प्रसव के बाद ब्लीडिंग Normal bleeding and discharge (lochia)

डिलीवरी के बाद ब्लीडिंग कब तक होती है और क्या यह कोई समस्या है? प्रसव के बाद कितने दिनों तक खून बह सकता है? डिलीवरी के बाद पीरियड / मासिक धर्म कितने दिनों में सुरु होना चाहिए? प्रसव के बाद ब्लीडिंग क्यों होती है?

बच्चे के जन्म के बाद योनि से कुछ सप्ताह तक ब्लीडिंग/रक्तस्राव होना पूरी तरह से सामान्य है। प्रसव के तुरंत बाद लगातार हफ्तों तक रक्त के साथ ब्लड क्लॉट या खून के थक्के भी जा सकते हैं। इस तरह की ब्लीडिंग और क्लोट्स से गर्भाशय से धीरे धीरे साफ़ हो जाता है।

मेडिकल भाषा में प्रसव बाद होने वाले रक्तस्राव को लोकिया lochia कहते हैं और यह गर्भाशय से होने वाला नार्मल डिस्चार्ज है। आम तौर पर यह दो से छह सप्ताह के बीच तक होता है और इसका रंग भिन्न हो सकता है। यदि आप किसी प्रसव के बाद होने वाले रक्तस्राव के बारे में चिंतित या अनिश्चित हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें प्रसवोत्तर रक्तस्राव के बारे में बाद करें।

लोकिया क्या है?

प्रसूति (प्युर्पेरियम) के बाद, रक्त, म्यूकस और गर्भाशय के ऊतकों योनि से स्राव लोकिया कहलाता है। लोकिया डिस्चार्ज आम तौर पर प्रसव के बाद 4 से 6 सप्ताह तक चलता रहता है।

क्या प्रसव के बाद ब्लीडिंग होना सामान्य है?

जन्म के बाद रक्तस्राव पूरी तरह से सामान्य है। बच्चा होने के बाद गर्भाशय में पिछले करीब 40 सप्ताह के दौरान बनी लाइनिंग, को योनि के माध्यम से शरीर से बाहर किया जाता है। ऐसा तब तक होता है जब तक यूटरस के अस्तर lining का नवीकरण न हो जाए। यह दो से छह सप्ताह के बीच तक चलता है और इस समय रंग में यह भिन्न हो सकता है।

जन्म के एक दिन बाद रक्तस्राव Bleeding one day after the birth

जन्म के एक दिन बाद योनि के रक्तस्राव का रंग ताजा लाल या भूरे रंग का लाल होता है।

इसकी मात्रा काफी अधिक हो सकती है और कुछ घन्टों में एक मैटरनिटी पैड भीग सकता है। एक या दो बहुत बड़े क्लोट्स/थक्के (छोटे नारंगी के आकार) या छोटे (एक अंगूर के आकार के) के क्लोट्स जा सकते हैं यह असामान्य नहीं है।

इसे भी पढ़ें -  गर्भ ठहरने या प्रेगनेंसी के 8 लक्षण

जन्म के दो से छह दिन बाद रक्तस्राव Bleeding two to six days after the birth

जन्म के दो से छह दिन बाद रक्तस्राव गहरे लाल या एक भूरे या गुलाबी रंग का लाल होता है।

योनि रक्तस्राव की मात्रा अभी भी काफी होती है। ब्लीडिंग के साथ कुछ थक्कों भी जाते हैं लेकिन यह छोटे (एक अंगूर के आकार की तुलना में कम) होने चाहिए। प्रारंभ में, ब्लड लोस से पैड पर 7-12 सेमी का दाग बनाता है जोकि बाद में कम होने होने लगता है।

जन्म के बाद सात से 10 दिनों तक रक्तस्राव Bleeding seven to 10 days after the birth

जन्म के बाद सात से 10 दिनों तक रक्तस्राव, कम गहरा लाल होता है। यदि स्तनपान करा रही हैं तो हर फीड के बाद कुछ फ्रेश ब्लीडिंग हो सकती है। इसकी मात्रा कम या ज्यादा होती रहती है।

बच्चा होने के 11-14 दिनों के बाद रक्तस्राव Bleeding 11-14 days after having a baby

