आँतों की देखभाल के तरीके

जानिये आँतों को ठीक से काम करने के लिए आप को कैसे उनका ख्याल रखना चाहिए, अगर कोई अपनी आंतो का ठीक से देक्ग्भाल नहीं करता है तो उसे कब्ज, दस्त या फिर शौच को रोकने में दिक्कत हो सकती है।

मस्तिष्क या रीढ़ की हड्डी की चोट के बाद आसानी से काम करने वाली नसों को क्षतिग्रस्त किया जा सकता है। मल्टिपल स्केलेरोसिस वाले लोगों में उनके भी आंत के साथ समस्याएं होती हैं। अनियंत्रित मधुमेह वाले लोग भी प्रभावित हो सकते हैं। इसके लक्षणों में निम्न शामिल हो सकते हैं:

Dyspepsia

दैनिक आंत्र देखभाल कार्यक्रम आपको शर्मिंदगी से बचने में मदद कर सकता है अपने डॉक्टर के बताये तरीके के साथ काम करें।

आंत की देखभाल के बेसिक तरीके

सक्रिय रखने से कब्ज को रोकने में मदद मिलती है। चलने का प्रयास करें, यदि आप कर सकते हैं यदि आप व्हीलचेयर में हैं, तो अपने डॉक्टर से व्यायाम के बारे में पूछें।

फाइबर वाले बहुत अधिक भोजन खाएं, यह जानने के लिए कि भोजन होता में कितना फाइबर है, पैकेज और बोतलों पर लेबल पढ़ें

  • प्रति दिन 30 ग्राम फाइबर तक खाएं
  • बच्चों के लिए, उन फाइबर की ग्राम की संख्या प्राप्त करने के लिए बच्चे की उम्र में पांच जोड़ दें।

एक बार जब आप आंत्र की दिनचर्या जो आप के ठीक से पेट साफ़ होने के लिए काम कराती है, तो उसके साथ रहें।

  • शौचालय पर बैठने के लिए नियमित समय चुनें, जैसे भोजन या गर्म स्नान के बाद आपको दिन में 2 या 3 बार बैठना पड़ सकता है।
  • धैर्य रखें। प्रेशर के लिए 15 से 45 मिनट लग सकते हैं।
  • अपने पेट के माध्यम से स्टूल चलने में मदद करने के लिए अपने पेट को धीरे से रगड़ने की कोशिश करें।
  • जब आप आंत्र आंदोलन की आशंका महसूस करते हैं, तो शौचालय का तुरंत उपयोग करें। प्रतिक्षा ना करें।
  • यदि आवश्यक हो तो प्रतिदिन प्यूरीन का रस पीने पर विचार करें।

जब आपको शौच करने में समस्याएं हैं

अपने गुदा खोलने के दौरान चिकनाई करने में मदद करने के लिए के लिए K-Y जेली, पेट्रोलियम जेली या खनिज तेल का उपयोग करें।

आपको मलाशय में अपनी उंगली डालने की आवश्यकता हो सकती है आपका प्रदाता आपको बता सकता है कि आंत्र आंदोलनों के साथ मदद करने के लिए क्षेत्र को धीरे से कैसे प्रोत्साहित करें। आपको कुछ मल उंगली से भी हटाने की भी आवश्यकता हो सकती है।

इसे भी पढ़ें -  कब्ज के लिए घरेलू उपचार और उपाय इन हिंदी

जब तक मल कम नहीं हो जाता है तब तक आप को एनीमा, स्टूल सॉफ्टनर या रेचक का उपयोग कर सकते हैं और आपके लिए आंत्र आंदोलन करना आसान है।

जब आपकी शौच की आदत एक महीने के लिए स्थिर हो गयी है, तो धीरे-धीरे इन दवाइयों के इस्तेमाल में कमी करें।

हर रोज़ जुलाब का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से जांच करें एनीमा और जुलाब का प्रयोग अक्सर कई बार समस्या को बदतर भी बना सकते हैं।

आंतों पर नियंत्रण खोना (असंयम)

Loading...

नियमित आंत्र की देखभाल के बाद के बाद शौच को रोकने में मदद मिल सकती है। ऐसे संकेतों के बारे में सीखें, जिससे आपको पता लगता है की आप को प्रेशर आने वाला है, जैसे:

  • बेचैन या पागल लग रहा है
  • अधिक गैस छोड़ना
  • मतली महसूस करना (उलटी लगना)
  • नाभि के ऊपर पसीना, अगर आपको रीढ़ की हड्डी की चोट होती है

यदि आप अपने आंतों पर नियंत्रण खो देते हैं, तो अपने आप से ये प्रश्न पूछें:

  • मैंने क्या खाया या पी लिया?
  • क्या मैं अपने आंत्र कार्यक्रम का पालन कर रहा हूं?

अन्य सुझावों में शामिल हैं:

  • हमेशा एक बिस्तर पैन या शौचालय के पास रहने का प्रयास करें सुनिश्चित करें कि आपके पास बाथरूम की पहुंच है।
  • हमेशा खाने के बाद शौचालय या बिस्तर पैन पर लगभग 20 या 30 मिनट बैठें।
  • जब आप बाथरूम के निकट होते हैं तो समय पर ग्लिसरीन सपोसिटरी या ड्यूलक्लैक्स का प्रयोग करें।
  • सीखें कि कौन से खाद्य पदार्थ आपके आंत्र को उत्तेजित करते (प्रेशर बनाते) हैं या दस्त का कारण बनता है। आम उदाहरण दूध, फलों का रस, कच्चा फल और बीन्स या फलियां हैं।

सुनिश्चित करें कि आप को कब्ज नहीं है, बहुत खराब कब्ज में कुछ लोग मल के चारो ओर द्रव का रिसाव करते हैं।

चिकित्सक को कब कॉल करें

अगर आप निम्न का ध्यान दें तो अपने डॉक्टर को कॉल करें:

  • आपके पेट में दर्द जो ठीक नहीं होता है
  • आपकी मल में रक्त
  • आप आंत्र देखभाल पर अधिक मात्रा में खर्च कर रहे हैं
  • आपका पेट बहुत फूला हुआ या distended है
इसे भी पढ़ें -  सुबह खाली पेट गर्म पानी पीने के 10 लाभ

Related Posts

मल से बहुत ज्यादा बदबू आना
आमाशय का अल्सर क्या है और इसके लक्षण कैसे होते हैं?
पेट में अल्सर (आमाशय या गैस्ट्रिक अल्सर ) का इलाज और बचने के तरीके
मानव पाचन तंत्र और यह कैसे काम करता है
पेट में गैस क्या है? जानिये आँतों में गैस के लक्षण और कारण

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!