सेक्स के बाद योनी (vegina) से ब्लीडिंग होने के कारण

जानिये सेक्स के बाद या सेक्स के दौरान योनी से खून आनें के क्या कारन हो सकते हैं, योनी से ब्लड आना चोट लगाने, गर्भ या फिर किसी बीमारी की वजह से हो सकता है। जानिये अगर सेक्स के बाद वेजिना से ब्लड आये तो क्या करना चाहिए?

सेक्स करने के बाद, योनि से खून जाने के बहुत से कारण हो सकते हैं। मेडिकल भाषा में इसे पोस्टकोइटल ब्लीडिंग कहते हैं। पीरियड शुरू के 3-4 दिन पहले तथा मासिक के बीच में जब ओवुलेशन होता है तो ऐसा होना सामान्य है। ऐसे में बहुत अधिक खून तो नहीं जाता लेकिन देखने पर साफ पता लगता हैं कि कुछ ब्लड है। कुछ महिलायों में योनि में पोलिप हो जाते हैं जो कि रगड़ जाने पर ब्लीड करते हैं। इसके अतिरिक्त भी बहुत से कारण हो सकते हैं।

यदि आप को ऐसा बार-बार हो रहा हो तो आप स्त्री रोग विशेषज्ञ से संपर्क कर सकती हैं। वे जांचों के द्वारा असली कारण की पहचान कर उपचार बता सकती हैं।

Postcoital Bleeding is the spotting or bleeding after intercourse.  It is not related to menstruation. There are many reasons for this common complaint such as PID, cervicitis, ectropion, cervical intra-epithelial lesion or cervical polyps.

The treatment of condition depends on the reason.

सेक्स के बाद योनी से रक्तस्राव के क्या कारण हो सकते हैं?

सेक्स के बाद वेजिना से रक्तस्राव के कारण में शामिल हैं:

  1. संक्रमण, जैसे कि पैल्विक सूजन (पीआईडी) रोग, या यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई), जैसे कि क्लैमाइडिया
  2. रजोनिवृत्ति के बाद योनि स्राव के कारण योनि सूखापन (एट्र्रोफिक वेजिनाइटाइटिस)
  3. योनि में चोट लगना, जैसे कि डिलीवरी के दौरान चोट या सेक्स के दौरान सूखापन या घर्षण से
  4. गर्भाशय ग्रीवा या एंडोमेट्रियल पॉलीप्स (गर्भाशय या गर्भाशय ग्रीवा के अस्तर में गैर कैंसरयुक्त वृद्धि)
  5. गर्भाशय ग्रीवा का एक्ट्रोपियन (सर्वाइकल एक्ट्रोपियन ) cervical ectropion, जहां गर्भाशय ग्रीवा की सतह पर सूजन हो जाती है
  6. दुर्लभ मामलों में, सेक्स के बाद रक्तस्राव ग्रीवा या योनि कैंसर का संकेत हो सकता है।

एट्रोफिक वेजिनाइटाइटिस Atrophic vaginitis क्या है?

एट्रोफिक वेजिनाइटाइटिस Atrophic vaginitis, vaginal atrophy, vulvovaginal atrophy, or urogenital atrophy, योनि में सूजन है। यह कम लुब्रिकेशन के कारण हो सकता है। ऐसा हॉर्मोन एस्ट्रोजन की कमी से देखा जाता है।

इसे भी पढ़ें -  गर्भनिरोधक इंजेक्शन के फायदे, नुकसान और लगवाने का तरीका

इसमें योनि में सूखापन रहता है और अक्सर मीनोपॉज के दौरान हो सकता है।

इसके उपचार के लिए कम मात्रा में एस्ट्रोजेन दिए जा सकते है और क्रीम आदि का प्रयोग कर सकते हैं।

पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिसीज़ Pelvic inflammatory disease क्या है?

पैल्विक सूजन बीमारी, या पीआईडी, महिला प्रजनन प्रणाली के अंगों (गर्भाशय, अंडाशय, फैलोपियन ट्यूब और गर्भाशय ग्रीवा) का संक्रमण है।

यह आमतौर पर यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) की वजह से होता है, जैसे क्लैमाइडिया या गोनोरिया, और एंटीबायोटिक दवाओं के साथ इलाज किया जाता है। इसके लक्षण हैं:

  1. निचले पेट और श्रोणि में दर्द
  2. योनि से बदबूदार स्राव
  3. पीरियड्स के बीच में रक्तस्राव
  4. सेक्स के दौरान दर्द
  5. बुखार और ठंड लगना
  6. पेशाब में दर्द

अगर पीआईडी का उपचार नहीं किया जाता है तो पीआईडी ​​गंभीर समस्याएं पैदा कर सकता है।  उदाहरण के लिए, आपको गर्भवती होने में परेशानी हो सकती है या आपके पैल्विक क्षेत्र में दर्द हो सकता है जो ठीक नहीं होता है।

एंडोमेट्रियल पॉलिप Endometrial polyp क्या हैं?

