ए केयर किट की जानकारी A Kare Kit in Hindi

जानिये ए केयर किट से गर्भपात कैसे किया जाता है और इस दवा के खतरे क्या क्या हैं? कभी भी बिना डॉक्टर को दिखाए खुद से गर्भपात नहीं करना चाहिए, ए केयर किट एबॉर्शन पिल हिंदी में कैसे इस्तेमाल की जाती है और ए केयर किट एबॉर्शन पिल के साइड इफ़ेक्ट क्या होते हैं।

ए केयर किट (A Kare Kit), Dkt India द्वारा निर्मित है। यह एक एबॉर्शन किट है जो की 63 दिन से कम दिन की प्रेगनेंसी को नष्ट करने के लिए ली जा सकती है। इस किट में टोटल पांच पिल्स है, एक पिल मीफेप्रिस्टोन mifepristone 200 mg  की और चार पिल्स मिसोप्रोस्टॉल misoprostol की।

कई बार प्रेगनेंसी न चाहते हुए भी हो जाती है। ऐसे में यदि लड़की अविवाहित है तो डॉक्टर के पास जाकर एबॉर्शन कराने में बदनामी का डर होता है। बढ़ती हुई प्रेगनेंसी किसी भी कम उम्र की लड़की के पूरे जीवन को बर्बाद कर सकती है। कुछ मामलों में शादी के बाद भी बिना प्लानिंग के या परिवार कम्पलीट होने के बाद या अधिक उम्र में, गर्भ ठहर जाता है तो भी एबॉर्शन पिल्स के द्वारा एबॉर्शन किया जा सकता है।

मिफेजेस्ट किट, के द्वारा घर पर ही दवा के सेवन से गर्भ को नष्ट कर सकते है। यह बात, ध्यान देने योग्य है की कम दिन की प्रेगनेंसी जैसे की 2 महीने, में यह दवा सही काम करती है लेकिन इससे अधिक दिनों की प्रेगनेंसी में डॉक्टर के द्वारा की एबॉर्शन की सलाह लेनी पड़ सकती है। इसके अतिरिक्त, एबॉर्शन के बाद एक अल्ट्रासाउंड करवा लेना चाहिए जिससे एबॉर्शन कम्पलीट है की नहीं यह पता चल सके। लम्बी ब्लीडिंग के बाद शरीर में खून की कमी हो जाती है, इसलिए खाने -पीने पर ध्यान देना चाहिए और आयरन के सप्लीमेंट लेने चाहिए। यदि एबॉर्शन डॉक्टर की निगरानी में किया जाए तो सबसे अच्छा है।

तो यदि, आप को महिना एक्सपेक्टेड डेट पर नहीं आया है तो डेट के सात दिन के बाद प्रेगनेंसी डिटेक्शन कार्ड खरीद कर, पेशाब जांच द्वारा जांचे की प्रेगनेंसी है कि नहीं। प्रेगनेंसी है, लेकिन इसे जारी नहीं रखने देना है तो इसे जल्द से जल्द नष्ट करें, क्योंकि बीतते समय के साथ गर्भ में बच्चा बड़ा हो जाएगा और मुश्किलें बढ़ जायेंगी।

इसे भी पढ़ें -  कॉपर टी गर्भनिरोधक के बारे में पूरी जानकारी

दवा का नाम: a-Kare ए केयर किट

निर्माता: Dkt India

कम्पोजीशन: मिफेप्रिस्टोन Mifepristone 1 Pill 200 mg + मिसोप्रोस्टॉल Misoprostol 4 pills 200 mcg

साइड इफेक्ट्स: चक्कर आना, सरदर्द, थका हुआ या कमजोर लगना, पेट दर्द, उलटी, दस्त, भूख न लगना, योनि से ब्लीडिंग, निम्न रक्त शर्करा (Blood Sugar), दिल की धड़कन तेज होना, भ्रम, पसीना आदि।

कब न लें: संदिग्ध अस्थानिक गर्भावस्था, क्रोनिक अधिवृक्क विफलता, पॉर्फिरिया, रक्तस्रावी विकार, anticoagulant थेरेपी, कुशिंग सिंड्रोम, एंडोमेट्रियल हाइपरप्लासिया, दीर्घकालिक कॉर्टिकोस्टेरॉयड उपयोग आदि।

सावधानी: हीमोस्टेटिक विकार या एनीमिया, कुपोषण, कुशिंग सिंड्रोम के उपचार की दवाएं, हेपेटिक और गुर्दे के रोग, स्तनपान, भारी रक्तस्राव, थायरॉयड फ़ंक्शन आदि।

ड्रग इंटरेक्शन: किटोकोनज़ोल, इट्रैकोनाजोल, एरिथ्रोमाइसिन, डेक्सामाथासोन, राइफैम्पिसिन, फिनिटोइन, सीमस्टास्टिन, लोवास्टैटिन, खून पतला करने वाले दवाएं।

प्रेगनेंसी केटेगोरी: श्रेणी X, जानवरों या मनुष्यों में अध्ययन ने भ्रूण संबंधी असामान्यताओं देखे गए।

संग्रहण: दवा को गर्मी और सीधी रोशनी से दूर, कमरे के तापमान पर रखें। दवाओं को फ्रीज़ में ना रखें जब तक कि पैकेट पर ऐसा निर्देश ना दिया गया हो। दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखें।

ए केयर किट यह दवा कैसे लें?

