डिस्परेयूनिया Dyspareunia: सम्भोग और दर्द, कारण और इलाज

डिस्परेयूनिया चिकित्सा या मनोवैज्ञानिक कारणों के कारण संभोग के दौरान होने वाला दर्द है। दर्द आमतौर पर जननांग की बाहरी सतह पर या गरभसय ग्रीवा पर दबाव से श्रोणि में गहराई से हो सकता है। यह योनी या योनि के एक छोटे हिस्से को प्रभावित कर सकता है या पूरे सतह पर महसूस किया जा सकता है।

बहुत सी महिलायों में यौन संभोग के दौरान या बाद में दर्द की समस्या देखी जाती है। मेडिकल भाषा में इसे डिस्परेयूनिया या डिस्पेरेयूनिया Dyspareunia कहते हैं। इस स्थिति में महिलाओं की योनि, भगशेफ या लेबिया में दर्द हो सकता है। डिस्पेरेयूनिया, संभोग करने के दौरान या उसके बाद भयंकर दर्द होने की समस्या का मेडिकल नाम है।

Loading...

डिस्पेर्यूनिया के कई कारण हैं, जिनमें से कई आसानी से उपचार योग्य हैं। पहली बार या यौन संबंधों के शुरू करने पर सेक्स के दौरान दर्द होना बहुत सामान्य है और ऐसा योनि की मांशपेशियों के बहुत टाइट होने से होता है। कई बार दर्द कभी-कभी कभी होता है लेकिन बहुत बार ऐसा अक्सर होने लगता है।

यदि योनि में संक्रमण, कोई रोग, सूजन, अथवा पेट का रोग है तो भी यह समस्या हो सकती है। बहुत सी स्त्रियाँ सेक्स से ही डरती हैं इसलिए सम्भोग के दौरान योनि गीली नहीं होती और सेक्स से दर्द होता है, चोट लग सकती है या योनि में सूजन आ सकती है। कुछ महिलायें कम पानी पीती है जिससे योनि में सूखापन रहता है। सूखापन भी सेक्स के दौरान दर्द का कारण है।

डिस्परेयूनिया क्या है?

What is dyspareunia?

डिस्परेयूनिया का मतलब संभोग के दौरान दर्द है। यह कई तरह के कारण हो सकता है जैसे स्थानीय संक्रमण, उम्र बढ़ने के साथ हार्मोनल परिवर्तन, या व्यक्तिगत देखभाल उत्पादों के उपयोग के कारण एलर्जी।

एलर्जी, उच्च रक्तचाप या अवसाद के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सामान्य दवाएं योनि स्नेहन, यौन उत्तेजना और इच्छा की मात्रा को प्रभावित कर सकती हैं और यह संभोग के दौरान दर्द का कारण हो सकता है। शारीरिक समस्याएं, प्रसव के दौरान एक पेट सर्जरी या प्रसव के दौरान स्कार बनने से भी संभोग के दौरान बहुत दर्द हो सकता है।

पैल्विक फ्लोर मायलागिया या पेल्विक मांसपेशियों के अनैच्छिक संकुचन के परिणामस्वरूप मुश्किल और असुविधाजनक सेक्स हो सकता है। कभी-कभी, यौन उत्पीड़न या अन्य मनोवैज्ञानिक समस्याओं जैसे पिछले खराब अनुभव यौन संबंध के दौरान दर्द का कारण हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  महिला नसबंदी के फायदे, नुकसान और सावधानी Female Sterilization

सेक्स के दौरान दर्द की समस्या उन औरतों में अधिक पायी जाती है जिनमें सेक्स सम्बन्ध नए शुरू होते हैं या जो मीनोपॉज की करीब हैं। हिस्टेरेक्टॉमी के बाद भी ऐसा हो सकता है लेकिन ऐसा होने की उम्मीद कम होती है। हिस्‍टेरेक्‍टॉमी एक सर्जरी के द्वारा से महिला के गर्भाशय को निकाला जाता है।

सेक्स के दौरान दर्द के लिए किसी स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिला जा सकता है। वे दर्द कब होता है के बारे में पूछ सकती हैं। क्या यह दर्द बाहर की साइड होता है या योनि के अंदर की साइड।

यदि पेनिस के अंदर जाते ही दर्द होता है तो यह वैजनिज्मस vaginismus  का लक्षण है। वैजनिज्मस वह स्थिति है, जिसमें औरतों को किसी भी तरह के योनि में पेनिट्रेशन से डर लगता है। वैजनिज्मस को सबसे सफल उपचार वाली महिला यौन विकारों में से एक माना जाता है।

