भारत में मिलने वाली गर्भनिरोधक गोलियों के नाम Contraceptive Pill Names

गर्भनिरोधक गोलियों के कई प्रकार हैं जैसे, कंबाइंड पिल्स, प्रोजेस्टिन ओनली तथा ओर्मेलोक्सीफेन वाली। बाजार में बहुत सी उपलब्ध मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां उपलब्ध हैं. इनमें से कुछ `प्रमुख ब्रांड की गोलियों के नाम नीचे दिए गए हैं।

गर्भनिरोधक गोली, अनचाही गर्भावस्था को रोकने के लिए महिलाओं के द्वारा प्रयोग की जाती है। गर्भनिरोधक का चुनाव एक व्यक्तिगत निर्णय है। आजकल इनके कई विकल्प उपलब्ध हैं।

garbhnirodhak goliyan

गर्भनिरोधक गोली, हार्मोनल तरीके से प्रेगनेंसी को रोकने का काम करती है। वे बर्थ कण्ट्रोल की एक प्रभावी विधि है और इनको प्रयोग करना बहुत आसान है। गर्भनिरोधक गोली लेने के कई फायदे हैं। इन्हें लेने पर सेक्स करने के दौरान प्रोटेक्शन की फ़िक्र नहीं करनी पड़ती। वे दूसरे विकल्पों की तुलना में प्रेगनेंसी को रोकने में अधिक बेहतर हैं। महिला, बिना पुरुष को बताए इसका इस्तेमाल कर सकती है और उसे पुरुष पर प्रोटेक्शन इस्तेमाल करने के लिए निर्भर नहीं रहना पड़ता। कई मामलों में यह पीरियड को भी रेगुलर करती है और भारी ब्लीडिंग से राहत देती हैं।

हर प्रकार की गोली हर महिला के लिए सही नहीं है। चिकित्सक से बात करें कि कौन सा विकल्प आपके लिए सबसे अच्छे से काम करेगा। जो कारक आपकी पसंद को प्रभावित कर सकते हैं उनमें शामिल हैं:

गर्भनिरोधक गोलियों के प्रकार

गर्भनिरोधक गोलियों के कई प्रकार हैं जैसे, कंबाइंड पिल्स, प्रोजेस्टिन ओनली तथा ओर्मेलोक्सीफेन वाली।

कंबाइंड पिल्स Combination pills

Loading...

कंबाइंड पिल्स में कृत्रिम (मानव निर्मित) हार्मोन एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टिन होते हैं।

  • मोनोफेज़िक पिल्स Monophasic pills: महीने के साइकिल में उपयोग की जाती हैं। इसकी 21 दिनों तक रोज एक गोली ली जाती है और बाकी के सात दिन प्लेसिबी या इनएक्टिव गोली लेते हैं।
  • मल्टीफेज़िक पिल्स Multiphasic pills: भी एक महीने उपयोग होती है और चक्र के दौरान विभिन्न स्तरों के हार्मोन देती हैं। विस्तारित-चक्र की गोलिओं
  • Extended-cycle pills: इसको आमतौर पर 13-सप्ताह के चक्रों में उपयोग किया जाता है । आप 12 सप्ताह के लिए सक्रिय गोलियां लेते हैं, और चक्र के आखिरी हफ्ते के दौरान, आप निष्क्रिय गोलियां लेते हैं और इस समय पीरियड होता है। परिणामस्वरूप, आपकी प्रति वर्ष केवल तीन से चार बार आपीरियड आते है।
इसे भी पढ़ें -  जोवीरैक्स टैबलेट Zovirax Tablet in Hindi

कंबाइंड पिल्स तीन तरीकों से काम करती है:

  • गोली शरीर के हार्मोन संतुलन को बदल देती है ताकि आपके अंडकोष, ओवा का उत्पादन न करें।
  • यह गर्भाशय की गर्दन (गर्भाशय ग्रीवा) से बना हुआ म्यूकस काथिक करती है। इससे अंडे के निषेचन के लिए शुक्राणु गर्भाशय (गर्भाशय) से गुज़रना मुश्किल होता है।
  • यह गोली गर्भ की लाइनिंग को पतला करती हैं जिससे निषेचित अंडे के गर्भाशय से संलग्न होने में दिक्कत होती है।

