गर्भनिरोधन का नेचुरल तरीका, विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड Withdrawal method (coitus interruptus)

गर्भनिरोधन के लिए पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति का उपयोग करने के लिए आत्म-नियंत्रण की आवश्यकता होती है। पुल-आउट मेथड जन्म नियंत्रण के विशेष रूप से प्रभावी रूप नहीं है क्योंकि शुक्राणु योनि में प्रवेश कर सकते हैं।

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड, गर्भनिरोधन की पद्धति है और इसे कोइटस इंटरप्टस के रूप में भी जाना जाता है। यह अनचाही गर्भावस्था को रोकने के लिए स्खलन से पहले योनि से लिंग निकालने और महिला के बाहरी जननांगों से दूर स्खलित होने का अभ्यास है। वापसी विधि का लक्ष्य शुक्राणुओं को योनि में प्रवेश करने से रोकना है।

गर्भनिरोधन के लिए पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति का उपयोग करने के लिए आत्म-नियंत्रण की आवश्यकता होती है। पुल-आउट मेथड जन्म नियंत्रण के विशेष रूप से प्रभावी रूप नहीं है क्योंकि शुक्राणु योनि में प्रवेश कर सकते हैं। यदि इसे ठीक से नहीं किया गया है, टाइमिंग गड़बड़ा गई है या अगर पूर्व-स्खलन द्रव में शुक्राणु है। साथ ही यह तरीका पद्धति यौन संचारित संक्रमणों से सुरक्षा प्रदान नहीं करता है।

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति क्या है? What is Withdrawal method (coitus interruptus) or Pull Out?

  • विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति या कोइटस इंटरप्टस, पुरुष द्वारा स्खलन से ठीक पहले स्त्री की योनि से लिंग को हटाने को कहते हैं।
  • ऐसा करने से अंडाणु और शुक्राणुओं के बीच संपर्क को रोका जाता है जिससे प्रेगनेंसी नहीं हो। यदि महिला के आंतरिक अंगों में वीर्य नहीं जाएगा तो बच्चा नहीं ठहर सकता।
  • यह जन्म नियंत्रण का सबसे आम तरीका हो सकता है क्योंकि इसके लिए किसी भी अन्य चीज की ज़रूरत नहीं है।
  • लेकिन इसे करने के लिए पुरुष को बहुत अधिक आत्म-ज्ञान और आत्म-नियंत्रण होना चाहिए।
  • यह प्रेगनेंसी रोकने या जन्म नियंत्रण के लिए 73-96% प्रभावी है।
  • यह तरीका केवल पीटीआई पत्नी ही करें तो ज्यादा बेहतर है। यह एचआईवी / एड्स सहित यौन संचरित संक्रमणों (एसटीआई) के खिलाफ रक्षा नहीं करता है।

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति कैसे की जाती है?

  • यह सुनिश्चित करने के लिए कि शुक्राणु सेक्स के दौरान योनि में प्रवेश न करे, पुरुष साथी को मूत्र कर लेना चाहिए और शिश्न की नोक को पोंछ लेना चाहिए।
  • सेक्स के दौरान, पार्टनर के बीच पेनिस और योनि सेक्स तब तक किया जाता है जब तक पुरुष साथी स्खलन के निकट नहीं हो जाता।
  • जब पुरुष साथी स्खलन के करीब महसूस करता है, तो उसे योनि से लिंग निकालना होगा।
  • दोनों साथी एक दूसरे को उत्तेजित करना जारी रख सकते हैं।
  • स्खलन को योनि, वल्वा से दूर किया जाना चाहिए।
इसे भी पढ़ें -  डिस्परेयूनिया Dyspareunia: सम्भोग और दर्द, कारण और इलाज

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड या वापसी पद्धति के लिए क्या सावधानी चाहिए?

विथड्रावल मेथड में राईट टाइमिंग पर पेनिस को वेजाईना से बाहर खींचना है।

उचित समय

जब एक आदमी को लगता है कि वह स्खलित होने वाला है तो उसे महिला की योनि से लिंग निकालना होगा।

और यह सुनिश्चित करना होगा कि स्खलन महिला के जननांगों से दूर हो।

फिर से सेक्स करने से पहले सावधानी बरतें

यदि आप थोड़े समय के भीतर फिर से सेक्स करने की योजना बनाते हैं, तो सुनिश्चित करें कि पहले आदमी ने अपने लिंग की टिप को साफ कर किया है। इससे पिछले स्खलन से शेष शुक्राणुओं को हटाने में मदद मिलेगी।

अगर स्खलन ठीक से नहीं हुआ है और आप गर्भावस्था के बारे में चिंतित हैं, आपातकालीन गर्भनिरोधक के बारे में अपने स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से परामर्श करें।

पुल-आउट मेथड कितना प्रभावी है?