सम्भोग के कारण दर्द को अच्छे से समझने के लिए कुछ प्रश्नों का उत्तर ज़रूरी है:

  • क्या यह हाल से है या क्या हमेशा रहा है?
  • क्या बच्चे के जन्म के बाद हुआ है? यदि हां, तो क्या एपीसीओटमी या योनि से जन्म के दौरान की मेडकल हिस्ट्री क्या है?
  • दर्द कहाँ है (सतही, गहरा या दोनों)?
  • दर्द कब महसूस होता है (संभोग के पहले,दौरान या बाद में या इन के संयोजन)?
  • यदि संभोग के बाद दर्द निरंतर रहता है, तो यह कब तक चलता है?
  • क्या शरीर में कहीं और दर्द है?
  • क्या कभी सफल संभोग हुआ है?
  • क्या संभोग वर्तमान में संभव है?
  • यदि नहीं, तो क्या मरीज यौन सक्रिय होना चाहती है?
  • स्नेहक की कोशिश की गई है?
  • क्या यौन शोषण, बलात्कार या जननांगों का आघात हुआ है?
  • क्या सेक्स के दौरान हिंसा हुई है?
  • क्या महिला सेक्स करना चाहती भी है?
  • क्या रोगी योनि में सूखापन, गर्म flushes या मासिक धर्म में परेशानी का सामना कर रही है?
  • क्या मूत्र पथ के संक्रमण (यूटीआई) के लक्षण हैं?
  • क्या वह स्तनपान करा रही है? इससे योनि सूखापन और डिस्पेर्यूनिया हो सकता है?
  • पेट की शल्य चिकित्सा हुई है?
  • योनि में संक्रमण जैसे कैंडिडा, दाद सिंप्लेक्स या वार्ट्स, जलन, सूजन, असामान्य स्राव है की नहीं?
इसे भी पढ़ें -  गुदा मैथुन Anal sex: स्वास्थ्य खतरों की जानकारी

डॉक्टर परीक्षण के लिए, ग्लोव पहन कर, एक ऊँगली योनि में डालती है। इससे रोगी के योनि की मांसपेशियों के नियंत्रण को देखा जाता है। योनि मांसपेशियों को टाइट करने और रिलैक्स करने को कहा जा सकता है। ऊँगली को 4-5 बजे और 7-8 बजे की स्थिति में घुमा कर जांचा जा सकता है कि वैजनिज्मस तो नहीं है।

डिस्परेयूनिया के कारण क्या हो सकते हैं?

Loading...
  • सेक्स की इच्छा की कमी
  • उत्तेजना की समस्याएं, अपर्याप्त यौन उत्तेजना
  • एंडोमेट्रिओसिस / एडेनोमोसिस
  • कैंडिडा, हर्पीज सिम्प्लेक्स, ट्राइकोमोनास, गारडेरेल्ला gardnerella
  • कौमार्य झिल्ली का टाइट होना
  • क्रोनिक वलवाइटिस Chronic vulvitis
  • गर्भाशय के संकुचन
  • गर्भाशयग्रीवाशोथ
  • घातक रोग के लिए सर्जरी और रेडियोथेरेपी
  • चिंता और अवसाद
  • त्वचा विकार, lichen planus and lichen sclerosus
  • दर्दनाक एपीसीओटॉमी episiotomy
  • पेट के रोग आईबीएस, सूजन आंत्र रोग (IBD) या पुरानी कब्ज
  • बढ़े हुए गर्भाशय से
  • बनावट से योनि का छोटा होना
  • मनोवैज्ञानिक डिस्पेर्यूनिया
  • मूत्रमार्गशोथ
  • योनि का संकुचन
  • योनि में संक्रमण से, रासायनिक जलन या एलर्जी
  • यौन या घरेलू हिंसा
  • रजोनिवृत्ति से
  • व्लवॉडीनिया Vulvodynia क्लिटोरल जलन और अतिसंवेदनशीलता
  • संभोग के दौरान बार्थोलिन ग्रंथि की सूजन
  • हाइमनल रिंग की कठोरता

संभोग के बाद दर्द होता है तो योनि का संकुचन, योनिशोथ, गर्भाशयग्रीवाशोथ, कॉपर टी IUCD, Endometriosis, आईबीएस, आईबीडी आदि कारण हो सकते हैं।

डिस्परेयूनिया में उपाय / इलाज़ क्या है?

