डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन Depo Provera (contraceptive injection)

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन एक हार्मोनल कॉण्ट्रासेप्टिव और इसके बहुत से साइड इफेक्ट्स हैं जो शार्ट टर्म भी हैं और लॉन्ग टर्म भी। यह सभी महिलायों के लिए सूटेबल नहीं है। इसे लगवाने से पहले शरीर पर हो सकने वाले दुष्प्रभावों के बारे में अच्छे से जान लें।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन (Depo Provera Injection), महिलाओं के लिए गर्भनिरोधक इंजेक्शन है। यह प्रोजेस्टेरोन होर्मोन की तरह है। इस इंजेक्शन को बांह या नितम्ब में लगाया जाता है। एक बार लगाया गया इंजेक्शन 12 सप्ताह तक काम करता है। इंजेक्शन को फिर से 12 सप्ताह या 3 महीने बाद फिर से लगवाना होता है। लगवाते ही, यह इंजेक्शन काम करने लगता है। डेपो-प्रोवेरा इंजेक्शन को मासिक के शुरू होने के पांच दिन के अंदर लगवाना चाहिए। यह इसलिए किया जाता हैं कि पीरियड होने का मतलब है महिला गर्भवती नहीं है। गर्भवती महिला में इसका प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन करीब 99% इफेक्टिव है। लीवर रोग, ब्लड क्लॉट और योनि से असामान्य ब्लीडिंग होती हो तो इसे नहीं लगवाना चाहिए। इसे किशोर लड़की और ऑस्टियोपोरोसिस में भी नहीं लगवाना चाहिए।

नाम:

  • DEPO-PROVERA
  • मेड्रोक्सी प्रोजेस्टेरोन एसीटेट Medroxyprogesterone acetate
  • डेपो- मेड्रोक्सी प्रोजेस्टेरोन एसीटेट (डीएमपीए) Depot-medroxy progesterone acetate (DMPA)

प्रकार: गर्भावस्था को रोकने के लिए हार्मोन से तैयार इंजेक्शन

देने का तरीका: तीन महीनों में 150 मिलीग्राम की एक खुराक इंजेक्शन से

कब शुरू किया जाता है: मासिक धर्म के खून बहने के पहले 5 दिनों के भीतर शुरू किया जा सकता है। इसे प्रसव के 6 सप्ताह के बाद शुरू किया जा सकता है।

फायदा: गर्भ नहीं होने देना, ओवुलेशन नहीं होना

नुकसान: इसके बहुत से नुकसान है।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन क्या है? इसके इस्तेमाल क्या हैं?

  • डेपो-प्रोवेरा इंजेक्शन में सिंथेटिक हार्मोन प्रोजेस्टिन, डेपो-मेड्रोक्सिप्रोजेस्टेरोन एसीटेट (डीएमपीए) depo-medroxyprogesterone acetate (DMPA) होता है। यह एक हार्मोनल गर्भनिरोधक है।
  • डेपो-प्रोवेरा सिंथेटिक हार्मोन (डीएमपीए) के माध्यम से काम करता है जो एक महिला के अंडाशय से बने प्राकृतिक हार्मोन प्रोजेस्टेरोन की तरह काम करता है।
इसे भी पढ़ें -  मेटफॉर्मिन मधुमेह की दवा Metformin For Type-2 Diabetes

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन इंजेक्शन निम्न तीन तरह से प्रेगनेंसी रोकता है:

  • यह ओवरी से ओव्यूलेशन नहीं होने देता है ।
  • यह गर्भाशय ग्रीवा को मोटा करता है जो शुक्राणु को अंडे तक पहुंचने से रोकता है।
  • यह गर्भाशय भ्रूण के आरोपण implantation को रोकता है।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन का उपयोग कैसे करते हैं?

  • डेपो-प्रोवेरा एको डॉक्टर से हर 11 से 13 सप्ताह तक लगवाया जाता है ।
  • डॉक्टर दवा को इंजेक्शन से ऊपरी बांह या नितंबों में इंजेक्ट करेगा।
  • पहला आपके मासिक धर्म ब्लीडिंग होने के पांच दिनों में से किसी दिन लगाया जाता है। बाद में इंजेक्शन हर 11 से 13 सप्ताह बाद लगवाया जा सकता है।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन के फायदे क्या हैं?