एंडोमेट्रियल या यूट्रीन पोलिप प्रजनन-आयु महिलाओं में बहुत आम है और असामान्य गर्भाशय के रक्तस्राव के सबसे सामान्य कारणों में से एक है। पीरियड के बीच में खून जाना इसके कारण से हो सकता है। यह पोलिप गर्भाशय की आंतरिक लाइनिंग एंडोमेट्रियम में अतिवृद्धि हैं।

यह अनुमान लगाया गया है कि एक एंडोमेट्रियल पॉलीप गर्भाशय कि लाइनिंग में  भ्रूण के आरोपण के साथ हस्तक्षेप कर सकता है।  एंडोमेट्रियल पॉलीप्स बांझपन के साथ जुड़ा हुआ पाया गया है।  पॉलीप को हटाने से गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती है। अध्ययन में पाया गया कि जब एक पॉलीप हटा दिया गया था, तो गर्भावस्था की दर 63% थी।

hysteroscopy के द्वारा पोलिप को हटा दिया जाता है।

Cervical ectropion (cervical erosion) क्या है?

कई स्त्रियों में, गर्भाशय ग्रीवा के अंदर से कोशिका, जिसे ग्लैंडुलर सेल्स  के रूप में जाना जाता है, गर्भाशय ग्रीवा के बाहर की सतह पर मौजूद होती है। इसे मेडिकल भाषा में सर्वाइकल एक्ट्रोपियन कहते हैं।

इसे भी पढ़ें -  योनि में उंगली – Fingering जानकारी, सावधानी और नुकसान

सरवाइकल एक्ट्रोपॉन को अत्यधिक योनि स्राव से जोड़ा जा सकता है। यह कॉटियल रक्तस्राव post-coital bleeding को जन्म दे सकती है, क्योंकि कॉलमर्स एपिथेलियम के भीतर मौजूद रक्त वाहिकाओं को आसानी से चोट लग सकती है।

आमतौर पर चिकित्सकीय रूप से असर्वाइकल एक्ट्रोपियन के लिए कोई इलाज नहीं किया जाता है। हार्मोनल थेरेपी लक्षण लक्षणों के लिए की जा सकती है। अगर यह रोगी के लिए परेशानी कारण है तो तो मौखिक गर्भ निरोधकों का प्रयोग न करके, क्रायोथेरेपी उपचार या स्थानीय संवेदनाहारी के तहत पृथक्करण उपचार का उपयोग करके इसका इलाज किया जा सकता है।

सेक्स के बाद रक्तस्राव के लिए कौन से टेस्ट और परीक्षाएं उपलब्ध है?

किसी भी अन्य लक्षण और आपके चिकित्सा इतिहास के आधार पर, डॉक्टर कुछ परीक्षण या परीक्षाओं की सिफारिश कर सकता है, जैसे:

  1. गर्भावस्था का परीक्षण (आपकी उम्र के आधार पर)
  2. पैल्विक एग्जाम, आपकी योनि में दो उंगलियों को असामान्यता महसूस करने के लिए डाल कर देखा जाता है
  3. स्पेकुलम द्वारा सर्विक्स की जांच

इसका इलाज़ क्या है?

इलाज़ कारण के ऊपर निर्भर है। यदि इन्फेक्शन है तो दवाएं दी जा सकती है। पोलिप के लिए सर्जरी कर सकते हैं। यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) जैसे क्लैमाइडिया या गोनोरिया,  आदि में एंटीबायोटिक दवा दी जा सकती हैं। यदि समस्या योनि सूखापन के कारण होती है, तो वे सुझा सकते हैं कि आप चिकनाई जैल का उपयोग करने का प्रयास करें।

3 Comments

  1. Hi pehle sex 3 se 4 baar kiya tb khoon nhi aata tha lekin ab krte he to khoon aata he plz help me

  2. Hi maidam ji hamne rat me sex ke bad din me yoni me peshab ke sat khun halka arha hai kya pareshani hai

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.