मेट्रोनिडाजोल Metronidazole के बारे में जानकारी

जानिये मेट्रोनिडाजोल टैबलेट क्या होती है यह किन किन बिमारियों में इस्तेमाल होती है और इसके साइड इफेक्ट्स क्या क्या हैं। इसको बिना किसी डॉक्टर के परामर्श के बिना नहीं लेना चाहिए क्यों की इसके साइड इफेक्ट्स बहुत बुरे होते हैं।

मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) एक एंटीबायोटिक है जो विभिन्न प्रकार के संक्रमणों के उपचार के लिए प्रयोग की जाती है। यह बैक्टीरिया bacteria और परजीवी parasites के विकास को रोककर काम करती है। बैक्टीरिया की वजह से कुछ पेट / आंत्र अल्सर के इलाज के लिए मेट्रोनिडाजोल का उपयोग अन्य दवाओं के साथ भी किया जा सकता है।

मेट्रोनिडाजोल केवल कुछ बैक्टीरियल और परजीवी संक्रमण में ही लाभकारी है तथा किसी भी वायरल इन्फेक्शन के लिए बेअसर है।

Metronidazole (Metrogyl) is classified as a synthetic antibacterial and antiprotozoal agent. It is an antibiotic and Antiparasitic and effective against bacteria and other microorganisms responsible for infections of the reproductive system, gastrointestinal tract, skin, vagina, and other areas of the body. It will not work for colds, flu, or other viral infections.

Metronidazole is usually taken two or three times a day for 5 to 10 days or longer. It is available in strength of 100, 125, 200, 400, 500 mg and in form of suspension.

मेट्रोनिडाज़ोल (Metronidazole) क्या है?

यह एलोपैथिक दवाई है जिसे बैक्टीरिया और परजीवी के करण होने वाले सक्रमण में दिया जाता है।

  • Active ingredient: Metronidazole
  • Chemical name: Metronidazole is 1-(2-hydroxyethyl)-2-methyl-5-nitroimidazole
  • Molecular formula: C6H9N3O3
  • Molecular weight: 171.2
  • Brand name: Flagyl

मेट्रोनिडाज़ोल 200 और मेट्रोनिडाज़ोल 400 में सक्रिय संघटक मेट्रोनिडाज़ोलकी मात्रा क्रमशः 200 मिलीग्राम और 400  मिलीग्राम है।

मेट्रोनिडाजोल आसानी से अवशोषित होती है, इसकी सीरम एकाग्रता इसे खाने के लगभग 1 से 2 घंटे बाद पीक पर पहुंच जाती है। मेट्रोनिडाजोल शरीर के ऊतकों और द्रवों में व्यापक रूप से वितरित हो जाती है। यह मस्तिष्क बैरियर और नाल को पार करता है। नर्सिंग माताओं के स्तन के दूध में इसकी एकाग्रता सीरम के बराबर के होती है। मेट्रोनिडाजोल मूत्र में अपरिवर्तित दवा और इसकी चयापचयों के रूप में उत्सर्जित होता है।

मेट्रोनिडाज़ोल (Metronidazole) का उपयोग कैसे करें?

  1. इसे डॉक्टर द्वारा एडवाइस करने पर ही लें।
  2. गोली को भोजन के तुरंत बाद एक गिलास पानी से लें।
  3. दवा को समान अंतराल पर लें।
  4. जब तक पूरी निर्धारित राशि समाप्त नहीं हो जाती तब तक इस दवा को लेना जारी रखें, भले ही कुछ दिनों बाद लक्षण गायब हो जाएं। बहुत जल्दी दवा रोकना संक्रमण की वापसी के परिणामस्वरूप हो सकता है।
  5. अगर आपकी स्थिति बनी रहती है या खराब हो जाती है तो अपने चिकित्सक से सलाह लें।
इसे भी पढ़ें -  पॉलीबीऑन एस एफ का उपयोग और फायदे Polybion SF Syrup

मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) किन रोगों में प्रभावी है?

