पुरुष बांझपन के लक्षण, टेस्ट और इलाज

जानिये पुरुष बांझपन के लक्षण, कारण, कम शुक्राणु गिनती, उपचार घरेलू उपचार और इलाज। Know what are male infertility symptoms, treatment, home remedies and precautions in Hindi?

पुरुष बांझपन (मेल इनफर्टिलिटी) का तब पता चलता है जब कपल बच्चे के लिए कोशिश कर रहे होते हैं और एक साल कोशिश करने पर असफल रहने पर डॉक्टर से संपर्क करते हैं। डॉक्टर द्वारा बताई जांचों से दिक्कत स्त्री में है कि पुरुष में पता चल पाता है। करीब तीस प्रतिशत मामलों में समस्या पुरुष की तरफ से होती है।

Loading...

मेल इनफर्टिलिटी या पुरुष बाँझपन, के कई कारण हो सकते हैं। यह कम स्पर्म, स्पर्म की गड़बड़ियों, स्पर्म के रास्ते में ब्लॉकेज, चोट, पुरानी बीमारी, हार्मोन संबंधी गड़बड़ी, शारीरिक-मनोवैज्ञानिक समस्याओं या खराब जीवन शैली के कारण से हो सकता है। पुरुष बांझपन, स्पर्म के प्रोडक्शन या ट्रांसपोर्ट में पैदा हुई किसी समस्या से हो सकता है। स्पर्म वो जीवित सेल्स हैं जो की स्खलन के समय पुरुष के वीर्य में मौजूद होती हैं। यह नग्न आँखों से नहीं देखे जा सकते। स्खलन के बाद यह स्त्री प्रजनन अंगों में तेज़ी से आगे बढ़ते हिं और अंडाणु को निषेचित कर जीवन की शुरुवात करते हैं। स्पर्म की मात्रा, संख्या, गुणवता, या किसी भी अन्य समस्या में ये काम नहीं हो पाता और कपल के संतान नहीं हो पाती। बहुत से मामलों में यह समस्या पूरी तरह से दूर की जा सकती है। कुछ मामले में डॉक्टर आईवीऍफ़ assisted reproductive technologies (ART), such as IVF का सुझाव दे सकते हैं। आईवीऍफ़ में बहुत कम स्पर्म काउंट होने पर भी खुद की संतान हो सकती है।

Infertility is a widespread problem. For about one in five infertile couples the problem lies solely in the male partner. In about one in four couples, there are problems with both male and female partners, and in about one in seven infertile couples, the cause of the problem cannot be found (idiopathic infertility). Male infertility is diagnosed when, after testing both partners, reproductive problems have been found in the male. Many men will still be able to father children naturally even though they may have a lowered sperm count.

इसे भी पढ़ें -  स्टड 100 Stud 100 Male Genital Desensitizer Spray

पुरुष बांझपन के लक्षण क्या हैं?

ज्यादातर मामलों में इनफर्टिलिटी (पुरुष बाँझपन) का कोई विशेष लक्षण नहीं होता। लेकिन कुछ मामलों में निम्लिखित लक्षणों को देखा जाता है:

  1. इरेक्शन, एजाकुलेशन का सामान्य न होना
  2. शरीर पर बाल कम होना
  3. पुरुष में स्तनों का बढ़ जाना gynecomastia
  4. बार-बार गले का इन्फेक्शन
  5. सुंघाई न देना
  6. टेस्टिकल में दर्द, सूजन या गाँठ होना
  7. स्पर्म काउंट कम होना आदि
  8. अन्य यौन समस्याएं

पुरुष बांझपन के कारण क्या हैं?

Loading...

पुरुषों में इनफर्टिलिटी के बहुत से कारण हो सकते हैं. उनमें से कुछ कारण निम्नलिखित हैं:

शुक्राणु उत्पादन की समस्याएं:

  1. क्रोमोसोमल या आनुवंशिक कारण
  2. undescended वृषण
  3. संक्रमण
  4. वृषण में अंदरूनी अंडकोष का मुड़ा होना
  5. वैरीकोसील (टेरीस में वैरिकाज़ नसों)
  6. दवाएं और रसायन
  7. विकिरण क्षति
  8. अज्ञात कारण

शुक्राणु परिवहन के रुकावट:

  1. संक्रमण
  2. प्रोस्टेट संबंधी समस्याएं
  3. वास डिफरेंस की अनुपस्थिति
  4. पुरुष नसबंदी

यौन समस्याएं (इरेक्शन और स्खलनकारी समस्याएं)