ए केयर किट की दवाओं को लेने के लिए ऐसे दिन का चुनाव करें, जब अब पूरे दिन आराम कर सकें और घर पर ही रह सकें। घर पर कोई ऐसा हो जिसपर आप भरोसा कर सकें और वो आपकी देखभाल कर सके। यदि किसी भी तरह की इमरजेंसी हो तो वो आपको अस्पताल ले जा पाए। जानकारी प्राप्त करें कि आस-पास में कौन सा क्लिनिक या अस्पताल है, जो की 24 घंटे खुला रहता है। किसी भी तरह की दिक्कत के लिए अपने पास रुपयों का इन्तेजाम रखें। पहले दिन मिफेप्रिस्टोन 1 pill of Mifepristone की एक गोली ली जाती है। दूसरे दिन मिसोप्रोस्टॉल की गोलियां 4 Misoprostol pills ली जाती है।

  • Mifepristone पिल को पानी के साथ निगल जाएँ। अगर आधे घंटे के अन्दर उलटी हो जाए तो इसे फिर से लें।
  • एक से दो दिन (24-48 घंटे) इन्तेजार करें और फिर दूसरी पिल्स Misoprostol लें।
  • Misoprostol को लेने से करीब आधे घंटे पहले Ibuprofen लें जिससे दर्द कम हो।
  • Misoprostol की चार पिल्स जीभ के नीचे आधे घंटे तक रखें ताकि यह घुल कर शरीर में जाने लगे। आधे घंटे बाद पानी पी लें जिससे पूरी दवा शरीर के अंदर चली जाए। अगर आधे घंटे के अन्दर उलटी हो जाए तो इसे फिर से लें।
  • दर्द ज्यादा हो रहा हो तो हर 6-8 घंटे पर ब्रूफेन ले लें।
  • एस्पिरिन न लें, क्योंकि यह खून को पतला करती है और ब्लीडिंग पर असर डालती है। पीरियड पेन को कम करने वाली दवाएं भी न लें।
  • दो तीन सप्ताह बाद डॉक्टर को दिखा कर, अल्ट्रासाउंड और अन्य ज़रूरी टेस्ट से एबॉर्शन कंफ़र्म करें।
इसे भी पढ़ें -  अंडकोषों की चोट का इलाज Testicular Injuries Treatment

ए केयर किट से सम्बंधित अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न और उनके उत्तर

मिफेप्रिस्टोन क्या है?

What is Mifepristone?

मिफेप्रिस्टोन, गर्भाशय पर प्राकृतिक रूप से काम कर रहे हार्मोन प्रोजेस्टेरोन के काम करने को रोकता है। प्रोजेस्टेरोन के कम होने से गर्भाशय की लाइनिंग टूटने लगती है जैसा की पीरियड के दौरान होता है। मिफेप्रिस्टोन, गर्भावस्था के विकास को रोकता है।

  1. मिफेप्रिस्टोन बढ़ती गर्भावस्था को रोकता है।
  2. मिफेप्रिस्टोन नाल और भ्रूण को गर्भाशय की परत से अलग करता है।
  3. मिफेप्रिस्टोन गर्भाशय ग्रीवा को नरम करता है और फैलता है।
  4. मिफेप्रिस्टोन गर्भाशय में संकुचन लाता है।

मिफेप्रिस्टोन को माईज़ोप्रोस्टोल के साथ मिलाकर लेने से गर्भपात हो जाता है।

मिसोप्रोस्टॉल क्या है?

यह गर्भाशय को कॉन्ट्रैक्ट करता है और रक्तस्राव और ऐंठन का कारण बनता है।

मिसोप्रोस्टोल को मिफेप्रिस्टोन के साथ गर्भपात के लिए दिया जाता है।

ए केयर किट दवा द्वारा गर्भपात कैसे किया जाता है?

