अमरूद खाने के फायदे Benefits of Guava, Time to Eat and Who Should not Eat it

अमरूद के फल में टैनिन tannins, फिनोल phenols, ट्रीटरपेंस triterpenes, फ्लावोनोइड्स flavonoids, एसेन्शिअल ऑयल्स, सैपोनिंस saponins, कैरोटीन carotenoids, लेक्टिन lectins, विटामिन, फाइबर, फैटी एसिड आदि होते हैं। अमरुद खाने से शरीर से हानिकारक तत्वों बाहर होते हैं। पेट का दर्द, दस्त, मधुमेह, खांसी, मोतियाबिंद, उच्च कोलेस्ट्रॉल, हृदय रोग आदि में अमरूद का प्रयोग लाभकारी होता है।

अमरूद एक पौष्टिक लेकिन सस्ता फल है। सस्ता होने से शायद लोग इसे कम आंकते हैं। लेकिन सच्चाई तो ये हैं कि पौष्टिकता में ये कही से भी सेब या किसी अन्य फल से कम नहीं है। यह विटामिन सी, फाइबर, और एंटीऑक्सीडेंट आदि से भरा फला है जिसे खाने से शरीर की इम्युनिटी को बढाते हैं। अमरुद खाने से शरीर से हानिकारक तत्वों बाहर होते हैं। पेट का दर्द, दस्त, मधुमेह, खांसी, मोतियाबिंद, उच्च कोलेस्ट्रॉल, हृदय रोग आदि में अमरूद का प्रयोग लाभकारी होता है।

अमरूद में विटामिन सी होता है जो कोलेजन के शरीर में संश्लेषण के लिए ज़रूरी है। विटामिन सी घावों को ठीक करने में मुख्य भूमिका निभाता है तथा यह एल-कार्निटाइन और अन्य तंत्रिका-ट्रांसमीटर के संश्लेषण के लिए भी आवश्यक है। विटामिन सी प्रोटीन चयापचय में शामिल है। विटामिन सी या एस्कॉर्बेट से शरीर में इम्युनिटी बढ़ती है और बार बार होने वाली सर्दी-खांसी के लक्षण कम होते हैं।

अमरूद की पौष्टिकता

अमरूद के फल में टैनिन tannins, फिनोल phenols, ट्रीटरपेंस triterpenes, फ्लावोनोइड्स flavonoids, एसेन्शिअल ऑयल्स, सैपोनिंस saponins, कैरोटीन carotenoids, लेक्टिन lectins, विटामिन, फाइबर, फैटी एसिड आदि होते हैं।

यह विटामिन सी, विटामिन ए, आयरन, कैल्शियम, मैंगनीज,फास्फोरिक, ओक्सालिक और मैलिक एसिड, सैपोनिन ओलेक्नोलिक एसिड आदि का अच्छा स्रोत है।

अमरूद के फल में खट्टे फलों से ज्यादा विटामिन सी पाया जाता है।

अमरूद फल पेक्टिन pectin का अच्छा स्रोत है। पेक्टिन एक घुलनशील पोलीसेकराईड्स polysaccharides है जो की जैम और जैली बनाने में उपयोगी है। यह डाइटरी फाइबर है dietary fiber जो की ज्यादा कोलेस्ट्रोल serum cholesterol levels, ज्यादा ट्राइग्लिसराइड, आदि को कम करने में उपयोगी है।

अमरूद एक सुपरफ्रूट है जो विटामिन ए और सी से भरपूर है, जिसमें फाइबर, फोलिक एसिड, खनिज जैसे की पोटेशियम, तांबा और मैंगनीज आदि मौजूद हैं। अमरूद सेब से अधिक गुणकारी पर उससे सस्ता फल है।

इसे भी पढ़ें -  कान की नस कमजोर होने की वजह से बहरापन का इलाज

यदि आप 100 ग्राम अमरुद खाते हैं। तो आपको निम्न पोषण मिलता है:

  • कैलोरीज 77-86g
  • मॉइस्चर 2.8-5.5g
  • क्रूड फाइबर 0.9-1.0g
  • प्रोटीन 0.1-0.5
  • फैट 0.43-0.7
  • कार्बोहायड्रेट 9.1-17mg
  • कैल्शियम 17.8-30mg
  • फ़ास्फ़रोस 0.30-0.70mg
  • पोटाशियम 417 mg
  • आयरन 200-400 I.U.
  • कैरोटीन (Vitamin A) 0.046mg
  • थायमिन 0.03-0.04mg
  • राइबोफ्लेविन 0.6-1.068mg
  • नियासिन 40 I.U.
  • विटामिन B3 35 I.U.
  • विटामिन C 228.3 mg