  • डेपो-प्रोवेरा गर्भनिरोधक इंजेक्शन का फायदा है कि इसे हर दिन या सेक्स से पहले लेना नहीं होता।
  • यह लंबे समय तक सुरक्षा प्रदान करता है।
  • सही ढंग से उपयोग किया जाता है तो यह अत्यधिक प्रभावी है।
  • गर्भाशय फाइब्रॉएड रोकता है और एंडोमेट्रियल और डिम्बग्रंथि के कैंसर के खिलाफ संभावित सुरक्षात्मक प्रभाव पड़ता है।
  • इसमें गोपनीयता को बनाए रखने में आसानी है।
  • स्तनपान की मात्रा और गुणवत्ता प्रभावित नहीं होती है। नर्सिंग माताओं द्वारा बच्चे के जन्म के 6 सप्ताह के बाद ही इस्तेमाल किया जा सकता है।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन के नुकसान क्या है?

  • इसके लिए आपको डॉक्टर के पास जाना पड़ता है।
  • इसे लगवाने के बाद आपको गर्भवती होने में समय लग सकता है।
  • यह आपके पीरियड्स पर असर डाल सकता है।
  • यह यौन संचारित रोगों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान नहीं करता है ।
  • फर्टिलिटी होने में 9 महीने से लेकर 2 साल तक लग सकते है जो अन्य गर्भनिरोधक तरीकों से अधिक है। वज़न अधिक वाली महिला में फर्टिलिटी ठीक होने में अधिक समय लगता है।
  • इसे लगवाने से पूरे शरीर में तरह तरह के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन के साइड इफेक्ट्स क्या हैं?

डेपो-प्रोवेरा इंजेक्शन से पीरियड पर सबसे ज्यादा असर देखा जाता है। पीरियड अनियमित हो सकते हैं। एक साल के इस्तेमाल के बाद करीब 50 % महिलाओं को पीरियड आना बंद हो जाता है। पीरियड आना तब तक शुरू नहीं होता जब तक इंजेक्शन लगवान बंद नहीं करवा दिया जाता।

इसे भी पढ़ें -  बोटॉक्स इंजेक्शन प्राइस इन इंडिया और जानकारी

अनियमित माहवारी, या पीरियड नहीं होना Irregular menstrual periods, or no periods at all

ज्यादातर महिलाएं इसके इस्तेमाल के बाद मासिक धर्म के ब्लीडिंग में बदलाव की शिकायत करती हैं। कुछ में अनियमित पीरियड्स हो जाते हैं, कुछ में अप्रत्याशित रक्तस्राव होता है, या कुछ मामलों में भारी या निरंतर खून ब्लीडिंग होती है।

1 साल इस्तेमाल करने के बाद करीब 55% और 2 साल के बाद 64% महिलाओं में पीरियड आना बंद हो जाता है।

हड्डी खनिज घनत्व कम होना Loss of bone mineral density

गर्भनिरोधक मेड्रोक्सीप्रोजेस्टेरोन एसीटेट इंजेक्शन के इस्तेमाल से ऑस्टियोपोरोसिस के विकास का जोखिम बढ़ सकता है। हड्डी के नुकसान की दर उपयोग के शुरुआती वर्षों में सबसे अधिक होती है।

सीरम एस्ट्रोजन का कम स्तर हड्डी खनिज घनत्व (बीएमडी) के नुकसान के साथ जुड़ा हुआ है।

यह किशोरावस्था और शुरुआती वयस्कता के दौरान विशेष रूप से दवा के प्रयोग से हो सकता है।

थ्रोबोम्बोलोकिक विकार Thromboembolic Disorders

डेपो-प्रोवेरा से ब्लड वेसेल में क्लॉट thrombophlebitis, pulmonary embolism, cerebrovascular disorders, and retinal thrombosis बन सकते हैं। क्लॉट से खून का दौरा रुक सकता है और अंगों को नुकसान हो सकता है।

सिर दर्द Ocular Disorders

सिर दर्द, माइग्रेन, अचानक आंशिक या पूर्ण रूप से दिखाई नहीं देना, आदि डेपो-प्रोवेरा से हो सकते हैं।

