अश्लील देखने की लत (पॉर्न एडिक्शन) Porn Addiction जानकारी, लक्षण और उपचार

जानिए क्या पोर्न या ब्लू फ़िल्म देखने की लत पद सकती है? अगर किसी को गंदी फ़िल्में देखने की आदत है तो उसके क्या नुक़सान हो सकते हैं और इसका उपाय कैसे किया जा सकता है? पोर्न देखने की लत की वजह से मर्द बहुत कमजोर हो सकता और उसे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याएँ हो सकती है।

पोर्न या पोर्नोग्राफी में पत्रिका, किताबें, वीडियो, फिल्में, ग्राफिक उपन्यास, या कोई अन्य माध्यम शामिल हैं जिनमें लैंगिक कृत्य या यौन चित्रों को स्पष्ट रूप से दर्शाया जाता है।

पोर्न देखने की लत

पॉर्न एडिक्शन, सेक्स एडिक्शन का एक सबसेट समझा जा सकता है। इसको एक व्यवहारिक लत माना जाता है जो व्यक्ति को अश्लील सामग्रियों को देखने के लिए मजबूर करता है।

इन्टरनेट ने हर क्षेत्र में लगभग क्रान्ति ला दी है। इन्टरनेट, इनफार्मेशन का एक ऐसा भण्डार है जिसे कभी भी कोई भी एक्सेस करके किसी भी बारे में जानकारी पा सकता है। लेकिन नेट से ही लोगो को बहुत आसानी से पोर्नोग्राफिक मटेरियल भी उपलब्ध हो रहा है।

इंटरनेट के अतिरिक्त, कई अन्य माध्यमों, जैसे कि सोशल मीडिया और स्मार्ट फोन, पोर्नोग्राफी को कहीं भी और किसी भी समय देखने के लिए आउटलेट प्रदान करके पॉर्न एडिक्शन के खतरे को बढ़ा रहे हैं।

पहले जहाँ बाजार में इस तरह की पत्रिकाएँ ही लोगों के लिए उपलब्ध मटेरियल था और उसे भी केवल खरीद कर पढ़ा जा सकता था। लेकिन अब कोई भी व्यक्ति पोर्न फिल्मों या इस तरह की कहानियों को बिना खरीदे देख और पढ़ सकता है। कंप्यूटर, मोबाइल, टेबलेट जैसे उपकरणों की मदद से लोग पोर्न को स्टोर कर सकते हैं और देख सकते हैं।

यह निश्चित ही बहुत चिंता का विषय है क्योंकि इस तरह के विडियो और साहित्य से इन वस्तुओं को अजमाने की प्रवृति बढ़ती है और कहीं न कहीं व्यक्ति की सोच, मानसिकता और नज़रिया प्रभावित होता है। 88% अश्लील दृश्यों में शारीरिक आक्रामकता होती है 49% मौखिक आक्रामकता होती है। पुरुष, स्त्रियों को केवल भोग की वस्तु ही समझने लगता है और यह सोच उसके सामाजिक व्यवहार में भी बदलाव ला सकती है।

इसे भी पढ़ें -  जी-पिल का उपयोग और नुकसान g pill Emergency Contraceptive

मोबाइल डिवाइस पर 5 में से 1 इंटरनेट खोज, अश्लील सामग्री के लिए की जाती है।

20% पुरुष काम पर अश्लील साहित्य देखने को स्वीकार करते हैं। कुछ लड़के – पुरुष जो दिन भर खाली रहते हैं, वे पोर्न देख कर ही समय व्यतीत करने लगते हैं और समय के साथ वे कब इसके आदी हो जाते हैं, इसका पता ही नहीं लगता। जो पुरुष शादीशुदा हैं और यौन रूप से संतुष्ट हैं उनमें 61% कम अश्लील देखने की संभावना होती है।

