ल्यूबीलैक्स कैप्सूल Lubilax Capsule कब्ज और IBS की दवा

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) कब्ज और IBS की दवा है, जानिये इसके घटक, खुराक और साइड इफेक्ट्स क्या हैं और किस स्थिति में ल्यूबीलैक्स को नहीं लेना चाहिए और किन लोगों को ल्यूबीलैक्स नहीं इस्तेमाल करना चाहिए।

एलोपैथिक दवाई ल्यूबीलैक्स (Lubilax) एक क्लोराइड चैनल ब्लॉकर हैं जिसे पुरानी कब्ज़ या क्रोनिक कोंस्टीपेशन और कब्ज़ के साथ इरीटेटेबल बोवेल सिंड्रोम होने पर दिया जाता है।

ल्यूबिप्रोस्टोन लेक्सेटिव नामक दवाओं के वर्ग से है। कब्ज़ constipation में स्टूल बहुत हार्ड हो जाता है जिससे शौच के दौरान बहुत दर्द होता है। ऐसे में लेक्सेटिव या विरेचक लेने से इस तकलीफ से राहत मिल सकती है। यह आंत्र में बहने वाले द्रव की मात्रा में वृद्धि करके और मल को अधिक आसानी से निकालने में प्रयोग की जाती है। ल्यूबिप्रोस्टोन मुंह से लेने के लिए एक कैप्सूल के रूप में आता है। यह आम तौर पर सुबह और शाम में दिन में दो बार भोजन और पानी से लिया जाता है। इसे हर दिन एक ही समय लेते हैं।

इसकी 8 mcg या 24 mcg की मात्रा दिन में 2 बार ली जाती है। इसे खाने और पानी के साथ लेते हैं। जिन मरीजों में लीवर रोग होता हैं उन्हें इसकी कम मात्रा दी जाती है। इरीटेबल बोवेल सिंड्रोम में इसकी 8 एमसीजी की मात्रा दिन में दो बार दी जाती है।

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) को क्यों इस्तेमाल करते हैं?

ल्यूबीलैक्स को कब्ज़ से आराम पाने के लिए प्रयोग किया जाता है। पुरानी इडियोपैथिक कब्ज

Chronic Idiopathic Constipation (3 महीने या उससे अधिक समय तक कब्ज़) में इसका उपयोग पेट में दर्द, फूला हुआ पेट, और स्टूल करने में दिक्कत को दूर करने के लिए दिया जाता है और उन लोगों में नरम और अधिक लगातार आंत्र आंदोलनों का उत्पादन करने के लिए किया जाता है।

लुबिप्रोस्टोन का उपयोग कब्ज के साथ इरीटेबल आंत्र सिंड्रोम (आईबीएस ) Irritable Bowel Syndrome with Constipation in women ≥ 18 years old में पेट की दर्द या ऐंठन, सूजन, औरपॉटी करने में दिक्कत का इलाज करने के लिए किया जाता है।

कब्ज क्या है?

कब्ज को विबंध और कोंसटिपेशन के नाम से जाना जाता है। कब्ज़ होने पर मल बहुत कठोर हो जाता है और कई-कई दिन तक नहीं होता। ऐसे में शौच के समय बहुत जोर लगाना पड़ता है जिससे गुदा छिल जाती है और खून तक बहने लगता है। कब्ज़ के कारण पेट में भारीपन, गैस, दबाव तथा भूख न लगना समेत अनेक समस्याएं हो जाती हैं। कब्ज़ बहुत ही आम समस्या है और हर किसी को कभी न कभी हो जाती है।

इसे भी पढ़ें -  बीकोस्यूल्स परफॉरमेंस सप्लीमेंट BECOSULES Performance Health Supplement in Hindi

कब्ज़ यदि लम्बे समय तक रहे तो बवासीर, फिस्टुला हो जाते है। भूख नहीं लगती और बहुत गैस बनती है। पाचन की विकृति से व्यक्ति कमजोर हो जाता है।

ल्यूबीलैक्स का जेनेरिक फार्मूला क्या है?

Loading...

Ranbaxy Laboratories Ltd का जेनेरिक फार्मूला लूबीप्रोस्टोन Lubiprostone है।

  • ल्यूबीलैक्स 8mg Lubilax (8mg)
  • ल्यूबीलैक्स 24mg Lubilax (24mg)

Lubiprostone is chemically designated as (–)-7-[(2R,4aR,5R,7aR)-2-(1,1­ difluoropentyl)-2-hydroxy-6-oxooctahydrocyclopenta[b]pyran-5-yl]heptanoic acid.

