सहेली गैर-हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली Uses, Benefits, Side Effects, Dosages, Warnings in Hindi

सहेली हिंदुस्तान लैटेक्स लिमिटेड से गैर-हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली है। यह शरीर के हार्मोनल संतुलन को प्रभावित करने और लेने में सुरक्षित है। सहेली एक माह के उपयोग के बाद गर्भावस्था से सुरक्षा प्रदान करती है।

एलोपैथिक दवाई सहेली हिंदुस्तान लैटेक्स लिमिटेड के द्वारा निर्मित एक जन्म नियंत्रण की गोली या गर्भनिरोधक पिल है

सहेली गर्भनिरोधक

यह अन्य गर्भनोरोधक गोलियों से अलग है क्योंकि इसमें कोई हार्मोन नहीं है। यह गर्भावस्था को रोकने के लिए हार्मोन एस्ट्रोजन का उपयोग करने के बजाय, एस्ट्रोजेन को ब्लॉक करती है। एस्ट्रोजेन को अवरुद्ध करके, सहेली गर्भाशय की परत को बदलती है, जो निषेचित अंडे की इम्प्लांटिंग रोकता है। ज्यादातर मामलों में सहेली लेने वाली महिला को मतली, सिरदर्द या वजन में बदलाव आदि नहीं होता।

इस दवा का जेनेरिक फार्मूला ओर्मेलोक्सीफेन Ormeloxifene / सेंटक्रोमेन Centchroman है जिसे केंद्रीय दवा अनुसंधान संस्थान (सीडीआरआई), लखनऊ Central drug Research Institute (CDRI), Lucknow ने विकसित किया है और हिंदुस्तान लैटेक्स लिमिटेड एचएलएल ने ब्रांड नाम सहेली दिया है। यह 1991 से मार्किट में मिल रही है। यह एक स्वदेशी विकसित दवा है। यह गर्भाशय रक्तस्राव, ऑस्टियोपोरोसिस और मासिक धर्म पूर्व सिंड्रोम के इलाज के लिए भी फायदेमंद है। यह रक्त में लिपिड स्तर को कम करने के लिए एक दवा के रूप में दी जा सकती है।

सहेली को रोज नहीं लेना होता। आपको पहले तीन महीनों में सप्ताह में दो बार इसे लेना होता है। लेकिन उसके बाद केवल एक गोली एक सप्ताह में ली जाती है। जैसे यदि पीरियड सोमवार को शुरू होता है, तो आप पहले तीन महीनों में गोली को हर सोमवार और गुरुवार को लेंगी। चौथे महीने से, आप केवल हर सोमवार को सप्ताह में एक बार इसे लेंगी।

यह स्टेरायडल गर्भनिरोधक गोलियां की अपेक्षा ज्यादा लाभकारी है क्योंकि यह अंत: स्रावी प्रणाली endocrine system को प्रभावित नहीं करती और सामान्य मासिक ovulatory चक्र बनाए रखती है।

  • दवा का नाम: Saheli Contraceptive Pill – The non-hormonal contraceptive (Weekly oral contraceptive pill)
  • निर्माता / ब्रांड नाम: Hindustan Latex Ltd
  • जेनेरिक: ओरमोलोक्सोफीन Ormeloxifene / सेंटक्रोमेन Centchroman
  • मुख्य प्रयोग: गर्भनिरोधक ऑर्मोक्सिफ़ीन चयनात्मक एस्ट्रोजन रिसेप्टर मॉड्यूलर के वर्ग की दवा है
  • मूल्य: 8 Tablets @ Rs 22.40
इसे भी पढ़ें -  पोस्ट टर्म गर्भावस्था : कारण | Post-term Pregnancy

सहेली किन रूपों में उपलब्ध है?

Saheli Contraceptive Pill Availability

सहेली एक गैर स्टेरायडल गर्भनिरोधक गोली है।

सहेली की संरचना क्या है?

  • Saheli Contraceptive Pill Composition/Ingredients
  • Each tablet contains centchroman (Ormeloxifene) 30 mg

सहेली को किन रोगों में प्रयोग करते हैं?

Loading...

सहेली के चिकित्सीय उपयोग निम्न हैं:

Saheli Contraceptive Pill Indications

कॉण्ट्रासेप्शन

यह कई स्त्री रोगों में भी उपयोगी है:

  • मासिक धर्म के शुरू होने पर होने वाली दिक्कतें PMS
  • मासिक में सामान्य से ज्यादा रक्तस्राव (अत्यार्तव)
  • गर्भाशय से असामान्य रक्तस्राव dysfunctional uterine bleeding
  • फाइब्रोएडीनोमा fibroadenoma

सहेली की डोज़ क्या है?

