ब्लैकहेड्स कारण, लक्षण और कैसे हटाएं

ब्लैकहैड्स त्वचा की सतह पर ऑक्सीकरणित मेलेनिन के इकठ्ठा होने से होता है। ब्लैकहैड्स कॉमेडो का एक प्रकार है, कॉमेडोन तब होते हैं जब त्वचा में छिलकों को मृत त्वचा कोशिकाओं और एक तेल, सुरक्षात्मक पदार्थ जिसे सेबम के रूप में जाना जाता है के साथ मिल गया हो। जानिये इन्हें हटाने के उपाय।

ब्लैकहैड्स त्वचा पर छोटे, काले धब्बे होते हैं। ब्लैकहैड्स तब बनते हैं जब स्किन के पोर/ फोलिकल जाम हो जाते हैं। ब्लैकहैड्स को ओपन कॉमेडोन भी कहा जाता है। यह अक्सर नाक, और नाक के आस पास के हिस्सों में देखे जाते हैं। ये हल्के मुँहासे की एक विशेषता हैं, लेकिन वे मुँहासे के अन्य लक्षणों के बिना उपस्थित हो सकते हैं।

काला रंग त्वचा के अंदर पाए जाने वाली गंदगी के कारण नहीं होता। ब्लैकहेड्स काले होते हैं क्योंकि उनके अंदर ओक्सडाइज्ड मेलेनिन होता है। मेलेनिन त्वचा में कोशिकाओं द्वारा बनाया जाने वाला डार्क वर्णक है जो स्किन को कलर देता है। ब्लैकहेड्स उन लोगों में अधिक देखा जाता है जिनमें हॉर्मोन समस्या के कारण त्वचा से अधिक मात्रा में सीबम निकलता है। आम तौर पर ब्लैकहेड्स के दिखाई देने का पहला स्थान नाक होती है। यह माथे, ठोड़ी और गाल पर भी दिखाई दे सकते हैं। यह टी ज़ोन पर सबसे अधिक पाए जाते हैं क्योंकि यहाँ पर सबसे ज्यादा सीबम ग्लैंड्स होती हैं।

ब्लैकहेड्स को दबाने या निचोड़ने से समस्या ठीक नहीं होती बल्कि इससे स्किन डैमेज हो सकता है। उन्हें हटाने की कोशिश में अत्यधिक स्क्रबिंग उन्हें खराब कर सकती है। इस समस्या को कम करने या रोकने के लिए आयल बेस्ड क्रीम, बहुत अधिक पसीना, स्किन में बहुत तेल, आदि से बचा जाना चाहिए।

ब्लैकहैड्स का इलाज करने के लिए अतिरिक्त तेल उत्पादन को नियंत्रित करना और त्वचा को साफ रखना है। इसमें चेहरे की दो बार सफाई, सुबह और शाम, क्लेंज़र से की जानी चाहिए। क्लेंज़र को अच्छी तरह से साफ़ किया जाना चाहिए। ब्लैकहेड्स में त्वचा को सप्ताह में दो से तीन बार तक एक्सफ़ोलिएट किया जाना चाहिए। अगर आपके पास संवेदनशील त्वचा है, तो यह ज़रूरी है कि स्क्रब से बचें क्योंकि इससे त्वचा में जलन, सूजन, ब्रेकआउटया संक्रमण फैल सकता है। इसके बजाय हाइड्रॉक्सि एसिड (विशेष रूप से लारिसिलिक एसिड) या पाचन एंजाइम (अनानास / ब्रोमेलैन या पपीता /पैपइन) hydroxy acids (Salicylic Acid in particular) or digestive enzymes (Pineapple / Bromelain or Papaya / Papain) का प्रयोग करें। नाक पर चावल की चोकर का पाउडर, सैलिसिसिल एसिड, फाइटिक एसिड और पपाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  त्वचा उतरने का कारण और उपचार

ब्लैकहेड्स क्या हैं?