लुबिप्रोस्टोन, क्लोराइड चैनल उत्प्रेरक है जो क्लोराइड का स्राव आंतों में बढ़ाता है।

इससे सीरम में सोडियम और पोटेशियम की सांद्रता नहीं बदलती। लुबिप्रोस्टोसीएलसी -2 को एक्टिवेट करता है, जो कि मानव आंत की एपिकल झिल्ली का एक सामान्य घटक है।

आंत्र द्रव के बढ़ाने के द्वारा ल्युबिप्रोस्टोन आंत में गतिशीलता बढ़ाता है, जिससे मल के मार्ग को सुगम हो जाता है जिससे पुरानी इडियोपैथिक कब्ज से संबंधित लक्षणों कम होते हैं।

ल्यूबीलैक्स की डोज़ क्या है?

Lubilax Dose

क्रोनिक कांस्टीपेशन Chronic Idiopathic Constipation

पुराने कब्ज़ में इसकी 24 एमसीजी की मात्रा दिन में दो बार खाने और पानी के साथ लेने की सलाह दी जाती है।

यदि किसी को किडनी फकी समस्या है, किडनी फंक्शन टेस्ट ठीक नहीं है तो इसकी 16 एमसीजी की मात्रा दिन में दो बार दी जा सकती है। यदि दवा की कम मात्रा देने से कोई बुरा इफ़ेक्ट नहीं देखा जाता तो दवा की मात्रा 24 एमसीजी की जा सकती है।

Irritable Bowel Syndrome with Constipation

इसमें इसकी 8 एमसीजी की माता दिन एम दो बार खाने और पाने के साथ दी जाती है।

लीवर फंक्शन सही न होने या लीवर की दिक्कत में इसकी 8 एमसीजी की मात्रा दी जाती है जो अच्छे रिजल्ट मिलने पर फुल डोज़ 8 एमसीजी की मात्रा में दी जा सकती है।।

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) किसे नहीं लेनी चाहिए?

  • इसे आँतों में रुकावट mechanical gastrointestinal obstruction में नहीं लिया जाना चाहिए।
  • पेट रोग Acute abdominal conditions (e।g। appendicitis, intestinal inflammatory bowel disease)
  • आँतों में रुकावट intestinal obstruction
  • गंभीर निर्जलीकरण severe dehydration
  • पेट दर्द, मतली और उल्टी severe abdominal pain associated with nausea and vomiting
  • गुदा में घाव anal fissures
  • अल्सरेटिव कोलाइटिस ulcerative colitis
  • प्रेगनेंसी प्लान कर रहे हैं, या प्रेगनेंसी झी तो इसका प्रयोग नहीं करें।
इसे भी पढ़ें -  रेनिटिडिन हाइड्रोक्लोराइड (Ranitidine hydrochloride) information in Hindi

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) से सम्बंधित सावधानियां क्या हैं?

दवा को ज्यादा मात्रा में लेने से पेट में दर्द, दस्त, हो सकते हैं।

ल्यूबीलैक्स के साइड इफ़ेक्ट क्या हो सकते हैं?

  • जी मिचलाना Nausea
  • पेट में दर्द stomach cramps
  • पेट में दिक्कत stomach discomfort
  • दस्त diarrhoea
  • सांस लेने में दिक्कत Dyspnea

यह साइड इफेक्ट की पूरी सूची नहीं है।

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) लेने से क्या रिएक्शन हो सकते हैं?

Adverse Reactions

जठरांत्र विकार Gastrointestinal disorders

  • जी मिचलाना Nausea
  • दस्त Diarrhea
  • पेट में दर्द Abdominal pain
  • पेट फूलना Abdominal distension
  • गैस Flatulence
  • उल्टी Vomiting
  • स्टूल ढीला होने Loose stools
  • पेट की परेशानी Abdominal discomfort
  • अपच Dyspepsia
  • शुष्क मुँह Dry mouth
  • पेट बेचैनी Stomach discomfort

तंत्रिका तंत्र विकार Nervous system disorders

  • सरदर्द Headache
  • चक्कर आना Dizziness

सामान्य विकार General disorders and site administration conditions

  • शोफ Edema
  • थकान Fatigue
  • छाती की असुविधा / दर्द Chest discomfort/pain
  • श्वसन, थोरैसिक और मिडियास्टिनल विकार Respiratory, thoracic, and mediastinal disorders
  • श्वास कष्ट Dyspnea

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) प्रेगनेंसी केटेगरी क्या है?