Saheli Contraceptive Pill Dose

  • पहले तीन महीनों में इसको सप्ताह में दो बार और फिर सप्ताह में एक बार लिया जाता है।
  • इसे मासिक के पहले दिन से लेना शुरू करें।
  • पहले तीन महीनों में एक गोली एक सप्ताह में दो बार, निश्चित दिनों (जैसे रविवार और बुधवार) पर लें। बाद में एक गोली सप्ताह में एक बार लें।
  • पहले महीने के इसके प्रयोग के दौरान गर्भ निरोधन के दूसरे उपाय जैसे की कंडोम का प्रयोग करें।
  • इस दवा को एक गिलास पानी के साथ निगल कर लेते हैं। इस दवा को कभी भी चबा कर या तोड़ कर नहीं लेना चाहिए।

सहेली के फायदे क्या हैं?

  • इसके लेने पर अगर गर्भ ठहर भी जाए तो होने वाले बच्चे पर कोई बुरा प्रभाव नहीं होता।
  • इसके लेने से मतली, उल्टी, चक्कर आना आदि नहीं होते क्योंकि यह होर्मोन को नहीं प्रभावित करती।
  • इसके लेने से वज़न नहीं बढ़ता।
  • इसको लेना सेफ है।
  • इसे सप्ताह में दो या एक बार लेना होता है।
  • यह अन्य गर्भनिरोधक गोलियां की तुलना में सस्ती है।
  • यह नई हड्डियों के गठन को प्रोत्साहित करती है।
  • यह लिपिड लेवल और प्लेटलेट पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं डालती।
  • यह शरीर में होरमोंस का संतुलन नहीं बिगाड़ती। एक बार छोड़ देने पर गर्भ धारण में दिक्कत नहीं आती।
  • यह स्तन कैंसर, गर्भाशय कैंसर को रोक सकती है।
  • सहेली एक नॉन हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली है।
इसे भी पढ़ें -  गर्भावस्था के दौरान पेट दर्द का कारण और उपचार

सहेली के साइड इफ़ेक्ट क्या हो सकते हैं?

Saheli Contraceptive Pill Adverse Effects

  • यह बहुत से मामलों में गर्भावस्था को रोकने में असफल पायी गई है। इसे लेने पर प्रेगनेंसी हो सकती है।
  • शुरू में पीरियड्स के दौरान ज्यादा खून जा सकता है।
  • कुछ मामलों में यह मासिक आने में देरी कर सकती है। (यदि पीरियड होने में एक सप्ताह से ऊपर हो जाए तो प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड से गर्भावस्था का पता करें)
  • चेहरे पर मुहांसे हो सकते हैं।
  • ब्रेस्ट में हल्का भारीपन या दर्द हो सकता है।
  • शरीर में पानी रुक सकता water retention है।
  • यह साइड इफेक्ट की पूरी सूची नहीं है।

सहेली को कब नहीं लेना चाहिए?

Saheli Contraceptive Pill Contraindications

  • गंभीर एलर्जी
  • गर्भावस्था
  • गुर्दे की क्षति
  • टीबी
  • पीलिया या लीवर के सही से नहीं काम करने का इतिहास
  • पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि रोग
  • सरवाइकल हाइपरप्लासिया
  • स्तनपान

सहेली कैसे स्टोर करें?

Saheli Contraceptive Pill Storage

  • दवा को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। इसे रौशनी और नमी से दूर रखें। दवा को अँधेरे में सूखे स्थान पर रखें।
  • दवा के सेवन से पहले एक्सपायरी डेट चेक करें।
  • खराब दवा को ठीक तरह से डिस्पोज करें।
  • दवा को बच्चों की दृष्टि और पहुँच से दूर रखें।
  • गलती से दवा का ओवरडोज़ हो गया हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।

Central drug Research Institute (CDRI), Lucknow has developed the molecule Centchroman.

This is marketed by HLL under the brand name Saheli. It is world’s first non-steroidal oral contraceptive pills for age group of 20-45 years.

Saheli does not have side effects like nausea, vomiting, weight gain etc. which are commonly reported with the other oral contraceptive pills.

The only side effects reported with Saheli (Centchroman) is the delay in the menstrual cycles in around 8% of the cases. It is safe contraceptive for long term use.

Saheli is also shown to be beneficial for treating dysfunctional uterine bleeding, osteoporosis and premenstrual syndrome and as a drug for lowering lipid levels in the blood.

इसे भी पढ़ें -  अनवांटेड 21 गर्भनिरोधक गोली Unwanted 21 (Birth Control Pills)

Centchroman offers a unique combination of weak estrogenic and potent anti-estrogenic properties. Due to this subtle mix of estrogenic and anti-estrogenic action it inhibits the fertilized ovum from nidation and thus prevents pregnancy, but at the same time, it does not appear to disturb the other estrogen effects.

Use of Saheli (Centchroman) as a contraceptive has been extensively evaluated in more than 2000 women of the reproductive age groups.

Saheli is to be taken twice a week on fixed days for the first three months, followed by one pill in a week thereafter.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!