अलप्रोस्टाडिल Alprostadil इरेक्टाइल डिसफंक्शन के लिए

Alprostadil अलप्रोस्टाडिल को किस लिए इस्तेमाल करते हैं? अलप्रोस्टाडिल इरेक्टाइल डिसफंक्शन की एक एलोपैथिक दवाई prescription drug है। अलप्रोस्टाडिल के क्या क्या दुष्प्रभाव हैं? What are Alprostadil Side-effects?

अलप्रोस्टाडिल Alprostadil, एक एलोपैथिक दवाई है जिसे इरेक्टाइल डिसफंक्शन ED (erectile dysfunction) के दिया जा सकता है। यह दवा एक प्रिस्क्रिप्शन ड्रग है और इसे केवल और केवल डॉक्टर के पर्चे पर लिख के दिए जाने और बताई गई मात्रा और दिनों के लिए ही प्रयोग किया जाना चाहिए। गलत तरीके से लेने से यह नुकसान करती है।

Loading...

अलप्रोस्टाडिल, के इंजेक्शन और क्रीम या सपोजिटरी suppository प्रयोग के लिए उपलब्ध हैं। इंजेक्शन को सीधे पेनिस में लगाया जाता है। सपोजिटरी को पेनिस ग्लांस के छेद में दिए गए प्लंजर-बैरल-कैप से निकालकर सीधे पेनिस में डाला जाता है। हर सैशे में एक बार के प्रयोग के लिए दवाई होती है।

Alprostadil अलप्रोस्टाडिल को किस लिए इस्तेमाल करते हैं?

Alprostadil Indications

अलप्रोस्टाडिल इरेक्टाइल डिसफंक्शन की एक एलोपैथिक दवाई prescription drug है।

स्तंभन दोष या नपुंसकता या इरेक्टाइल डिसफंक्शन, संभोग के दौरान शिश्न के उत्तेजित न होने या उसे बनाए न रख सकने के कारण पैदा हुई यौन निष्क्रियता की स्थिति है। Erectile dysfunction (ED) is the inability to get or keep an erection firm enough to have sexual intercourse। It is also sometimes also referred to as impotence

स्तंभन या इरेक्शन वह स्थिति है जिसमें यौनोत्तेजना में पुरुष का शिश्न / पेनिस का आकार बढ़ जाता है और कड़ा हो जाता है। यौन रूप से उत्तेजिटी होने पर शिश्न की धमनियाँ स्वतः फैल जाती हैं, जिसके कारण अधिक रक्त शिश्न के तीन स्पंजी ऊतक कक्षों मे भर जाता है और इसे लंबाई और कठोरता प्रदान करता है। यह रक्त से भरे ऊतक रक्त को वापस ले जाने वाली शिराओं पर दबाव डाल कर सिकोड़ देते है, जिसके कारण अधिक रक्त प्रवेश करता है और कम रक्त वापस लौटता है। ऐसा होने से शिश्न को एक निश्चित स्तंभन आकार मिलता है।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन या स्तंभन दोष वह स्थिति है जिसमें एक पुरुष संभोग के लिए पर्याप्त इरेक्शन / स्तम्भन को पाने या उसे बरकरार रखने में असमर्थ रहता है।

इसे भी पढ़ें -  सेक्स लुब्रिकेंट्स Sex and Lubricants

यह कहा जा सकता है की व्यक्ति को स्तम्भन दोष है, यदि

  • उसे कभी कभी इरेक्शन होता है, लेकिन हर बार नहीं
  • इरेक्शन होता है लेकिन यह संभोग के लिए पर्याप्त समय तक नहीं रहता
  • व्यक्ति कभी भी इरेक्शन पाने में असमर्थ

इरेक्शन न होने को नपुंसकता भी कहा जाता है।

Alprostadil अलप्रोस्टाडिल क्तिनी प्रभावी है?

Loading...