पोर्न के दुष्प्रभाव Side Effects of Porn

हालांकि कई मेडिकल और मनोरोग पेशेवरों ने अश्लीलता के रूप में पोर्नोग्राफ़िक सामग्री को देखने या उपयोग करने के लिए मजबूरी को एडिक्शन नहीं माना है, लेकिन अध्ययन दिखाते हैं पोर्न के लिए एडिक्शन और अन्य किसी नशे की लत ड्रग्स या अल्कोहल) के संकेत और लक्षण समान होते हैं।

  • पॉर्न का उपयोग करना बंद करने पर गुस्सा, एंग्जायटी या चिड़चिड़ापन और विथड्रावल भी देखा जाता है। पोर्न की लत रिश्तों में गोपनीयता को बढ़ावा देती है। ऐसा लगता है जैसे कि अश्लील उपयोग के कारण कोई व्यक्ति दोहरी या गुप्त जीवन जी रहा है।
  • पोर्न की लत वाला व्यक्ति, अपने आप को दोषी या शर्मिंदा महसूस कर सकता है और पोर्न को दूसरों से छिपाने के लिए कड़ी मेहनत कर सकता है। नकारात्मक परिणामों के बावजूद, वह पोर्न को देखना जारी रखता है।
  • उसमें अंतरंगता, भावनात्मक दूरी, यौन संतोष कम हो सकता है, और रिश्ते की समग्र गुणवत्ता खराब हो सकती है।
  • काम के घंटों के दौरान पोर्न देखने से अनुशासनात्मक कार्रवाई हो सकती है या नौकरी जा भी सकती है।
  • व्यक्ति अश्लील को देखने में दिन का अधिक समय खर्च कर सकते हैं और इसको प्राथमिकता दे सकता है।

किशोरों में अश्लील व्यसन

इंटरनेट पर यौन सामग्री की पहुंच के कारण, किशोरों में अश्लील नशे की बढ़ती चिंता बढ़ रही है। एक बटन के क्लिक के साथ वे वयस्क सामग्री के अंतहीन पृष्ठों के संपर्क में आ सकते हैं।

  • 10 में से 9 लड़के 18 वर्ष की उम्र से पहले पोर्नोग्राफी देख लेते हैं।
  • 10 में से 6 लड़कियाँ 18 साल से पहले पोर्नोग्राफ़ी का देख लेती है।
  • 71% किशोर ने माता-पिता से ऑनलाइन क्या देखते हैं, छिपाते हैं।
  • किशोर लड़कों, 12-17 साल की उम्र में, पोर्न लत विकसित करने का सबसे बड़ा खतरा होता है।
इसे भी पढ़ें -  पेनिस में दर्द और बदबू आने के कारण Smell and Pain in Penis Causes and Treatment

पोर्नोग्राफ़ी को देखने से किशोरों में नकारात्मक परिणाम हो सकते हैं, जो उनके मनोवैज्ञानिक और शारीरिक कल्याण दोनों को प्रभावित करते हैं। इन असफलताओं में शामिल हैं:

  • उच्च जोखिम वाले व्यवहार में वृद्धि Increase in high-risk behaviors
  • दुनिया का क्षुद्र दृश्य Skewed view of the world
  • महिलाओं के प्रति आक्रामकता में वृद्धि Increase in aggression towards women
  • यौन हिंसा का सामान्यकरण Normalization of sexual violence
  • स्वस्थ संबंध बनाने की क्षमता में कमी Decrease in ability to build healthy relationships

अनुसंधान से पता चलता है कि पॉर्न वेबसाइटों के संपर्क में आने वाले किशोरों में सेक्स की लत, शराब या अन्य नशीली दवाओं का इस्तेमाल करने की अधिक संभावना होती है। यह उन्हें मानसिक स्वास्थ्य विकार के विकास के लिए एक उच्च जोखिम में डालता है।

पॉर्न एडिक्शन के संकेत और लक्षण क्या है?

