इम्प्लानॉन Contraceptive Implant- Implanon Information in Hindi

इम्प्लानॉन रोड्स एक माचिस की तीली के आकार और साइज़ का उपकरण है जो गर्भावस्था को रोकने के लिए यह ओव्यूलेशन रोकता है और औरगर्भाशय ग्रीवा के म्यूकस को थिक बनाता है।

इम्प्लानॉन Implanon, मैच-स्टिक के आकार का एक हार्मोनल गर्भनिरोधक है जिसे स्त्री के बांह में इम्प्लांट किया जाता है। यह एक गर्भनिरोधक रॉड है जिसमें से जिसमें हार्मोन एटोनोजेस्ट्रल etonogestrel निकलता है जो हार्मोन प्रोजेस्टेरोन के समान है। यह गर्भनिरोधक का इफेक्टिव तरीका है तथा 99.9% से प्रभावी है।

इम्प्लानॉन Implanon की रोड को महिला की बांह में इम्प्लांट किया जाता है जिसके लिए एक छोटा सर्जिकल प्रोसेस किया जाता है। इस डिवाइस के साथ सबसे बड़ी दिक्कत इसे लगाने और निकालने की है। इसे सही से लगाने में दिक्कत आती है। सही से नहीं लगाने पर यह हट सकता है या काम नहीं कर सकता तब प्रेगनेंसी हो सकती है। इम्प्लांट लगाने के बाद यह त्वचा के नीचे पता लगना चाहिए अगर ऐसा नहीं हो रहा तो इम्प्लांट अपनी जगह पर नहीं है।

इम्प्लानॉन क्या है? What is Implanon?

इम्प्लानॉन रोड्स एक माचिस की तीली के आकार और साइज़ का उपकरण है। यह शरीर में हॉर्मोन progestin hormone called etonogestrel छोड़ता है। एटोनोजेस्ट्रल पूरी तरह से सिंथेटिक और जैविक रूप से सक्रिय प्रोजेस्टेरोन है ।

गर्भावस्था को रोकने के लिए यह ओव्यूलेशन रोकता है और औरगर्भाशय ग्रीवा के म्यूकस को थिक बनाता है।

इसे एक सर्जिकल प्रक्रिया द्वारा महिला के ऊपरी बांह के अंदर की त्वचा पर नीचे प्रत्योपित करते हैं। इसमें एस्ट्रोजन नहीं होता है।

Implanon इम्प्लानॉन से होने वाली समस्याएं

Loading...

What are the possible risks of using IMPLANON?

जब इम्प्लांट अपनी जगह से हट जाता है तो इसका पता लगाना और निकालना कभी कभी मुश्किल और कई मामलों में असंभव Location and removal of the implant may be difficult or impossible हो जाता है। इसको निकालने के स्पेशल तरीके की ज़रूरत होती है जो हॉस्पिटल में भर्ती करके किया जाता है। यदि इम्प्लांट नहीं निकाला जाता तो यह शरीर में होर्मोन स्रावित करता रहेगा और न चाहते हुए भी आपको इसे झेलना पड़ेगा। इसके साइड इफेक्ट्स होने पर भी यह शरीर में लगाने की मजबूरी होगी क्योंकि इसे निकाला नहीं जा सकता।

इसे भी पढ़ें -  गर्भावस्था में कमर दर्द और पीठ दर्द का इलाज

कुछ मामलों में इम्प्लांट फेफड़े की ब्लड वेसेल में pulmonary artery में भी जा सकता है। ऐसे में इमेजिंग मेथड imaging methods से इसका पता लगाया जाता है। यदि पता लगता है कि इम्प्लांट चेस्ट में है तो सर्जरी करने की ज़रूरत होती है।

इम्प्लांट को लगाने और निकालने से सम्बंधित अन्य समस्याएं हो सकती हैं, जैसे:

  • घाव लगना और पपड़ी पड़ना Scarring, including a thick scar called a keloid around the insertion site
  • संक्रमण Infection
  • इम्प्लांट के चारों तरफ स्कार टिश्यू बनना Scar tissue may form around the implant making it difficult to remove
  • इम्प्लांट को हटाने के लिए अस्पताल में सर्जरी की आवश्यकता need for surgery in the hospital to remove the implant
  • अहाथों में नसों या रक्त वाहिकाओं को चोट Injury to nerves or blood vessels in your arm
  • इम्प्लांट टूट सकता है implant breaks making removal difficult

एक्टोपिक प्रेगनेंसी Ectopic Pregnancies

इसके इस्तेमाल के बाद होने वाली प्रेगनेंसी एक्टोपिक हो सकती है।

ओवरी में सिस्ट

ओवरी में सिस्ट बन सकते हैं जिसके लिए कई बार सर्जरी करानी पड़ सकती है।

कैंसर जोखिम

इसका इस्तेमाल कैंसर के रिस्क को बढ़ा सकता है।

थ्रोबोम्बोलोकिक विकार Thromboembolic Disorders

इससे से ब्लड वेसेल में क्लॉट thrombophlebitis, pulmonary embolism, cerebrovascular disorders, and retinal thrombosis बन सकते हैं। क्लॉट से खून का दौरा रुक सकता है और अंगों को नुकसान हो सकता है।