इस समय ब्लीडिंग का रंग हल्का होना शुरू होने लगता है। अगर आप अधिक एक्टिव हैं तो इसका रंग गुलाबी-हल्का लाल हो सकता है।

समय के साथ रक्तस्राव की मात्रा कम होने लगती है। कुछ पैड पर कभी कभी स्टें लगता है।

बच्चा होने के तीन-चार सप्ताह बाद रक्त स्राव Bleeding three to four weeks after having a baby

अब ब्लीडिंग का रंग हल्का भूरा-गुलाबी या और हल्के लाल कभी कभी क्रीमी वाइट रंग का हो सकता है।

अब उन अंतरालों की संख्या बढ़ जाती है जब कोई रक्तस्राव नहीं हो रहा हो।

यदि इस समय आपको फिर से ज्यादा ब्लीडिंग होने लगे जोकि 4-5 दिन चलती है तो इसका मतलब है पीरियड्स फिर से शुरू हो चुके हैं और वापस से वह हर महीने के निश्चित अंतराल पर पहले की तरह आने लगेंगे।

क्या प्रसव के बाद बड़े खून के जमे टुकड़े जाना सामान्य है?

इसे भी पढ़ें -  यास्मिन गर्भनिरोधक गोली Yasmin 28 Tablets (Birth Control Pills)

रक्त और थक्के जाना सामान्य है। यह प्राकृतिक प्रक्रिया का हिस्सा है क्योंकि गर्भाशय अपने सामान्य आकार में वापस आता है और इसकी पुरानी लाइनिंग जो बच्चे के लिए बनी होती है वह टूट रही होती है।

सिजेरियन के बाद ब्लीडिंग कब तक होती है?

चाहे डिलीवरी नार्मल हो या सी सेक्शन, दोनों ही केस में ब्लीडिंग करीब 4-6 सप्ताह तक चल सकती है। शुरू में ब्राइट रेड कलर की ब्लीडिंग होती है जोक एक सप्ताह तक अधिक होती है और बाद में इसकी मात्रा कम होने लगती। शुरूआती ब्लीडिंग में खून के बढ़े आकार के क्लोट्स भी जा सकते हैं। करीब डेढ़ महीने यह ब्लीडिंग बंद हो जाती है। कुछ महिलाओं में हो सकता है, इसके तुरंत बाद ही पीरियड फिर से शुरू हो जाए।

प्रसव के बाद संभोग के लिए कितने दिन और इंतजार करना पड़ता है?

प्रसव के एक-डेढ़ महीने बाद जब ब्लीडिंग बंद हो जाए तो सेक्स वापस से किया जा सकता है।

जब तक ब्लीडिंग हो रही हो सेक्स नहीं किया जाना चाहिए इससे इन्फेक्शन हो सकता है। वेजाइनल डिलीवरी के बाद सेक्स करने में बहुत दर्द हो सकता है।

क्या दूध पिलाने के दौरान प्रेगनेंसी हो सकती है?

कुछ लोगों को यह भ्रान्ति हैं कि दूध पिलाने के दौरान बच्चा नहीं ठहर सकता। यह गलत है। अगर प्रसव के 4 या 6 सप्ताह बाद वापस से आपके नार्मल पीरियड्स होने लगे हैं तो बिना प्रोटेक्शन सेक्स करने से गर्भ ठहर जाएगा और हो सकता है आपको पता भी न चले। इसलिए प्रसव के बाद जब भी शारीरिक सम्बन्ध बनाएं कंडोम का प्रयोग करें। गर्भनिरोधक गोलियों का प्रयोग बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करें।

Lochia is postpartum heavy flow of blood and mucus after delivery. Heavy bleeding can continue upto 10 days and after that amount of bleeding begin to reduce. The bleeding may continue upto 4 to 6 weeks.

इसे भी पढ़ें -  गर्भपात (miscarriag) के बारे में जानकारी

Sexual intercourse should be avoided till bleeding stops completely to prevent any infection. Contraception method should be discussed with gynecologist.

Related Posts

Loading...
पेशाब में खून आना (हेमटुरिया) का कारण और इलाज
वीर्य में खून आने की वजह और इलाज Blood in Semen
नकसीर : नाक से खून आने का कारण, दवा और उपचार

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!