  • पोर्नोग्राफी देखने की अधिकता वह बिंदु है जिसमें पोर्नोग्राफ़ी आपके (या किसी और के) जीवन के कुछ पहलू पर नकारात्मक प्रभाव डालने लगती है।
  • पोर्नोग्राफी देखना रोज़ के सामान्य व्यवहार या जिम्मेदारियों के साथ हस्तक्षेप करता है।
  • पोर्नोग्राफी में अधिक उत्तेजक, असामान्य प्रकार के सेक्स विडियो के लिए खोज करने के लिए व्यक्ति अधिक समय व्यतीत करने लगता है। नार्मल सेक्स में उसे चरमोत्कर्ष पाना मुश्किल हो जाता है।
  • पोर्न नहीं देखने पर मानसिक तनाव का अनुभव होने लगता है।
  • न चाहते हुए भी व्यक्ति बाध्यकारी हस्तमैथुन Compulsive masturbating करता है।
  • इससे गंभीर परिणामों को भुगतने के बावजूद पोर्नोग्राफ़ी का उपयोग करना (जैसे, रिश्ते या नौकरी की हानि, यौन संचारित बीमारी का संकुचन या “एसटीडी”) जारी रहता है।
  • व्यक्ति, सेक्सुअल डिसफंक्शन impotence, premature ejaculation का शिकार हो जाता है। उसे इरेक्शन पाने में या इरेक्शन को बनाए रखने की समस्या आने लगती है।

पोर्नोग्राफी का प्रयोग नकारात्मक रूप से आपके संबंधों को प्रभावित करता है। उदाहरण के लिए, पार्टनर द्वारा उत्तेजित होना अधिक कठिन हो जाता है, आपके और आपके पार्टनर में रोमांटिक या यौन व्यवहार बदला जाता हैं क्योंकि पोर्न देखने वाला व्यक्ति अधिक आक्रामक, डोमिनेंट या भावनात्मक रूप से डिस्कनेक्ट हो जाता है।

पति का पोर्न का आदी होना

अश्लीलता की लत, न केवल एडिक्ट को प्रभावित करती है, यह व्यक्ति की पत्नी या प्रेमिका पर भी नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। अश्लीलता की लत, पत्नी में निम्नलिखित का कारण बन सकती है:

  • अकेलापन Loneliness
  • अपमान Humiliation
  • अलगाव Isolation
  • अस्वीकृति Rejection
  • गुस्सा Anger
  • डिप्रेशन Depression
  • परित्याग Abandonment
  • बिट्रेयल Betrayal
इसे भी पढ़ें -  पुरुषों में सेक्स में वीर्य का नहीं निकलना

किशोर में पॉर्न एडिक्शन के लक्षण

कंप्यूटर उपयोग के साथ जुड़े हुए कुछ संकेत हैं जो कि माता-पिता को कुछ संकेत दे सकते हैं:

  • आपको कंप्यूटर पर अश्लील विडियो मिलते हैं।
  • जब आप कमरे में प्रवेश करते हैं, बच्चा कंप्यूटर बंद कर देता है या स्क्रीन बदल देता है।
  • बच्चा कंप्यूटर के इस्तेमाल के बाद देर तक बाथरूम में रहता है।
  • बच्चा कंप्यूटर देखते समय दरवाजे को लॉक करता है।
  • बच्चा कंप्यूटर से इन्टरनेट हिस्ट्री को हटा देता है।
  • बच्चा रात में बहुत देर तक ऑनलाइन रहता है।
  • बच्चा सब के सो जाने का इंतज़ार करता है।

आजकल मोबाइल आ जाने से बच्चों पर नज़र रहना बहुत मुश्किल हो गया है। लेकिन अगर बच्चा मोबाइल को देर रात तक इस्तेमाल कर रहा है, उस पर पास वर्ड लगा कर रखता है, उसके व्यवहार में बदलाव है या वह अचानक पास जाने पर चौंक जाता है तो शायद वह मोबाइल पर पोर्न देख रहा है।

