गोनोरिया (सुजाक) का लक्षण, उपचार और बचाव | Gonorrhoea

जानिये गोनेरिया इन हिंदी सुजाक रोग, गोनोरिया का उपचार और लक्षण क्या क्या हैं। गोनेरिया होने पर क्या करना चाहिए। गोनेरिअ इन्फेक्शन क्या ठीक हो सकता है। What is gonorrhoea, gonorrhoea symptoms and gonorrhoea treatment.

गोनोरिया, बैक्टीरियल जिसे सुजाक भी कहते हैं| जीवाणु के द्वारा संचरित यौन संक्रमण (एसटीआई) है। यह प्रजनन अंगों का संक्रमण है और यदि इसका जल्दी इलाज नहीं कराया जाता तो यह जटिलताओं का कारण हो सकता है और गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं में बदल सकता है।

Loading...
  • रोग का प्रकार: यौन संक्रमण (एसटीआई)। यौन रूप से सक्रिय किशोरों और युवा वयस्कों में सबसे आम;
  • कारण: संक्रमित व्यक्ति से यौन संपर्क
  • रिस्क फैक्टर: यौन रूप से सक्रिय लोग
  • बचाव: इन्फेक्टेड व्यक्ति से सेक्स न करें
  • इलाज़: एंटीबायोटिक दवा + इंजेक्शन
  • मुख्य लक्षण: गुप्तांगों से स्राव, जलन, दर्द

Gonorrhea is a sexually transmitted disease (STD). It is more common among teens and young adults. The best way to prevent gonorrhea is not to have sex or to have sex only with someone who’s not infected and who has sex only with you. Condoms can reduce risk of getting gonorrhea if used the right way every single time you have sex. Gonorrhea can be cured with the right treatment. If you do not treat gonorrhea, it can lead to serious health problems. Once treated you may get gonorrhea again from an untreated partner or a new partner. If you have gonorrhea, you should be tested for other STDs. Be sure to tell your recent sex partners, so they can get tested too. Talk openly and honestly with your partner about gonorrhea and other STDs.

इसे भी पढ़ें -  आई पिल I-pill 72 hour pill, Uses, Side Effects and Price

गोनोरिया कैसे होता है What causes gonorrhea?

गोनोरिया बैक्टीरिया Neisseria gonorrhoeae के कारण होने वाला एक रोग है। यह बैक्टीरिया, कोशिकाओं पर हमला कर उसमें अपनी संख्या को बढ़ाता है। यह जीवित बैक्टीरिया योनि, गुदा अथवा ओरल सेक्स के दौरान स्वस्थ्य पार्टनर के प्रजनन अंगों, मलाशय और मुंह की श्लेष्मा झिल्ली को संक्रमित कर देते हैं। गोनोरिया का संक्रमण योनि, गुदा या ओरल सेक्स के द्वारा संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ्य व्यक्ति में जा सकता है।

गोनोरिया कब हो सकता है? How is gonorrhoea passed on?

Loading...

किसी को भी, जो संक्रमित व्यक्ति के साथ योनि, गुदा या ओरल सेक्स करता है, को यह संक्रमण हो सकता है। यौन रूप से सक्रिय युवा लोगों में गोनोरिया अधिक देखा जाता है।

  1. असुरक्षित (कंडोम के बिना) योनि या गुदा सेक्स
  2. ओरल सेक्स बिना कंडोम के
  3. कंडोम या बांध (एक लेटेक्स या प्लास्टिक का वर्ग जो कि
  4. सेक्स टॉयज साझा करने से
  5. गर्भवती महिला से बच्चे

यदि गोनोरिया बैक्टीरिया आँखों के संपर्क में आता है तो नेत्रश्लेष्मलाशोथ conjunctivitis हो सकता है।

गोनोरिया को चुंबन, गले लगाने, तौलिये, स्विमिंग पूल, शौचालय की सीटें या कप, प्लेट या कटलरी से नहीं फैलता।

सुजाक के लक्षण क्या हैं?

What are the signs and symptoms of gonorrhoea?