अनियमित माहवारी, या पीरियड नहीं होना Irregular menstrual periods, or no periods at all

ज्यादातर महिलाएं इसके इस्तेमाल के बाद मासिक धर्म के ब्लीडिंग में बदलाव की शिकायत करती हैं। कुछ में अनियमित पीरियड्स हो जाते हैं, कुछ में अप्रत्याशित रक्तस्राव होता है, या कुछ मामलों में भारी या निरंतर खून ब्लीडिंग होती है।

द्रव प्रतिधारण / फ्लूइड रिटेंशन Fluid Retention

क्योंकि प्रोजेस्टेशनल दवाओं में कुछ डिग्री में फ्लूइड रिटेंशन हो सकता है, जो कि मिर्गी, माइग्रेन, अस्थमा, हृदय या गुर्दे की शिथिलता, को प्रभावित करता है इसलिए विशेष सावधानी की ज़रूरत है।

इसे भी पढ़ें -  इंस्टा किट गर्भपात की दवा Insta Kit for Abortion

वज़न बढ़ना

इससे फ्लूइड रिटेंशन और वज़न बढ़ता है जिससे महिला मोटी हो जाती है।

डिप्रेशन

जिन मरीजों में मानसिक अवसाद का इतिहास है उन्हें यह दवा नहीं दी जानी चाहिए और यदि दवा लेने के बाद गंभीर अवसाद होता हो, तो भी दवा बंद कर दी जानी चाहिए।

अन्य साइड इफेक्ट्स

इससे चेहरे पर एक्ने की समस्या हो जाती है। पीठ दर्द, सूजन, अवसाद , पैर की ऐंठन , बाल झड़ना या अत्यधिक बाल होना, इसके अन्य दुष्प्रभाव हैं।

यह साइड इफेक्ट्स की पूरी सूची नहीं है। यह हार्मोनल है और इसलिए अधिक हॉर्मोन के प्रभाव से महिला के हर अंग के काम पर प्रभाव पड़ सकता है। यह प्रभाव लॉन्ग या शोर्ट टर्म के हो सकते हैं।

इम्प्लानॉन IMPLANON का उपयोग किसका नहीं किया जाना चाहिए?

IMPLANON का उपयोग न करें यदि आप

  • गर्भवती हैं
  • रक्त के थक्के क्लॉट हैं
  • यकृत की बीमारी या यकृत ट्यूमर है
  • असामान्य योनि सेब्लीडिंग होती है
  • स्तन कैंसर या किसी भी अन्य कैंसर
  • एलर्जी
  • मधुमेह है
  • उच्च कोलेस्ट्रॉल या ट्राइग्लिसराइड्स
  • सिर दर्द है
  • पित्ताशय की थैली या गुर्दा की समस्याएं हैं
  • उदास मूड का इतिहास है
  • उच्च रक्तचाप है

जब तक कि दुष्प्रभाव गंभीर न हो, कम से कम तीन महीने के लिए इप्लानॉन लगाए रखने की ज़रूरत होती है क्योंकि इस बीच साइड इफेक्ट्स कम होने लगते हैं।

इम्प्लानन को एक विशेष रूप से प्रशिक्षित डॉक्टर या नर्स द्वारा डाला जाना चाहिए। कुछ घबराहट और चोट लग सकती है, जो कुछ दिनों में ठीक हो सकती है। चिकित्सक या नर्स इम्प्लांट को निकालने के लिए स्थानीय एनेस्थेटिकइस्तेमाल कर सकते हैं। त्वचा में छोटे से कट लगा कर इप्लानोन रॉड को हटाया जाता है। इसमें आमतौर पर कुछ मिनट लगते हैं। बहुत ही दुर्लभ अवसरों पर, रॉड सामान्य से अधिक गहरी चली जाती है और इसे अल्ट्रासाउंड मार्गदर्शन का उपयोग कर विशेषज्ञ द्वारा निकाले जाने की आवश्यकता हो सकती है।

इसे भी पढ़ें -  प्रेगाकेम (Alkem) – होम प्रेगनेंसी टेस्ट प्रयोग का तरीका

IMPLANON is a hormone-releasing birth control implant for women. It prevents pregnancy for up to 3 years. The implant is a flexible plastic rod about the size of a matchstick that contains a progestin hormone called etonogestrel. It is implanted just under the skin of the inner side of upper arm. Single IMPLANON implant is used for up to 3 years. IMPLANON does not contain estrogen. The IMPLANON implant must be removed after 3 years.

IMPLANON prevents pregnancy by stopping the release of an egg from ovary, thickening the mucus in cervix and changing lining of your uterus.

It is not known if IMPLANON is as effective in very overweight women because studies did not include many overweight women.

IMPLANON has many side effects. Almost all the women experience irregular menstruations or amenorrhea. The most frequent side effect is weight gain, headache, hair loss and emotional changes. Other side effects include severe headaches, depression, nervousness, change in appetite, extreme weight gain, hair loss, nausea, dizziness, acne, breast tenderness, swelling of the ovaries and ovarian cysts, difficulties with insertion and removal (including infection), and even nerve damage.

Location and removal of the implant may be difficult or impossible because the implant is not where it should be. Special procedures, including surgery in the hospital, may be needed to remove the implant. If the implant is not removed, then the effects of IMPLANON will continue for a longer period of time.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!