घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के उपाय और तरीके

जानिये घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के क्या उपाय उपलब्ध हैं और उनको इस्तेमाल के के तरीके क्या हैं? घर पर प्रेगनेंसी के टेस्ट किअताना सही रिजल्ट देते हैं, वैसे अब बहुत साड़ी प्रेगनेंसी टेस्ट करने की किट मार्केट में उपलब्ध और वो ज्यादा सही रिजल्ट देती हैं।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करके प्रेगनेंसी है या नहीं, यह जानना अब आसान हो गया है। होम प्रेगनेंसी टेस्ट Home Pregnancy Test के लिए आपको पेशाब की कुछ बूंदे और प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड की ज़रूरत होती है। यह कार्ड्स हर फार्मेसी की दूकान पर अलग अलग ब्रांड के उपलब्ध है।

Loading...

पीरियड के कितने दिन बाद घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करें?

जब पीरियड मिस हो, नहीं आए तो घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करना चाहिए। पीरियड आने की डेट के 2-3 बाद ही टेस्ट किए जा सकते हैं। कुछ कार्ड जो ज्यादा सेंसिटिव होते हैं, वे पीरियड के होने की डेट से करीब 2-3 दिन पहले ही टेस्ट किए जाने पर सही टेस्ट रिजल्ट बता देते हैं।

होम प्रेगनेंसी टेस्ट, यूरिन में हार्मोन मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रॉफ़िन (एचसीजी) को डिटेक्ट करते हैं। शुरू में होर्मोन की मात्रा जब कम होती है तो फाल्स नेगेटिव आ सकता है इसलिए कुछ दिन बाद फिर से टेस्ट करना चाहिए।

एचसीजी क्या है?

Loading...

हार्मोन मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रॉफ़िन (एचसीजी) एक हार्मोन है जिसे गर्भवती होने पर नाल या प्लेसेंटा के द्वारा उत्पादित किया जाता है। यह भ्रूण के गर्भाशय की दीवार पर संलग्न होने के तुरंत बाद स्रावित होने लगता है। यदि आप गर्भवती हैं, तो यह हार्मोन बहुत तेजी से बढ़ता है। यदि 28 दिन का मासिक धर्म चक्र है, तो मूत्र में एचसीजी का पता ओवुलेशन के 12 से 15 दिनों के बाद पता लगने लायक हो जाता है।

इसे भी पढ़ें -  क्या गर्भावस्था में पीरियड्स होते हैं

Pregnancy Detection Cards India

  • एक्यूटेस्ट Acutest Cadila
  • आई कैन I-Can Pregnancy Test Kit Piramal Enterprises
  • प्रेगा न्यूज़ Prega News Pregnancy Test Kit Mankind Pharmaceutical
  • प्रेगाकेम Pregakem Card-Pregnancy Test Kit Alkem
  • प्रेगटेस्ट Pregtest Card Cipla
  • वेलोसिट Velocit Pregnancy Kit Dr Reddy’s Lab

प्रेगनेंसी टेस्ट किट/ एच सी जी टेस्ट कैसे करें?

जब महिलाएं गर्भवती हो जाती हैं, तो उनके शरीर में हार्मोन मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रॉफ़िन (एचसीजी) का निर्माण करना शुरू हो जाता है। गर्भावस्था परीक्षण द्वारा महिला के मूत्र में इसी होर्मोन को नापते हैं।

  • मूत्र को एक डिस्पोजेबल कप में रोकें।
  • इसे दिए गए ड्रॉपर से उठा कर बताए कार्ड पर बताए पॉइंट पर डालें।
  • रिजल्ट के लिए कुछ सेकंड इन्तेजार करें।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट रिजल्ट्स

इस परीक्षा की सटीकता इस बात पर निर्भर करती है कि आप निर्देशों का पालन कैसे करते हैं और परिणामों को सही ढंग से समझते हैं।

यदि आप परीक्षण किट को गलत तरीके से समझते हैं तो गलत परिणाम मिल सकते हैं।

आप परीक्षण के लिए सुबह का पहला मूत्र का उपयोग करके सटीक परिणाम के लिए अपने मौके को सुधार सकते हैं। यदि आप गर्भवती हैं, तो बाद में मूत्र के मुकाबले इसमें एचसीजी अधिक होगा।

home pregnancy test step 1

  • गर्भावस्था है/ + रिजल्ट: यदि 2 गुलाबी लाइनों दिखाई दें। home pregnancy test step 2, positive result
  • गर्भावस्था नहीं है/ – रिजल्ट: यदि एक लाइन ही बने।home pregnancy test step 1 negative result
  • Invalid Test: जब नियंत्रण रेखा न हो तो परिणाम प्रकट नहीं होता और यह वैलिड टेस्ट नहीं है।home pregnancy test step 1, invalid result

अगर एक गहरी गुलाबी और एक हल्की गुलाबी रेखा कार्ड पर दिखाई देती है तो हो सकता है मूत्र में एचसीजी हार्मोन पर्याप्त मात्रा में नहीं है। ऐसे में कुछ दिन बाद फिर सुबह का मूत्र लेकर परीक्षण दोहराना चाहिए ।

रिजल्ट फाल्स नेगेटिव हो सकता है, यदि,

  • टेस्ट जल्दी कर लिया गया है।
  • एचसीजी का लेवल कम है और कार्ड इतना सेंसिटिव नहीं है।
  • एक फाल्स पॉजिटिव परिणाम होना बहुत दुर्लभ है, लेकिन कुछ बीमरियों में ऐसा हो सकता है, लेकिन ऐसी संभावना बहुत अधिक दुर्लभ है।
इसे भी पढ़ें -  टेस्टोस्टेरोन की कमी का पता कैसे लगाये Low Testosterone Diagnosys

पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करें?