मेट्रोनिडाजोल रोगजनक सूक्ष्मजीवों की एक विस्तृत श्रृंखला के विरुद्ध सक्रिय है, विशेषकर ट्राईकोमोनास वेजिनेलिस Trichomonas vaginalis और अन्य ट्राईकोमोनड्स trichomonads,एंटअमीबा हिस्टोलिटिका, गिआर्डिया लैंब्लिया Giardia lamblia, बैलेंटीडियम कोलाई Balantidium coli और अल्सरेटिव जिन्जेवाईटिस ulcerative gingivitis आदि।

  1. फैलियोपियन ट्यूब और अंडाशय की बैक्ट्रोइएड्स की वजह से फोड़ा Abscess of Fallopian Tube and Ovary caused by Bacteroides
  2. क्लॉस्ट्रिडियम के कारण फैलोपियन ट्यूब और ओवरी में फोड़ा Abscess of Fallopian Tube and Ovary caused by Clostridium
  3. पेप्टाकोस्कस की वजह से फैलोपियन ट्यूब और अंडाशय का फोड़ा Abscess of Fallopian Tube and Ovary caused by Peptococcus
  4. एनारोबिक बैक्टीरिया की वजह से पेट के भीतर फोड़ा Abscess Within the Abdomen caused by Anaerobic Bacteria
  5. बैक्ट्रोइएड्स के कारण पेट के भीतर फोड़ा Abscess Within the Abdomen caused by Bacteroides
  6. पेप्टोकोकस की वजह से पेट के भीतर फोड़ा Abscess Within the Abdomen caused by Peptococcus
  7. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस की वजह से पेट के भीतर फोड़ा Abscess Within the Abdomen caused by Peptostreptococcus
  8. क्लॉस्ट्रिडियम के कारण बैक्टीरियल रक्त संक्रमण bacterial blood infection caused by Clostridium
  9. बैक्टीरोएड्स संक्रमण योनि कफ सर्जरी के बाद Bacteroides Infection Following Vaginal Cuff Surgery
  10. बैक्टीरिया बैक्टिरोइड्स के कारण रक्त संक्रमण Blood Infection caused by the Bacteria Bacteroides
  11. बाटैक्टरीएराइड्स के कारण अस्थि संक्रमण Bone Infection caused by Bacteroides
  12. बैक्टीरिया बैक्टोरिएड्स की वजह से मस्तिष्क फोड़े Brain Abscess caused by the Bacteria Bacteroides
  13. क्लॉस्ट्रिडियम संक्रमण Clostridium difficile infection
  14. क्लॉस्ट्रिडियम संक्रमण योनि कफ सर्जरी के बाद Clostridium Infection Following Vaginal Cuff Surgery
  15. क्रोहन रोग Crohn’s Disease
  16. मधुमेह के पैर संक्रमण Diabetic Foot Infection
  17. विपुटीशोथ Diverticulitis
  18. हार्ट वाल्व बैक्टीरिया बैक्टोरिएड्स के कारण संक्रमण Heart Valve Infection caused by the Bacteria Bacteroides
  19. दांत के आसपास संक्रमण infection around a tooth
  20. बैक्ट्रीएरेड्स फ्रैगिलिस बैक्टीरिया की वजह से संक्रमण Infection caused by Bacteroides Fragilis Bacteria
  21. बैक्टीरिया एनारोब की वजह से संक्रमण Infection caused by the Bacteria Anaerobes
  22. परजीवी बालैतिडीयम के कारण संक्रमण Infection caused by the Parasite Balantidium
  23. राउंड वर्म्रे ड्रेकुंक्यूलस के कारण संक्रमण Infection caused by the Roundworm Dracunculus
  24. ट्रिक्कोनास वेजेनालिस के कारण संक्रमण infection caused by Trichomonas vaginalis
  25. योनि कफ सर्जरी के बाद संक्रमण Infection Following Vaginal Cuff Surgery
  26. बाटैक्टरीएराइड्स प्रजातियों के कारण यकृत में या में संक्रमण Infection in or On the Liver caused by Bacteroides Species
  27. यूबेक्टीरियम की वजह से या यकृत में संक्रमण Infection in or On the Liver caused by Eubacterium
  28. पेप्टोकोकस की वजह से या यकृत में संक्रमण Infection in or On the Liver caused by Peptococcus
  29. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस की वजह से या यकृत में संक्रमण Infection in or On the Liver caused by Peptostreptococcus
  30. बैक्ट्रोराइड्स के कारण संयुक्त संक्रमण Infection of a Joint caused by Bacteroides
  31. बैक्ट्रोइएड्स के कारण पेट की कैविटी अस्तर के संक्रमण Infection of Abdominal Cavity Lining due to Bacteroides
  32. क्लॉस्ट्रिडियम के कारण उदर गुहा अस्तर के संक्रमण Infection of Abdominal Cavity Lining due to Clostridium
  33. बैक्ट्रोइएड्स के कारण गर्भाशय के अस्तर के संक्रमण Infection of Lining of the Uterus caused by Bacteroides
  34. क्लॉस्ट्रिडियम के कारण गर्भाशय के अस्तर के संक्रमण Infection of Lining of the Uterus caused by Clostridium
  35. पेप्टोकोकस के कारण गर्भाशय के अस्तर के संक्रमण Infection of Lining of the Uterus caused by Peptococcus