  • यह पुरुष के कण्ट्रोल पर निर्भर है।
  • इसे 73-96% प्रभावी माना जाता है ।
  • केवल 19% कपल ही इस तरीके का उपयोग करते हैं।

क्या पुल-आउट तरीके के इस्तेमाल से प्रेगनेंसी हो सकती है?

  • हाँ, ऐसा हो सकता है।
  • प्री कम या सीमन की कुछ बूंदों के भी योनी के अंदर जाने से प्रेगनेंसी हो सकती है।
  • यहां तक ​​कि अगर कोई व्यक्ति समय के बाहर खींचता है तो भी गर्भावस्था हो सकती है।

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड क्यों किया जाता है? इसके क्या फायदे हैं?

गर्भनिरोधक की विथड्रावल मेथड गर्भावस्था को रोकने में मदद कर सकती है। विभिन्न लाभों में शामिल हैं:

  • किसी अन्य चीज की आवश्यकता नहीं है
  • कुछ धर्मों के लिए स्वीकार्य
  • कोई दुष्प्रभाव नहीं है
  • कोई वित्तीय लागत नहीं
  • दंपती के नियंत्रण में
  • भविष्य की उर्वरता को प्रभावित नहीं करता है
  • मुफ़्त और आसानी से उपलब्ध है
  • स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ कोई परामर्श आवश्यक नहीं है

कुछ जोड़े वापसी पद्धति का उपयोग करना चुनते हैं क्योंकि वे अन्य गर्भनिरोधक विधियों का उपयोग नहीं करना चाहते हैं।

इसे भी पढ़ें -  महिलाओं में होने वाली सेक्स समस्यायें और उनका इलाज

विथड्रावल मेथड या पुल-आउट मेथड के नुकसान क्या है?

  • विथड्रावल मेथडका उपयोग करने के लिए कोई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन कुछ कपल घबराहट का अनुभव कर सकते हैं, जो यौन संतुष्टि को कम कर सकती है।
  • यह गर्भावस्था को रोकने में बहुत इफेक्टिव नहीं है। एक वर्ष के लिए वापसी पद्धति का अभ्यास करने वाली 100 में से 28 महिलाओं में प्रेगनेंसी हो जाती है।
  • यह यौन संचारित संक्रमणों से सुरक्षा प्रदान नहीं करता है। यह एचआईवी / एड्स से बचाव नहीं करता है।
  • कुछ जोड़ों को भी लगता है कि वापसी पद्धति से यौन सुख में बाधा होती है।
  • इसकी प्रभावशीलता पुरुष पर निर्भर करती है।
  • ऐसे पार्टनर्स जिनका अनुभव कम है, उन्हें पद्धति के पहले प्रयासों के दौरान गर्भावस्था का उच्च जोखिम हो सकता है।
  • किशोर आयु समूह के लिए यह विधि कम प्रभावी है।
  • इससे सेक्स को लेकर एंग्जायटी हो सकती है।
  • यह अल्कोहल या ड्रग्स के प्रभाव में कम प्रभावी है।
  • यह समयपूर्व स्खलन premature ejaculation का अनुभव करने वाले पुरुष के लिए नहीं है।

यदि शुक्राणु योनि में निकल जाता है, तो आपातकालीन गर्भनिरोधक लेने से अब भी गर्भावस्था को रोका जा सकता है। आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियों (ईसी) लेने के द्वारा संभोग के बाद गर्भावस्था को रोका जा सकता है। इमरजेंसी कॉण्ट्रासेप्टिव से शरीर में हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है जिससे गर्भावस्था शुरू करने के लिए आवश्यक हार्मोन पैटर्न को बाधित किया जा सकता है। इमरजेंसी कॉण्ट्रासेप्टिव को असुरक्षित संभोग के 24 से 48 घंटे के बीच ले लें तो सबसे बेहतर है।

Pull Out Method | Withdrawal Method | Coitus interruptus

Definition

Coitus interruptus OR Withdrawal Method OR Pull out Method is a traditional family planning method in which the man completely removes his penis from the vagina, and away from the external genitalia of the female partner before he ejaculates.

Benefits / Advantages / Pros

  • does not affect breastfeeding
  • no economic cost
  • no use of chemicals
  • not directly associated health risks
इसे भी पढ़ें -  स्टड 100 Stud 100 Male Genital Desensitizer Spray

Disadvantages /Cons

  • not protect against sexually transmitted diseases (STDs) including human immunodeficiency virus (HIV),
  • depends on the willingness and ability of Man
  • higher typical-use failure rates

How to Do

While having intercourse, before ejaculating, a man pulls the penis out of the woman vagina and away from the genitals (sex organs). The person withdrawing must depend on their judgment of their physical sensations to decide when they are about to ejaculate in order to withdraw in time.

The effectiveness of using withdrawal depends on using it correctly and consistently, specifically on the ability to withdraw the penis before ejaculation. With typical use, 20 women out of 100 will become pregnant in the first year of use. People who are less experienced with using this method or who have a difficult time knowing when they will ejaculate will have a greater risk of failure.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.