल नही होने से पूरा गुप्तांग दिखता है।
  • जब बाल बढ़ जाते हैं तो पसीने और पेशाब की बदबू अधिक आती है।

प्यूबिक हेयर हटाने के नुकसान Side effects of Pubic Hair Removal in Hindi

  • बालों को हटाने से त्वचा में जलन, कट, घाव और अन्य समस्याएं हो सकती हैं।
  • बाल जब वापस से उगने लगते हैं तो बहुत खुजली होती है।
  • योनि के आसपास के क्षेत्र विशेष रूप से संवेदनशील हो सकते हैं।
  • पुबिक के बाल अंडरवियर की रगड़ से योनि और संवेदनशील होंठों की रक्षा में मदद करते हैं।
  • जघन क्षेत्र बहुत संवेदनशील है। बाल को हटाने के दौरान आसानी से कटना, छिलना या संक्रमण हो सकता है।
  • वैक्सिंग में बाल बाहर खींच कर हटाते हैं, जिससे चोट लग सकती है।
  • शेविंग के दौरान ब्लेड से कट लग सकता है जिससे ब्लीडिंग हो सकती है और इन्फेक्शन बढ़ सकता है।
  • क्रीम से बाल हटाना चाहती हैं तो ऐसी क्रीम या जेल का चुनाव करें जो बहुत माइल्ड हो और योनि जैसे सेंसिटिव हिस्से को कोई नुकसान नहीं करे।
  • बाल कटाने के बाद खुजली होती है और आप प्राइवेट पार्ट्स को पब्लिक में खुजला भी नहीं सकते।
  • बार बाल हटाने से योनि का पी एच बदल सकता है और जीवाणुओं की वृद्धि हो सकती है। जीवाणु, या यीस्ट इन्फेक्शन से योनि से डिस्चार्ज और बदबू आ सकती है।
  • गुप्तांग पर बाल हटाने के दौरान यदि चोट लग जाती है तो सेक्स पार्टनर से किसी रोग के संचरण की संभावना भी बढ़ जाती है।
  • यह गुप्तांग के तापमान को विनियमित करने में एक भूमिका निभा सकते है।
  • यह बाल गंदगी और अन्य फ्लोटिंग रोगाणुओं को योनि में प्रवेश करने से रोकते  है।
  • बाल सेक्स, साइकिल चलाना, और अन्य प्रकार के व्यायाम के दौरान यह योनि को बचाते हैं।
  • अधिक वजन वाली या मोटापे से ग्रस्त महिलाओं में बाल हटाते समय जटिलताओं का रिस्क अधिक होता है।
इसे भी पढ़ें -  डामियाप्लांट Damiaplant (Schwabe) in Hindi की जानकारी, लाभ और कीमत

प्रसव से पहले योनि के बालों की सफाई

Loading...

जब कोई महिला बच्चे की डिलीवरी के लिए अस्पताल जाती है तो भर्ती करने के तुरंत बाद लेबर रूम के स्टाफ द्वारा पहला काम प्यूबिक हेयर को शेव करना होता है। यह रूटीन तरीका है और हर महिला के साथ ऐसा किया जाता है। ऐसा शायद प्रसव के दौरान बालों के कारण को दिक्कत नहीं हो, उन्हें हाथ से हटाना नहीं पड़े और पूरी डिलीवरी अधिक स्वच्छतापूर्वक हो सके और प्रसव बाद भी सफाई ठीक से की जा सके, के कारण किया जाता है। अक्सर पहली डिलीवरी के दौरान गर्ब्वती महिला को यह बात नहीं पता होती कि इसे किया जाएगा, इसलिए उनमें कुछ संकोच हो सकता है। लेकिन यह पूरे प्रोसेस का हिस्सा है।

हाल के वर्षों में, अधिक लड़कियों और महिलाओं ने भी अपनी योनि के आस-पास के बाल हटाने शुरू कर दिए हैं। क्षेत्र को साफ रखने के लिए बालों को हटाने की कोई आवश्यकता नहीं है।

योनि पर बाल हो या नहीं, यह पूरी तरह से कॉस्मेटिक और व्यक्तिगत पसंद है। यह एक पर्सनल चॉइस है। यह पूरी तरह से व्यक्तिगत मामला है – आपको जोखिमों से अवगत होना चाहिए। इसके फायदे और नुकसान को जानें और जैसा ठीक लगे, करें।

Most women remove pubic hair for sexuality or aesthetic reasons. It is now a contemporary trend.Total pubic area hair removal is increasing in popularity, especially among adolescents and young adults.

Waxing, shaving, hair removing creams and gels, epiliators, laser and other hair removal methods are used for hair removal.

The most common side effect of pubic hair removal is epidermal abrasion, ingrown hairs, folliculitis, vulvitis, or contact dermatitis. Other adverse effects include genital burns from waxing, severe skin irritation leading to post inflammatory hyperpigmentation, vulvar and vaginal irritation and infection, and the spread or transmission of sexually transmitted infections (STI). Overweight or obese women were almost twice as likely to report a complication.

इसे भी पढ़ें -  इंस्टा किट गर्भपात की दवा Insta Kit for Abortion

Related Posts

बार बार बालतोड़ होने पर क्या करना चाहिए
सिर का जूँ : दूर करने के उपाय | Head Lice
रूखे और बेजान बाल क्या है और सूखे बालों का उपचार कैसे किया जाता है
बाल झड़ना Scarring alopecia (Cicatricial Alopecia): लक्षण, कारण और उपचार
बालों के स्वास्थ्य और तेजी से बढ़ने के लिए आवश्यक विटामिन

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.