अगर सही टेस्ट रिजल्ट पाना चाहते हैं तो पीरियड मिस होने के सप्ताह भर बाद टेस्ट करें।

होम प्रेगनेंसी टेस्ट पीरियड के बीच में करने पर सही रिजल्ट क्यों नहीं देते?

होम प्रेगनेंसी टेस्ट, ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन (एचसीजी) को मापता है।

गर्भावस्था के दौरान हार्मोन एचसीजी का उत्पादन प्लेसेंटा करता है।

प्लेसेंटा उन्ही स्पर्म और ओवा की सेल्स से बनता है जिससे फीटस बनता है। प्लेसेंटा का निर्माण इम्प्लांटेशन होने के बाद होता है और इम्प्लांटेशन स्पर्म और ओवा के मिलने के करीब एक सप्ताह बाद होता है।

ओवुलेशन जो ओवरी से एग निकलने को कहते हैं, महीने के बीच में होता है और इसके 7-10 दिन बाद इम्प्लांटेशन होता है।

इस तरह यदि पीरियड्स 4 सप्ताह के अंतर पर आते हैं तो इम्प्लांटेशन तीसरे सप्ताह में होगा और तभी ह्यूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन का लेवल भी बढ़ना शुरू होगा। इसी होर्मोन को 4 सप्ताह के बाद यानि 5वें सप्ताह में प्रेगनेंसी की स्थिति को बताया जा सकता है।

यदि कोई सोचे की दूसरे या तीसरे सप्ताह में ही उसे होम प्रेगनेंसी टेस्ट से प्रेगनेंसी का पता चल जाएगा तो ऐसा संभव नहीं है।

अगर आपको लगता है कि आप गर्भवती हैं, लेकिन आपका पहला परीक्षण नकारात्मक था, तो आप कई दिनों के बाद फिर से टेस्ट करें। जब आप गर्भवती हों तो एचसीजी की मात्रा तेजी से बढ़ जाती है, इसलिए आपको बाद के दिनों में सकारात्मक रिजल्ट मिल सकते है।

घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट किये जा सकने वाले दूसरे पॉपुलर टेस्ट Popular Tests Done at Home to detect Pregnancy

नीचे कुछ टेस्ट दिए गए हैं जो अक्सर महिलायें घर पर करती हैं कि प्रेगनेंसी है कि नहीं। ये टेस्ट सटीक रिजल्ट नहीं देते और आप इस पर पूरी तरह से निर्भर नहीं रह सकती। इन टेस्ट्स का कोई वैज्ञानिक आधार भी नहीं है और न ही इन पर कोई शोध किया गया हहै। इसलिए इनसे रिजल्ट पता लगने के 50-50 चांस हैं। आप इनको घर पर कर सकती हैं, क्योंकि इनका कोई नुकसान नहीं है लेकिन तभी जब आपको यूरिन को हैंडल करने में कोई दिक्कत नहीं हो।

इसे भी पढ़ें -  योनि का सूखापन का उपाय और कारण Vaginal Dryness reasons and cure

टूथपेस्ट प्रेगनेंसी टेस्ट इन हिंदी Toothpaste Pregnancy Test

इन्टरनेट पर आजकल टूथपेस्ट से घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट करने के बारे में बहुत जगह बताया जा रहा है। इसका प्रयोग तब करने को कहा जा रहा है जब आपमें शुरुआती लक्षण हैं या आपको लगता है कि आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं।

टूथपेस्ट से प्रेगनेंसी टेस्ट करने के लिए आपको निम्न स्टेप बताए जा रहे हैं:

  • मार्केट से सफ़ेद टूथपेस्ट की छोटी ट्यूब खरीदें। इसमें पेस्ट को सफ़ेद होना चाहिए नाकि नीला या धारीदार।
  • इसे साफ़ कप में अच्छी मात्रा में डाल लें।
  • अप इसमें यूरिन डालें। सुबह उठने के बाद पहले मूत्र का उपयोग करना चाहिए। गर्भवती महिलाओं में सुबह के पहले पेशाब में गर्भावस्था से स्रावित हार्मोन एचसीजी की अधिक मात्रा होती है।
  • यदि इस मिक्स का रंग बदल जाता है, जैसे सफ़ेद से नीला या झागदार हो जाता है तो आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं।
  • यदि झाग नहीं होता या रंग नहीं बदलता तो आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

टूथपेस्ट गर्भावस्था परीक्षण कैसे करते है?