ब्लैकहैड्स, ओपन कॉमेडो हैं। कॉमेडोन तब होते हैं जब त्वचा छिद्र, मृत त्वचा कोशिकाओं और सीबम, सुरक्षात्मक से भर जाते हैं। ब्लैकहैड, जो त्वचा की सतह पर दिखाई देता है, वह गहरे रंग होता है। जब त्वचा छिद्र, में मृत त्वचा कोशिकायें भर जाती हैं तो यह हवा की ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया कर काली हो जाती हैं जिससे एक ब्लैकहैड बन जाता है। ब्लैकहैड का विकास त्वचा की सफाई से संबंधित नहीं है।

ब्लैकहेड्स चेहरे, पीठ, गर्दन, छाती, हाथों और कंधे पर सबसे अधिक बार दिखाई देते हैं। इन क्षेत्रों में बाल के अधिक फोलिकल होते हैं।

ब्लैकहेड्स के कारण क्या हैं?

Loading...

कुछ कारक ब्लैकहेड्स के विकास की संभावना को बढ़ा सकते हैं।

आयु और हार्मोनल परिवर्तन

आयु और हार्मोनल परिवर्तन एक महत्वपूर्ण कारक हैं। मुँहासे के अन्य लक्षणों की तरह, यौवन के दौरान ब्लैकहेड्स सबसे आम होते हैं , जब हार्मोन के स्तर में परिवर्तन सेबम उत्पादन में एक स्पाइक ट्रिगर होता है। हालांकि, वे किसी भी उम्र में दिखाई दे सकते हैं।

एण्ड्रोजन, पुरुष सेक्स हार्मोन, सेबम का अधिक स्राव पैदा करता है और यौवन के आसपास इसका त्वचा कोशिकाओं में उच्च स्तर होता है। किशोरावस्था के दौरान लड़कों और लड़कियों दोनों एण्ड्रोजन के उच्च स्तर का अनुभव करते हैं।

यौवन के बाद, मासिक धर्म, गर्भावस्था, और के उपयोग से संबंधित हार्मोनल परिवर्तन गर्भनिरोधक गोलियां भी महिलाओं में ब्लैकहेड्स ला सकते हैं।

अन्य कारकों में शामिल हैं :

  • सौंदर्य प्रसाधन और कपड़ों द्वारा अवरुद्ध छिद्र
  • अधिक पसीना
  • शेविंग और अन्य गतिविधियों से ओपन पोर की समस्या
  • वातावरण में उच्च आर्द्रता और तेल
  • कुछ स्वास्थ्य स्थितियां , जैसे कि तनाव , पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (पीसीओएस) और प्रीमेन्स्ट्रल सिंड्रोम (पीएमएस)
  • कुछ स्टेरॉयड आधारित दवाओं, जैसे कॉर्टिकोस्टेरॉइड का उपयोग

ब्लैकहेड्स के लक्षण क्या हैं?

ब्लैकहेड्स का मुख्य लक्षण छोटे, काले रंग के पोर हैं। ब्लैकहेड्स मुँहासे का एक लक्षण है, लेकिन खुले छिद्रों के कारण होने पर, वे अन्य मुँहासे के घावों से कुछ मायनों में भिन्न होते हैं।

इसे भी पढ़ें -  घुटने के दर्द के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार

ब्लैकहैड्स संक्रमित नहीं होते हैं, और उनमें पिम्पल जैसा दर्द और परेशानी नहीं होती।

ब्लैकहैड्स के कारण उपस्थिति में परिवर्तन से कुछ रोगियों में शर्मिंदगी और सामाजिक या मनोवैज्ञानिक कठिनाइयों का सामना हो सकता है।

सेबेशस फिलामेंट्स

सीबेशस फिलामेंट्स ब्लैकहेड्स की तरह दिखतीते हैं, लेकिन वे अलग होते हैं। वे नाक पर दिखाई दे सकते हैं। वे छोटे होते हैं, समूहों में प्रकट होते हैं, और स्पर्श करने पर महसूस नहीं किए जाते हैं। सेबेशियस फिलामेंट्स ग्रंथियां हैं जो छिद्रों के माध्यम से सीबम के प्रवाह को चैनल करते हैं। ब्लैकहेड्स के विपरीत, वे मुँहासे का एक रूप नहीं हैं।

ब्लैकहैड्स के लिए क्या करें?