दवा द्वारा गर्भपात चिकित्सक की निगरानी में किया जाना चाहिए।

इसके लिए आपको डॉक्टर की क्लिनिक में कम से कम दो बार जाने की आवश्यकता होती है। पहले प्रेगनेंसी कन्फर्म करने के लिए और दवा के प्रिस्क्रिप्शन के लिए। दूसरी बार, यह सुनिश्चित करने के लिए कि एबॉर्शन सफल हुआ।

  • पहले दिन: टेस्ट और परामर्श के लिए डॉक्टर की क्लिनिक जाना; डॉक्टर द्वारा कहे जाने पर मिफेप्रिस्टोन के 200 मिलीग्राम (1 टैबलेट) लेना।
  • दूसरे-तीसरे दिन: घर पर, ओरल/योनि में मिसोप्रोस्टोल की चार गोलियां लेना।
  • एक सप्ताह-दो सप्ताह बाद: डॉक्टर की क्लिनिक जाना और गर्भपात हो गया है, को अल्ट्रासाउंड के माध्यम सुनिश्चित करना।

यदि गर्भपात नहीं हुआ तो आगे के लिए डॉक्टर को कंसल्ट करना।

कब महिला गर्भपात कर सकती है?

गोली द्वारा गर्भपात, पिछले मासिक की डेट last menstrual period के नौ सप्ताह के अंदर तक ही किया जा सकता। यदि एबॉर्शन कराने का निर्णय ले चुकी हैं तो इसे जल्द से जल्द कराएं।

क्या ए केयर किट दवा द्वारा गर्भपात प्रभावी है?

इसे भी पढ़ें -  माँ का दूध कैसे बनता है और माँ का दूध बढ़ाने के उपाय क्या हैं

दवा द्वारा गर्भपात लगभग 95 प्रतिशत से 98 प्रतिशत माम्मलों में प्रभावी है।

क्या ए केयर किट दवा द्वारा गर्भपात सुरक्षित है?

मिफेप्रिस्टोन का बीस वर्षों से अध्ययन किया गया है। अमेरिका सहित, 20 से अधिक देशों में लाखों महिलाओं ने गर्भपात के लिए मिपेप्रिस्टोन और मिसोप्रोस्टोल का इस्तेमाल किया है। सभी अध्ययनों में यह सुरक्षित और प्रभावी पायी गई है। इसका किसी भी तरह का दीर्घकालिक खतरा नहीं देखा गया।

दवा द्वारा गर्भपात के सामान्य दुष्प्रभाव क्या हैं?

अल्पावधि के दुष्प्रभाव में शामिल हैं:

  1. ऐंठन
  2. ब्लीडिंग
  3. जी मिचलाना
  4. उल्टी
  5. बुखार आदि।

क्या ए केयर किट दवा से गर्भपात के साथ कभी भी कोई गंभीर जटिलताएं हुई हैं?

  • नहीं, ऐसा देखा नहीं गया है।
  • क्या ऐसे गर्भपात करने से महिला की फर्टिलिटी प्रभावित होती है?
  • ऐसा कोई संकेत नहीं हैं कि प्रारंभिक गर्भपात के तरीकों में किसी महिला की प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है।
  • आपके पीरियड 4-6 सप्ताह बाद नार्मल होने लगेंगें।

कैसे पता लगे एबॉर्शन पूरा हो गया?

यदि ब्लीडिंग हुई है और प्रेगनेंसी के लक्षण जैसे जी मिचलाना, उलटी, ब्रेस्ट में बदलाव-दर्द आदि हट गए हैं तो एबॉर्शन हो गया है।

लेकिन ब्लीडिंग नहीं हुई और अर्ली प्रेगनेंसी के लक्षण भी है तो एबॉर्शन नहीं हुआ है।

गर्भपात दवाओं न काम करें तो भ्रूण पर क्या असर हो सकता है?

विकासशील भ्रूण पर मिसोप्रोस्टोल का प्रयोग जन्मजात विकृतियों का कारण है। इसलिए, यदि गोली द्वारा गर्भपात विफल हो जाता है तो शल्य चिकित्सा गर्भपात कर दिया जाना चाहिए।

मिफेप्रिस्टोन लिए हुए 72 घंटे हो गए हैं लेकिन मैंने मिसोप्रोस्टॉल नहीं ली। क्या अब लें लूं?

हाँ, इसे लें। न लेने से अच्छा है, इसे लें।

Research most strongly supports using misoprostol between 24-48 hours after the Mifepristone।

ए केयर किट दवा लेने के बाद क्या होगा?

जब आप Mifepristone लेंगीं तो किसी भी प्रकार का विशेष लक्षण नहीं होगा। कुछ मामलों में जी मिचलाना, उलटी ललगना या योनि से हल्का खून जा सकता है। ऐसे लक्षण सभी में हों ऐसा ज़रूरी नहीं है।

इसे भी पढ़ें -  नसबंदी जानकारी, तरीका और कौन नहीं करवाए

जब Misoprostol लेंगी तो गर्भाशय में क्रेम्पिंग होगी और कुछ समय में ब्लीडिंग शुरू हो जायेगी। यह ब्लीडिंग पीरियड की ब्लीडिंग से ज्यादा होती है और लगातार 12 घंटे चल सकती है। कुछ महिलायों में तेज दर्द हो सकता है और कुछ में कम।

पिल्स के द्वारा एबॉर्शन पूरा होने में 2 सप्ताह तक का समय लग सकता है। इसलिए ब्लीडिंग भी 2-4 सप्ताह चलती रहेगी। इसलिए यदि पूरे महीने योनि से खून जाए तो घबराएं नहीं।

मिसोप्रोस्टॉल लिए हुए तीन घंटे हो गए लेकिन ब्लीडिंग नहीं शुरू हुई?