टूथपेस्ट गर्भावस्था परीक्षण में यह कहा जाता है कि मूत्र की थोड़ी सी मात्रा जब टूथपेस्ट से मिक्स होती है तो इसमें आने वाले बदलाव से प्रेगनेंसी है या नहीं पता चल सकता है। लेकिन विशेषज्ञों की माने तो इस टेस्ट से पूरी सटीकता से यह नहीं बताया जा सकता की आप प्रेगनेंसी है या नहीं।

इस बात का कोई सबूत नहीं है कि टूथपेस्ट एक महिला के मूत्र में एचसीजी की पहचान कर सकता है, और महिलाओं को यह सुनिश्चित करने के लिए कि वे गर्भवती हैं या नहीं, इस तरह के तरीकों पर भरोसा नहीं करना चाहिए।

टूथपेस्ट टेस्ट की ही तरह एक सोप टेस्ट होता है। जिसमें प्लास्टिक कप में साबुन का टुकड़ा डालते हैं। इसमें यूरिन डाल के 5 मिनट वेट करते हैं। यदि झाग होता है तो टेस्ट +ve है नहीं तो -ve।

इसे भी पढ़ें -  यास्मिन गर्भनिरोधक गोली Yasmin 28 Tablets (Birth Control Pills)

शुगर प्रेगनेंसी टेस्ट Sugar Pregnancy Test

  • चीनी साफ़ कप में डाल लें।
  • अप इसमें यूरिन डालें।
  • यदि चीनी नहीं घुलती और इसके क्लम्प बन जाते हैं तो आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं।
  • यदि चीनी घुल जाती है तो आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

बेकिंग सोडा प्रेगनेंसी टेस्ट Baking Soda Pregnancy Test

  • बेकिंग सोडा साफ़ कप में डाल लें।
  • अप इसमें यूरिन डालें।
  • यदि यह नीला हो जाता है या झाग बनता है तो आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं।
  • यदि कोई रिएक्शन नहीं होता तो आप प्रेग्नेंट नहीं हैं।

टूथपेस्ट, सोप, शुगर या बेकिंग सोडा टेस्ट, इन टेस्ट को कई बार करना होता है और यदि एक जैसा रिजल्ट हो तभी कुछ अंदाजा लग सकता है। यदि इन टेस्ट को सही से नहीं किया जाता तो गलत रिजल्ट मिलते हैं।

  • विशेषज्ञों को इन परीक्षण की वैधता के बारे में संदेह है।
  • यह टेस्ट ऐसे रिजल्ट नहीं दे सकते जिससे आप पूरी तरह से निश्चित हो कर कह सकें कि आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं, क्योंकि:
  • ये टेस्ट यूरिन में हॉर्मोन को नहीं नाप रहा।
  • ये टेस्ट प्रेगनेंसी के लिए नहीं है।
  • इनमें ऐसे कोई विशेष केमिकल नहीं हैं जो प्रेगनेंसी के बदलाव को नाप रहे हों।
  • कुछ मामलों में यूरिन झाग ज़रूर देता हैं या रंग बदलता है क्योंकि यूरिन शरीर में पानी की मात्रा के अनुसार एसिडिक या बेसिक हो सकता है।

टूथपेस्ट टेस्ट की 50 रुपए की ट्यूब के बजाए, प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड खरीदें, सुबह के मूत्र की कुछ बूंदे डाले और रिजल्ट देखें।

यहाँ पर इन टेस्ट के बारे में बताया गया ताकि आप को यह पता रहे कि ऐसे भी टेस्ट होते हैं और इन्हें एक्यूरेट नहीं कहा जा सकता। आप को बार -बार इसमें यूरिन लेकर चेक करना होगा। आपके पास बेहतर विकल्प है कि एक होम प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड खरीदें, उस पर दो बूँद यूरिन डालें और परिणाम 5 मिनट में प्राप्त करें।

इसे भी पढ़ें -  योनि को साफ और स्वस्थ कैसे रखें

यदि इसमें भी सही रिजल्ट नहीं मिल पा रहे तो डॉक्टर को दिखा कर ब्लड टेस्ट करवा लें। ब्लड टेस्ट से खून में hCG hormone की मात्रा नापी जाती है। ब्लड टेस्ट करवाना यूरिन टेस्ट से महंगा होता है और इसमें टेस्ट रिजल्ट मिलने में 1-2 दिन का समय लग सकता है और इसके लिए आपको डॉक्टर के यहाँ और लैब जाना पड़ता है।

होम प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड 50-60 रुपए की कीमत तक में मिल जाता है। इससे आप सही घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट का रिजल्ट पा सकती हैं। टूथपेस्ट और टाइम वेस्ट नहीं करें। घरेलू तरीके यदि आपको सही रिजल्ट देंगे भी तो आप उस पर अपने आप ही भरोसा नहीं कर पाएंगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!