Alprostadil effectiveness

एलप्रोस्टाडिल, ब्लड वेसेल को फैला देती है जिससे खून का दौरा तेज हो सके। इससे पूरे शरीर पर प्रभाव पड़ता है और पेनिस में इसके प्रभाव से अधिक खून जाता है और इसमें इरेक्शन हो सकता है।

एलप्रोस्टाडिल दवाई को इंजेक्शन या सपोजिटरी के माध्यम से सीधे पेनिस में डाला जाता है। इसे केवल इरेक्टाइल डिसफंक्शन में डॉक्टर के निर्देश पर ही इस्तेमाल करना च्चिये नहीं तो यह पेनिस को ही डैमेज कर सकती है।

  1. अलप्रोस्टाडिल के इंजेक्शन करीब 80 % मामलों में प्रभावी है।
  2. सपोजिटरी उतनी प्रभावी नहीं है। यह ह्केवल 30-40 % प्रभावी है।

अलप्रोस्टाडिल कितनी तेजी से काम करती है?

Alprostadil Action

एलप्रोस्टाडिल, का असर 5 से 20 मिनट में दिखने लगता है। इसके इस्तेमाल के आधे घंटे बाद सेक्स करना चाहिए। इसके इस्तेमाल से इरेक्शन करीब एक घंटे तक रह सकता है। सेक्स में स्खलन के बाद भी पेनिस में इरेक्शन बरकरार रह सकता है।

इसे सप्ताह में तीन बार से ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और 24 घंटे में केवल एक बार ही इस्तेमाल करना चाहिए। जयादा प्रयोग हानिकारक है। यह केवल 18 वर्ष से अधिक उम्र के पुरुषों के लिए है।

किसे अलप्रोस्टादिल का प्रयोग नहीं करना चाहिए?

Alprostadil Contraindications

  1. अलप्रोस्टादिल को नहीं प्रयोग करना चाहिए, यदि:
  2. इससे एलर्जी है।
  3. यदि किसी दवा, खाद्य पदार्थ, परिरक्षकों जैसे अन्य पदार्थों से एलर्जी है।
  4. यदि हर्बल दवा, आयुर्वेदिक दवा, कोई अन्य दवा लेते हैं।
  5. पेनाइल इम्प्लांट लगा है।
  6. कभी भी आपको लम्बे समय तक दर्दनाक इरेक्शन priapism हुआ है।
  7. ब्लड प्रेशर पोजीशन के साथ कम हो जाता है, हार्ट अटैक हुआ है या चक्कर आने की समस्या है।
  8. हाइपोटेंशन है।
  9. हाइपरटेंशन की दवा के साथ इससे अधिक चक्कर आना या बेहोशी हो सकती है।
  10. ब्लड क्लॉट न बने, इसकी दवा ले रहे हैं।
  11. पेनिस की बनावट में कोई समस्या है।
  12. पेनिस में सूजन है।
इसे भी पढ़ें -  पेनिस पर स्पॉट Lumps and Spots on the Penis के कारण

कंडोम का प्रयोग करें, यदि,

  1. पार्टनर प्रेग्नेंट है।
  2. स्तनपान कराती है।
  3. ओरल या एनल सेक्स करना है।
  4. एसटीडी को रोकना है।

इसके अलावा, यदि आपके पास कोई मेडिकल समस्या है, तो विशेष रूप से अपने चिकित्सक से कहें:

  1. पेनिस में कोई समस्या है, जैसे टेढ़ापन-जन्मजात रोग आदि।
  2. रक्त स्राव समस्या है।
  3. पेनिल संक्रमणहै।
  4. पेनी लाल या खुजली युक्त है।
  5. सिकल सेल रोग, थ्रोम्बोसाइथेमिया (उच्च प्लेटलेट्स की संख्या) है।
  6. ब्लड थिनर लेते हैं।
  7. पेरोनी रोग Peyronie’s disease है।

अलप्रोस्टाडिल इंजेक्शन कैसे इस्तेमाल करते हैं?