अश्लील नशे की वजह से अंतरंग रिश्ते खराब हो सकते हैं, शर्म की भावना और अपराध, काम या विद्यालय के साथ समस्याओं, नौकरी जाना, वित्तीय परेशानियों समेत कई समस्याएं हो सकती है। इससे मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं, शराब या ड्रग्स उपयोग विकार, और मनोदशा विकार, जैसे कि अवसाद आदि भी हो सकता है।

यदि आप गंभीर रूप से अपने व्यवहार के बारे में चिंतित हैं, तो हमेशा एक मनोवैज्ञानिक के साथ बात करने की सलाह दी जाती है। आपके व्यवहार और उपचार विकल्पों को समझने में मदद करने के लिए एक हेल्थकेयर पेशेवर सबसे उपयुक्त होगा। व्यवहार और विचारों के बदलते पैटर्न की ओर भी काम करना चाहिए जो एक अश्लील नशे की लत में योगदान करते हैं।

कोई व्यक्ति पॉर्न एडिक्ट क्यों होता है?

जैसे कुछ लोग अन्य पदार्थों के आदी हो सकते हैं, वैसे ही कुछ अश्लील पदार्थों की लत के शिकार हो सकते हैं।

इसे भी पढ़ें -  डीलक्स निरोध Nirodh के बारे में जानकारी

अक्सर ऐसे लोग जिन्हें सेक्स की इच्छा है लेकिन पार्टनर नहीं है, वे पोर्न देख हस्तमैथुन से शुरुवात करते हैं। इससे वे सेक्स की अपनी इच्छा को पूरी करते हैं और इसमें इनाम सेक्स की इच्छा की पूर्ति है। क्योंकि यह अनुभूति वे बार बार पाते हैं इसलिए पोर्न बार बार देखते हैं। इसलिए, अश्लील के आदी बनना बहुत आसान है। ऐसा करना उन्हें मौलिक (और बहुत आनंददायक) प्राकृतिक ड्राइव तक पहुंच रहा होता है। इसके लिए उन्हें बाहर जाने की ज़रूरत नहीं है।

घर के एकांत में यह बाथरूम में ही पोर्न के द्वारा वे सेक्सुअली सेटिस्फाई हो जाते है। कम बार ऐसा किया जाना कोई समस्या नहीं है क्योंकि इस तरह उन्हें सेक्स संतुष्टि मिलती है और वो भी बिना किसी सेक्सुअल रोग के खतरे के और बिना पार्टनर के।

समस्या तब होती है जब यौन सुख की मांग अत्यधिक हो जाती है, आवेगी हो जाती है या अन्य व्यवहारों की कीमत पर होती है। तब हम कह सकते हैं कि व्यक्ति पॉर्न एडिक्ट है।

हार्मोन

टेस्टोस्टेरोन या एस्ट्रोजन जैसे सेक्स हार्मोन के उच्च स्तर से भी कामेच्छा अधिक हो सकती है जिससे बार बार सेक्स करने की तीव्र इच्छा होती है जोकि पोर्न देख कर शांत होती है।

पर्यावरणीय प्रभाव

बचपन में किया गया यौन शोषण या किसी के द्वारा ऐसा साहित्य पढ़ाना, पोर्न दिखाना, या अन्य यौन सामग्री से संपर्क जैसी प्रतिकूल घटनाओं सहित , कुछ अंतर्निहित कारक भी इसमें में योगदान दे सकते हैं जो हाइपरएक्सुअल व्यवहार को संचालित कर सकते हैं।

मानसिक स्वास्थ्य

चिंता, अवसाद, व्यक्तित्व विकार, आवेग नियंत्रण नहीं कर पाना, और परफॉरमेंस एंग्जायटी के साथ भी यह समस्या हो सकती है।

सामाजिक

रिश्तों और सामाज में अस्वीकृति से यौन संतुष्टि को खोजने के लिए अन्य, कम स्वस्थ तरीके के ओर झुकाव होना संभव है।