  1. रेट्रोग्रेड या समयपूर्व स्खलन
  2. स्खलन की विफलता
  3. स्तंभन दोष
  4. रीढ़ की हड्डी में चोट
  5. प्रोस्टेट सर्जरी
  6. तंत्रिकाओं को नुकसान
  7. कुछ दवाइयां

हार्मोनल समस्याएं

  1. पिट्यूटरी ट्यूमर
  2. एलएच / एफएसएच की जन्मजात कमी (पिट्यूटरी की जन्म से समस्याएं)

शुक्राणु एंटीबॉडीज

  1. पुरुष नसबंदी
  2. एपिडीडिमिस में चोट या संक्रमण
  3. अज्ञात कारण

वैरीकोसेल varicocele क्या है?

वैरीकोसेल | वैरीकोसील, वृषण में वेंस (रक्‍तवाहिनी) के बढ़ जाने enlargement of the veins को कहते हैं. यह वैरिकाज़ नस  varicose vein के समान है जो आपके पैर में हो सकती है।

वैरीकोसेल से स्पर्म का बनना और गुणवत्ता कम हो जाती है जिससे बांझपन पैदा हो सकता है। हालांकि, सभी वैरीकोसेल शुक्राणु उत्पादन को प्रभावित नहीं करते हैं। अधिकांश वैरीकोसेल का निदान करना आसान होता है। अगर वैरिकोसिल लक्षणों का कारण बनता है, तो अक्सर शल्य चिकित्सा से इसे ठीक कर सकते हैं।

कोई लक्षण नहीं होने पर इसका कोई उपचार भी कराया जाता। लेकिन, यदि आप अपने वृषण में दर्द या सूजन का अनुभव करते हैं, अंडकोष भिन्न आकार के हैं, प्रजनन समस्याएं आ रही हैं, तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें क्योंकि इसे तुरंत ही उपचार की आवश्यकता होती है।

इसे भी पढ़ें -  आप का लिंग बहुत छोटा है, Really Small Penis?

मेल इनफर्टिलिटी के रिस्क फैक्टर्स क्या हैं?

मेल इनफर्टिलिटी को बढ़ाने वाले फैक्टर्स नीचे दिए गए हैं:

  1. पुरुष बांझपन से जुड़े जोखिम कारक में शामिल हैं:
  2. उम्र, चालीस के बाद फर्टिलिटी घटने लगती है
  3. वैरीकोसील Varicocele
  4. रेट्रोग्रेड एजाकुलेशन Retrograde ejaculatio
  5. तंबाकू का सेवन
  6. धूम्रपान करना
  7. शराब पीना
  8. ड्रग्स, मारिजुआना का सेवन
  9. वजन ज़्यादा होना
  10. टेस्टोस्टेरोन का एक्स्पोज़र
  11. संक्रमण
  12. विषाक्त पदार्थों जैसे लेड। मरकरी, कैडमियम आदि के संपर्क में रहना
  13. अंडकोष का नीचे न उतरा हुआ होने का इतिहास Undescended testicles
  14. अंडकोष अधिक गरम रहना
  15. अधिक सौना बाथ लेना, गर्म बाथ टब में बैठना
  16. अंडकोष पर चोट
  17. स्टेरॉयड का इस्तेमाल
  18. होर्मोन की समस्या
  19. नसबंदी या मेजर पेट या श्रोणि शल्य चिकित्सा
  20. पैदाइश से प्रजनन संबंधी विकार
  21. परिवार में प्रजनन संबंधी विकार
  22. क्रोमोसोमल डिफेक्ट
  23. ट्यूमर और पुरानी बीमारियां
  24. कुछ दवाएं (flutamide, cyproterone, bicalutamide, spironolactone, ketoconazole, or cimetidine)
  25. विटामिन C और जिंक की कमी
  26. खून की कमी
  27. बहुत अधिक स्ट्रेस

जब कोई पुरुष अपनी मांसपेशियों को बढ़ाने के उद्देश्य से टेस्टोस्टेरोन या इसी तरह की दवाएं (टेस्टोस्टेरोन इंजेक्शन, प्रत्यारोपण, या कम टेस्टोस्टेरोन के लिए बाह्य जेल) लेता है तो भी उसकी फर्टिलिटी कम हो जाती है।

मेल इनफर्टिलिटी के लिए टेस्ट और निदान Tests and diagnosis क्या हैं?