  36. यूबेक्टीरियम की वजह से पेट की परत का संक्रमण Infection of the Abdominal Lining caused by Eubacterium
  37. पेप्टोकोकस की वजह से पेट की परत का संक्रमण Infection of the Abdominal Lining caused by Peptococcus
  38. बैक्ट्रोइएड्स के कारण गर्भाशय के ऊतकों की संक्रमण Infection of Tissues of the Uterus caused by Bacteroides
  39. क्लॉस्ट्रिडियम द्वारा उत्पन्न गर्भाशय के ऊतकों की संक्रमण Infection of Tissues of the Uterus caused by Clostridium
  40. पेप्टोकोकस की वजह से गर्भाशय के ऊतकों की संक्रमण Infection of Tissues of the Uterus caused by Peptococcus
  41. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस के कारण गर्भाशय के ऊतकों का संक्रमण Infection of Tissues of Uterus due to Peptostreptococcus
  42. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस द्वारा गर्भाशय के अस्तर का संक्रमण Infection of Uterine Lining Caused by Peptostreptococcus
  43. संक्रमण से दस्त Infection that causes Diarrhea Giardiasis
  44. पेट के भीतर संक्रमण Infection Within the Abdomen
  45. क्लोस्ट्रीडियम बैक्टीरिया की वजह से पेट के भीतर संक्रमण Infection Within the Abdomen caused by Clostridium Bacteria
  46. यूबेक्टीरियम के कारण पेट के भीतर संक्रमण Infection Within the Abdomen caused by Eubacterium
  47. क्लॉस्ट्रिडियम प्रजाति द्वारा संक्रमण या यकृत पर Infection or On the Liver caused by Clostridium Species
  48. एंडोमेट्रियम की सूजन Inflammation of the Endometrium
  49. एच।पाइलोरी की वजह से पेटी अस्तर की सूजन Inflammation of the Stomach Lining caused by H। Pylori
  50. एंटमाइबा हिस्टोलिटिका की वजह से लीवर फोसास Liver Abscess caused by Entamoeba Histolytica
  51. निचले श्वसन पथ संक्रमण Lower Respiratory Tract Infection
  52. बैक्टीरिया बैक्टोरिएड्स के कारण मेनिजाइटिस Meningitis caused by the Bacteria Bacteroides
  53. श्रोणि सूजन की बीमारी Pelvic Inflammatory Disease
  54. बैक्टीरिया हेलिकोबैक्टर पाइलोरी के कारण पेप्टिक अल्सर Peptic Ulcer due to Bacteria Helicobacter Pylori
  55. योनि कफ सर्जरी के बाद पेप्टोकोकस संक्रमण Peptococcus Infection following Vaginal Cuff Surgery
  56. योनि कफ सर्जरी के बाद पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस संक्रमण Peptostreptococcus Infection After Vaginal Cuff Surgery
  57. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया के कारण पेरिटोनिटिस Peritonitis caused by Peptostreptococcus Bacteria
  58. निमोनिया बैक्टीरिया बैक्टोरिएड्स के कारण Pneumonia caused by the Bacteria Bacteroides
  59. पेरिओपरेटिव संक्रमण की रोकथाम Prevention of Perioperative Infection
  60. बैक्टीरिया बैक्टोरिएड्स की वजह से फेफड़े में पीस Pus in the Lungs caused by the Bacteria Bacteroides
  61. एन्टमाइबा हिस्टोलिटिका के कारण गंभीर आंतों में संक्रमण Severe Intestinal Infection due to Entamoeba Histolytica
  62. यौन आक्रमण से यौन संचारित रोग एक्सपोजर Sexual Transmitted Disease Exposure from Sexual Assault
  63. बैक्टीरोइड्स फ्रैगिलिस बैक्टीरिया की वजह से त्वचा संक्रमण Skin Infection due to Bacteroides Fragilis Bacteria
  64. क्लस्ट्रिडियम बैक्टीरिया के कारण त्वचा संक्रमण Skin Infection due to Clostridium Bacteria
  65. फ़्यूज़बेक्टेरियम बैक्टीरिया के कारण त्वचा संक्रमण Skin Infection due to Fusobacterium Bacteria
  66. पेप्टोकोकस बैक्टीरिया के कारण त्वचा संक्रमण Skin Infection due to Peptococcus Bacteria
  67. पेप्टोस्ट्रेप्टोकोकस बैक्टीरिया के कारण त्वचा के ऊतकों में संक्रमण Skin Tissue Infection due to Peptostreptococcus Bacteria
  68. बैक्टीरिया हेलिकोबैक्टर पाइलोरी की वजह से डुओडेनम का अल्सर Ulcer of Duodenum caused by Bacteria Helicobacter Pylori
  69. बैक्टीरिया की वजह से वेजिनोसिस Vaginosis caused by Bacteria
इसे भी पढ़ें -  क्रेमाफिन Cremaffin Syrup उपयोग और नुकसान

क्या मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) दांत के इन्फेक्शन में देते है?

