एंडोमेट्रियल पोलिप का लक्षण और इलाज Endometrial Polyps

एंडोमेट्रियल पोलिप के लक्षण क्या हैं और कारण क्या हैं? क्या एंडोमेट्रियल पोलिप से प्रेगनेंसी में समस्या हो सकती है? एंडोमेट्रियल पोलिप के लिए उपचार और दवाएं क्या हैं? इसके लिए सर्जरी की जरूरत कब होती है?

गर्भाशय या यूट्रस Utres, स्त्री का मुख्य आंतरिक प्रजनन अंग है। यह पेशाब के ब्लैडर Urine bladder और मलाशय anus के बीच में स्थित होता है इसमें ही शिशु का विकास होता है।  यूट्रस का आकार एक नाशपाती जैसा होता है। गर्भाशय का निचला हिस्सा, या गर्भाशय की गर्दन को गर्भाशय ग्रीवा cervix or cervix uteri कहते हैं। यह आमतौर पर 2 से 3 सेंटीमीटर लंबा (~ 1 इंच) और आकृति में बेलनाकार होता है। यह एक सिरे से गर्भाशय से और दूसरी तरफ से योनि में जुड़ा होता है।

पोलिप क्या है। मेडिकल भाषा में पोलिप, बॉडी सेल्स की असामान्य ग्रोथ को कहते हैं। यह म्यूकस झिल्ली से बाहर की और निकली हुई संरचना होती है। अक्सर यह नीचे पतले और लम्बे तने की तरह उतकों से जुड़ी होती है। मानव शरीर में पोलिप कोलन, पेट, नाक, साइनस, पेशाब के ब्लैडर और गर्भाशय में पाए जाते हैं।

जब पोलिप सर्विक्स या गर्भाशय की ग्रीवा में होते हैं तो इन्हें सर्वाइकल पोलिप Cervical Polyps, Polyp of Cervix कहते हैं।

जब पोलिप गर्भाशय की भीतरी दीवार से जुड़ा होता है तो, यह गर्भाशय के पॉलीव्स/ यूट्रिन पोलिप या एंडोमेट्रियल पोलिप Endometrial polyps or Uterine polyps, Uterine bleeding – polyps, Vaginal bleeding – polyps) कहलाता है। यह गर्भाशय की कैविटी में लटकता है।

गर्भाशय (एंडोमेट्रियम) के अस्तर में कोशिकाओं के अधिक बढ़ जाने पर यह पोलिप बनते हैं। यूट्रिन पोलिप का आकार एक तिल के दाने से छोटा से लाकर गोल्फ बॉल जितना बड़ा हो सकता है। पोलिप एक बड़े आधार या पतले तने से गर्भाशय की दीवार से जुड़े रहते हैं।

यूट्रिन पोलिप, एक या एक से ज्यादा हो सकते हैं। कई बार यह गर्भाशय से निकल, सर्विक्स से होते हुए योनि में लटकते हैं। ऐसे तो यह किसी को भी हो सकता है, लेकिन मेनोपॉज़ के दौरान देखा जाता है। इससे बचने का कोई उपाय नहीं है।

इसे भी पढ़ें -  डिस्परेयूनिया Dyspareunia: सम्भोग और दर्द, कारण और इलाज

यूट्रिन पोलिप क्योंकि गर्भाशय के अंदर होते हैं इसलिए Uterine Polyps Can Cause Infertility or Miscarriage इससे बांझपन या गर्भपात हो सकता है। पोलिप से भ्रूण के इम्प्लांट होने में दिक्कत हो सकती है। कई बार इनके होने पर प्रेगनेंसी हो जाती है लेकिन उसमें दिक्कतें हो सकती हैं। कई स्त्रियों में इसी कारण से बार बार गर्भपात होता है। यदि बच्चा होने में दिक्कत आ रही है और गर्भाशय में पोलिप है तो इसे डॉक्टर हटवा लेने की सलाह देते हैं।हटवाने के लिए सर्जरी ही एकमात्र विकल्प है।दवाओं से इसका उपचार नहीं किया जाता।बहुत छोटे पोलिप को अक्सर ट्रीट नहीं करते क्योंकि कई बार यह अपने आप ही गायब हो जाते हैं।

एंडोमेट्रियल पोलिप के लक्षण क्या हैं?

Endometrial polyps Symptoms

  1.  एंडोमेट्रियल पोलिप के लक्षणों में शामिल हैं:
  2. अनियमित मासिक धर्म Menstrual bleeding that is not regular or predictable
  3. मासिक धर्म के बीच रक्तस्त्राव Bleeding between periods
  4. अत्यधिक मासिक होना Long or heavy menstrual bleeding
  5. रजोनिवृत्ति के बाद योनि खून बहना Bleeding from the vagina after menopause
  6. बांझपन infertility

अगर रजोनिवृत्ति के बाद योनि से खून बहे, पीरियड्स के बीच रक्तस्त्राव हो, या पीरियड्स कभी भी हो, तो स्त्री रोग विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।

एंडोमेट्रियल पोलिप के कारण क्या हैं?