अमरूद के औषधीय गुण Medicinal Properties of guava

Loading...
  • जीवाणुरोधी: बैक्टीरिया के खिलाफ सक्रिय active against bacteria।
  • दस्त के खिलाफ active against diarrhea।
  • एंटीऑक्सीडेंट: फ्री रेडीकल और अन्य पदार्थों के ऑक्सीडेंट के प्रभाव को बेअसर करना neutralize the oxidant effect of free radicals and other substances।
  • एंटीसेप्टिक: संक्रामक एजेंटों के विकास में बाधा द्वारा संक्रमण को रोकने में सक्षम Capable of preventing infection by inhibiting the growth of infectious agents।
  • सूजन कम करने वाला: Reducing inflammation by acting on body mechanisms।
  • अनैच्छिक मांसपेशी के ऐंठन से राहत used to relieve spasm of involuntary muscle।
  • कसैला Constrict tissues; styptic।
  • क्त में शर्करा ग्लूकोज के स्तर को कम करना reducing level of the sugar glucose in the blood।

अमरुद खाने के फायदे

अमरूद खाने के अनेकों फायदे हैं। जिन में से कुछ नीचे दिए जा रहे है।

फैट में कम पौष्टिकता में ज्यादा

यह कैलोरी और वसा में कम है। यह विटामिन ए, सी, फाइबर, फोलिक एसिड, खनिज, पोटेशियम, तांबा और मैंगनीज का अच्छा स्रोत है। यह विटामिन सी (228mg/100g)का अच्छा स्रोत है। एक अमरूद में संतरे की तुलना में विटामिन सी की मात्रा चार गुना है । इसमें फोलिक एसिड होता है। इसमें तांबे है जो थायरॉयड ग्रंथि के समुचित कार्य के लिए शरीर में आवश्यक है।

इसमें मैंगनीज है जो भोजन से आवश्यक पोषक तत्वों को अवशोषित करने में मदद करता है।

पेट करे साफ़

यह अच्छा विरेचक bulk laxative है। इसे खाने से पेट साफ़ होती है और कब्ज़, पाइल्स आदि में राहत होती है।

हृदय के लिए अच्छा

इसे भी पढ़ें -  गर्मियों में क्या खाना चाहिए

इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स कम होता है। इसमें पोटेशियम है जो रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद करता है।

पाचन के लिए उपयोगी

अमरुद खाने से पाचन तंत्र मजबूत होता है। पेट में सूजन Gastritis है, तो अमरूद के फल का सेवन करें। कब्ज़ होने पर अमरूद का फल खाना चाहिए।

गैस, अपच gas, indigestion हो तो अमरूद पर सोंठ dry ginger powder, काली मिर्च black pepper और सेंधा नमक rock salt डाल कर खाएं।

भांग का नशा cannabis intoxication उतारे

ऐसे में अमरुद के फल खाने से फायदा होगा।

दिमाग को दे ताकत

दिमाग सही से काम करे इसके लिए दिन में दो बार अमरूद खायें।

बढाए शरीर की ताकत

अमरुद में मौजूद विटामिन, मिनरल, फाइबर आदि मौजूद हैं जो शरीर के आंतरिक अंगों को सही से काम करने में मदद करते हैं। शरीर को सही पोषण मिलता है, अवशोषण ठीक होता है और कब्ज़ भी दूर होती है। इन सभी कारणों से खाया पिया ठीक से लगता है और शरीर में बल आता है।

दे आराम पाइल्स में

पाइल्स या अर्श या बवासीर एक बड़ी तकलीफदेह स्थति है। पाइल्स में गुदा के आसपास की रक्त वाहिकाएं जोर पड़ने से खिंच कर सूज जाती है जिससे हेमेरोइड्स या मस्से हो जाते हैं। यह मुख्य रूप से कब्ज़ और पेट का रोग है। लगातार रहने वाला कब्ज़ से मलाशय में घाव हो सकता है। ऐसे में रोजाना अमरुद का सेवन करने से पेट साफ़ होगा और शौच में तकलीफ नहीं होगी।

सुबह हो सके तो खाली पेट अमरुद खाएं। लेकिन याद रखें इसमें फाइबर ज्यादा है। इसलिए इसे खली पेट खाने से गैस बन सकती है। ऐसे में इसे कुछ खा कर खाएं तो अधिक बेहतर।

जुकाम खांसी में लाभप्रद

खांसी की समस्या हो तो अमरुद को भून कर खाएं। साथ ही अदरक के रस और शहद का भी दिन में तीन बार सेवन करें। लाभ ज़रूर होगा।