  1. हाँ, मसूड़ों में फोड़े, दांत के दर्द में इसे दिया जाता है। 200 mg / 400 mg की गोली दिन में तीन बार, तीन दिन तक ले सकते हैं।
  2. इसे amoxicillin + पेन किलर, के साथ भी दिया जाता है। रूट कैनाल ट्रीटमेंट भी किया जा सकता है।

क्या मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) पेट के इन्फेक्शन, दस्त, पेचिश में देते हैं?

हैं, इसे बैक्टीरियल इन्फेक्शन में दिन मे तीन बार, लिया जाता है।

मेट्रोनिडाज़ोल (Metronidazole) को किसे नहीं लेना चाहिए?

केंद्रीय तंत्रिका तंत्र की सक्रिय जैविक बीमारी वाले मरीज।

मीट्रोनिडाजोल और अन्य इमिडाजोल imidazoles के प्रति अतिसंवेदनशीलता।

इसे लेने में क्या सावधानियां लेनी चाहिए?

  1. अल्कोहल
  2. अल्कोहल, अल्कोहल डले पेय पदार्थ और दवाएं, मेट्रोनिडाजोल, लेने के बाद कम से कम 24 घंटे बाद तक नहीं लिए जाने चाहिए नहीं तो, मतली, उल्टी, पेट में ऐंठन, सिरदर्द, टाचीकार्डिया और फ्लशिंग हो सकती है।
  3. गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल या जननांग पथ में कैंडिडा ग्रोथ Candidiasis मेट्रोनिडाज़ोल थेरेपी के दौरान हो सकती है।

 Cockayne syndrome

Cockayne syndrome में इसे लेने से गंभीर हेपोटोटॉक्सिसिटी / तीव्र यकृत संबंधी विफलता के मामले देखे गए हैं, जिनमें बहुत तेजी से शुरुआत के साथ घातक परिणाम होते हैं।

दीर्घकालिक चिकित्सा

यदि मेट्रोनिडाजोल को 10 दिनों से अधिक समय तक दिया जाना हो तो हेमॅटोलॉजिकल टेस्ट haematological tests विशेष रूप से टोटल और डिफरेंशियल ल्यूकोसाइट काउंट, नियमित रूप से किया जाना चाहिए।

इसे लेने पर यदि नेयूरोलोजिकल लक्षण paresthesia, ataxia, dizziness, convulsive seizures दिखें तो दवा बंद कर दी जानी चाहिए।

तंत्रिका तंत्र

मेट्रोनिडाजोल सक्रिय या पुरानी गंभीर परिधीय और केंद्रीय तंत्रिका के रोगियों में, न्यूरोलॉजिकल क्षति के जोखिम के कारण सावधानी के साथ इस्तेमाल किया जाना चाहिए।

मरीजों को भ्रम, चक्कर आना, मतिभ्रम, आक्षेप, दृश्य विकारों के बारे में चेतावनी दी जानी चाहिए और इन लक्षणों को उत्पन्न होने पर मशीनरी चलाने या उपयोग न करने का निर्देश दें।

इसे भी पढ़ें -  एमोक्सिसिलिन Amoxicillin गर्भावस्था में यूज़

यकृत के सही काम न करने पर

चूंकि मेट्रोनिडाजोल आंशिक रूप से यकृत में चयापचय होता है, यह यकृत रोगी या यकृत इन्सफालोपैथी में सावधानी के साथ में प्रयोग किया जाना चाहिए ।

गर्भावस्था में प्रयोग (जोखिम श्रेणी: बी 2)

मेट्रोनिडाजोल गर्भावस्था के पहले त्रैमासिक में नहीं दिया जाना चाहिए क्योंकि यह नाल को पार करता है और भ्रूण में प्रवेश करता है।

