स्त्री गुप्तांग Female External Genitals in Hindi

जानिये स्त्री गुप्तांग में कौन कौन से जननांग आते हैं और इनका काम क्या होता है, महिलाओं के गुप्तांग कैसे पुरुषों से अलग होते हैं। योनी की जानकारी जैसे इसकी गहराई और यह कितना फ़ैल सकती है।

जननांग या गुप्तांग, प्रजनन अंगों को कहते हैं। इसके आंतरिक और बाह्य हिस्से होते हैं। आंतरिक हिस्से जिन्हें देखा नहीं जा सकता क्योंकि वे शरीर के अंदर हैं और बाह्य जनन अंग जो बाहर से दिखते हैं और जिनसे मैथुन किया जाता है। स्त्री गुप्तांग और पुरुष गुप्तांग, दोनों के प्रजनन अंग पूरी तरह से भिन्न होते हैं।

Loading...

स्त्री बाह्य जननेद्रिय या एक्सटर्नल जेनिटेलिया में जघन शैल (Mons Pubis), बृहद भगोष्ठ, लघु भगोष्ठ, भगशेफ/क्लाईटोरिस, बाह्य मूत्रद्वार, योनिच्छेद /हाइमन और योनि आती है। क्लाईटोरिस, लिप्स के ऊपर की तरफ अंग है जो उल्टे वी के आकार का होता है। मूत्रद्वार के नीचे एक बड़ा छिद्र होता है जिसको जनन छिद्र या योनि कहते है।

स्त्री गुप्तांग क्या हैं?

स्त्री गुप्तांग में निम्न आते है:

जघन शैल Mons Pubis

Loading...

मॉन्स प्यूबिस अथवा जघन शैल एक फैटी क्षेत्र है जो महिला की प्यूबिक हड्डी के ऊपर पाया जाता है। आमतौर पर, मोन्स प्यूबिस क्षेत्र में त्वचा मोटी होती है और प्यूबिक बाल होते हैं। संभोग के दौरान मॉन्स प्यूबिस स्त्री के प्रजनन अंगों को प्राकृतिक सुरक्षा के साथ अंतर्निहित हड्डियों और ऊतकों को चोट लगने से बचाता है।

मॉन्स प्यूबिस का उद्देश्य स्त्री के गुप्तांगों को डैमज से बचाना है। सेक्स के दौरान साथी के वजन, शरीर में गति, रगड़, तथा अन्य कारकों से महिला के सौम्य शारीरिक क्षेत्रों में चोट लग सकती है। मोन्स प्यूबिस शरीर के गार्ड के रूप में कार्य कर, कोमल जघन क्षेत्रों को चोट नहीं आने देता। यह फैटी आधारित पैडिंग अतिरिक्त आराम और सुरक्षा के लिए एक तकिया के रूप में कार्य करता है।

इसे भी पढ़ें -  गर्भ ठहरने के लिए सेक्स Sex for Pregnancy

इसके साथ ही इससे एक अलग तरह की गंध आती है जो यौन साथी को उत्तेजित करने में मदद करती है और महिला के यौन आकर्षण को बढ़ाती है। चूंकि मॉन्स प्यूबिस में पसीने और सीबेशियस ग्रंथियां होती हैं, इसलिए यौन उत्तेजना होने पर इससे गंध आती है जो भावनाओं को उत्तेजित करती है।

मॉन्स प्यूबिस सीधे जघन की हड्डी / प्यूबिक बोन, के ऊपर टिकी हुई है, और स्त्री प्रजनन अंगों को भी बनाती है। यह वल्वा का हिस्सा बनाती है जिससे योनि के आस-पास के लिप्स बनते हैं। लेबिया मेजोरा जो इससे बनता है वो भी फैट्टी टिश्यू है और लेबिया माइनोरा, क्लिटोरिस, और योनि मुख को घेरता है।

मॉन्स प्यूबिस एक फैटी हिस्सा है और महिला के मोटे हो जाने या प्रसव के बाद इस पर भी फैट जैम जाता है और तब यह देखने में थोड़ा भिन्न लग सकता है।