Alprostadil Injections

डॉक्टर से आपको यह जानना और सीखना होगा कि इंजेक्शन को सही तरीके से कैसे लगायें।

बताये गए निर्देशों का पालन करें।

सिरिंज में दवा खींचने से पहले, साबुन और पानी से अपना हाथ धो लें। अल्कोहल स्वाब से इंजेक्शन की बोतल के शीर्ष को साफ करें। इंजेक्शन को तुरंत उपयोग करें। सिरिंज में किसी भी अप्रयुक्त मिश्रण को फेंक दें। इसे स्टोर न करें। सुइयों को फेंक दें और पुन: उपयोग न करें!

अलप्रोस्टाडिल सपोसिटरी कैसे डालते हैं?

Alprostadil Suppository

अलप्रोस्टाडिल सपोसिटरी 200 and 300 mcg / 100 mg, में उपलब्ध है।

सबसे पहले पेशाब कर लें जिससे थोड़ी मात्रा में बचा हुआ यूरिन सपोसिटरी को घुला ले। दिए गए निर्देशों के अनुसार इसे प्रयोग करें। पेनिस टिप पर मौजूद टिप से इसे पेनिस में डाला जाता है।

इसे डालने के बाद पेनिस को हाथों से कुछ सेकंड्स तक घुमाएं।इसमें आपको कुछ जलन महसूस हो सकती है जो दवाई के कारण होता है। चलें, जिससे पेनिस में खून का दौरा ठीक से हो।

मुझे कैसे पता चलेगा कि कौन सा विकल्प मेरे लिए सही है?

इंजेक्शन या सपोसिटरी, दोनों में से कौन सा इस्तेमाल करना है, यह आपकी पसंद और डॉक्टर के निर्देश पर निर्भर है।

इंजेक्शन 80 % कारगर हैं लेकिन इसे लगाना कठिन और दर्दयुक्त है।

पेनिस टिप से दवा डालना आसान है लेकिन यह कुछ कम प्रभावी है।

इसे भी पढ़ें -  डी कोल्ड टोटल टैबलेट D'COLD TOTAL

अलप्रोस्टाडिल के क्या क्या दुष्प्रभाव हैं?

Alprostadil Side-effects

  1. पेनिस में दर्द या डिसकम्फर्ट हो सकता है।
  2. पेनिस में खुजली हो सकती है, पानी का रिटेंशन हो सकता है।
  3. ग्लांस पेनिस में सूजन हो सकती है जिसे बेलेनाइटिस balanitis कहते हैं।
  4. पेनिस में टेढ़ापन आ सकता है।
  5. पेनिस में सुन्नता या झुनझुनी हो सकती है।
  6. इरेक्शन लम्बे समय तक रह सकता है।
  7. इसके प्रयोग से पेशाब में खून जा सकता है।
  8. पेशाब की जलन हो सकती है।
  9. योनि में पेनिस डालने पर योनि में जलन, खुजली या सूजन हो सकती है।

 कई अन्य संभावित साइड इफेक्ट्स

  1. चक्कर आना
  2. बेहोशी
  3. तेज पल्स चलना
  4. गुप्तागों में रैश
  5. गुप्तांगों का फूल जाना
  6. पेशाब का इन्फेक्शन
  7. वृषण में दर्द
  8. पेनिस में सेंसेशन का पता नहीं लगना
  9. पार्टनर की योनि में खुजली

दवा को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। दवा को फ्रिज में रखें लेकिन जमने नहीं दें। बची दवा को फेक दें और रौशनी और नमी से दूर रखें।

Alprostadil (Caverject, Edex) is Injectable or pellet or suppository medication for Erectile Dysfunction. The way to use injection can be learned from a specially trained urologist.  Instead of using an injectable medication, a pellet or suppository of alprostadil (MUSE) can be inserted into the urethra. A prefilled applicator is used to deliver the pellet about an inch into the urethra.  This medicine helps to achieve stronger erections on sexual arousal. Alprostadil widens blood vessels to allow more blood in the penis. Erection begins within 8 to 10 minutes and may last 30 to 60 minutes.

This medicine has side effects, including a persistent erection known as priapism. Men should call a health care provider immediately if an erection lasts 4 hours or longer.

Alprostadil is a prescription drug and should be taken after consulting urologist.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!