जिआर्डिएसिस क्या होती है Giardiasis in Hindi

जानिये जिआर्डिएसिस बीमारी क्या होती है और इसका का इलाज कैसे किया जाता है। जिआर्डिएसिस के लक्षण क्या होते हैं और जिआर्डिएसिस को दवाइयों से कैसे ठीक किया जा सकता है। जानिये जिआर्डिएसिस की कैन कौन सी दवाएं हैं।

जिआर्डिएसिस (गिर्डिएसिस / गियार्डियासिस), पाचन अंगों का एक संक्रमण है जोकि एक प्रोटोजोआ परजीवी जीआर्डिया इंटेसटाइनेलिस Giardia intestinalis (जिसे गिआर्डिया लैंब्लिया Giardia lamblia, या गिर्डिया ड्यूडेनेलिस Giardia duodenalis) के कारण होता है।

डायरिया जीराडिआसिस का सबसे सामान्य लक्षण है।

Giardiasis is the infection of the upper small intestine caused by the flagellate protozoan Giardia Lamblia (or G. intestinalis). This infection is mainly asymptomatic. However when symptoms occur, they include acute and/or chronic diarrhea, without blood or pus.

जिआर्डिएसिस के लक्षण क्या हैं?

  1. दस्त Diarrhoea
  2. पेट में मरोड़ Abdominal cramps
  3. भूख में कमी Loss of appetite
  4. बदबू के साथ गैस  Foul-smelling flatulence and belching
  5. मतली  Nausea (feeling sick)
  6. खट्टी डकार Indigestion
  7. कुपोषण के कारण वजन घटना Weight loss caused by malnutrition
  8. थकावट (अत्यधिक थकान) Fatigue (extreme tiredness)
  9. निर्जलीकरण Dehydration
  10. सूजन Bloating

इससे उल्टी और हल्का बुखार (98.6-100.4 एफ) भी हो सकता है, गियार्डियासिस आमतौर पर स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा नहीं है और इसका आसानी से इलाज किया जा सकता है।

डॉक्टर को कब दिखाएँ?

यदि आपको दस्त, ऐंठन, सूजन और मतली के लक्षण हैं जो एक हफ़्ते से अधिक समय तक मौजूद हैं तो डॉक्टर से मिलें।

अगर बच्चे को दस्त दो से तीन दिन तक रहता है, या पिछले 24 घंटों में उसे दस्त छः या अधिक हुए, तो डॉक्टर से संपर्क करें।

जिआर्डिएसिस के निदान के लिए प्रयोगशाला में परीक्षण करने के लिए मल के नमूनों को भेजना पड़ सकता है। गियार्डियासिस की पुष्टि के लिए तीन से ज्यादा नमूने को कई दिनों तक लेना पड़ सकता है

जिआर्डिएसिस का इलाज कैसे करते हैं?

Loading...

जिआर्डियासिस को आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं के साथ सफलतापूर्वक इलाज किया जाता है जो कि जीरडीया परजीवी को मारता है। ज्यादातर मामलों में, मेट्रोनिडाजोल या टिनिडाज़ोल नामक दवाएं उपयोग की जाती हैं।

इसे भी पढ़ें -  अधिक खाने का विकार : Binge eating disorder

Metronidazole (Oral):

  • Adult and children over 10 years; 2g orally once daily for 3 days OR 400mg 8 hourly for 5 days.
  • Children below 10 years: 15mg/kg/day in 3 divided dosing for 5- 7days.
  • Indicatively: 1-3 years 500mg/day; 3-7 years 600-800 mg/day; 7-10 years 1g/day for 3 days.

OR

Tinidazole: Adult 2g orally as a single dose during or after meal. Children 50-75mg/kg body weight as a single dose; Repeat once if necessary.

OR

  • Secnidazole (PO) Adult 2g as a single dose.
  • Metronidazole, Secnidazole and Tinidazole should be avoided the first trimester of pregnancy.
  • Reduce dosing to 50% in significant liver disease.

मतली मीट्रोनिडाजोल का सबसे आम दुष्प्रभाव है। दुर्लभ अवसरों पर, कुछ लोग भी चक्कर महसूस कर सकते हैं या नींद आ सकते हैं। यदि यह आपके साथ होता है, तो ड्राइविंग या पावर टूल्स या मशीनरी का इस्तेमाल न करें।

मेट्रोनिडाजोल या टिनिडाज़ोल लेने के दौरान या अपने खुराक को खत्म करने के 48 घंटों के लिए शराब न लें।

यदि आपको गियाडायसिस है, तो आपके परिवार के अन्य सदस्यों को इलाज का सुझाव दिया जा सकता है। यह एक एहतियाती उपाय है।

जिआर्डिएसिस किसे फैलता है?

अधिकांश लोग जिआर्डियासिस से जिआर्डिया परजीवी के साथ दूषित पानी पीने से या संक्रमित व्यक्ति के साथ सीधे संपर्क के माध्यम से संक्रमित हो जाते हैं।

अगर संक्रमित व्यक्ति शौचालय का उपयोग करने के बाद अपने हाथ ठीक नहीं धोता है, तो दूसरों द्वारा खाया जाने भोजन संभालता है तो यह रोग को दूसरों तक पहुंचा देगा। अगर यह संक्रमित पानी से धोया जाता है तो भोजन दूषित हो सकता है और खाने पर परजीवी से संक्रमित कर सकता है।

जिआर्डिएसिस किसे प्रभावित करता है?

गिआर्डियासिस दुनिया में लगभग हर जगह होता है, लेकिन विशेष रूप से वहां व्यापक है जहां साफ पानी कम उपलब्ध है और स्वच्छता खराब है।

यह सभी उम्र के लोगों को प्रभावित कर सकता है लेकिन यह छोटे बच्चों और उनके माता-पिता में सबसे आम है।

इसे भी पढ़ें -  पेट से आवाज (गुड़गुड़ाना) : कारण, लक्षण और उपचार

दवाओं के साथ निम्न का ध्यान रखें Home remedies:

  1. पानी की कमी न होने दें। ठण्डा पानी नहीं पियें।
  2. थोड़ी थोड़ी देर पर पानी पीते रहें।
  3. नारियल पानी पियें।
  4. खाने में पतली मूंग दाल की खिचड़ी खाएं इसमें पकाते समय कुछ लहसुन डाल दें और बनने के बाद अच्छे से अजवाइन और लहसुन का तड़का लगायें।

जिआर्डिएसिस Prevention से कैसे बचा जाए?

  1. बाहर यदि पानी पीना हो तो बोतलबंद पानी ही पियें।
  2. सड़क किनारे मिलने वाले भोजन, चाटपकौड़े आदि न खाएं।
  3. गन्दा पानी न पियें।
  4. पब्लिक टॉयलेट को इस्तेमाल करने के बाद हाथों को अच्छे से धोएं।
  5. खाना खाने से पहले और बाद में हाथों को अच्छे से धोना न भूलें।
  6. ट्रेवल करते समय कोशिश करें कि घर का बना खाना ही खाएं।
  7. अच्छे हाइजीन, साफ़ पानी और खाने से पेट की बीमारियों से बचा जा सकता है।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.