एंडोमेट्रियोसिस Endometriosis और महिला में सेक्स समस्याएं

एंडोमेट्रियोसिस का मुख्य लक्षण क्रोनिक पेल्विक दर्द है, जो एक महिला की मासिक धर्म अवधि के पहले और दौरान खराब हो सकता है। एंडोमेट्रियोसिस, रिश्ते की समस्या का कारण बन सकता है। पत्नी दर्द के कारण सेक्स करना नहीं चाहती और यह पति-पत्नी को अंतरंग होने से रोकता है। जानिये इसको ठीक करने के उपाय।

एंडोमेट्रियोसिस Endometriosis in Hindi एक दर्दनाक विकार होता है जिसमें वे ऊतक जो सामान्य रूप से गर्भाशय के अंदर – एंडोमेट्रिअम में  – होते है, गर्भाशय के बाहर बढ़ने लगते है। एंडोमेट्रियोसिस से आम तौर पर अंडाशय, फैलोपियन ट्यूबों और श्रोणि प्रभावित होते है। लेकिन, दुर्लभ मामलों में एंडोमेट्रियोसिस ऊतक श्रोणि अंगों से भी फैल सकते हैं।

Loading...

एंडोमेट्रियोसिस का मुख्य लक्षण क्रोनिक पेल्विक दर्द है, जो एक महिला की मासिक धर्म अवधि के पहले और दौरान खराब हो सकता है। इसके अन्य लक्षणों में शामिल हैं, पीरियड्स के दौरान बहुत दर्द होना, सेक्स के दौरान दर्द होना और इनफर्टिलिटी हैं। सेक्स के दौरान बहुत दर्द या क्रैम्प्स हो सकते हैं। कमर के निचले हिस्से व रेक्टम में दर्द आदि भी इसके लक्षण हो सकते हैं।

एंडोमेट्रियल ऊतक कहाँ स्थित है, उस पर निर्भर करते हुए, महिला को शौच आने पर भी दर्द हो सकता है।  इसके इलाज़ के लिए टेबलेट्स व इंजेक्शंस उपलब्ध हैं और पांच सेंटीमीटर से बड़े व दर्द करने वाले एंडोमेट्रियोमास के लिए ही लैप्रोस्कोपिक सर्जरी करवानी होती है।

एंडोमेट्रियोसिस से यौन दर्द भी हो सकता है, खासकर अगर ऊतक योनि के निकट हो। दर्द हल्का या गंभीर हो सकता है। सेक्स के समय पेनिस के अंदर-बाहर के थ्रसटिंग से दर्द ज्यादा हो सकता है। पेनिस के योनी के अंदर जाने पर भी दर्द होता है। कभी-कभी, कुछ घंटों से कुछ दिनों तक संभोग के बाद दर्द रहता है। दर्द की संभावना, महिला में तनाव पैदा कर सकती है, और सेक्स को लेकर उसमें तनाव और दर्द की भावना बढ़ सकती है।

एंडोमेट्रिओसिस से महिला में अपरिहार्यता और चिंताओं की भावनाएं आम हैं। वे अपने आप को दोषी, या निराश महसूस कर सकती हैं क्योंकि वे सेक्स से आनंद के बजाए दर्द महसूस करती हैं और इससे पति भी सेक्स सुख से वंचित रह जाता है। महिला में सेक्स की इच्छा और संतुष्टि दोनों की कम हो सकती है।

इसे भी पढ़ें -  पेनिस पर स्पॉट Lumps and Spots on the Penis के कारण

एंडोमेट्रियोसिस, रिश्ते की समस्या का कारण बन सकता है। पत्नी दर्द के कारण सेक्स करना नहीं चाहती और यह पति-पत्नी को अंतरंग होने से रोकता है। महिलाओं को चिंता हो सकती है कि एंडोमेट्रिओसिस के कारण उनके रिश्ते में दिक्कत हो सकती है।

एंडोमेट्रियोसिस किसे कहते हैं?

एंडोमेट्रियोसिस तब होता है जब एंडोमेट्रियोटिक टिशू (जो आमतौर पर गर्भाशय की लाइनिंग में होते हैं) गर्भाशय के बाहर पाया जाते है। यह ऊतक अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब, मूत्राशय, मलाशय या आंतों पर पाया जा सकता है।

एंडोमेट्रिओसिस से पीड़ित महिला अपने यौन संबंधों में सुधार करने के लिए क्या कर सकती है?