पुरुष बांझपन समस्याओं का निदान करने के लिए निम्न टेस्ट किये जा सकते है:

  1. सामान्य शारीरिक परीक्षा और मेडिकल हिस्ट्री
  2. सीमेन एनालिसिस Semen analysis: वीर्य को शुक्राणुओं की संख्या को मापने, शुक्राणु के आकृति और गतिशीलता के लिए तथा किसी भी असामान्यता को जानने के लिए।
  3. स्क्रोटल अल्ट्रासाउंड: अंडकोष और सहायक अंगों में वैरिकोसेले या अन्य समस्याएं देखने के लिए।
  4. स्खलन के बाद यूरिन एनालिसिस: रेट्रोग्रेड एजाकुलेशन देखने के लिए।
  5. आनुवंशिक परीक्षण
  6. टेस्टिक्युलर बायोप्सी
  7. ट्रांसरेक्टल अल्ट्रासाउंड

मेल इनफर्टिलिटी का इलाज़ क्या है?

मेल इनफर्टिलिटी का एकदम सही कारण पता लगा पाना मुश्किल है। लिकिन डॉक्टर टेस्ट और लक्षणों के आधार पर ट्रीटमेंट करते हैं। इसके लिए कुछ उपलब्ध उपचार नीचे दिए गए हैं:

इसे भी पढ़ें -  ओरल सेक्स Oral Sex कुछ सवाल और जवाब

सर्जरी: वैरिकोसेले को शल्यचिकित्सा से ठीक किया जा सकता है या एक बाधित वास डिफरेंस की मरम्मत की जा सकती है। नसबंदी को करेक्ट किया जा सकता है। जहां स्खलन में कोई शुक्राणु मौजूद नहीं है, शुक्राणु को अंडकोष या एपिडीडिमिस से सीधे प्राप्त कर सकते हैं।

संक्रमण का इलाज: एंटीबायोटिक द्वारा संक्रमण का इलाज किया जा सकता है।

यौन संभोग समस्याओं के लिए उपचार: इरेक्शन या समय से पहले स्खलन जैसी परिस्थितियों में प्रजनन क्षमता को सुधारने के लिए दवा, सुझाव और काउन्सलिंग की जा सकती है।

हार्मोन द्वारा उपचार और दवाएं: जब बांझपन कुछ हार्मोन के उच्च या निम्न स्तर के कारण हो तो होर्मोन का प्रयोग इनफर्टिलिटी में किया जा सकता है।

सहायक प्रजनन तकनीक (एआरटी): एआरटी Assisted reproductive technology (ART) उपचार में शुक्राणुओं को निकाल कर महिला जननांग पथ या इन विट्रो निषेचन या इंट्रायोटिकॉप्लास्मेक शुक्राणु इंजेक्शन में प्रयोग किया जाता है।

यदि मेल इनफर्टिलिटी में उपयोगी कुछ सुझाव

गर्भ ठहरने के चांस को बढ़ाने के लिए कुछ उपाय किया जा सकते हैं, जैसे:

सेक्स की फ्रीक्वेंसी बढ़ाएं: ओव्यूलेशन होने के आस – पास हर दूसरे दिन पर सेक्स करने से गर्भवती होने की संभावना बढ़ जाती है। ओवुलेशन मासिक धर्म चक्र के बीच में होता है।

लुबरिकेंट के उपयोग से बचें: उत्पाद जैसे एस्ट्रोगलाइड या के-वाई जेली, लोशन, और लार, शुक्राणु के सही काम करने को रोक सकते हैं इसलिए इनका उपयोग न करें।

निम्न भोज्य पदार्थ स्पर्म की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार ला सकते हैं:

  1. अल्फा-लिपोइक एसिड
  2. एल आर्जिनिन
  3. बीटा कैरोटीन
  4. बायोटिन
  5. एल एसिटील कार्निटाइन
  6. फोलिक एसिड
  7. ग्लूटेथिओन
  8. लाइकोपीन
  9. मैगनीशियम
  10. एन-एसिटाइल सिस्टीन
  11. फॉस्फोडाइटेरस -5 इनहिबिटरस
  12. पोली अनसेचुरेटेड फैटी एसिड
  13. सेलेनियम
  14. विटामिन ए, सी, डी और ई
  15. जिंक आदि।

अन्य सुझाव

  1. स्ट्रेस न करें।
  2. पानी पर्याप्त मात्रा में पियें।
  3. हल्का भोजन करें।
  4. फल-सब्जियां खाएं।
  5. व्यायाम करें।
  6. खुश रहें।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!