गोनोरिया के लक्षण संक्रमण होने के 1-14 दिनों में, कई महीने में या अन्य अंगों तक पहुँचने के बाद प्रकट हो सकते हैं।

महिलाओं में सुजाक का लक्षण

  1. असामान्य योनिक स्राव
  2. पेशाब में जलन

पुरुषों में सुजाक का लक्षण

  1. पेनिस की टिप पर सूजन-रेडनेस
  2. पेनिस से पस जैसा स्राव
  3. पेशाब करते समय जलन
  4. एक या दोनों अंडकोष में सूजन और दर्द
  5. लगातार गले में खराश

गुदा | anal सेक्स, से गुदा के संक्रमण में निम्न लक्षण प्रकट हो सकते हैं:

  1. गुदा में दर्द
  2. गुदा से स्राव
  3. गुदा से खून बहना
  4. गले में इन्फेक्शन
  5. आँखों में इन्फेक्शन

गोनोरिया है कैसे पता चलेगा?

प्रयोगशाला परीक्षणों से क्लैमाइडिया होने का पता लग सकता है। मूत्र का नमूना अथवा योनि vaginal swab से एक नमूना लेकर क्लैमाइडिया का परीक्षण करने के लिए लैब भेजा जा सकता है।

इसे भी पढ़ें -  गुदा मैथुन Anal sex: स्वास्थ्य खतरों की जानकारी

गोनोरिया का टेस्ट कहाँ करा सकते है?

गोनोरिया का टेस्ट रतिरोग विभाग, सेक्सुअल हेल्थ क्लिनिक अथवा प्रजनन सम्बन्धी क्लिनिक में जा कर करवा सकते हैं।

गोनोरिया का क्या इलाज है?

What’s the treatment for gonorrhoea?

सुजाक को दो तरह के एंटीबायोटिक से ट्रीट किया जाता है, इंजेक्शन और सिंगल डोज़ टेबलेट्स। यदि यह इलाज़ ठीक से किया जाए तो करीब 95 प्रतिशत प्रभावशाली है। यह ज़रूरी है की इंजेक्शन और एंटीबायोटिक दोनों ही लिए जाएँ। यदि ऑनलाइन कंसल्टेशन से आप एंटीबायोटिक टेबलेट्स ले रहें है तो इंजेक्शन भी लगवाएं। दोनों ही तरह के एंटीबायोटिक का एक ही दिन में प्रयोग करें। अपने पार्टनर का भी सही से इलाज़ कराएं।

दवा के बाद इसके लक्षण कितने दिन में दूर होंगे?

When will the signs and symptoms go away?

  1. दवा शुरू करने पर आपको बहुत जल्दी सुधार दिखने चाहिए।
  2. पेशाब के दौरान दर्द या डिस्चार्ज में 2-3 दिनों के भीतर सुधार होना चाहिए।
  3. रेक्टम में दर्द या डिस्चार्ज में 2-3 दिनों के भीतर सुधार होना चाहिए।
  4. मासिक में अधिक रक्तस्राव या मासिक के बीच में रक्तस्राव को अगले मासिक तक सुधरना चाहिए।
  5. पेल्विक दर्द या टेस्टिकल में दर्द सुधार आना चाहिए।

गोनोरिया ठीक हो गया, क्या इसके लिए दुबारा जांच करानी होगी?

Do I need to have a test to check that the gonorrhoea has gone?

दुबारा जांच कराके यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि गोनोरिया ठीक हो गया है। यह टेस्ट इलाज़ के 1-3 सप्ताह बाद किया जाता है। यह तब भी ज़रूरी हो जाता है जब गोनोरिया के लक्षणों में सुधार न हो।

कौन सी दवाएं हैं जो गोनोरिया के इलाज़ में दी जाती है?

निम्न दवाएं सुजाक के इलाज़ में दी जाती है:

  1. Ceftriaxone
  2. Azithromycin
  3. Cefixime
  4. Doxycycline
  5. Erythromycin ophthalmic

सेफट्राईएक्सोन ceftriaxone 250mg का इंजेक्शन और एजिथ्रोमाइसीन 1 ग्राम, दोनों ही दवाएं एक साथ दी जाती हैं।

Uncomplicated Gonococcal Infections of the Cervix, Urethra, and Rectum Treatment

Ceftriaxone 250 mg IM in a single dose + Azithromycin 1g orally in a single dose.

क्या होगा यदि सुजाक का इलाज़ न करवाएं?

What happens if gonorrhoea isn’t treated?

