महिलाओ में सेक्स इच्छा की कमी Low Sex Drive in Women

क्या महिलाओं में कामेच्छा बढाने की दवा होती है ? महिलाओं में कामेच्छा में कमी के कारण क्या होते हैं और इसको ठीक करने के लिए क्या करना चाहिए की सेक्स के प्रति रूचि बढ़ जाए? Reasons and treatment of low sex drive in womens, low libido in Hindi.

स्त्रियों में कामेच्छा की कमी या कम सेक्स ड्राइव hypoactive sexual desire disorder or female sexual interest or female arousal disorder जीवन के कुछ मोड़ों पर कुछ महिलाओं को प्रभावित करती है, जैसे कि गर्भावस्था के दौरान, बच्चा होने के बाद या तनाव के समय। लेकिन कुछ महिलाएं इसे हर समय अनुभव करती हैं और यह एक समस्या है।

Loading...

शादी के बाद या बच्चा होने साल-दो साल, बाद सेक्स के प्रति हमेशा उदासीनता रिश्तों कप प्रभावित कर सकती है। यदि पति का मन है लेकिन पत्नी का नहीं तो सेक्स करना आनंद का विषय नहीं रह जाता। यह थोपी हुई सी स्थिति होती है। बिना इच्छा के कारण महिला की योनि में ड्राईनेस रहती है और होने वाले घर्षण से पुरुष को भी तकलीफ होती है। सेक्स के दौरान तनाव और रूखापन रिश्तों में दरार भी कर सकता है।

पुरुषों के लिए लिबिडो को बढ़ाने के लिए वियाग्रा जैसी गोलियां उपलब्ध हैं, लेकिन स्त्रियों के लिए ऐसी गोलियां कारगर नहीं हैं क्योंकि स्त्रियों में लिबिडो पर असर शरीर के साथ-साथ हॉर्मोन और मन से भी जुड़ा है। ऐसी कोई गोली नहीं बन पायी है जो इन सभी फैक्टर पर एक साथ काम करे और लिबिडो को बढ़ा दे। स्त्री में कमेच्छा को बढ़ाने के लिए पहले कारणों की पहचान की जानी चाहिए और फिर उन्हें ठीक करने की कोशिश करनी चाहिए।

पत्नी में लो लिबिडो के क्या कारण हैं? Reasons for Loss of libido (reduced sex drive) in Women

एक महिला की यौन इच्छा में स्वाभाविक रूप से वर्षों में उतार-चढ़ाव संभव है। यदि कोई महिला अपने संबंधों में खुश नहीं है तो भी सेक्स ड्राइव कम हो जाता है। पति का पसंद न होना, बेमेल शादी, पति व्यवहार, खुश न रहना भी इसके कारणों में शामिल है। बार बार होने वाले विवाद, एक-दूसरे के आकर्षण न मसूस करना, तथा बातचीत न होना भी लिबिडो को कम देता है।

इसे भी पढ़ें -  Nil Sperm Count - निल शुक्राणु कारण, उपचार और जानकारी

जीवन में होने वाले परिवर्तनों, जैसे गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति या बीमारी के कारण इस पर सीधा प्रभाव पड़ता हैं। कई रोगों के लिए ली जाने वाली दवाएं भी महिलाओं में कम सेक्स ड्राइव का कारण बन सकती हैं।

सेक्स ड्राइव की कमी में शारीरिक या मनोवैज्ञानिक कारणों की एक श्रृंखला हो सकती है:

  1. संबंध में समस्या relationship issues
  2. डिप्रेशन Depression
  3. मानसिक या शारीरिक आघात
  4. थकान Fatigue, tirdness
  5. तनाव Stress, anxiety and exhaustion
  6. हार्मोन विकार
  7. शराब और नशीली दवाओं का उपयोग Alcohol and drugs
  8. होर्मोन का स्तर कम हो जाना
  9. उम्र के साथ Getting older
  10. रजोनिवृति menopause
  11. स्तनपान के दौरान breastfeeding
  12. किसी प्रकार का रोग और उसकी दवाएं Underlying health problems
  13. दवाएं, गर्भनिरोधक Medication and contraception

महिला के प्राकृतिक टेस्टोस्टेरोन का स्तर गिर जाने पर सेक्स ड्राइव भी गिर सकता है टेस्टोस्टेरोन का अंडाशय और अधिवृक्क ग्रंथियों में उत्पादित किया जाता है, इसलिए यदि वे हटाए जाते हैं या वे ठीक से कार्य नहीं कर रहे हैं तो स्तर गिर सकता है।

शारीरिक संबंधों के दौरान होने वाली समस्याएं जैसे कि दर्द होना, अच्छा न लगना, पहले की गई ज़बरदस्ती, ओर्गास्म न होना, मज़ा न आना, आदि भी कारण हो सकता है।

कुछ औरतीं में सेक्स ड्राइव स्वाभाविक रूप से ही कम होती है। बहुत ज्यादा पूजा पाठ में लगे रहना और व्रत आदि करना समस्या को बढ़ा सकता है।