कंबाइंड पिल्स विभिन्न प्रारूपों में आती हैं इनमें मासिक पैक शामिल हैं, जो 21 दिन, 24-दिन या 28-दिवसीय चक्र का पालन करते हैं।

केवल प्रोजेस्टिन Progestin-only pills

प्रोजेस्टिन ओन्ली, में एस्ट्रोजेन के बिना प्रोजेस्टिन होता है। इस प्रकार की गोली को मिनीपिल भी कहा जाता है। Progestin ओन्ली गोलियां महिलाओं के लिए एक अच्छा विकल्प है जो स्वास्थ्य या अन्य कारणों के लिए एस्ट्रोजेन नहीं लेले सकती है।

इन प्रोजेस्टिन-ओन्ली गोलियों के साथ, चक्र में सभी गोलियां सक्रिय हैं। कोई निष्क्रिय गोलियां नहीं हैं।

प्रोजेस्टिन ओन्ली गोलियां, कुछ अलग-अलग तरीकों से भी काम करती हैं। मुख्य रूप से, वे ग्रीवा म्यूकस को मोटा कर और एंडोमेट्रियम को पतला करके काम करती हैं। एंडोमेट्रियियम आपके गर्भाशय की परत है जहां अंडे का प्रत्यारोपण, निषेचित होने के बाद किया जाता है। यदि यह अस्तर पतला होता है, तो निषेचित अंडाणु नहीं इम्प्लांट हो पाटा और इससे गर्भधारण रोका जा सकेगा। इसके अलावा, प्रोजेस्टिन केवल गोलियां ओव्यूलेशन को रोक सकती हैं।

प्रोजेस्टिन ओन्ली गोलियां, दूसरी तरफ, केवल 28 पैक में आती हैं।

भारत में ओरल गर्भनिरोधक गोलियों के ब्रांड नाम

बाजार में बहुत सी उपलब्ध मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां उपलब्ध हैं. इनमें से कुछ `प्रमुख ब्रांड की गोलियों के नाम नीचे दिए गए हैं:

अनवांटेड 21 डेज़ Unwanted 21 Days

मैनकाइंड अनवांटेड 21 एक कंबाइंड कॉन्ट्रासेप्टिव पिल है, जिसमें एथिनोलेस्टेडियल और लेवोनोर्गेस्ट्रेल जैसी संश्लेषित हार्मोन होते हैं। यह अवांछित गर्भावस्था को नियंत्रित करने के अलावा, मुंहासे और पीसीओएस को नियंत्रित करने में प्रभावी हैं।

इसे भी पढ़ें -  रेनिटिडिन हाइड्रोक्लोराइड (Ranitidine hydrochloride) information in Hindi

यास्मीन Yasmin

यास्मीन Zydus कंबाइंड ओरल कॉन्ट्रैसेप्टिव पिल है जिसमें 21 सक्रिय गोलियां हैं। प्रत्येक में 3 मिलीग्राम ड्रोस्पायरनोन और 0.03 मिलीग्राम एथिनिल एस्ट्राडियोल है तथा और 7 इनर्ट गोलियाँ हैं। यास्मीन का नियमित सेवन हार्मोनल डिसफंक्शन के साथ ही अनियमित पीरियड को नियंत्रित करने के लिए सही है।

ओवरल एल टैबलेट Ovral L Tablet (21 Tab)

ओव्राल एल में Levonorgestrel 0.15 एमजी + एथिलीन एस्ट्रैडोल 0.03 एमजी है। यह एस्ट्रोजेन और एक प्रोजेस्टिन के संयोजन से बना है। प्रत्येक गोली में सिंथेटिक एस्ट्रोजेन ‘एथिनल एस्ट्रडियोल’ 0.030 एमजी और कृत्रिम प्रोजेस्टिन ‘लेओनोरगेस्टेल’ 0.150 एमजी है। यह 21 टैबलेट के ब्लिस्टर पैक में उपलब्ध है।

सहेली

सहेली Hindustan Latex Ltd का जेनेरिक फार्मूला ओर्मेलोक्सीफेन Ormeloxifene / सेंटक्रोमेन Centchroman है