सामाजिक अलगाव न केवल सामाजिक रूप से संतुष्ट होने के अनुचित तरीकों की तलाश करने की संभावना में वृद्धि करता है , यह कई अन्य समस्याओं जैसे कि उदासीनता और शारीरिक दुर्बलता की ओर जाता है-जो यौन व्यसनों या अस्वास्थ्यकर यौन व्यवहारों में योगदान दे सकती है।

इसे भी पढ़ें -  शीघ्रपतन Premature Ejaculation Treatment and Home Remedies

ऐसे दोस्त या दोस्तों के समूह में रहना जो अत्यधिक यौन गतिविधियों या अश्लील देखने में संलग्न होते हैं, आपको बहुत ही शक्तिशाली तरीके से प्रभावित कर सकता है।

पॉर्न की लत का प्रभाव क्या होता है?

पॉर्न की लत से निम्न विकार हो सकते हैं:

  • सेक्सुअल डिसफंक्शन Sexual dysfunction
  • नपुंसकता Impotence (inability to form or maintain an erection)
  • शीघ्रपतन Premature ejaculation

मनोवैज्ञानिक

  • अधिक आक्रामकता
  • अन्य आवेगी व्यवहार के प्रति प्रवृत्ति Tendency towards other impulsive behaviors।
  • अवसाद, चिंता, या अन्य सह होने वाली मनोवैज्ञानिक विकार Depression, anxiety, or other co-occurring psychological disorders
  • उत्तेजित होने में समस्या
  • गलती, शर्म, भ्रम Guilt, shame, confusion
  • पूरे दिन यौन विचारों के साथ अति व्यस्तता Preoccupation with sexual thoughts throughout the day
  • रोकने या पुनरारंभ करने के चक्रों को रोकने के बारे में समरूपता Ambivalence about stopping, or cycles of stopping/restarting
  • वास्तविक जीवन में सेक्स करने की कम इच्छा
  • साथी के साथ रोमांटिक या यौन सम्बन्ध में दिक्कत

किशोर में पॉर्न एडिक्शन

इंटरनेट पर अश्लीलता की बढ़ती पहुंच के कारण, बच्चों और किशोरावस्था में पहले के मुकाबले अश्लील की लत विकसित करने के उच्च जोखिम है। पोर्न की लत बच्चों और किशोरों के लिए विशेष रूप से चिंताजंक है, क्योंकि उनके दिमाग अभी भी विकसित हो रहे हैं। यदि इलाज न किया जाए तो यह भावनात्मक गड़बड़ी और मानसिक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं पैदा कर सकता है ।

पोर्नोग्राफी की लत में किसी किशोर में निम्न प्रभाव देखे जा सकते हैं:

  • आसानी से भटकना Easily distracted
  • उदास लगना
  • एडीएचडी लक्षण ADHD symptoms
  • क्रोध और अधीरता
  • जब बात की जाती है तो सुनने के लिए नहीं लगता Does not seem to listen when spoken to
  • निर्देशों का पालन करने के लिए संघर्ष Struggle to follow instructions
  • बिगड़ा हुआ एकाग्रता Impaired concentration
  • मानसिक संकट या उदासी Mental distress or unease

यदि आपको संदेह है कि आपका बच्चा पोर्न का आदी है, तो आप उससे शांत तरीके से बिना गुस्सा किए बात करें। आप अपने बच्चे को निम्नलिखित प्रश्न पूछकर शुरू कर सकते हैं:

  • क्या उसने कभी इंटरनेट पोर्नोग्राफी देखी है? यदि हां, तो आप इसे कब देखना शुरू कर दिया?
  • वह इसे कितनी बार देखता है और कब तक?
  • वह इंटरनेट पोर्नोग्राफी क्यों देखता है?
  • पिछली बार जब उसने इंटरनेट पोर्नोग्राफी देखी थी?
इसे भी पढ़ें -  मिफेजेस्ट किट कैसे इस्तेमाल करते हैं Mifegest Kit Zydus