ज्यादातर लोग डॉक्टर को देखने की आवश्यकता के बिना घर पर अपने ब्लैकहैड्स का प्रबंधन करते हैं, लेकिन कुछ गतिविधियां उन्हें खराब कर सकती हैं या अधिक गंभीर प्रकार के मुँहासे को ट्रिगर कर सकती हैं।

ब्लैकहैड्स के इलाज के बारे में कई मिथकों और विरोधाभास हैं, इसलिए यह देखने के लिए सबसे अच्छा हो सकता है कि आपके लिए क्या काम करता है। ब्लैकहैड्स का इलाज क्रीम के साथ किया जा सकता है जिसमें सैलिसिलिक एसिड या ट्रेटीनोइन होता है। साथ ही इन्हें एक त्वचा विशेषज्ञ के यहाँ जा कर हटवाया जा सकता है।

सफाई

त्वचा के लिए मुलायम विशेष स्क्रब exfoliating मदद कर सकते है। यह स्क्रब सुगंध से मुक्त होने चाहिए और संवेदनशील त्वचा के लिएउपयुक्त होने चाहिए। ऐसे प्रोडक्ट जो त्वचा को अत्यधिक शुष्क बनाते हों, का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

अत्यधिक तेल के उत्पादन में कमी लाना महत्वपूर्ण है, लेकिन इसे बहुत अधिक सुखाने से ग्रंथियों के द्वारा अतिरिक्त तेल उत्पादन उत्तेजितहो जाने के कारण समस्या बदतर हो सकती है।

आराम

पर्याप्त आराम प्राप्त करना और तनाव से बचाव करना भी मदद कर सकता है, क्योंकि तनाव सेबम उत्पादन को गति प्रदान कर सकता है। व्यायाम तनाव को कम करने में मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़ें -  गर्दन दर्द के कारण और उपचार

भोजन

ताजा फल और सब्जियों के साथ एक स्वस्थ, संतुलित आहार समग्र स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। इससे त्वचा के घावों का संक्रमित होने का खतरा कम हो सकता है।

अंतर्निहित कारण

एक्जिमा या रोसेएशिया जैसे किसी भी अन्य त्वचा की समस्याएं, ब्लैकहैड को थोड़ा कठिन बना सकती हैं। इस स्थिति को मुँहासे से पहले इलाज किया जाना चाहिए, क्योंकि सफल उपचार से कालाहेड में सुधार हो सकता है।

मेक-अप और प्रसाधन सामग्री

यदि मेक-अप और प्रसाधन सामग्री इस्तेमाल करते हैं तो गैर-कॉमेडोजेनिक उत्पादों का उपयोग करें जो पोर को बंद नहीं करते हैं। छिद्र को स्पष्ट और खुले रखना चाहिए और मृत त्वचा के निर्माण को कम करना चाहिए।

प्रिस्क्रिप्शन उपचार

एज़ेलाइक एसिड, सैलिसिलिक एसिड, और बेंजोयल पेरोक्साइड Azelaic acid, salicylic acid, and benzoyl peroxide मुँहासे के लिए भी उपलब्ध हैं। ये सामयिक उपचार हैं, सीधे त्वचा पर लगाए जाते हैं।

पर्चे वाली दवाएं जिसमें विटामिन ए, जैसे ट्रेटीनोइन्स, टेजरोटिन और एडैपलीन vitamin A, such as tretinoin, tazarotene, and adapalene को निर्धारित किया जा सकता है।

ज्यादातर लोग इन उपचारों को तब तक इस्तेमाल नहीं करते जब तक कि यह संक्रमित या अधिक गंभीर नहीं हो जाते हैं। यदि समस्या परेशानी का कारण है तो स्किन विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।

