मैनिंजाइटिस (मस्तिष्क ज्वर) Meningitis हिंदी में जानकारी

मैनिंजाइटिस meningitis क्या है? इसके लक्षण क्या होते हैं और इसका इलाज कैसे किया जाता है, क्या meningitis का कोई टीका (vaccine) होता है? अगर किसी को meningitis हो जाए तो उसे तुरंत किसी अच्छे हॉस्पिटल जाना चाहिए।

मैनिंजाइटिस (Meningitis), मस्तिष्क ज्वर या दिमागी बुखार एक संक्रमण है जो मस्तिष्क की नाजुक झिल्ली, मेनिंग्स को प्रभावित करता है। मेनिंग्स, दिमाग और रीढ़ की हड्डी को कवर करने वाली झिल्ली है। मेनिन्जाइटिस के कई प्रकार हैं जोकि इसे करने वाले कारक, बैक्टीरिया, वायरल और फंगल, पर निर्भर हैं।

मैनिंजाइटिस meningitis क्या है? इन्सेफलाइटिस  encephalitis क्या है?

मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी में संक्रमण, खतरनाक सूजन पैदा कर सकता है। यह सूजन, बुखार, सिरदर्द, दौरे, व्यवहार में परिवर्तन  या भ्रम  सहित कई लक्षणों को पैदा कर सकता है और, अत्यधिक मामलों में, मस्तिष्क क्षति, स्ट्रोक, या मृत्यु भी पैदा कर सकता है।

दिमाग के मेनिन्जिस (मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के चारों ओर स्थित झिल्ली) के संक्रमण,  को मेनिन्जाइटिस कहा जाता है।

जबकि मस्तिष्क की सूजन को इन्सेफलाइटिस कहा जाता है।

मैनिंजाइटिस (Meningitis) के प्रकार

मैनिंजाइटिस के तीन प्रकार हैं, बैक्टीरियल, वायरल और फंगल।

बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस, सबसे खतरनाक है और एक दूसरे के निकट संपर्क में लोगों के बीच फैल सकता है। यह एक अत्यंत गंभीर बीमारी है और इसमें तुरंत चिकित्सा सहायता प्राप्त करने की आवश्यकता होती है नहीं तो यह जानलेवा हो सकता है या त्वरित उपचार के बिना मस्तिष्क क्षति पैदा कर सकता है। कई मामलों में, बैक्टीरियल मेनिनजाइटिस तब शुरू होता है जब बैक्टीरिया साइनस, कान या गले से खून में आते हैं और फिर रक्तप्रवाह से मस्तिष्क में पहुँच जाते हैं।

बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस कई अलग जीवाणुओं के कारण होता है:

  1. स्ट्रेप्टोकोकस निमोनिया (न्यूमोकोकस) Streptococcus pneumoniae
  2. निसेरिया मैनिंजाइटिडिस (मेनिंगोकोकस) Neisseria meningitidis
  3. लिस्टिरिया मोनोसाइटॉजिन्स (अधिक उम्र, गर्भवती महिलाएं, या प्रतिरक्षा तंत्र की समस्याओं वाले लोगों में) Listeria monocytogenes

निस्सेरिया मेनिंगिटिडिस और स्ट्रेप्टोकोकस न्यूमोनिया के लिए टीके उपलब्ध हैं और वे सभी बच्चों और साथ ही वयस्कों के लिए अनुशंसित होते किये जाते हैं जिन्हें यह रोग होने का अधिक रिस्क है।

इसे भी पढ़ें -  थायरॉयड रोग : कारण, लक्षण और उपचार | गलग्रंथि की बीमारी

मैनिंजाइटिस का बैक्टीरिया छींकते औइ खांसते समय फैल सकता है। यदि किसी व्यक्ति को आसपास यह रोग है तो इससे बचने के लिए ज़रूरी सेट्प्स लें।

वायरल मेनिन्जाइटिस कम गंभीर है और अधिकांश लोग बिना इलाज के ठीक से ठीक हो जाते हैं। वायरल मेनिन्जाइटिस वायरस के कारण से होता है।

फंगल मैनिंजाइटिस रोग का एक दुर्लभ रूप है। यह आमतौर पर केवल उन लोगों में होता है जिनके पास कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली होती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली के साथ कोई समस्या वाला कोई व्यक्ति – उदाहरण के लिए – एड्स के कारण, मैनिंजाइटिस के इस रूप से संक्रमित होने की अधिक संभावना है।

मेनिनजाइटिस (Meningitis) के कारण

Loading...

मैनिंजाइटिस लगभग हमेशा एक जीवाणु या वायरल संक्रमण के कारण होती है जो मस्तिष्क के अलावा शरीर में कहीं और शुरू होता है, जैसे कान, साइनस, या गले में।

मेनिनजाइटिस के कारणों में शामिल हैं:

  1. जीवाणु या वायरल संक्रमण
  2. हर्पिज़ वायरस
  3. फंगल संक्रमण
  4. परजीवी
  5. उपदंश
  6. यक्ष्मा
  7. ऑटोइम्यून विकार
  8. कैंसर की दवाएं

मेनिनजाइटिस (Meningitis) होने की अधिक संभावना किसे है?