बच्चे से आराम से बात करें। यह आपके बच्चे या किशोरों के लिए एक सकारात्मक उपचार वातावरण सुनिश्चित करेगा। यदि आप अपने बच्चे के व्यवहार में अचानक बदलाव के बारे में चिंतित हैं और यह संदेह है कि यह अश्लील उपयोग से संबंधित है तो उपचार सहायता के लिए विशेषज्ञ से बात करें।

कुछ महत्वपूर्ण कारकों पर विचार कर आप बच्चे में अश्लील लत को विकसित करने से रोकने का प्रयास कर सकते हैं:

  • उसके दोस्त और साथी किस तरह के हैं, क्या करते हैं पर ध्यान दें।
  • खुद भी इन्टरनेट का इस्तेमाल कम करें जिससे बच्चे को रोक सकें।
  • नियंत्रण का उपयोग करें और ध्यान से इंटरनेट उपयोग पर नजर रखें।
  • बच्चे को आउटडोर खेलने को भेजें।
  • बच्चे को इन्टरनेट की सुविधा अपनी निगरानी में दें और इन्टरनेट पर उसके द्वारा इस्तेमाल इन्टरनेट की अमाउंट पर ध्यान दें। बहुत अधिक इन्टरनेट डाटा का इस्तेमाल हिंट दे सकता है कि वह अश्लील फिमें देख रहा है।
  • बच्चे को बिजी रखें।
  • संवादात्मक और ईमानदार रिश्ते को बनाए रखें।

क्या मैं पोर्न एडिक्ट हूँ?

  • यह निर्धारित करने के लिए कि क्या पोर्न लत है, आपको निम्न पर विचार करना चाहिए:
  • अगर मैं अश्लील का उपयोग नहीं करता तो मैं चिंतित, तनावग्रस्त या चिड़चिड़ा महसूस करता हूं।
  • अश्लील देखने के लिए मैं परिवार, सामाजिक या कामकाज की उपेक्षा करता हूं।
  • नकारात्मक परिणामों का सामना करने के बावजूद मैं अश्लील का उपयोग करना जारी रखता हूं।
  • मैं अश्लील पर अधिक समय या पैसा खर्च करता हूं।
  • मैं पोर्न देखने की इच्छा को दबा नहीं पा रहा।
  • मैं समय का एक महत्वपूर्ण हिस्सा अश्लील देखने, अश्लील के बारे में सोचने, या उन गतिविधियों में शामिल होने में करता हूँ जिससे मुझे पोर्न देखने को मिल सके।
  • मैंने अश्लील न देखने या देखने को रोकने के कई असफल प्रयास किए हैं।

क्या पोर्न की लत का इलाज किया जा सकता है?

हाँ। पॉर्न एडिक्शन का इसके जैसे अन्य व्यसनों और मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं की ही तरह से इलाज किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें -  योनि का सूखापन का उपाय और कारण Vaginal Dryness reasons and cure

आमतौर पर एक मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर से बात कर सकते हैं जैसे एक मनोवैज्ञानिक या लाइसेंस प्राप्त सामाजिक कार्यकर्ता। वे कुछ अंतर्निहित कारकों को देखेंगे व आपको अपने विचारों, भावनाओं और व्यवहारों से निपटने के लिए तरीके सिखा सकते हैं।

कुछ उपचार विकल्पों में शामिल हैं How to Stop Porn Addiction?:

व्यक्तिगत चिकित्सा

प्रमाणित मानसिक स्वास्थ्य पेशेवर के साथ 30-60 मिनट के सत्र, आपके यौन बाध्यकारी व्यवहारों और किसी भी सहकारी होने वाली विकारों पर केंद्रित हो कर काम करने में मदद करते हैं।

संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (सीबीटी) Cognitive-Behavioral Therapy