ब्लैकहैड्स को दबाना, निचोड़ना नहीं चाहिए। मेटल ब्लैकहैड रिमूवर का अधिक प्रयोग त्वचा की समस्या को बदतर कर सकता है। स्क्रबिंग समस्या खराब कर सकता है। स्क्रबिंग से सीबम को हटा दिया जाता है लेकिन इससे सीबेशियस ग्रंथियां अधिक सीबमबना सकती हैं जिससे हैं, पोर में अधिक रुकावटें और सूजन हो सकती हैं। हाइड्रोजन पेरोक्साइड को मुँहासे के लिए सिफारिश की जाती है। यह प्रकोपों ​​की गंभीरता को कम कर सकता है, लेकिन यह एक कठोर उत्पाद है जो त्वचा को सूखा और जलन कर सकता है। इसलिए इसे प्रयोग करने में सावधानी बरतनी चाहिए।

ब्लैक हेड्स हटाने के घरेलू उपाय Gharelu Nuskhe for Blackheads / Home Remedies for Blackheads / Tips to remove blackheads

ब्लैकहैड्स के लिए कुछ घरेलू उपचार फायदेमंद हो सकते हैं। यह उपचार करने से पहले प्रयुक्त पदार्थों के प्रति कोई एलर्जी हो तो उसे चेक करें। कोई एलर्जिक रिएक्शन होने पर तरीके को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यदि स्किन ड्राई होने लगे तो आप तरीके को ज़रूरत से ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें -  खाना पानी निगलने में परेशानी होने पर क्या करें

गाजर के बीज

गाजर के बीजों को पानी के साथ पीस कर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को प्रभावित जगह पर लगायें।

मेथी

मेथी के पत्तों का पानी के साथ पेस्ट बना कर लगायें।

ग्रीन टी

ग्रीन टी को फेस स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें, जिससे ब्लैकहैड्स ढीले हो जाएँ।

एप्सम साल्ट

चौथाई कप गर्म पानी, एक टी स्पून एप्सम साल्ट और आयोडीन की चार ड्राप को मिला लें, इसे मिक्स करें। कॉटन को इसमें डुबायें और ब्लैकहैड्स पर लगायें, सूख जाने पर धो दें।,

धानिया

  • धानिया और पुदीने के पेस्ट में हल्दी मिला कर चेहरे पर लगाएं। ऐसा रोज करें।
  • धानिया के बीज और धनिया के पत्तों का पेस्ट बना कर ब्लैकहेड्स पर लगाएं।

एस्पिरिन

एस्पिरिन की गोली को पानी में घुला कर पेस्ट बना लें और प्रभावित जगह पर हल्की मालिश के साथ लगाएं। इसे सूखने तक रहने दें और पानी से धो लें। एस्पिरिन में सलिसिलिक एसिड होता है जिससे ब्लैकहैड्स दूर होने में मदद होती है। ऐसा सप्ताह में तीन बार करें। ज्यादा करने से स्किन ड्राई हो सकती है।

दही

दही तीन हिस्सा में ऑरेंज पील दो हिस्सा मिला लें और पेस्ट बना कर स्किन एक्सफोलिएट करें।

ओटमील और दही का उपयोग करके फेस मास्क बनाएं, और इसे अपने चेहरे पर 15 से 20 मिनट तक लगाएं। गर्म पानी से चेहरे को धो लें। ऐसा सप्ताह में दो बार दोहराएं।

मसूर दाल

लाल मसूर को कूट लें। इसमें ऑरेंज पील पाउडर, मुल्तानी मिट्टी, ओट्स, रोज वाटर मिला कर पेस्ट बना लें। इसे चेहरे पर लगा लें। सूखने पर इसे ठंडे पानी से धो लें। ऐसा रोज करें।

बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा का पेस्ट प्रभावित स्थान दस मिनट तक लगायें। फिर पानी से धो लें। ऐसा सप्ताह में 2 से 3 बार करें।

टूथपेस्ट

गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें और सुखा लें। अपने नाक या ठोड़ी जैसे प्रभावित क्षेत्रों में टूथपेस्ट की एक परत लगाएं। टूथपेस्ट को पूरी तरह सूखा दें। टूथपेस्ट सूखने के बाद, धीरे-धीरे त्वचा की मालिश करें, ताकि छिद्रों से ब्लैकहैड्स को हटाया जा सके। यह दो सप्ताह तक करें और आप अपनी त्वचा पर सकारात्मक और चमकदार बदलाव देखेंगे।

