स्तनपान के दौरान गर्भ निरोधक गोली Contraceptive Pills During Breastfeeding

जानिये क्या स्तनपान कराते समय गर्भनिरोधक गोलियां ले सकती हैं? क्या एस्ट्रोजन वाली पिल्स या कंबाइंड पिल्स ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ले सकते हैं? Progestin-only contraceptives स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं।

स्तनपान के दौरान गर्भ निरोधक गोलियों का प्रयोग खुद से शुरू नहीं किया जाना चाहिए। डॉक्टर से राय ले कर ही गर्भनिरोधन का कोई तरीका अपनाना चाहिए। कंडोम का प्रयोग करना सबसे सेफ है। यदि कोई हार्मोनल गोली लेनी हो कंबाइंड पिल्स नहीं लेनी चाहिए। स्तनपान कराने के दौरान केवल प्रोजेस्टिन गर्भ निरोधक Progestin-only contraceptives स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प हैं। यह गोली प्रसव के 6 से 8 सप्ताह के बाद शुरू की जाती है।

स्तनपान कराते समय क्या आप गर्भनिरोधक गोलियां ले सकती हैं?

जन्म नियंत्रण के अधिकांश तरीके स्तनपान के दौरान सुरक्षित होते हैं, लेकिन एस्ट्रोजन वाले तरीकों से आपका दूध उत्पादन कम हो सकता है। प्रोजेस्टेरोन, जो स्तनपान के दौरान बढ़ता है , वास्तव में दूध उत्पादन को बढ़ा देता है इसलिए एक प्रोजेस्टेरोन-केवल गोली (जिसे मिनी पिला भी कहा जाता है ) नर्सिंग माताओं के लिए एक बेहतर विकल्प है।

प्रोजेस्टिन-केवल गर्भनिरोधक कई अलग-अलग रूपों में आते हैं:

  1. मिनी-पिल progestin-only pill / mini-pill
  2. जन्म नियंत्रण इंजेक्शन (डेपो-प्रोवेरा) birth control injection (Depo-Provera)
  3. प्रोजेस्टेरोन-रिलीज आईयूडी (मिरेना, स्काइला) progesterone-releasing IUD (Mirena, Skyla)
  4. जन्म नियंत्रण इम्प्लांट (इप्लानन, नेक्सप्लानन) birth control implant (Implanon, Nexplanon)

लेकिन यह भी होर्मोन हैं और कुछ महिलायों में इसके सेवन से भी दूध की मात्रा कम होती देखी गई है। इसलिए इन्हें ले ते समय भी दूध पर होने वाले प्रभाव को देखा जाना चाहिए। यदि दूध की मात्रा पर असर होता हो तो गोली का सेवन बंद कर देना चाहिए।

प्रोजेस्टेरोन को सामान्य से ज्यादा खुराक में लेने पर यह दूध की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकती है । उच्च खुराकों पर यह दूध की प्रोटीन / नाइट्रोजन और लैक्टोज सामग्री को कम हो सकती है। ज्यादा पढ़ें गर्भनिरोधक, प्रेगनेंसी रोकने के उपाय, गर्भधारण से बचने के उपाय Contraception

स्तनपान कराने के दौरान क्या मैं i pill ले सकती हूँ?

आई पिल या कोई भी अन्य इमरजेंसी कंट्रासेप्टिव पिल को केवल तब इस्तेमाल करना चाहिए जब बहुत ज़रूरी हो। इन में होर्मोन की मात्रा अधिक होती है और शरीर पर कुछ साइड इफेक्ट्स देखने को मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें -  योनि से बदबू आने के कारण और इलाज़ Fishy Smell from Vagina

अध्ययनों से पता चलता है कि लेवोोनोर्जेस्ट्रेल स्तनपान या स्तनपान की मात्रा को प्रभावित नहीं करता है। यह स्तनपान करने वाले शिशु के विकास औपर असर नहीं डालता। लेवोनोर्जेस्टल, मिनी पिल में पाया गया एक ही हार्मोन है, जिसे स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए ओरल गर्भनिरोधक माना जाता है ।

जिन इमरजेंसी कंट्रासेप्टिव पिल में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टिन का संयोजन होता है, उसे लेने से नर्सिंग माताओं में कुछ दिन के लिए दूध उतरना बंद हो सकता है, लेकिन उसके बाद दूध का स्तर फिर से ठीक हो जाना चाहिए।

क्या एस्ट्रोजन वाली पिल्स या कंबाइंड पिल्स ब्रेस्टफीडिंग के दौरान ले सकते हैं?