यह व्यवहार, भावनाएं, और विचार से संबंधित हैं और सकारात्मक विचारों और आत्म-चर्चा के लिए नकारात्मक विचारों को बदलने के लिए काम करते हैं।

साइकोडैनेमिक थेरेपी Psychodynamic therapy

साइकोडिनेमिक थेरेपी बचपन में हुए किसी शोषण के कारण सेक्स सम्बन्धी आदतों या कारकों का पता किया जाता है।

युगल की परामर्श या विवाह परामर्श

यह पोर्न के आदी और उसके साथी के लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। युगल के परामर्श से भागीदारों के बीच संचार कौशल, विश्वास और स्वस्थ यौन क्रिया को सुधारने में मदद मिल सकती है।

क्या सेक्स लत के लिए दवा / ड्रग विकल्प हैं?

वर्तमान में कोई भी दवा- सेक्स की लत के इलाज के लिए अनुमोदित दवाएं नहीं है। सेक्स की लत और संबंधित यौन दुष्परिणामसे अक्सर चिंता और अवसाद जैसे स्थितियों में एंटीडेप्रेसंट जैसी दवाओं के साथ इलाज किया जा सकता है।

एंटीडिप्रेसन्ट SSRIs (चयनात्मक serotonin reuptake इनहिबिटर्स) का उपयोग, तीव्र यौन आग्रहों और cravings को कम करने के लिए किया जा सकता हैं।

यदि कोई मरीज एंटीडिप्रेसन्ट के लिए अच्छी तरह से प्रतिक्रिया नहीं करता है, तो अन्य विकल्प भी हैं ।

मादक पदार्थों और अफीम की लत के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला नलट्रेक्सोन Naltrexone, यौन बाध्यकारी व्यवहार को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है ।

इसके अतिरिक्त, एंटी-एंड्रोजेनिक दवाएं anti-androgenic medications शरीर में पुरुष हार्मोन के स्तर को कम करके यौन अभिलाषा को रोकने में मदद कर सकती हैं । हालांकि, एंटी-एंड्रोजेनिक दवाओं पर शोध की कमी है और गंभीर दुष्प्रभावों की रिपोर्ट की गई है। इसके अलावा, एंटी-एंड्रोजेनिक दवाओं का असर अस्थायी है और एक बार समाप्ति होने पर सामान्य स्तर पर हार्मोन का स्तर वापस आ जाएगा।

इसे भी पढ़ें -  पेनिस में दर्द और बदबू आने के कारण Smell and Pain in Penis Causes and Treatment

यदि आपका चिकित्सक आपको दवा का सुझाव देता है, तो सावधानीपूर्वक लेबल को पढ़ना सुनिश्चित करें और अधिक मात्रा से बचने के लिए डॉक्टर के खुराक के निर्देशों का पालन करें ।

यद्यपि सेक्स या अश्लील लत के लिए कोई अनुमोदित दवाएं नहीं हैं, एंटीडिप्रेसन्ट सेक्स की लत का इलाज करने के लिए निर्धारित सबसे आम दवाओं में से एक हैं। एंटीडिप्रेसन्ट लेने के लिए बहुत सुरक्षित हैं लेकिन कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

शराब और अफीम की लत का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला दवा, नट्र्रेक्सोन , सेक्स और पोर्न लैस के इलाज में आशाजनक साबित हुआ है। इसके साथ कुछ दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं:

  • उल्टी Vomiting
  • घबराहट Nervousness
  • चक्कर आना Dizziness
  • चिड़चिड़ापन Irritability
  • जी मिचलाना Nausea
  • दस्त Diarrhea
  • पेट दर्द Stomach pain
  • भूख में कमी Loss of appetite
  • रैश Rash
  • सरदर्द Headache
  • सोने में दिक्कत Sleep disturbance
  • स्नायु या जोड़ दर्द Muscle or joint pain

