Divya Patanjali Sanjivani Vati Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

दिव्य संजीवनी वटी आयुर्वेदिक दवाई है, जानिये संजीवनी वटी को किन रोगों में प्रयोग करते हैं? इस दवा को एक गिलास पानी के साथ निगल कर लेते हैं। इस दवा को कभी भी चबा कर या तोड़ कर नहीं लेना चाहिए।

दिव्य संजीवनी वटी आयुर्वेदिक दवाई है जिसे बुखार, पुराने बुखार, टाइफाइड, खांसी, ठंड, श्वसन पथ संक्रमण और अन्य वायरल संक्रमण में दिया जाता है। इस दवा के कुछ साइड-इफेक्ट्स हो सकते हैं। इसे कम से कम समय के लिए और कम से कम मात्रा में लेना चाहिए।

यह पेज संजीवनी वटी के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी। यह दवा का प्रचार नहीं है। इस पेज का उद्देश्य दवा सम्बंधित सही जानकारी देना है। दवा का इस्तेमाल डॉक्टर की राय पर ही करें।

  • दवा का नाम/उपलब्ध ब्रांड नाम: Divya Sanjivani Vati
  • निर्माता: पतंजलि दिव्य फार्मेसी
  • मुख्य प्रयोग: बुखार
  • मूल्य: 20 gram @ Rs 37

संजीवनी वटी की संरचना क्या है?

Sanjivani Vati Tablet Composition/Ingredients

  • Embelia Ribes 1 Part
  • Zingiber Officinale 1 Part
  • Piper Longum 1 Part
  • Terminalia Chebula 1 Part
  • Terminalia Bellirica 1 Part
  • Emblic Myrobalan 1 Part
  • Acorus Calamus 1 Part
  • Tinospora Cordifolia 1 Part
  • Semecarpus Anacardium 1 Part
  • Aconitum Ferox 1 Part
  • Gomutra Cow Urine QS

संजीवनी वटी को किन रोगों में प्रयोग करते हैं?

Loading...

संजीवनी वटी के चिकित्सीय उपयोग निम्न हैं:

Sanjivani Vati Tablet Indications

  • बुखार Fever associated with indigestion
  • टाइफाइड Typhoid
  • सन्निपात बुखार High fever due to vitiation of all doshas
  • कफ रोग Cold, cough, flu
  • गुल्म Abdominal lump (Gulma)
  • गैस्ट्रोएंटेरिटिस Digestive gastroenteritis
  • पाचन की समस्या Ajirna (Dyspepsia)
  • बदहजमी Indigestion
  • विशुचिका Vishuchi (Gastro-enteritis with piercing pain)
  • विषैले जीवों का काटना Snake bite and other poisons
  • सांप काटना Sarpadansha (Snake bite)

संजीवनी वटी की डोज़ क्या है?

Sanjivani Vati Tablet Dose

वयस्क: 1 से 2 गोली चिकित्सक की राय पर।

इस दवा को एक गिलास पानी के साथ निगल कर लेते हैं। इस दवा को कभी भी चबा कर या तोड़ कर नहीं लेना चाहिए।

इसे भी पढ़ें -  हिमकोलिन जेल के फायदे, उपयोग और प्रयोग का तरीका

संजीवनी वटी का अन्य किन दवाओं से इंटरैक्ट कर सकती है?

  • Sanjivani Vati Tablet Drug Interactions
  • यह हृदय रोग के लिए इस्तेमाल दवाओं के साथ इंटरैक्ट कर सकती है।
  • यह एंटासिड के असर को कम करती है।

संजीवनी वटी के साइड इफ़ेक्ट क्या हो सकते हैं?

Sanjivani Vati Tablet Adverse Effects

  • इससे शरीर में गर्मी बढ़ती है।
  • इससे पेट में जलन, खट्टी डकार आदि लक्षण हो सकते हैं।
  • इससे ब्लीडिंग की संभावना बढ़ सकती है।
  • पित्त प्रकृति के लोगों में पित्त की अधिकता हो सकती है।

यह साइड इफेक्ट की पूरी सूची नहीं है।

हमारा लक्ष्य आपको सही जानकारी प्रदान करना है। क्योंकि दवाएं प्रत्येक व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित करती हैं, हम इस बात की गारंटी नहीं दे सकते हैं कि इस जानकारी में सभी संभावित दुष्प्रभाव शामिल हैं। यह जानकारी चिकित्सा सलाह के लिए एक विकल्प नहीं है। हमेशा डॉक्टर से संभावित दुष्प्रभावों पर चर्चा करें।

संजीवनी वटी को कब नहीं लेना चाहिए?

Sanjivani Vati Tablet Contraindications

  • इसे प्रेगनेंसी में प्रयोग नहीं करें।
  • इसे दूध पिलाने के दौरान नहीं लें।
  • किसी सर्जरी के पहले इसे नही लें।
  • कम रक्तचाप की समस्या में इसे नहीं लें।
  • बिना डॉक्टर की सलाह पर इसे नहीं लें।

संजीवनी वटी किन लोगों को सावधानी से लेनी चाहिए?

Sanjivani Vati Tablet Precautions

  • इसे पित्त प्रकृति के लोग सावधानी से लें।
  • दवा के सेवन से यदि कोई भी साइड इफ़ेक्ट लगे तो दवा लेना बंद कर दें और डॉक्टर की सलाह लें।

संजीवनी वटी किन रूपों में उपलब्ध है?

Sanjivani Vati Tablet Availability

यह टेबलेट के रूप में उपलब्ध है।

संजीवनी वटी कैसे स्टोर करें?

Sanjivani Vati Tablet Storage

  • दवा को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। इसे रौशनी और नमी से दूर रखें। दवा को अँधेरे में सूखे स्थान पर रखें।
  • दवा के सेवन से पहले एक्सपायरी डेट चेक करें।
  • खराब दवा को ठीक तरह से डिस्पोज करें।
  • दवा को बच्चों की दृष्टि और पहुँच से दूर रखें।
  • गलती से दवा का ओवरडोज़ हो गया हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।
इसे भी पढ़ें -  दालचीनी Cinnamon के उपयोग, लाभ और साइड इफेक्ट्स

Related Posts

पतंजलि शिवलिंगी बीज Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi
नीम के तेल Neem Oil के फायदे और नुकसान
बादाम रोगन (बादाम तेल) के फायदे Badam Oil (Almond Oil) Roghan Badam Shirin Uses and Benefits in Hindi
झंडू पंचारिष्ट Pancharishta Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi
अश्वगंधा के फायदे, सेवन का तरीका और नुकसान Benefits and Side Effects of Ashwagandha in Hindi

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!