इसे भी पढ़ें -  हांथ की उंगलियों और अंगूठे का अकड़ जाना

सर्दी में जुखाम हो तो अमरुद खाएं और साथ में गुड़ का सेवन करें। गर्म सूप पियें और सर्दी की हवाओं को नाक में नहीं जाने दें।

सिर के दर्द में उपकारी

अमरुद के पेस्ट को माथे पर लगाएं। साथ ही नाक में बादाम रोगन डालें। अँधेरे कमरे में लेट जाएँ और डीप ब्रेथिंग करें।

फोड़े फुंसी करे दूर

अमरुद कब्ज़ में लाभप्रद है। कब्ज़ होती है तो शरीर में विषैले पदार्थ जमा होने लगते हैं। शरीर में अग्र्मी और विषाक्तता बढ़ जाती है। ऐसे में अमरुद खा कर देखें। आराम मिलेगा। यह खून साफ़ करेगा और कब्ज़ का निवारण भी करेगा। इस प्रयोग के लिए आपको कम से एक महीने रोजाना अमरुद खाना होगा।

खाना खाने के तुरंत बाद फल खा लेते हैं जो नुकसानदायक है। इससे खाना पचने में परेशानी होती है। जिससे पेट में गैस,अपच,जलन और भारीपन जैसी परेशानियां हो सकती है।

अमरूद करे वज़न कम

अमरूद खाने से आपको ज़रूरी प्रोटीन, विटामिन और फाइबर और विभिन्न प्रकार के खनिजमिलते हैं। इसमें फैट, चीनी, कोलेस्ट्रॉल अनुपस्थित होता है और सुपाच्य कार्बोहाइड्रेट भी कम मात्रा में पाया जाता है। तो इसे खाने से पेट भर जाएगा और आप अधिक कलोरी वाला खाना नहीं खायेंगे।

डायबिटीज में करे फायदा

अमरूद में उच्च मात्रा में फाइबर होताहै। यह कार्बोहायड्रेट के अवशोषण में सुधार लाता है। यह इन्सुलिन के स्तर में स्थिरता बनाता है।

कैंसर से करे बचाव

अमरूद कैंसर की कोशिकाओं के विकास को रोकने में सहायक है। शोध बताते हैं, अमरूद बहुत अच्छा एंटी-ऑक्सीडेंट है और प्रोस्टेट और ब्रैस्ट कैंसर को कम एवं उनसे बचाव करने में भी बहुत सहायक है। इसके अलावा अमरूद विटामिन सी पाया जाता है जो शरीर को फ्री रेडिकल डैमेज से बचाता है।

विटामिन सी का अच्छा और सस्ता स्रोत

अमरूद में विटामिन सी की अच्छी मात्रा पायी जाती है। विटामिन सी एक एंटीऑक्सीडेंट है। अमरुद खाने से विटामिन सी की कमी से होने वाले स्कर्वी रोग से भी बचाव होता है।

इसे भी पढ़ें -  रूखे और बेजान बाल क्या है और सूखे बालों का उपचार कैसे किया जाता है

उच्च कोलेस्ट्रॉल को करे कम

अमरूद कोलेस्ट्रॉल कम करता है। यह”खराब” कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल को कम करता है।

किन लोगों को अमरुद नहीं खाना चाहिए?

  • जिन लोगों को पाचन की समस्या है। अधिक फाइबर खाने से दिक्कत होने लगती है उन्हें इसका सेवन नहीं करना चाहिए या कम करना चाहिए।
  • बारिश के अमरूद में कीड़े होते हैं। कीड़े युक्त अमरूद खाने से बचें।
  • अमरुद के बीज को चबाना नहीं चाहिए। इसे निगल जाएँ।
  • जिन लोगों को पोटेशियम कम लेने की सलाह है, उन्हें भी यह कम मात्रा में ही खाना चाहिए।
  • अमरुद खाने के बाद पेट में ऐंठन, दर्द होता है तो इसे नहीं खाएं।

अमरूद खाने का सही समय

  • जिन्हें खाली पेट फल खाने से गैस की समस्या होती हो वो भोजन करने के थोड़ी देर बाद इसका सेवन करें तो अधिक बेहतर है।
  • इसमें फाइबर की उच्च मात्रा है इसलिए इसे बहुत अधिक नहीं खाना चाहिए। जिन लोगों को कम
  • Antibiotics (Tetracycline antibiotics), Digoxin, Lovastatin, लेते हैं, तो दवा और अमरुद को एक साथ नहीं खाएं।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.