इसे भी पढ़ें -  स्ट्रेच मार्क्स - त्वचा पर खिंचाव के निशान

भाप देना

दो हफ्ते में एक बार चेहरे को भाप दें। वाष्प का प्रयोग छिद्रों को खोल सकता है और उन्हें ढीला करता है। ब्लैकहैड्स क्षेत्र पर भाप को फोकस करें।

बादाम पाउडर

गुलाब के पानी में बादाम पाउडर मिक्स करें। इसको चेहरे पर लगाएं। चेहरे पर 30 मिनट तक लगा कर रखें और इसे धो लें।

टमाटर

टमाटर के एंटीसेप्टिक गुणों के साथ आपके ब्लैकहैड्स जल्दी से सूख जाते हैं। टमाटर मैश करें व चेहरे पर लगाएं। इसे रात भर छोड़ दें। साफ त्वचा के लिए सुबह पानी से धो लें।

नींबू

नींबू ब्लैकहैड्स का इलाज करने में भी बहुत प्रभावी है। गुनगुने पानी के साथ अपना चेहरा धोने के बाद ब्लैकहैड्स पर नींबू रस का उपयोग कर सकते हैं। इसे 20 मिनट तक रखें और फिर सकारात्मक परिणामों के लिए गर्म पानी धो लें।

दालचीनी

दालचीनी पाउडर का पेस्ट बनाने के लिए शहद के साथ मिलाएं। इसे मुख्यतः उस क्षेत्र पर लगाएं जहां ब्लैकहेड्स हैं।

हल्दी

हल्दी एंटीसेप्टिक होती है। कच्चे दूध के साथ हल्दी पाउडर और चंदन की पाउडर का पेस्ट बनाएं और प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। इसे 10 मिनट तक रखें और फिर धो लें।

बेंज़ोइल पेरोक्साइड 5% लोशन या जेल benzoyl peroxide

बेंज़ोयल पेरोक्साइड ब्लॉक तेल ग्रंथियों पर लगाया जा सकता है। यह लोशन पोर को अनप्लग करने में मदद करता है। इसे सोते समय लगाया जाना चाहिए। एक मटर के दाने के आकार की मात्रा पूरे चेहरे पर लगायो जा सकती है। यदि दवा के इस्तेमाल से त्वचा बहुत छिल रही है या लाल हो रही है तो आप बहुत अधिक दवा का प्रयोग कर रहे हैं या इसे अक्सर लागू कर रहे हैं।

ब्लैकहैड को नाखूनों से दबाना या फोड़ना नहीं चाहिए। यह ब्लैकहेड्स को हटाने का तरीका नहीं है। ब्लैकहैड पॉप करने से आपकी त्वचा को छिल सकती है और इसमें जलन और इन्फेक्शन हो सकता है। इसलिए कोई भी उपाय करते समय ब्लैकहेड्स को बहुत रगड़े नहीं। साथ ही कुछ प्रयोग, जैसे मुल्तानी मिट्टी, नींबू, टूथपेस्ट, त्वचा को ड्राई करते हैं इसलिए ये तरीके रोज़ नहीं करने चाहिए। त्वचा के सीबम को कम करने के लिए पानी सही मात्रा में पिएं और संतुलित आहार करें। त्वचा को बार बार नहीं छुएं और गंदे तौलिया से मुंह साफ़ नहीं करें। साफ़ रूमाल से बिना चेहरा रगड़े, हल्के से दबा कर फेस साफ करें। सुनिश्चित करें कि आप तकिया कवर साप्ताहिक को बदल दें। यदि आप अपने ब्लैकहैड्स को स्वयं से नहीं निकाल सकते हैं, तो त्वचा विशेषज्ञ से संपर्क करें।

इसे भी पढ़ें -  सीने में जलन होने पर क्या करें

Related Posts

त्वचा उतरने का कारण और उपचार
बार बार बालतोड़ होने पर क्या करना चाहिए
एंटीफंगल दवाओं की जानकारी
सोफ्रामाइसिन को कैसे और किन रोगों में प्रयोग करते हैं?
एन्थोसिस नाइग्रिकन का कारण और इलाज

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!