पित्ताशय में सूजन Cholecystitis जानकारी और उपचार

कोलेसिस्टिटिस Cholecystitis के लक्षण क्या हैं? इसके कारण क्या है और के कोम्प्लिकेशन क्या होती हैं? Cholecystitis कोलेसिस्टिटिस का इलाज़ क्या है? पित्ताशय में सूजन से कैसे बचें?

कोलेसिस्टिटिस या पित्ताशयशोथ, पित्ताशय में सूजन को कहते हैं। पित्ताशय की थैली यकृत के नीचे, पेट के दाहिनी ओर स्थित एक छोटा, नाशपाती के आकार का अंग है। पित्ताशय की थैली एक पाचन तरल पदार्थ रखता है जो छोटी आंत में जाता है और फैट का पाचन करता है।

गालब्लैडर में होने वाले पत्थर, जब गालब्लैडर से निकलने वाले रास्ते को बंद कर देते है तो पित्त यहीं फंस जाता है और सूजन हो जाती है जिसे कोलेसिस्टिटिस कहते हैं। यदि समय रहते, इसे ठीक नहीं किया जाए तो गालब्लैडर रप्चर हो सकता है। कोलेसिस्टिटिस का उपचार, गालब्लैडर को सर्जरी द्वारा हटाना है।

कोलेसिस्टिटिस Cholecystitis के लक्षण क्या हैं?

  1. कोलेसिस्टिटिस के लक्षण फैटी या भारी खाना, खाने के बाद होते हैं।
  2. ऊपरी दाएं पेट में गंभीर दर्द Severe pain in your upper right abdomen
  3. दाएं कंधे या पीठ पर दर्द Pain radiating to your right shoulder or back
  4. पेट में छूने पर दर्द Tenderness over your abdomen when it’s touched
  5. जी मिचलाना Nausea
  6. उल्टी Vomiting
  7. बुखार Fever

अगर ऐसे लक्षण हो तो डॉक्टर से तुरंत सम्पर्क करें।

Cholecystitis कोलेसिस्टिटिस के कारण क्या है?

Loading...

कोलेसीसिटीस में पित्ताशय में सूजन हो जाती है। यह सूजन के निम्न कारण से हो सकती है:

  1. पित्ताशय की पथरी: पित्ताशय की थैली में पथरी (पित्त पथरी) होने पर, स्टोन बह कर उस ट्यूब में पहुँच जाते हैं और इसे जाम कर देते हैं, जो पित्त को पित्ताशय से निकाल कर आँतों में जाने के लिए है, तो इससे पिताशय की थैली में सूजन हो जाती है।
  2. ट्यूमर Tumor: ट्यूमर से बाइल ठीक से निकल नहीं पाता और गालब्लैडर में सूजन हो जाती है।
  3. पित्त की डक्ट में रुकावट Bile duct blockage: बाइल डक्ट की रुकावट से कोलेसिस्टिटिस हो जाता है।
  4. जिन लोगों को पता है कि उन्हें पिताशय की पथरी है, उन्हें समय रहते इसका इलाज़ करा लेना चाहिये जिससे यह कोम्प्लिकेशन न हो। कोलेसिस्टिटिस हो जाने पर इलाज़ जटिल हो जाता है और दर्द भी काफी ज्यादा होता है।
इसे भी पढ़ें -  मल से बहुत ज्यादा बदबू आना

Cholecystitis कोलेसिस्टिटिस के कोम्प्लिकेशन

  1. गालब्लैडर के अंदर इन्फेक्शन Infection within the gallbladder
  2. गाल ब्लैडर के टिश्यू फट जाना Torn gallbladder

कोलेसिस्टिटिस के लिए टेस्ट कौन से हैं?

  1. रक्त परीक्षण Blood tests
  2. इमेजिंग परीक्षण Computerized tomography (CT) scan
  3. हेपोटोबिलरी इमोडोडियाकेनिक एसिड (एचआईडीए) स्कैन hepatobiliary iminodiacetic acid (HIDA) scan

Cholecystitis कोलेसिस्टिटिस का इलाज़ क्या है?

पित्ताशयशोथ के उपचार अस्पताल में भर्ती होना पड़ता है और सर्जरीद्वारा पित्ताशय को हटा दिया जाता है।

डॉक्टर लक्षणों और पित्ताशय की थैली में सूजन को नियंत्रित करने के लिए आपका उपचार करेंगे। उपचार में शामिल हो सकते हैं:

  1. फास्टिंग: खाना-पीना न करने से पित्त के स्राव के कारण होने वाले स्ट्रेस को कम करने की कोशिश की जाएगी।
  2. दर्द निवारक: इससे दर्द को कम किया जाता है।
  3. एंटीबायोटिक्स: इससे इन्फेक्शन को कम किया जाएगा।
  4. पित्ताशय की थैली को हटाने के लिए सर्जरी

पित्ताशयशोथ अक्सर बार-बार होता है, इसलिए ज्यादातर लोगों में पित्ताशय की थैली हटा दी जाती है। सर्जरी का समय आपके लक्षणों की गंभीरता और सर्जरी के दौरान और बाद में समस्याओं के आपके समग्र जोखिम पर निर्भर करेगा।

  1. laparoscopic cholecystectomy
  2. single-incision laparoscopic cholecystectomy
  3. open cholecystectomy

लैप्रोस्कोपिक कोलेसीस्टेक्टोमी: लचीली ट्यूब के अंत में एक छोटे वीडियो कैमरे का उपयोग करते हुए कोलेसीस्टेक्टोमी की जाती है। उपकरण और कैमरा आपके पेट में चार चीरों के माध्यम से डाला जाता है, और शल्य चिकित्सक उपकरण के दृश्य मॉनिटर पर देखता है और पिताशय की थैली को हटा देता है।

एक बार आपकी पित्ताशय की थैली हटा दी जाती है, तो पित्त यकृत से सीधे छोटी आंत में जाता है। सामान्य रूप से रहने के लिए आपको अपने पित्ताशय की थैली की ज़रूरत नहीं है।

Cholecystitis पित्ताशय में सूजन से कैसे बचें?

धीरे-धीरे वजन कम करें

तेजी से वजन घटाने के कारण गालस्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है। अगर आपको वजन कम करने की आवश्यकता है, तो एक हफ्ते में लगभग आधा से 1 किलोग्राम से ज्यादा वज़न कम न करें।

इसे भी पढ़ें -  रक्तस्राव विकार (ब्लीडिंग डिसऑर्डर) | Bleedin disorder

मोटापा न होने दें

मोटापे से गालस्टोन होने का खतरा बढ़ जाता है। कम कैलोरीज का खाना खाएं और व्यायाम करें।

भोजन का सही चुनाव करें

कम वसा और अधिक फाइबर युक्त भोजन करें।

Acute cholecystitis is sudden swelling and irritation of the gallbladder causing severe pain. It happens when the bile duct is choked and the bile is trapped inside the gallbladder.

The symptoms include severe pain, fever, vomiting, jaundice etc. The condition is diagnosed by ultrasound, CT scan, X-ray, and Gallbladder radionuclide scan. In most of the cases the person is hospitalized and the gallbladder is removed through surgery.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!