यह अन्य गर्भनोरोधक गोलियों से अलग है क्योंकि इसमें कोई हार्मोन नहीं है। यह गर्भावस्था को रोकने के लिए हार्मोन एस्ट्रोजन का उपयोग करने के बजाय, एस्ट्रोजेन को ब्लॉक करती है। एस्ट्रोजेन को अवरुद्ध करके, सहेली गर्भाशय की परत को बदलती है, जो निषेचित अंडे की इम्प्लांटिंग रोकता है। ज्यादातर मामलों में सहेली लेने वाली महिला को मतली, सिरदर्द या वजन में बदलाव आदि नहीं होता।

सहेली को रोज नहीं लेना होता। आपको पहले तीन महीनों में सप्ताह में दो बार इसे लेना होता है। लेकिन उसके बाद केवल एक गोली एक सप्ताह में ली जाती है। जैसे यदि पीरियड सोमवार को शुरू होता है, तो आप पहले तीन महीनों में गोली को हर सोमवार और गुरुवार को लेंगी। चौथे महीने से, आप केवल हर सोमवार को सप्ताह में एक बार इसे लेंगी।

नोवेक्स टैबलेट

नोवेक्स टैबलेट Hindustan Latex Ltd को गर्भनिरोधक Novex 30mg की तरह इस्तेमाल किया जाता है. इस दवा का जेनेरिक फार्मूला ओर्मेलोक्सीफेन Ormeloxifene / सेंटक्रोमेन Centchroman है जिसे केंद्रीय दवा अनुसंधान संस्थान (सीडीआरआई), लखनऊ Central drug Research Institute (CDRI), Lucknow ने विकसित किया है।

नोवेक्स को रोज नहीं लेना होता। आपको पहले तीन महीनों में सप्ताह में दो बार इसे लेना होता है। लेकिन उसके बाद केवल एक गोली एक सप्ताह में ली जाती है। जैसे यदि पीरियड सोमवार को शुरू होता है, तो आप पहले तीन महीनों में गोली को हर सोमवार और गुरुवार को लेंगी। चौथे महीने से, आप केवल हर सोमवार को सप्ताह में एक बार इसे लेंगी। यह स्टेरायडल गर्भनिरोधक गोलियां की अपेक्षा ज्यादा लाभकारी है क्योंकि यह अंत: स्रावी प्रणाली endocrine system को प्रभावित नहीं करती और सामान्य मासिक ovulatory चक्र बनाए रखती है।

इसे भी पढ़ें -  निकोटेक्स कैसे इस्तेमाल करते हैं

सेविस्टा

सेविस्टा Torrent Pharmaceuticals Ltd का जेनेरिक फार्मूला ओर्मेलोक्सीफेन Ormeloxifene / सेंटक्रोमेन Centchroman है. इसे लेने का तरीका नोवेक्स टेबलेट जैसा है।

चॉइस पिल्स Choice

चॉइस DKT India कंबाइंड ओरल कॉन्ट्रैसेप्टिव पिल है. है. प्रत्येक गोली में सिंथेटिक एस्ट्रोजेन ‘एथिनल एस्ट्रडियोल’ 0.030 एमजी और कृत्रिम प्रोजेस्टिन ‘लेओनोरगेस्टेल’ 0.150 एमजी है।

डओलूटोन एल Duoluton L 21 tablets

डओलूटोन एल, जर्मन रेमेडीज में एथिलीन एस्ट्रैडोल 0.05 एमजी + लेओनॉर्जेस्टरल 0.25 एमजी होते हैं. इसके एक पैक की कीमत Rs. 153.00 है.

जब सही तरीके से लिया जाता है, तो कॉन्ट्रैसेप्टिव पिल्स गर्भावस्था को रोकने में 99% से अधिक प्रभावी है । इसका मतलब है कि 100 में एक से कम महिला, जो यह गोली लेती है, गर्भवती होगी। सही उपयोग का मतलब है कि कोई भी गोलियां मिस नहीं हो, गोली-मुक्त सप्ताह के बाद समय पर गोली को फिर से गोली लेना शुरू करना और आवश्यक होने पर अतिरिक्त गर्भनिरोधक सावधानी बरतने के लिए इतेमाल करना।

कई जन्म नियंत्रण विकल्प आज उपलब्ध हैं, और जन्म नियंत्रण की गोली एक उत्कृष्ट विकल्प है। लेकिन आपके लिए सबसे अच्छा जन्म नियंत्रण विकल्प कई कारकों पर निर्भर करता है। एक विकल्प खोजने के लिए जो आपके लिए काम करता है, अपने डॉक्टर से बात करें.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!