क्लैमाइडिया जानकारी, इलाज़ और बचाव | Chlamydia trachomatis

क्लैमाइडिया संक्रमण के उपचार। Know about Chlamydia trachomatis in hindi. Know how do you get chlamydia bacteria and what are chlamydia symptoms in hindi? can chlamydia be cured?

क्लैमाइडिया (Chlamydia trachomatis) एक आम यौन संचारित रोग (एसटीडी) है जो कि आसानी से ठीक किया जा सकता रोग है। यदि इस रोग का उपचार नहीं किया जाए तो इससे पीड़ित महिला में भविष्य में गर्भ ठहरने में मुश्किलें हो सकती हैं।

Chlamydia, एक बैक्टीरियल रोग है जो की बैक्टीरिया क्लैमाइडिया ट्रैकोमैटिस के कारण होता है। यही बैक्टीरिया आँखों के रोग ट्रेकोमा का भी कारण है। क्लैमाइडिया बैक्टीरिया की तीन प्रजातियाँ हैं जिनमें से क्लैमाइडिया ट्रैकोमैटिस यौन संचारित रोग के लिए जिम्मेदार है। क्लैमाइडिया न्यूमोनी, बैक्टीरिया निमोनिया और ब्रोंकाइटिस के लिए और क्लैमाइडिया सिटैसी, इन्फ्लुएंजा की बीमारी के लिए जिम्मेदार है।

क्लैमाइडिया का बैक्टीरिया, कोशिकाओं पर हमला कर उसमें अपनी संख्या को बढ़ाता है। यह जीवित बैक्टीरिया योनि, गुदा अथवा ओरल सेक्स के दौरान स्वस्थ्य पार्टनर के प्रजनन अंगों, मलाशय और मुंह की श्लेष्मा झिल्ली को संक्रमित कर देते हैं। संक्रमण के एक महीने बाद इसके कुछ लक्षण जैसे की गुप्तांगों में खुली, जलन, दर्द, दिखाई देने लगते हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में इसके असर अधिक गंभीर होते हैं।

Chlamydia trachomatis

  • रोग का प्रकार: यौन संक्रमण (एसटीआई)। यौन रूप से सक्रिय किशोरों और युवा वयस्कों में सबसे आम;
  • कारण: संक्रमित व्यक्ति से यौन संपर्क
  • रिस्क फैक्टर: यौन रूप से सक्रिय लोग, महिलायें
  • बचाव: इन्फेक्टेड व्यक्ति से सेक्स न करें
  • इलाज़: एंटीबायोटिक दवा
  • मुख्य लक्षण: गुप्तांगों से स्राव, जलन, दर्द

Chlamydia is most common sexually transmitted infections (STIs). Bacteria Chlamydia trachomatis, can live in the uterus, vagina, cervix, urethra, rectum, and sometimes the throat and eyes. Anyone who’s sexually active can get it and pass it on.

Untreated Chlamydia can cause painful complications and serious health problems such as pain in the testicles in

इसे भी पढ़ें -  क्या आप को अपना वजन कम करने की जरूरत है? Do you need to lose weight?

men, and pelvic pain and even infertility in women. Chlamydia is a bacterial infection and is easy to cure with the help of antibiotics.

क्लैमाइडिया क्या है? What is chlamydia?

क्लैमाइडिया एक आम यौन संचारित रोग है जो दोनों पुरुषों और महिलाओं को संक्रमित कर सकता है। यह एक महिला की प्रजनन प्रणाली के लिए गंभीर, स्थायी नुकसान का कारण बन सकता हैं। यह गर्भ ठहरने को या तो मुश्किल अथवा असंभव कर सकता हैं। Chlamydia trachomatis से पीड़ित होने पर संभावित अस्थानिक गर्भावस्था (गर्भाशय के बाहर गर्भावस्था) एक्टोपिक प्रेगनेंसी की सम्भावना बढ़ जाती है।

क्लैमाइडिया कैसे फैलता है? How is chlamydia spread?

Loading...

क्लैमाइडिया का संक्रमण योनि, गुदा या ओरल सेक्स के द्वारा संक्रमित व्यक्ति से स्वस्थ्य व्यक्ति में जा सकता है। यदि व्यक्ति को पहले Chlamydia का संक्रमण था और उसका उपचार कर दिया गया तो भी यह दुबारा हो सकता है। संक्रामित व्यक्ति से असुरक्षित यौन सम्बन्ध बनाने से क्लैमाइडिया का संक्रमण होता है। गर्भवती महिला से Chlamydia trachomatis जन्म के दौरान बच्चे में हो सकता है।

क्लैमाइडिया न हो इसके लिए क्या किया जाना चाहिए?

  • संक्रमित व्यक्ति के साथ योनि, गुदा, या ओरल सेक्स नहीं करना ही एसटीडी से बचने का एकमात्र तरीका है।
  • यदि आप यौन सक्रिय हैं, तो आप क्लैमाइडिया न हो, इसके लिए निम्नलिखित बातों को कर सकते हैं:
  • monogamous रिश्ते में रहें।
  • हर यौन संबंध के दौरान लेटेक्स कंडोम का प्रयोग करें।

क्लैमाइडिया कब हो सकता है?

किसी को भी, जो संक्रमित व्यक्ति के साथ योनि, गुदा या ओरल सेक्स करता है, को यह संक्रमण हो सकता है। यौन रूप से सक्रिय युवा लोगों में Chlamydia अधिक देखा जाता है।

मैं गर्भवती हूँ, क्लैमाइडिया मेरे बच्चे को कैसे प्रभावित करता है?