भग/ स्त्री-बाह्यजननांग/ वल्वा Vulva

वल्वा महिला जननांग का बाहरी भाग है। यह एक महिला के यौन अंगों, मूत्र मार्ग, वेस्टिब्यूल, और योनि की रक्षा करता है। यह महिला के लिए सेक्स आनंद का केंद्र है। योनी के बाहरी और भीतर के ‘होंठ’ को वृहद् भगोष्ठ/लैबिया मेजर और लघु भगोष्ठ/ लेबिया माइनोरा labia majora and labia minora कहा जाता है। वेस्टिब्यूल, योनि की ओपनिंग मूत्रमार्ग को घेरे हुई होती है । पेरेनियम भग से गुदा तक के क्षेत्र का विस्तार है। प्रसव के दौरान मूलाधार (पेरिनियम) में शल्य चीरा लगाने को एपिसियोटमी कहा जाता है।

वृहद् भगोष्ठ/लैबिया मेजर और लघु भगोष्ठ/ लेबिया माइनोरा

स्त्री गुप्तांग के दो सेट लैबिया के होते हैं:

  • लैबिया मेजोर (बाहरी लैबिया)
  • लेबिया मिनोरा (आंतरिक लैबिया)

लेबिया मिनोरा के लिए बहुत से अन्य नाम हैं जैसे फ्लैप्स या होंठ या लिप्स,इनका बहुत महत्वपूर्ण कार्य है तथा ये योनि की रक्षा करते हैं। यह भी नर्व एंडिंग से भरे होते हैं और सेक्स के दौरान सनसनी और स्नेहन प्रदान करते हैं।

इसे भी पढ़ें -  अलप्रोस्टाडिल Alprostadil इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए

मूत्रमार्ग Urethra

मूत्रमार्ग मूत्र से मूत्र शरीर के बाहर जाता है। महिला मूत्रमार्ग पुरुष के मूत्रमार्ग की तुलना में बहुत अधिक कम है और यह महिला के भगशेफ और योनि के बीच स्थित होता है। पुरुषों में मूत्र मार्ग की नलिका पेनिस में स्थित होती है। पेनिस में सीमन वाली भी ट्यूब होती है जिससे वीर्य स्खलन के दौरान निकलता है। इसतरह पेशाब और वीर्य दोनों ही एक छेद से अलग अलग समय निकलते हैं। स्त्रियों में ऐसा नहीं है। स्त्री में पेशाब के लिए अलग ओपनिंग है और योनि इससे एकदम अलग है और दूसरे सिरे पर गर्भाशय से जुडी होती है।

प्यूबिक बाल Pubic Hair जननांग के बाल

जघन बाल या प्यूबिक हेयर, वे बाल है जो जननांग और गुदा क्षेत्रों के आसपास होते है। यह रंग, बनावट, लंबाई और मोटाई में बदलता रहता है और अक्सर सामने या पीछे या जांघों तक फैला हो सकता है। जघन बाल जननांगों को सुरक्षा और कुशन प्रदान करता है, और सनसनी फैलता है। कुछ लोग फैशन या सांस्कृतिक कारणों के लिए अपने जघन बाल साफ़ कर देते है।

प्यूबिक बाल साफ़ करने के लिए महिलायें निम्न का प्रयोग कर सकती हैं:

  • शेविंग
  • लेज़र से बाल हटाना
  • वैक्सिंग (ब्राज़ीलियाई वैक्स के रूप में जाना जाता है)
  • बालों को हटाने क्रीम
  • चूंकि इस क्षेत्र के चारों ओर की त्वचा संवेदनशील हो सकती है, इसलिए सावधानी की ज़रूरत है।

भगशेफ Clitoris

लैबिया मेनोरा के शीर्ष पर, त्वचा का एक गुच्छा है जिसे क्लिटोरल हुड कहा जाता है। क्लिटोरल हुड, भगशेफ की नोक से जुड़ता है। भगशेफ वास्तव में आंतरिक रूप से विस्तारित होता है और उनमेंकरीब 15,000 नर्व एंडिंग से भरा होता है जो इसे योनी का सबसे संवेदनशील क्षेत्र बनाते है और पूरे शरीर पर एकमात्र अंग है जो एकमात्र उद्देश्य यौन उत्तेजना है।

हाइमन Hymen

हाइमन एक झिल्ली (मेम्ब्रेन) है जो आंशिक रूप से योनि के मुख को बंद कर देती है। बहुत से कल्चर में इसकी उपस्थिति को कौमार्य का प्रमाण माना जाता है।

इसे भी पढ़ें -  योनि में उंगली – Fingering जानकारी, सावधानी और नुकसान

आजकल के परिवेश में जब लड़कियां भी लड़कों वाले व्यायाम और एक्टिविटीज कर रही हैं तो हाइमन झिल्ली बिना किसी सेक्स के भी फट सकती है।

Hymen is a membrane which surrounds or partially covers the opening of the vagina and whose presence is traditionally taken to be a mark of virginity.