Loading...

Causes of Endometrial polyps

 एंडोमेट्रियल पोलिप, हार्मोन संबंधी कारणों से होते हैं। यह एस्ट्रोजेन-संवेदनशील होते हैं, और एस्ट्रोजेन बढ़ने से हो सकते हैं।

यह निम्न स्थितियों में ज्यादा हो सकते हैं:

  1. मीनोपॉज होने से पहले या बाद में
  2. उच्च रक्तचाप
  3. मोटापा
  4. स्तन कैंसर के लिए मादक पदार्थों के उपचार के लिए टेमॉक्सीफेन लेना

एंडोमेट्रियल पोलिप होने से फर्टिलिटी पर असर हो सकता है। इसलिए डॉक्टर प्रेगनेंसी के चांस को बढ़ाने के लिए इसे हटाने की सलाह देते हैं।

एंडोमेट्रियल पोलिप के लिए कौन से टेस्ट उपलब्ध हैं?

Test and Diagnosis 

गर्भाशयमें पोलिप होने के संदेह पर डॉक्टर तो निम्नलिखित कर सकते हैं:

इसे भी पढ़ें -  माहवारी या मासिक धर्म की जानकारी

 ट्रांसवैजाईनयल अल्ट्रासाउंड Transvaginal ultrasound

इसमें अल्ट्रासाउंड करने के लिए योनि में पतली, डिवाइस लगाई जाती है जो ध्वनि तरंगों का उत्सर्जन करती है जिससे गर्भाशय की एक छवि बनती है। इसमें पोलिप दिख सकता है। यह पोलिप स्पष्ट रूप से मौजूद हो सकता है या घना हुआ एंडोमेट्रियल टिशू के रूप में हो सकता है।

हिस्टोरोसॉनोग्राफी hysterosonography/sonohysterography भी की जा सकती है जिसमे योनि और गर्भाशय ग्रीवा के माध्यम से नमक का पानी/ सेलाइन, डाला जाता है जिससे गर्भाशय फ़ैल जाए और अल्ट्रासाउंड के दौरान ठीक से दिखाई दे।

हिस्टोरोस्कोपी Hysteroscopy

इसमें चिकित्सक ने योनि और गर्भाशय ग्रीवा के माध्यम से गर्भाशय में एक पतली, लचीला, चमकीली दूरबीन (हिस्टोरोस्कोप) डाल कर देखते हैं।

एंडोमेट्रियल पोलिप के लिए उपचार और दवाएं क्या हैं?

Treatment of Endometrial polyps

छोटे पोलिप का अक्सर इलाज़ नहीं किया जाता। वे अक्सर कुछ समय में अपने आप ही ठीक हो जाते हैं।

जो पोलिप लक्षण पैदा करते हैं, या मेनोपौज़ के बाद होते हैं या जिनसे प्रेगनेंसी होने या जारी रहने में दिक्कत आ सकती है उन्हें सर्जरी के द्वारा निकाल दिया जाना चाहिए।

दवा

प्रोजेस्टिन और गोनैडोट्रोपिन-रिलीज़ होने वाले हार्मोन एगोनिस्ट सहित कुछ हार्मोनल दवाएं, पॉलीप के लक्षणों को कम कर सकती हैं। लेकिन ऐसी दवाएं लेना आमतौर पर कम समय पर एक अल्पावधि समाधान है। दवा लेना बंद करने पर लक्षण आमतौर पर फिर से हो जाते हैं।

सर्जरी कर निकालना Surgical removal

पोलिप को सर्जरी कर निकाल दिया जाता है। Endometrial polyps are most often removed by a procedure called hysteroscopy. Sometimes, a D and C (Dilation and Curettage) can be done to biopsy the endometrium and remove the polyp. This is less commonly used.

Polyps are fingerlike growths in the body. In female reproductive organ, polyps can grow in cervix and endometrium. Endometrium is the lining of the inside of the uterus. Overgrowth of the lining tissue creates polyp. Polyps can be as small as a sesame seed or larger than a golf ball. There may be just one or many polyps.

इसे भी पढ़ें -  गर्भावस्था में टीकाकरण Pregnancy and Vaccination

The exact cause of endometrial polyps is not known. They tend to grow when amount of estrogen hormone increases in the body.

Most endometrial polyps are not cancerous. Very few can be cancerous or precancerous. The chance of cancer is higher if you are postmenopausal, on Tamoxifen, or have heavy or irregular periods.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!