इसका उपयोग गर्भावस्था में मानव या पशु अध्ययनों में teratogenic नहीं दिखाया गया है, लेकिन ऐसी संभावना को मना नहीं किया जा सकता। इसलिए डॉक्टर की सलाह के बिना इसे खुद से नहीं लेना चाहिए।

स्तनपान

स्तनपान के दौरान इसे न लें यह दूध के स्रावित हो सकती है।

कार्सिनोजेनिक

चूहों में इसके प्रयोग से कैंसर होता देखा गया है। इसलिए लम्बे समय तक प्रयोग न करें।

मशीनरी चलाने या चलाने की क्षमता पर प्रभाव

मरीजों को भ्रम, चक्कर आना, मतिभ्रम,दृश्य विकारों या आक्षेप के बारे में चेतावनी दी जानी चाहिए।

यदि यह लक्षण हो तो मशीनरी न चलायें।

मेट्रोनिडाजोल (Metronidazole) के साइड-इफेक्ट्स side effects क्या है?

  1. मतली, सिरदर्द, उल्टी, डायरिया Dizziness, vertigo, incoordination, headache and convulsive seizures, Psychotic disorders
  2. such as confusion and hallucinations
  3. अवसाद, उदास मूड, अनिद्रा, चिड़चिड़ापन, कमजोरी Depression, depressed mood, insomnia, irritability, weakness
  4. पेट में ऐंठन, कब्ज, मुंह में मेटालिक टेस्ट आना
  5. योनि का सूखना, प्रुरिटस, डिसयूरिया, सिस्टिटिस का सूखापन और पैल्विक दबाव Dryness of the vagina or vulva, pruritus, dysuria, cystitis and a sense of pelvic pressure
  6. डिस्प्रे्यूनिया, बुखार, पॉलीयूरिया, पेशाब न रुकना dyspareunia, fever, polyuria, incontinence
  7. कामेच्छा, प्रोक्टाइटिस और पीयूरिया की कमी decrease of libido, proctitis and pyuria
  8. अतिसंवेदनशीलता प्रतिक्रियाओं में दाने, प्रुरिटस, फ्लशिंग, अर्टिसियारिया, बुखार, एंजियोएडेमा, नाक जाम होना, मुंह में सूखापन और एनाफिलेक्टिक शामिल हैं।

अन्य संभावित एडवर्स इफेक्ट्स

  1. जिगर एंजाइमों में वृद्धि (एएसटी, एएलटी, एल्कलाइन फॉस्फेट), कोलेस्टेटिक या मिक्स्ड हेपेटाइटिस और हेपोटोकेल्यूलर
  2. लीवर इंजरी, कभी कभी पीलिया
  3. यकृत विफलता अन्य एंटीबायोटिक दवाओं के साथ संयोजन
  4. ऑप्टिक न्यूरोपैथी / न्युरॉयटिस और क्षणिक दृष्टि विकार जैसे डिप्लोपिया, मिओपिया, धुंधला दृष्टि, दृश्यता घटना Optic neuropathy/neuritis and transient vision disorders such as diplopia, myopia, blurred vision, decreased visual
  5. दृष्टि की तीक्ष्णता और रंग देखने में दिक्कत acuity and changes in colour vision
  6. सुनाई न देना Impaired hearing/hearing loss
  7. कैंडिडा की अतिवृद्धि
  8. अग्नाशयशोथ pancreatitis
इसे भी पढ़ें -  टेफोल ज़ेड कैप्सूल खून की कमी की दवा | Tefol Z Capsule

मेट्रोनिडाजोल की डोज़ बच्चों के लिए क्या है?

बच्चों के लिए बने सस्पेंशन दिन में तीन बार दिया जाता (कम से कम 6 घंटे के अंतर पर) है।

दी जाने की मात्रा बच्चे की उम्र और वज़न पर निर्भर है।

मेट्रोनिडाजोल की क्या वयस्कों के लिए डोज़ है?

इसे एक दिन में एक बार से लेकर तीन बार तक दिया जाता है।

Trichomoniasis:

एक दिन का इलाज़ (केवल डॉक्टर के सुपरविज़न में ही): 2 ग्राम मेट्रोनिडाजोल एक सिंगल डोज़ या एक ग्राम करके दिन में दो बार।

7 दिन का इलाज़: 250 mg दिन में तीन बार, सात दिन के लिए।

Amebiasis:

तीव्र आंत्र अमीबासिस के लिए (गंभीर अमिबिक पेचिश): एक गोली तीन बार दैनिक 5 से 10 दिनों के लिए।

वयस्कों के लिए इसकी मैक्सिमम डोज़ 24 घंटे में 4 ग्राम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.