योनि Vagina

योनि, गर्भाशय और बाहरी जननांगों के बीच का मार्ग है। यह वल्वा का हिस्सा और बाहर से केवल इसकी ओपनिंग दिखती है। अधिकांश योनि वास्तव में अंदर होती है और बाहरी ओपनिंग से गर्भाशय ग्रीवा तक जाती है। यह एक ट्यूब जैसी संरचना है जिसमें सेक्स के दौरान पेनिस जाता है।

योनि की लम्बाई लगभग 4 इंच की होती है। महिला में समय-समय पर कुछ सामान्य योनि डिस्चार्ज होता है, जो कि योनि की मांसपेशियों के रासायनिक संतुलन और लचीलेपन को बनाए रखता है। यह योनि के लिए सामान्य रक्षात्मक प्रणाली के रूप में काम करता है। योनि स्राव की प्रॉपर्टी महिलाओं की उम्र के अनुसार बदलती है।

योनि का स्राव कभी-कभी पानी की तरफ होता है तो कभी कभी यह चिपचिपा और मोटा होता है। स्वस्थ महिलाओं में डिस्चार्ज का रंग सफेद होता है। सेक्स के समय उत्तेजना होने पर योनि स्राव से योनि गीली रहती है और पेनिस के पेनेट्रेशन में आसानी होती है रगड़ नहीं होती। साथ ही यह म्यूकस स्पर्म को आगे बढ़ने में मदद करता है। गर्भावस्था के शुरू में भी योनि से एक सफ़ेद सा म्यूकस निकलता है जो देखने में पनीर जैसा होता है।

योनि से हर महीने पीरियड्स होते हैं और बच्चे की नार्मल डिलीवरी भी इसी छेद से होती है।

बिना उत्तेजना के योनि से नार्मल स्राव होता है। यह स्राव बहुत ज्यादा नहीं होता और केवल योनि को गीला रखता है। यदि कोई महिला सेक्स के लिए तैयार नहीं है तो योनि से ल्यूब नहीं निकलता। ऐसे में सेक्स करने से योनि छिल सकती है। पेनिस के अंदर जाने पर रगड़ होती है, जिससे पेनिस को भी चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़ें -  योनि को साफ और स्वस्थ कैसे रखें

सेक्सौल अरोउसल होने पर, योनि की पूरी ट्यूब की संरचना में से ल्यूब निकलता है जिससे पूरी योनि में चिकनाहट आ जाती है। चिकनाइ से चोट का डर नहीं रहता और सेक्स भी आनंददायक होता है।

योनि में फैलने की अद्भुत क्षमता है। प्रसव के दौरान इसके फैलने से ही शिशु का जन्म होता है। शिशु गर्भ से होता हुआ, योनि के रास्ते ही जन्म लेता है। यदि शिशु जन्म में दिक्कत हो रही होती है तो पेरेनियम में कट लगाते हैं, जिसे एपिसियोटमी Episiotomy, also known as perineotomy, कहते हैं। इससे बच्चे का जन्म जल्दी और सुरक्षित  तरीके से हो जाता है।

क्या सभी योनि एक सी दिखती हैं?

नहीं, सभी स्त्रियों की योनि एक समान नहीं दिखती। लिप्स के शेप-साइज़, क्लिटोरिस के आकार, छेद की बनावट आदि से यह अलग अलग दिखती है। प्यूबिक बोन के डिजाइन के अनुसार भी योनि अलग अलग दिखती है। किसी में प्यूबिक हेयर बहुत अधिक होते हैं, किसी में कम। किसी में लिप्स काफी बड़े और मुड़े होते हैं जबकि कुछ में इनका साइज़ काफी छोटा होता है। अधिक फैट होने पर भी योनि की शेप अलग दिखती है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!