  1. 5 साल से कम उम्र के बच्चे
  2. 16-25 आयु वर्ग के किशोर और युवा वयस्क
  3. 55 से अधिक वयस्क
  4. क्षतिग्रस्त या तिल्ली spleen नहीं होना
  5. कम इम्युनिटी
  6. क्रोनिक बीमारी

मैनिंजाइटिस के वायरस और बक्टेरिया आसानी से फैल सकते है, इसलिए इस रोग की उन जगहों पर प्रकोप होने की संभावना होती है जहां लोग एक दूसरे के करीब रहते हैं।

मेनिनजाइटिस (Meningitis) के लक्षण क्या हैं?

  1. सिर में दर्द Headache
  2. रौशनी से संवेदनशीलता Sensitivity to light (photophobia)
  3. बुखार Slight fever
  4. थकावट Fatigue
  5. Bacterial meningitis के लक्षण
  6. बुखार Fever and chills, especially in newborns and children
  7. दिमागी लक्षण Mental status changes
  8. उलटी Nausea and vomiting
  9. रौशनी से संवेदनशीलता Sensitivity to light
  10. सिर में बहुत दर्द होना Severe headache
  11. गर्दन अकड़ जाना Stiff neck
  12. बच्चों में
  13. फ़ॉन्टनेंल्स उभरना fontanelles
  14. कम सतर्कता
  15. दूध नहीं पीना
  16. रैपिड श्वास
  17. असामान्य मुद्रा, सिर और गर्दन का पीछे झुकना (ऑप्टोटोटोनीस)
  18. रौशनी से संवेदनशीलता
इसे भी पढ़ें -  सतही थ्रोम्बोफ्लिबिटिस का लक्षण, कारण और उपचार

मेनिनजाइटिस (Meningitis) के लिए उपलब्ध परीक्षाएं और टेस्ट कौन से हैं?

देखने से निम्न लक्षण दिख सकते हैं:

  1. दिल का तेज़ धडकना
  2. बुखार
  3. मानसिक स्थिति बदलना
  4. गर्दन में कड़ापन
  5. मेनिन्जाइटिस के शक होने पर, परीक्षण के लिए रीढ़ की हड्डी के द्रव (मस्तिष्क की तरल द्रव या सीएसएफ) के एक नमूने को भेजा जाना चाहिए।
  6. Lumbar puncture is essential to confirm diagnosis.
  7. अन्य टेस्ट
  8. ब्लड कल्चर
  9. छाती एक्सरे
  10. सिर का सीटी स्कैन

मेनिनजाइटिस (Meningitis) का इलाज क्या है?

बैक्टीरियल मेनिनजाइटिस का इलाज करने के लिए एंटीबायोटिक्स का उपयोग किया जाता है। बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस आमतौर पर अधिक गंभीर होता है और अंतःशिरा एंटीबायोटिक दवाओं के साथ अस्पताल में उपचार की आवश्यकता होती है। बैक्टीरियल मेनिनजाइटिस का एक विशेष रूप से चिंताजनक प्रकार मेन्निगोकोकल मेनिन्जाइटिस है। यह बिना किसी इलाज के जीवन को खतरा हो सकता है।

बैक्टीरियल मैनिंजाइटिस से ठीक होने में एक लंबा समय लग सकता है, और कभी-कभी दीर्घकालिक समस्याएं जैसे कि सुनाई नहीं देना, मस्तिष्क क्षति हो सकती हैं।

एंटीबायोटिक वायरल मेनिन्जाइटिस का इलाज नहीं करते लेकिन हर्पीज मेनिन्जाइटिस के साथ उन लोगों को एंटीवायरल दवा दी जा सकती है।

वायरल मेनिन्जाइटिस के लिए कोई विशेष उपचार उपलब्ध नहीं है, और अधिकांश लोग आराम से और अतिरिक्त तरल पदार्थ से पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं।

अन्य उपचार शामिल होंगे:

  1. नसों से शरीर में तरल पदार्थ देना
  2. लक्षणों के उपचार के लिए दवाइयां, जैसे कि मस्तिष्क सूजन, और दौरे

मेनिन्जाइटिस को रोका कैसे जा सकता है?

  1. कुछ टीके बैक्टीरियल मेनिन्जाइटिस के कुछ प्रकार को रोकने में मदद कर सकती हैं:
  2. Haemophilus vaccine (HiB vaccine) बच्चों को दिया गया हैमोफिलस टीका (हायबी वैक्सीन) मदद करता है।
  3. Pneumococcal vaccine बच्चों और वयस्कों के लिए निमोकोकल वैक्सीन दिया जाता है।
  4. Meningococcal vaccines मेनिंगोकोकल टीकों को बच्चों और वयस्कों को दिया जाता है।
  5. कुछ जगहों पर मेनिंजोकॉकल मेनिन्जाइटिस के प्रकोप के बाद टीकाकरण अभियान चलाये जाते हैं।
इसे भी पढ़ें -  बवासीर का इलाज Piles Treatment and Recommended Diet in Hindi

Meningitis is Inflammation of the layers (meninges) covering the brain and spinal cord. It is an infection of the membranes covering the brain and spinal cord.

The symptoms of disease include headache, high fever, chills, backache, nausea and vomiting, neck stiffness, convulsions and sometimes coma.

Meningitis can be a life-threatening illness so urgent medical treatment is needed.

Treatment option of diseases involves Control of fever and pain with Paracetamol and giving antibiotics, such as Ampicillin, Penicillin. If unconscious, insert NGT for feeding and urethral catheter.

As a preventive steps, children should be vaccinated.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.