ऐसा अक्सर बहुत कम दिन की प्रेगनेंसी में हो सकता है।

मिसोप्रोस्टोल खाने के बाद 3 घंटे बीत चुके हैं और ब्लीडिंग, ऐंठन नहीं हो रही तो, Misoprostol की 2 पिल्स जीभ के नीचे आधे घंटे तक रखें ताकि यह घुल कर शरीर में जाने लगे। आधे घंटे बाद पानी पी लें जिससे पूरी दवा शरीर के अंदर चली जाए। तीन घंटे इन्तेजार करें।

यदि फिर भी ब्लीडिंग नहीं हो रही तो, Misoprostol की 2 पिल्स फिर से पहले के तरीके से लें।

अगर, फिर भी ब्लीडिंग नहीं हो रही तो डॉक्टर से संपर्क करें। हो सकता है प्रेगनेंसी गर्भाशय में न हो कर एक्टोपिक हो।

मिसोप्रोस्टॉल लिए हुए 6 घंटे हो गए लेकिन ब्लीडिंग आभी भी ज्यादा है और बड़े ब्लड क्लॉट जा रहें हैं। क्या यह नार्मल है?

हाँ।

एबॉर्शन दवा लिए, 5 सप्ताह हो गए लेकिन अभी भी ब्लीडिंग हो रही है। क्या यह नार्मल है?

हाँ, ऐसा हो सकता है।

इसे लेने के बाद मुझे बुखार, लूज़ मोशन, उलटी, और सिर दर्द हो रहा है। क्या यह नार्मल है?

हाँ, ऐसा हो सकता है। यह दवा के साइड-इफ़ेक्ट हैं।

कौन से लक्षण हैं, जब मुझे तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए?

अगर, बहुत अधिक ब्लीडिंग हो, जैसे एक घंटे में 2 या दो से ज्यादा थिक वाले पैड भर जाएँ और ब्लीडिंग की इंटेंसिटी कम न हो रही हो, तो हो सकता हेमरेज हो।

इसे भी पढ़ें -  गर्भावस्था के दौरान पेट दर्द का कारण और उपचार

बुखार और तेज दर्द हो जो ब्रुफेन से भी न जा रहा हो।

तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। आपको डॉक्टर को यह बताने की ज़रूरत नहीं है कि आपने एबॉर्शन पिल्स ली थीं। ऐसा कोई टेस्ट उपलब्ध नहीं है जिससे आपके बिना बताये डॉक्टर जान सकें की एबॉर्शन पिल्स के कारण ऐसा हो रहा है।

अगर दवाओं को योनि में रख कर लिया गया हो तो शायद डॉक्टर यह जान सकते हैं। खा कर लेने से उन्हें नहीं पता चलेगा। इसलिए डरें नहीं, ऐसा अपने आप हुए गर्भपात से भी हो सकता है। आप डॉक्टर से कह सकती हैं कि मेरे पीरियड में बहुत अधिक ब्लीडिंग हो रही है या बुखार और ब्लीडिंग है जोकि नार्मल नहीं है आदि।

ए केयर किट कब नहीं लेना है? What are the contraindications for medical abortion?

इसे न लें यदि:

  1. 63 दिनों से अधिक गर्भधारण है।
  2. मिफेप्रिस्टोन या मिसोप्रोस्टोल को ज्ञात एलर्जी है।
  3. वंशानुगत पोर्फिरिया है।
  4. ब्लीडिंग विकार है या ब्लड थिनिंग दवाएं ले रही हैं।
  5. संदिग्ध अस्थानिक गर्भावस्था/एक्टोपिक प्रेगनेंसी है।
  6. किडनी या यकृत ठीक से काम नहीं कर रहा है।
  7. एनीमिया, हृदय रोग या लम्बे समय से स्टेरॉयड या स्टेरॉयड इंजेक्शन ले रही है।
  8. आईयूडी, कॉपर टी लगी हुई है।

2 Comments

  1. Trailukya Kumar Nath

    Tablet lene ka kitne din ke baad MC hoga, tablet too khya lekin abhi tok huya nehi.
    pl. needful

  2. चार गोलियां बचीं है इसका इस्तेमाल कर सकते हैं क्या

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.