इसे भी पढ़ें -  गर्भाशय फाइब्रॉएड: Uterine Fibroids का लक्षण, जांच और इलाज

केवल कुछ प्रतिशत लोगों में सुजाक के कारण जटिलताएँ हो सकती है। यदि गोनोरिया का सही से इलाज करवा लिया जाए तो यह जटिलताएं नहीं होती। बिना इलाज़ के और बार-बार गोनोरिया का इन्फेक्शन होने से निम्न दिक्कतें हो सकती हैं:

  • स्त्रियों में यह प्रजनन अंगों में फ़ैल सकता है जिससे पेल्विस इन्फ्लेमेटरी रोग हो जाता है। इसके अतिरिक्त फालोपियन ट्यूब ब्लाक हो सकती हैं। इनफर्टिलिटी और एक्टोपिक प्रेगनेंसी इसके अन्य दुष्प्रभाव हैं।
  • पुरुषों में यह अंडकोष तक फ़ैल सकता है जिससे प्रजनन क्षमता कम हो सकती है। टेस्टिकल में सूजन और दर्द भी रह सकती है।
  • कुछ मामलों में यह जोड़ों में सूजन और दर्द का कारण भी बन सकता है।
  • क्या गोनोरिया बिना इलाज़ के भी ठीक हो सकता है?

Can gonorrhoea go away without treatment?

बिना इलाज के सुजाक ठीक हो सकता है लेकिन इसमें बहुत लम्बा समय लग सकता है जिससे रोग प्रजनन अंगों तक फ़ैल कर इनफर्टिलिटी कर सकता है या दूसरों में सेक्स के दौरान फ़ैल सकता है।

इलाज़ के कितने दिन बाद सेक्स करें?

How soon can I have sex again?

इलाज़ करवा लेने के सात दिन बाद तक, दोनों ही पार्टनर को किसी भी प्रकार का यौन सम्बन्ध नहीं बनाना चाहिए।

क्या मैं अपने पार्टनर को यह बता दूं?

Should I tell my partner?

जैसे ही आपको पता लगे आपको सुजाक है तो आप को इसे अपने पार्टनर से बता देना चाहिए आर दोनों को ही साथ में ट्रीटमेंट करवा लेना चाहिए।

गर्भावस्था में गोनोरिया का पता लेगे तो क्या करें?

What happens if I get gonorrhoea when I’m pregnant?

सुजाक माँ से बच्चे में प्रसव के दौरान फ़ैल सकता है जिससे बच्चे को आँखों का इन्फेक्शन हो सकता है। गोनोरिया का एंटीबायोटिक से इलाज़ गार्भावस्था के दौरान भी किया जा सकता है।

गोनोरिया से बचने का क्या उपाय है?

How can I protect myself from gonorrhoea and other sexuallytransmitted infections?

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ योनि, गुदा, या ओरल सेक्स नहीं करना ही एसटीडी से बचने का एकमात्र तरीका है।
  • यदि आप यौन सक्रिय हैं, तो आप गोनोरिया न हो, इसके लिए निम्नलिखित बातों को कर सकते हैं:
  • monogamous रिश्ते में रहें।
  • हर यौन संबंध के दौरान लेटेक्स कंडोम का प्रयोग करें।
Loading...

9 Comments

  1. Es janch me kitna kharch aata hai

  2. kya sujak ka ilaz dawaiyon se ho saakta h plz mujhe batao me army me hu abhi october tak doter se nahi mil sakta koi dawaai ho to mujhe bataye plz

  3. Hello suzak Ka ilaz homattaic se Accha rahega ki allopathic se plz jabab de.

    • शालिनी

      allopathic se jaldi theek hoga lenkin dhyan rakhe allopathic dawa ka corse poora karane ke baad fir se blood test karayen, taki sujak ko jad se khatam kiya ja sake.

  4. क्या सुजाक एक ऐसी बिमारी है जिसकी कोई ईलाज नहीं या एक बार हो जाने के बाद इससे जिंन्दगी भर लिये जुझना पड़ेगा ना कि कोई ईलाज है जिससे छुटकारा मिल सके

    • शालिनी

      nahi agar pura laj doctor ko dikhakar kiya jaaye to yah theek ho jaata hai.
      दुबारा जांच कराके यह सुनिश्चित किया जा सकता है कि गोनोरिया ठीक हो गया है। यह टेस्ट इलाज़ के 1-3 सप्ताह बाद किया जाता है। यह तब भी ज़रूरी हो जाता है जब गोनोरिया के लक्षणों में सुधार न हो।

  5. सर पुराने सुजाक का मैडिशिन में कोई इलाज है जी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.