गर्भावस्था, स्तनपान महिला के जीवन के महत्वपूर्ण और ज़रूरी पड़ाव हैं। दूध पिलाने के दौरान शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव और बच्चे के प्रति जिम्मेदारी, और दिन भर बच्चे के काम में ही जुटे रहने से धीरे-धीरे सेक्स के प्रति रूचि भी कम हो जाती है। बच्चा होने के बाद सेक्स पहले जितना स्पोंटेनियस नहीं होता और अब बच्चे के सोने के बाद ही किया जा सकता है। इस तरह एक टाइम टेबल के अनुसार से होने वाली लाइफस्टाइल में सेक्स सेकंड प्रायोरिटी हो जाता है। हुआ तो ठीक नहीं तो कोई बात नहीं। यह सभी कुछ महिला को अधिक प्रभावित करता है और उसमें स्वाभाविक रूप से सेक्स के प्रति रूचि कम होने लगती है।

इसे भी पढ़ें -  योनि के कैंडिडिआसिस Vaginal Candidiasis की जानकारी और इलाज

रजोनिवृति में एस्ट्रोजन का स्तर महिला के शरीर में कम हो जाता है। इससे सेक्स के प्रति रूचि भी कम हो जाती है और वेजाईना भी सूखी रहती है। योनि की ड्राईनेस में सम्भूग आनंद नहीं कष्ट देता है।

आर्थराइटिस, डायबिटीज, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, न्यूरोलोजिकल रोग, डिप्रेशन, सिरदर्द, तबियत खाराब रहना, हेल्थ सही न होना सभी कुछ जो स्वास्थ्य और मन को प्रभावित करता हैं सेक्स की इच्छा को भी प्रभावित कर देता है। डिप्रेशन, मिर्गी, मानसिक रोग, ही दवाएं निश्चित ही लिबिडो को नष्ट कर देती हैं।

दिन भर काम करके थक जाने से, बच्चे संभालने में, या किसी की देखभाल में पूरे दिन की जाने वाली मेहनत से शरीर में होने वाली थकावट दिमाग में और कुछ इच्छाएं आने ही नहीं देते। थका व्यक्ति केवल सोने और आराम के विषय में सोच सकता है सेक्स के बारे में नहीं।

स्वास्थ्य अच्छा होगा, मन खुश होगा तभी उसमें अन्य भोग के विचार आयेंगें।

मैं क्या करूं?

आप कुछ प्रश्न अपने आप से पूछें। क्या आपकी सेक्स के प्रति रूचि हमेशा से कम थी। यदि नहीं तो ऐसा कब से हुआ है। क्या आपको अवसाद, या कोई अन्य शारीरक समस्या है। क्या आपको कोई मानसिक कष्ट है। आपने कोई नई दवा लेनी शुरू की है, मेनोपॉज़ हो गया है या जीवन शैली में रिवर्तन हुए हैं।

  1. क्या आपकी कोई सेक्सुअल चिंता है?
  2. क्या आपकी सेक्स में रुचि बदल गई है?
  3. क्या आप योनि सूखापन अनुभव करती हैं?
  4. क्या आप संभोग करने में सक्षम हैं?
  5. क्या आपको सेक्स के दौरान कोई दर्द या परेशानी है?
  6. आप अपनी यौन चिंताओं के बारे में कितना परेशान महसूस करते हैं?
  7. क्या आपको कभी कैंसर के लिए इलाज किया गया है?
  8. आपको यह समस्या कब से है?
  9. क्या आप अभी भी मासिक धर्म हो रहे हैं?
  10. क्या आपकी कोई स्त्रीरोग सर्जरी की गई है?
इसे भी पढ़ें -  मेडिकल एबॉर्शन गोलियों के द्वारा Abortion Using Pills

अगर समस्या काफी आ रही है तो डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

स्त्री रोग विशेषज्ञ आपसे मेडिकल हिस्ट्री के बारे में पूछ सकते हैं। पेल्विक एग्जाम के द्वारा प्रजनन अंगों में किसी प्रकार का बदलाव जैसे कि योनि का सूखना, जेनैटल टिश्यू का पतला आना आदि टेस्ट किया जा सकते हैं।

डॉक्टर होर्मोन टेस्ट के लिए भी कह सकते हैं।

वे सेक्स थेरेपिस्ट, काउन्सलर से भी संपर्क के लिए सिफारिश कर सकते हैं।

सेक्स के प्रति ठण्डापन में क्या उपचार और दवाएं treatment and medicine उपलब्ध हैं?