हालांकि इन दुष्प्रभावों में परेशानी हो सकती है, लेकिन कुछ दुष्प्रभाव अधिक खतरनाक हो सकते हैं :

  • उलझन Confusion
  • गंभीर उल्टी और / या दस्त Severe vomiting and/or diarrhea
  • दु: स्वप्न Hallucinations
  • धुंधली दृष्टि Blurred vision

अपने चिकित्सक को तत्काल बुलाएं यदि आप इन गंभीर दुष्प्रभावों का अनुभव करते हैं।

एंटी एंड्रोजन, दवाएं जो पुरुष हार्मोन के प्रभाव को अवरुद्ध करती हैं, साइड इफेक्ट के साथ होती हैं:

  • अत्यधिक रोना Excessive crying
  • अयोग्य स्मृति Impaired memory
  • ऑस्टियोपोरोसिस Osteoporosis
  • कब्ज Constipation
  • गर्मी लगना Hot flushes
  • चिंता Anxiety
  • डिप्रेशन Depression
  • थकान Fatigue
  • दस्त Diarrhea
  • दुर्भावनापूर्ण मौखिक कौशल Impaired verbal skills
  • पेट में दर्द Abdominal pain
  • बिगड़ा हुआ एकाग्रता Impaired concentration
  • मतली उल्टी Nausea/vomiting
  • मांसपेशियों में कमी Decrease in muscle mass
  • मूडीनेस  Moodiness
  • वसा जमा में वजन / बढ़ोतरी Weight gain/increases in fat deposits

पोर्न एडिक्शन की विशेषता है कि इसमें व्यक्ति अश्लीलता को देखनें के लिए बाध्य हो जाता है और सीके नकारात्मक परिणामों के बावजूद इसे रोकने में असफल रहता है व यह आदत समय के साथ अक्सर बिगड़ती है। इस लत से व्यक्ति किसी भी चीज़ पर ध्यान केंद्रित करने में असमर्थ रहता है।

इसे भी पढ़ें -  डीलक्स निरोध Nirodh के बारे में जानकारी

गंदी फिल्में (पॉर्न मूवी) देखने की आदत, आपके मानसिक, शारीरिक स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचाती है, कीमती समय नष्ट करती है और एक्स्ट्रा रुपए भी खर्च कराती है।

इस गंदी लत के कारण व्यक्ति असामाजिक हो सकता है। उसमें अपने पार्टनर के प्रति हिंसा आ सकती है। पोर्न देखने वाला पुरुष, महिलाओं के प्रति हिंसा करता है, उन्हें भोग की वस्तु समझता है और गन्दी नज़र रखता है। उसमें वहशीपन आता है और हिंसक पोर्न देख वह बलात्कार जैसे घृणित कृत्य कर सकता है।

यदि आपको लगता है कि पोर्न के कारण आपकी लाइफ पर फर्क पड़ रहा है तो शायद आपके इसके आदी हो गयें हैं। ऐसे में आप अपने आप ऐसे स्टेप ले सकते हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं।

साइकायट्रिस्ट से संपर्क करें। अकेले नहीं रहें। जैसे आप खाली नहीं बैठें। खाली दिमाग रहेगा तो पोर्न देखने की प्रवृति अधिक हो सकती है।

खाली समय में टहलने जाएँ, खाना बनाएं, बागवानी करें या कोई और काम करें जो आपको बिजी रखे। पोर्न एडिक्शन होता है और इसके भी अन्य एडिक्शन की ही तरह साइड इफेक्ट्स होते हैं, इस बात को समझें। यह सेक्सुअल डिसफंक्शन के लिए जिम्मेदार हो सकता है, इसे समझें। हो सकता है आपको इरेक्शन नहीं आए या आप बहुत जल्दी स्खलित हो जाएँ। आप निश्चित रूप से ऐसा नहीं चाहेंगे। इसलिए इसके बारे में जानकारी प्राप्त करें और स्थिति को सही करने की कोशिश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.