कैंसर जोखिम

डेपो-प्रोवेरा का इस्तेमाल स्तन कैंसर के रिस्क को बढ़ा सकता है।

एक्टोपिक प्रेगनेंसी

डेपो-प्रोवेरा के इस्तेमाल के बाद होने वाली प्रेगनेंसी एक्टोपिक हो सकती है।

द्रव प्रतिधारण / फ्लूइड रिटेंशन Fluid Retention

क्योंकि प्रोजेस्टेशनल दवाओं में कुछ डिग्री में फ्लूइड रिटेंशन हो सकता है, जो कि मिर्गी, माइग्रेन, अस्थमा, हृदय या गुर्दे की शिथिलता, को प्रभावित करता है इसलिए विशेष सावधानी की ज़रूरत है।

वज़न बढ़ना

डेपो-प्रोवेरा से फ्लूइड रिटेंशन और वज़न बढ़ता है जिससे महिला मोटी हो जाती है।

डिप्रेशन

जिन मरीजों में मानसिक अवसाद का इतिहास है उन्हें यह दवा नहीं दी जानी चाहिए और यदि दवा लेने के बाद गंभीर अवसाद होता हो, तो भी दवा बंद कर दी जानी चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  बेकडेक्सामिन Becadexamin Uses, Benefits, Side Effects, Dosages, Warnings in Hindi

अन्य साइड इफेक्ट्स

  • ग्लूकोज़ टॉलरेंस कम होना decrease in glucose tolerance
  • घबराहट Nervousness
  • डिप्रेशन Depression
  • चक्कर आना Dizziness
  • मुँहासे Acne
  • भूख में बदलाव Changes in appetite
  • वजन में वृद्धि Weight gain
  • चेहरे और शरीर पर अवांछित बाल Unwanted facial and body hair
  • बाल झड़ना Hair loss आदि।
  • डेपो-प्रोवेरा इंजेक्शन से सेक्स करने का कम कम करता है। इससे चेहरे पर एक्ने की समस्या हो जाती है। पीठ दर्द, सूजन, अवसाद , पैर की ऐंठन , बाल झड़ना या अत्यधिक बाल होना, इसके अन्य दुष्प्रभाव हैं।
  • लम्बे समय तक इंजेक्शन लगवाते रहने से हड्डियाँ कमज़ोर हो जाती है तथा ऑस्टियोपोरोसिस का रिस्क बढ़ जाता है।

Depo Provera के रिएक्शन ADVERSE REACTIONS क्या है?

प्रजनन प्रणाली और स्तन REPRODUCTIVE SYSTEM AND BREAST DISORDERS

  • योनि से रक्तस्त्राव breakthrough bleeding
  • पैंटी पर ब्लड स्पोटिंग होना spotting
  • मासिक धर्म ब्लीडिंग में परिवर्तन change in menstrual flow
  • रजोरोध amenorrhea
  • सर्विक्स का पतला होना तथा स्राव में परिवर्तन changes in cervical erosion and cervical secretions
  • स्तन में दर्द और दूध आना breast tenderness and galactorrhea

तंत्रिका प्रणाली NERVOUS SYSTEM DISORDERS

  • सरदर्द headache
  • चक्कर आना dizziness
  • नींद आना somnolence
  • आक्षेप convulsions

मानसिक विकार PSYCHIATRIC DISORDERS

  • घबराहट nervousness
  • उत्साह euphoria
  • मानसिक अवसाद mental depression
  • अनिद्रा insomnia

सामान्य डिसऑर्डर और साइट कंडीशन GENERAL DISORDERS AND ADMINISTRATION SITE CONDITIONS

  • शोफ edema
  • बुखार pyrexia
  • थकान fatigue
  • अस्वस्थता malaise
  • इंजेक्शन साइट प्रतिक्रिया, इंजेक्शन साइट दर्द / कोमलता injection site reaction, injection site pain/tenderness, injection site persistent
  • शोष / इंडेंटेशन / डिप्लिंग, लिपिडाइस्ट्रोफी का अधिग्रहण, इंजेक्शन साइट नोडल / गांठ atrophy/indentation/dimpling, lipodystrophy