गर्भनिरोधक के अधिकांश तरीके कि महिलाओं का उपयोग अपने स्तनपान वाले बच्चों के लिए हानिकारक नहीं माना जाता है, लेकिन कुछ प्रकार के गर्भनिरोधक दूध आपूर्ति के लिए बहुत हानिकारक हो सकते हैं।

कंबाइंड पिल्स में प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन दोनों होते हैं। यह अन्य कई अलग-अलग रूपों में भी आते हैं:

  1. त्वचा पर पैच
  2. योनि रिंग

एस्ट्रोजेन युक्त गर्भ निरोधकों के सेवन से दूध की आपूर्ति कम हो जाती है और बच्चे को स्तनपान कम दिन तक ही कराया जा सकता है।

गर्भ निरोधक गोली के संबंधित दुष्प्रभाव क्या हो सकते हैं?

दूध की आपूर्ति:

दूध की आपूर्ति हार्मोनल गर्भनिरोधक गोलियां (विशेषकर उन एस्ट्रोजेन युक्त) से प्रभावित होती हैं और कई मामलों में दूध आना बंद हो सकता है।

बच्चे पर प्रभाव:

  1. बच्चे को दुष्प्रभावों की कोई प्रतिकूल रिपोर्ट नहीं हुई है।
  2. कुछ मामलों में शिशु के अपरिपक्व यकृत पर होर्मोन का असर हो सकता है।
  3. होर्मोन के प्रभाव से दूध की गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है और बच्चे में अधिक रोना देखा जा सकता है।

मां पर प्रभाव:

यदि आप गर्भावस्था के दौरान गर्भावधि मधुमेह gestational diabetes during pregnancy था, तो स्तनपान करते समय मिनी-गोली का उपयोग करने की सुरक्षा के बारे में अपने डॉक्टर से बात करें। क्योंकि कुछ महिलाओं में स्तनपान करते समय हॉर्मोन वाली गोली लेने से भविष्य में लेटाइप 2 मधुमेह के होने के रिस्क में वृद्धि हो सकती है।

इसे भी पढ़ें -  योनि को साफ और स्वस्थ कैसे रखें

डॉक्टरों के अनुसार दूध पिलाते समय प्रोजेस्टेरोन वाली गर्भनिरोधक गोलियां ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रखने योग्य बात यह है कि यह भी एक सिंथेटिक होर्मोन ही है। इसे भी सावधानी से लेना चाहिए। इससे दूध की क्वालिटी कम हो सकती है और आपको डायबिटीज होने का रिस्क बढ़ सकता है। कंबाइंड पिल लेने पर हो सकता है कि दूध हो ही नहीं। इसलिए कोई भी हार्मोनल पिल न लेना ही बेहतर है। अगर लेना हो तो डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं। लेने के बाद अपने ऊपर और बच्चे पर प्रभाव देखें। अगर कोई समस्या लगे तो गर्भनिरोधक गोलियां नहीं लें। प्रोटेक्शन के तौर पर कंडोम का इस्तेमाल करें।

Contraceptive pill which contain only Progestin are the preferred choice for breastfeeding mothers. Progestin-only contraceptives come in several different forms, progestin-only pill / mini-pill, birth control injection (Depo-Provera).

Birth control pills containing both estrogen and progesterone should not be used as it can reduce milk production. Before starting any contraceptive pill, it is important to consult doctor.

इसको भी पढ़ें गर्भावस्था में सेक्स सुरक्षित है क्या? Sex during Pregnancy

Related Posts

Loading...
टुडे गर्भनिरोधक Today Women’s Contraceptive Uses, Benefits, Side Effects, Warnings in Hindi
गर्भनिरोधन Contraception के उपाय
आई पिल I-pill 72 hour pill, Uses, Side Effects and Price
जी-पिल का उपयोग और नुकसान g pill Emergency Contraceptive
नोवेक्स टैबलेट Uses, Benefits, Side Effects, Dosages, Warnings in Hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!