केटेगरी सी C – पशु प्रजनन के अध्ययन से भ्रूण पर प्रतिकूलadverse प्रभाव दिखा। गर्भवती महिलाओं पर कोई पर्याप्त, नियंत्रित अध्ययन नहीं किया गया है। लेकिन संभावित लाभ तथा संभावित जोखिम को तौलते हुए इसको डॉक्टरों द्वारा गर्भावस्था में प्रयोग किया जा सकता है।

There are no adequate and well-controlled studies in pregnant women. A dose dependent increase in fetal loss was observed in pregnant guinea pigs that received lubiprostone doses equivalent to 0.2 to 6 times the maximum recommended human dose (MRHD) based on body surface area (mg/m2). Animal studies did not show an increase in structural malformations.

Lubiprostone should be used during pregnancy only if the potential benefit justifies the potential risk

to the fetus.

ल्यूबीलैक्स (Lubilax) को दो बार दैनिक भोजन और पानी के साथ जी मिचलाना तथा अन्य संभावित लक्षणों को कम करने के लिए लिया जाना चाहिए। कैप्सूल को सुबह में एक बार और एक बार शाम को दैनिक रूप में लिया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  उर्सोडियोल Ursodiol (Ursodeoxycholic acid) दवा की जानकारी

कैप्सूल को पूरी तरह निगल लिया जाना चाहिए और इसे चबाया नहीं जाना चाहिए। चिकित्सकों को निरंतर उपचार की आवश्यकता का समय-समय पर मूल्यांकन करना चाहिए।

अपने डॉक्टर के पर्चे पर दिशानिर्देशों का सावधानीपूर्वक पालन करें, और अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से किसी भी हिस्से को समझाने के लिए पूछें जो आपको समझ में नहीं आते हैं। ल्यूबिप्रोस्टोन को यथासंभव निर्देशित तरीके से इस्तेमाल करें। इसे अधिक या कम नहीं लेना चाहिए या इसे अपने चिकित्सक द्वारा निर्धारित समय से अधिक बार नहीं लेना चाहिए।

उपचार पर मरीज़ जो गंभीर दस्त, या सांस लेने में परेशानी का अनुभव करते हैं, उन्हें डॉक्टर से मिलना चाहिए। पहले खुराक के एक घंटे के भीतर दवा लेने वाले मरीजों को सांस लेने में दिक्कत का अनुभव हो सकता है। इस लक्षण आमतौर पर 3 घंटे के भीतर ठीक हो जाते हैं, दवा फिर लेने से ऐसा दोहराए जाने वालेलक्ष्णों की पुनरावृत्ति हो सकती है।

ल्यूबीलैक्स आपके लक्षणों को दूर करने में मदद कर सकता है लेकिन आपकी स्थिति का इलाज नहीं करेगा। लुबिटरोस्टोन ले जाना जारी रखें, भले ही आपको अच्छा लगे। अपने डॉक्टर से बात किए बिना ल्यूबिप्रोस्टोन लेना बंद न करें आपका डॉक्टर आपकी स्थिति की निगरानी करेगा और आपको बताएगा कि आपको कब ल्यूबिप्रोस्टोन ले जाना बंद कर देना चाहिए।

ल्यूबिप्रोस्टोन को दृष्टि और बच्चों की पहुंच से बाहर रखने के लिए महत्वपूर्ण है।

Lubiprostone is used to get relief from chronic idiopathic constipation symptoms such as stomach pain, bloating, and straining. It helps to produce softer and more frequent bowel movements in people who have on difficult or infrequent passage of stools that lasts for 3 months or longer and is not caused by a disease or a medication.

It is also used to treat irritable bowel syndrome with constipation (IBS-C; a condition that causes stomach pain or cramps, bloating, and infrequent or difficult passage of stools) in women who are at least 18 years of age.

इसे भी पढ़ें -  अल्कासोल Alkasol के बारे में जानकारी

Lubiprostone is also used to treat constipation caused by certain opioid (narcotic) pain medications in people with chronic (on-going), noncancer pain.

It is in a class of medications called laxatives. It works by increasing the amount of fluid that flows into the bowel and allowing the stool to pass more easily.

Lubiprostone may help to relieve symptoms but will not cure condition.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.