एंडोमेट्रिओसिस से कई यौन समस्यायें हो सकती हैं।  इससे दर्द होता है, साथ ही यौन संतोष की भावना कम हो जाती है। सेक्स करने को मन नही करता और सेक्स से ओर्गास्म भी नहीं होता।

गंभीरता के आधार पर, एंडोमेट्रिओसिस का इलाज दवाओं या सर्जरी के साथ किया जा सकता है। हालांकि, ऐसी चीजें हैं जो एक महिला सेक्स को अधिक मनोरंजक बनाने के लिए कर सकती हैं।

सेक्स पोजीशन

ऐसी सेक्स पोजीशन की कोशिश की जानी चाहिए जिसमें दर्द कम हो या जो अधिक आरामदायक हो। सेक्स पोजीशन जैसे साइड-बाय-साइड, अधिक आरामदायक हो सकती हैं क्योंकि वे ग्रोथ पर कम दबाव डालती हैं।

ऐसी पोजीशन में सेक्स करना चाहिए जिसमें ज्यादा अंदर पेनेट्रेशन नहीं हो। महिला को ज्यादा पेनेट्रेशन से अधिक दर्द हो सकता है, इसलिए उसे ऐसी स्थिति में सेक्स ट्राई करना चाहिए जिसमें उसका अधिक नियंत्रण हो।

अंतरंग होने के अन्य तरीकों को ढूंढना एक और विकल्प हो सकता है जैसे चुंबन, ओरल सेक्स आदि। जब हार्मोन के स्तर में उतार चढ़ाव होता है, एंडोमेट्रोटिक टिशू अधिक सूज सकते है। नतीजतन, पीरियड की से पहले और उसके दौरान सेक्स अधिक दर्दनाक हो सकता है। इसलिए ऐसे समय सेक्स नहीं करें।

बातचीत करना

एंडोमेट्रियोसिस का सामना करने वाले जोड़ों के लिए रिश्ते संबंधी समस्याएं आम हैं। महिला अपने साथी को प्रसन्न नहीं करने और अपर्याप्त या असुरक्षित महसूस करने के बारे में चिंता कर सकती हैं। पति अपने को रिजेक्टेड महसूस कर सकते हैं और किसी महिला के दर्द और भय को समझ नहीं सकते हैं। कपल सेक्स के कारण अलग होने का निर्णय भी ले सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  मेडिकल एबॉर्शन गोलियों के द्वारा Abortion Using Pills

कई यौन समस्याओं की तरह, एंडोमेट्रियोसिस के बारे में बात करना मुश्किल हो सकता है, लेकिन वार्तालाप फायदेमंद है। कपल को अपनी चिंताओं को साझा करना चाहिए। वे एक-दूसरे को आश्वस्त कर सकते हैं, आत्मविश्वास का निर्माण कर सकते हैं, और अपने अंतरंगता को बेहतर बनाने के लिए काम कर सकते हैं।

परामर्श या सेक्स चिकित्सा

जोड़ों के लिए या अकेले महिलाओं के लिए यह भी मदद कर सकता है। एक योग्य चिकित्सक से राय से एंडोमेट्रियोसिस के बारे में अधिक जानकारी पायी जा सकती है।

यदि सेक्स के कारण किसी महिला को दर्द होता हो, पीरियड्स में दर्द अधिक हो रहा है जो पेन किलर से भी नहीं जा रहा, अधिक ब्लीडिंग होती है और पेडू में पुराना दर्द रहता है तो डॉक्टर से सम्पर्क करें और सही राय लेकर सही उपचार कराएं। इस तरह की तकलीफें अपने आप ठीक नहीं होती और कई बार अधिक समस्या का कारण बन सकती है।

Related Posts

Loading...
महिलाओं में होने वाली सेक्स समस्यायें और उनका इलाज
योनि का सूखापन का उपाय और कारण Vaginal Dryness reasons and cure
सेक्स के दौरान दर्द Pain During Intercourse Vaginismus

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!