इसके लिए यौन शिक्षा, परामर्श और कभी कभी दवायें दी जा सकती हैं। दवाएं जिनके कारण यह समस्या हुई है उन्हें बदला भी जा सकता है। कारणों के आधार पर इलाज़ किया जाता है।

काउंसिलिंग

यौन चिंताओं के लिए सेक्स चिकित्सक या परामर्शदाता के साथ बात कर कम यौन इच्छा की स्थिति में मदद हो सकती है। इसमें संबंधों में अंतरंगता और सेक्स इच्छा की भावनाओं को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

दवाएं

चिकित्सक उन दवाइयों का मूल्यांकन कर सकते हैं जो आप पहले से ले रही हैं, यह देखने के लिए कि उनमें से कोई भी यौन दुष्प्रभावों का कारण तो नहीं है। उदाहरण के लिए, अवसाद की दवाएं जैसे कि पेरोक्साइटीन (पक्सिल, पीएक्सवा) और फ्लुक्सैटिन (प्रोज़ाक, सरफम) सेक्स ड्राइव को कम कर सकते हैं।

 हार्मोन थेरेपी

गोली, पैच, स्प्रे या जेल द्वारा एस्ट्रोजन को देने से मस्तिष्क में और मानसिक प्रतिक्रिया पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है जो यौन प्रतिक्रिया को प्रभावित करते हैं।

एस्ट्रोजेन योनि क्रीम, सपोसिटरी या रिंग के रूप में जो आपकी योनि में दी जा सकती है जो योनि में रक्त के प्रवाह को बढ़ा सकती है और एस्ट्रोजन द्वारा इच्छा को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। कुछ मामलों में, आपका डॉक्टर एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरोन के संयोजन को लिख सकता है।

पुरुष हार्मोन, जैसे टेस्टोस्टेरोन, महिला यौन फंक्शन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, भले ही टेस्टोस्टेरोन महिलाओं में बहुत कम मात्रा में होता है।

इसे भी पढ़ें -  क्लीन एंड ड्राई इंटिमेट Clean and Dry Intimate Wash

फ्लिबेंसरीन Flibanserin

  1. फ्लिबिनेरिन प्रीमेनोपॉज़ल महिलाओं में कम यौन इच्छा के लिए उपचार के रूप में प्रयोग की जाने वाली दवाई है।
  2. एक गोली, फ्लिबिनेरिन महिलाओं की यौन ड्राइव को बढ़ा सकती है जो कम यौन इच्छा का अनुभव करती हैं ।

दवा के संभावित गंभीर दुष्प्रभावों में शामिल हैं निम्न ब्लड प्रेशर, चक्कर आना और बेहोशी, विशेषकर अगर दवा शराब के साथ मिश्रित होती है विशेषज्ञों का सुझाव है कि यदि आप आठ सप्ताह लेने के बाद आपकी सेक्स ड्राइव में सुधार नहीं होता तो इसे न लें।

सेक्स में रूचि के लिए जीवन शैली और घरेलू उपचार क्या हो सकते हैं?

स्वस्थ जीवनशैली सेक्स के लिए आपकी इच्छा में बड़ा अंतर कर सकते हैं।

व्यायाम करें। नियमित व्यायाम आपकी सहनशक्ति को बढ़ा सकते हैं, आपके शरीर की छवि में सुधार कर सकते हैं, मूड और अपने कामेच्छा को बढ़ा सकते हैं।

तनाव कम करें, वित्तीय तनाव और दैनिक परेशानियों से निपटने का एक बेहतर तरीका अपनाने की कोशिश करें।

अपने पति से बात करें। मजबूत भावनात्मक संबंध बेहतर लिबिडो कर सकता है।

कैलेंडर में सेक्स को शेड्यूल करके न करें। इससे यह उबाऊ हो सकता है। इसे प्राथमिकता बनाएं। यह आपकी सेक्स ड्राइव को ट्रैक पर वापस लाने में मदद कर सकता है।

सेक्स पोजीशन में एक्सपेरिमेंट करें। दिन के अलग-अलग समय या सेक्स के लिए एक अलग स्थान की कोशिश करें।

बच्चे वाले कमरे में सेक्स न करें।

ख़राब ख़बरें धूम्रपान, अवैध ड्रग्स और अधिक अल्कोहल सभी यौन इच्छाओं को कम कर सकते हैं इन बुरी आदतों को हटाने से आपकी यौन इच्छा को सुधारने में मदद मिल सकती है, साथ ही साथ आपके समग्र स्वास्थ्य में सुधार भी होगा।

काम जितना ज़रूरी हो उतना करें। थोड़ा एक्स्ट्रा सोयें। बाहर घूमें। जीवन को रूटीन न बनाएं और बदलाव लाने की कोशिश करें। साथ में समय बिताएं, एक दूसरे का ख्याल रखें और इज्ज़त करें। फोरप्ले पर ह्दायं दें और सेक्स को मजबूरी न समझें।

Loading...

2 Comments

  1. consider taking herbal supplement for female low sexual desire.

  2. Hello mera naam rozi h main 24 year ki ho merai shadi ho chuki h or mere husband kehte h k mujhme sex power bilkul nhi h or mujhe v aisa lagta h main kiya karo plz help me

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.