सेक्स से यदि महिला को दर्द होता है तो उपचार करने के लिए इसके सही कारण को समझा जाना चाहिए।

उपचार के विकल्प श्रोणि परीक्षा और अन्य नैदानिक ​​परीक्षणों के परिणामों पर निर्भर हो सकते हैं।

संक्रमण के मामले में मौखिक रूप से या योनि में डालने वाली दवाओं को दिया जा सकता है। यदि योनि की अपर्याप्त स्नेहन के कारण समस्या है, तो दर्द को कम करने के लिए क्रीम या जेली का इस्तेमाल किया जा सकता है। विश्राम अभ्यास Relaxation exercises योनि की मांसपेशियों पर नियंत्रण हासिल करने में मदद कर सकता है। इससे संभोग के दौरान दर्द कम करने में मदद मिल सकती है। कुछ मामलों में तो सर्जरी का सुझाव दिया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें -  गर्भाशय फाइब्रॉएड: Uterine Fibroids का लक्षण, जांच और इलाज

इसमें मनोचिकित्सक चिकित्सा, फिजियोथेरेपी, नैदानिक ​​मनोविज्ञान और दर्द प्रबंधन आदि आवश्यक हो सकते हैं। कपल के द्वारा संभोग की पोजीशन में फेरबदल करके दर्द को कम करने में मदद हो सकती है।

फोरप्ले देर तक किया जाना चाहिए जिससे नेचुरल ल्यूब निकले और मांसपेशियां रिलैक्स हो। यदि ल्यूब कम निकलता है तो योनि स्नेहन को इस्तेमाल करना चाहिए। पेनेट्रेशन तब किया जाना चाहिए जब उत्तेजना अधिक हो और महिला चाह रही हो।

बहुत सी महिलाओं को चिंता हो सकती है कि उनकी योनि पेनिस के प्रवेश की बहुत छोटी है। लेकिन ऐसा होता नहीं है। यौन उत्तेजना होने पर योनि की लंबाई लगभग 35-40% `बढ़ जाती है। ऊपरी छोर पर यह लगभग 6 सेमी तक फैल जाती है। योनि प्रसव के समय एक बच्चे के सिर निकालने के लिए फ़ैल जाती है।

  • यदि योनि में कोई रोग है तो उसका इलाज़ किया जाता है। योनि संक्रमण के उपचार की आवश्यकता हो सकती है।
  • हार्मोनल हेर फेर से एंडोमेट्रियोसिस को लाभ हो सकता है।
  • कॉर्टिकॉस्टिरॉइड्स के लोकल इंजेक्शन, लोकल एनेस्थेटिक क्रीम आदि के इस्तेमाल से भी लाभ होता है।
  • Sildenafil उत्तेजना समस्याओं के साथ कुछ महिलाओं के लिए सहायक हो सकता है।
  • संक्रमित ट्यूबों को निकालने या एंडोमेट्रियोसिस की महिलायों को शल्य चिकित्सा की आवश्यकता होती है।
  • योनि को फ़ैलाया या बढ़ाने के लिए छोटी सर्जरी की जा सकती है।
  • एपिसिओटॉमी के बाद दर्द होने पर सेंसिटिव स्कार टिश्यू को हटाने से बहुत अधिक लाभ हो सकता है।

Dyspareunia is medical condition in which there is pain during or after sexual intercourse. It can affect men but is more common in women. Women with dyspareunia may have pain in the vagina, clitoris or labia. It is a painful condition that interferes with sexual function.

There are numerous causes of dyspareunia and many of them are easily treatable.

It is more common in sexually inexperienced and peri- or post-menopausal women.

इसे भी पढ़ें -  प्रीएपिज़म Priapism (Long lasting Erections)

The treatment involves local injections of corticosteroids, local anesthetic and hyaluronidase, treating vaginal infections, hormonal treatment, change in sex position, use of vaginal estrogen etc. Sildenafil may be helpful for some women with arousal problems.

Surgery is required for pelvic masses and sometimes to remove chronically infected tubes or to clear endometriosis or adhesions. Fenton’s operation (to enlarge a tight introitus) may help. Removal of sensitive scar tissue bridge can be highly effect.

Many couple do not consult a doctor. The sex life of the couple suffers, as does their relationship. So, it is important to consult doctor to get right treatment.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!