यदि आप गर्भवती हैं और आपको क्लैमाइडिया संक्रमण है तो यह बच्चे को प्रसव के दौरान संक्रमित कर सकता है। यह आपके नवजात शिशु में आंख में संक्रमण या न्यूमोनिया कर सकता है।

  • क्लैमाइडिया से प्री मेच्यूर डिलीवरी होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • अगर आप गर्भवती हैं, क्लैमाइडिया परीक्षण करा आवश्यक उपचार करा लें।
इसे भी पढ़ें -  लेज़र से बाल हटाने की जानकारी, लागत और साइड इफेक्ट्स

क्लैमाइडिया संक्रमण के लक्षण?

ज्यादातर लोगों में क्लैमाइडिया का कोई विशेष लक्षण नहीं देखा जाताहै। यदि आप में लक्षण होंगे तो वे संक्रमित साथी के साथ यौन संबंध बनाने के कई हफ्तों बाद तक प्रकट नहीं होते। यदि Chlamydia trachomatis का कोई लक्षण नहीं भी है तो भी यह प्रजनन प्रणाली को नुकसान पहुंचा सकता।

महिलाओं में लक्षण

  1. असामान्य योनिक स्राव
  2. पेशाब में जलन

पुरुषों में लक्षण

  1. पेनिस से स्राव
  2. पेशाब करते समय जलन;
  3. एक या दोनों अंडकोष में सूजन और दर्द

गुदा | anal सेक्स, से गुदा के संक्रमण में निम्न लक्षण प्रकट हो सकते हैं:

  1. गुदा में दर्द
  2. गुदा से स्राव
  3. गुदा से खून बहना

क्लैमाइडिया है कैसे पता चलेगा? Chlamydia Diagnosis

प्रयोगशाला परीक्षणों से Chlamydia trachomatis होने का पता लग सकता है। मूत्र का नमूना अथवा योनि से एक नमूना लेकर क्लैमाइडिया का परीक्षण करने के लिए लैब भेजा जा सकता है।

क्या क्लैमाइडिया ठीक हो सकता है?

हाँ, क्लैमाइडिया सही उपचार से पूरी तरह से ठीक हो सकता है।

यह महत्वपूर्ण है कि आप सभी दवाएं जो डॉक्टर के द्वारा दी गईं हैं का, निर्धारित मात्रा और समय के लिए लें। ठीक से दवा लेने से संक्रमण रुक जाएगा और बाद में वाली होने जटिलताओं की संभावना भी कम हो जायेगी।

क्लैमाइडिया का संक्रमण दुबारा होना आम है। फिर से लगभग तीन महीने के बाद Chlamydia trachomatis का परीक्षण किया जाना चाहिए। दूसरे संक्रमित पार्टनर का भी इलाज़ कराया जाना चाहिए।

कौन सी दवाएं हैं जो क्लैमाइडिया के इलाज़ में दी जाती है?

Chlamydia trachomatis के लिए सबसे अधिक प्रचलित एंटीबायोटिक्स हैं:

एज़िथ्रोमाइसिन azithromycin – एक बार में दो या चार गोलियों।

डॉक्सिस्किलाइन doxycycline – एक दिन में दो कैप्सूल एक सप्ताह के लिए।

अगर एंटीबायोटिक दवाइयां ठीक से नहीं ली जाएँ तो संक्रमण ठीक नहीं किया जा सकता। एंटीबायोटिक दवाओं की संख्या बीमारी और एंटीबायोटिक दवा के प्रकार पर निर्भर करती है। एज़िथ्रोमाइसिन और डॉक्सिस्केक्लाइन, क्लेमेडिया में 95 % कारगर है।

इसे भी पढ़ें -  योनी में दर्द, चुभन, जलन (वुल्वोडायनिआ) का उपचार

क्लैमाइडिया के इलाज़ के बाद मैं सेक्स फिर से कब कर सकता हूँ?

आप को तक फिर से सेक्स नहीं करना चाहिए और जब तक आपके पार्टनर का भी पूरी तरह से इलाज़ हो गया हो । यदि आपके चिकित्सक ने दवा की एक खुराक दी हो तो,सेक्स करने के लिए, दवा लेने के बाद सात दिन इंतजार करना चाहिए। यदि सात दिनों के लिए दवा है तो जब तक सारी दवा न ले ली हो तब तक सेक्स न करें।

क्या होगा अगर मैं इलाज़ नहीं करवाऊं?

Chlamydia trachomatis होने पर पहले आपको कोई ज्यादा समस्या नहीं होगी। लेकिन रोग पुराना होने पर, यह प्रजनन अंगों को प्रभावित कर देगा।

संक्रमित महिला में यह गर्भाशय तक फ़ैल सकता है। इससे फालोपियन ट्यूब को नुकसान हो सकता है। इससे पेल्विक इन्फ्लेमेतटरी डिसीज़ पीआईडी को सकता है जिससे पेडू में दर्द रहने लगता है।

पुरुषों में संक्रमण, केवल कुछ मामलों में ही स्पर्म वाली ट्यूब में हो सकता है जिससे बुखार और दर्द हो सकता है। लेकिन इससे उनकी फर्टिलिटी प्रभावित नहीं होती।

यदि संक्रमण हो गया हो तो, जल्द से जल्द इसका अन्तिओबिओतिक द्वारा इलाज़ करवा लें जिससे इससे होने वाली जटिलताओं से बचा जा सके।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.