वजन WEIGHT

  • वजन में वृद्धि (वृद्धि या कमी) change in weight (increase or decrease)
  • हेपेटोबिलीरी डिसार्स Hepatobiliary Disorders

त्वचा और टिशू डिसऑर्डर SKIN AND SUBCUTANEOUS TISSUE DISORDERS

  • त्वचा संवेदनशीलता प्रतिक्रियाएं skin sensitivity reactions consisting of urticaria, pruritus, edema and generalized rash
  • मुँहासे, खालित्य और हर्सुटिज्म acne, alopecia and hirsutism
  • एलर्जी rash (allergic) with and without pruritis

डेपो प्रोवेरा इंजेक्शन का प्रयोग बंद करने के बाद क्या गर्भावस्था हो सकती है?

  • इंजेक्शन लगवाना रोक देने के बाद बाद गर्भावस्था हो सकती है।
  • कुछ महिलाएं 3-4 महीने बाद ही प्रेग्नेंट हो जाती हैं।
  • लेकिन कुछ एक वर्ष या 2 वर्ष तक प्रेग्नेंट नहीं हो पाती ।
इसे भी पढ़ें -  मेगालिस Megalis Uses, Benefits, Side Effects, Dosages, Warnings in Hindi

मुझे अपने डॉक्टर से संपर्क कब करना चाहिए?

यदि आप निम्न में से किसी एक का अनुभव करते हैं तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें :

  • भारी या लंबे समय तक योनि से ब्लीडिंग
  • पेट में तीव्र दर्द
  • डिप्रेशन
  • त्वचा या आँखों का पीला होना
  • स्तन में लम्प

डिपो-प्रोवेरा का उपयोग करने की इच्छा रखने वाले महिलाओं को उनके चिकित्सक के साथ अतिरिक्त परामर्श लेना चाहिए, अगर वे निम्नलिखित चिकित्सा चिंताओं का सामना कर रहे हैं:

  • डिप्रेशन
  • मधुमेह
  • उच्च रक्त चाप
  • हृदय रोग
  • रक्त के थक्के की स्थिति का इतिहास
  • लीवर की बीमारी का इतिहास

डेपो-प्रोवेरा की 1% से कम की विफलता दर होती है, जब इसे सही और लगातार उपयोग किया जाता है। जब सही ढंग से इस्तेमाल किया जाता है तो केवल 1,000 महिलाओं में 3 गर्भवती होंगी।

डेपो-प्रोवेरा इंजेक्शन Depo Provera 150mg/ml Injection की कीमत करीब 250 – 350 रुपए है। इसमें डॉक्टर के कंसल्टेशन की फीस शामिल नहीं है जो करीब 500-800 रुपए हो सकती है।

DEPO PROVERA Contraceptive Injection contains medroxyprogesterone acetate, a derivative of progesterone, as its active ingredient. The chemical name for medroxyprogesterone acetate is pregn-4-ene-3,20-dione, 17-(acetyloxy)-6-methyl-, (6α)-.

DEPO PROVERA inhibits the secretion of gonadotropins, prevents follicular maturation and ovulation and results in endometrial thinning.

Depo Provera may not be suitable for you if you have a history of certain medical conditions. Before your doctor prescribes Depo Provera, you may need to have a physical examination. Like all medicines, this medicine can cause side effects although not everybody gets them. Regular use of Depo-Provera causes a gradual loss of bone mineral density. Depo Provera will usually disturb the pattern of a woman’s period. After the first injection it is most likely that you will have irregular, possibly lengthy bleeding or spotting. This will continue in some women. This is quite normal and nothing to worry about. Depo-Provera must not be taken if you are pregnant as hormonal medicines can affect the developing baby. It affects fertility. In studies, over 80% of women trying to get pregnant conceived within 15 months of the last injection. If you get any side effects, talk to your doctor.

इसे भी पढ़ें -  निकोटेक्स कैसे इस्तेमाल करते हैं

Depo Provera has prolonged action. It is difficult to in predict the time of withdrawal bleeding following injection, it is not recommended in secondary amenorrhea or dysfunctional uterine bleeding.

It is contraindicated in Active thrombophlebitis, or current or past history of thromboembolic disorders, or cerebral vascular disease.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.