हेमपुष्पा Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

हेमपुष्पा सिरप को उन स्त्रियों के द्वारा हेल्थ टोनिक की तरह लिया जा सकता है जो मासिक की दिक्कतों और महीने सम्बन्धी अन्य कठनाइयों का सामना कर रही है। पीरियड्स होने के दौरान दर्द होता है। ब्लीडिंग ज्यादा होती है। कमर में दर्द, चक्कर आना और ऐठन होती है। ऐसे में इस दवा के सेवन से लाभ होता है।

राजवैद्य शीतल प्रसाद और संस द्वारा निर्मित हेमपुष्पा, महिलाओं के लिए आयुर्वेदिक टॉनिक है। यह खून साफ़ करता है, पीरियड्स की दिक्कतों, होर्मोन की समस्या, चक्कर आना, थकावट, कमर और पेडू के दर्द आदि में राहत देता है।

हेमपुष्पा सिरप को उन स्त्रियों के द्वारा हेल्थ टोनिक की तरह लिया जा सकता है जो मासिक की दिक्कतों और महीने सम्बन्धी अन्य कठनाइयों का सामना कर रही है। जो महिलायें पूरी तरह से स्वस्थ हैं, उन में इस दवा का सेवन हॉर्मोन में बदलाव ला सकता है इसलिए उन्हें इसका इस्तेमाल बहुत सावधानी से करना चाहिए।

हेमपुष्पा मार्केट में और ऑनलाइन उपलब्ध है। ये एक हर्बल दवा है और इसके साइड इफेक्ट्स कम ही है, लेकिन क्योंकि इसकी हेर्ब्स होरमोन पर काम करती है आपको कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जैसे पीरियड की ब्लीडिंग का बदलना, मुंह पर मुंहासे होना आदि। इसलिए  दवा लेने के दौरान अगर कोई भी अवांछनीय प्रभाव लगे तो दवा लेना बंद कर देना चाहिए।

यह पेज हेमपुष्पा के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी। यह दवा का प्रचार नहीं है। इस पेज का उद्देश्य दवा सम्बंधित सही जानकारी देना है। दवा का इस्तेमाल डॉक्टर की राय पर ही करें।

  • दवा का नाम/उपलब्ध ब्रांड नाम: HEMPUSHPA SYRUP
  • निर्माता: राजवैद्य शीतल प्रसाद और संस
  • मुख्य प्रयोग: स्त्री स्वास्थ्य समस्या
इसे भी पढ़ें -  मूव क्रीम से दर्द से राहत Moov Cream in Hindi

हेमपुष्पा की संरचना क्या है?

HEMPUSHPA SYRUP Composition/Ingredients

हेमपुष्पा कई प्राकृतिक, जड़ी बूटियों के अर्क से बना है जो नीचे दी गयी हैं:

  • गोखरू
  • शंखपुष्पि
  • मुस्ली
  • पुनर्नवा
  • अश्वगंधा
  • बाख
  • धातकी पुष्प
  • दारुहल्दी
  • गंभारी
  • लोध्र
  • मंजिष्ठा
  • अनंतमूल
  • बाला
  • नागरमोथा
  • शतावर

हेमपुष्पा को किन रोगों में प्रयोग करते हैं?

Loading...

HEMPUSHPA SYRUP Indications

हेमपुष्पा के चिकित्सीय उपयोग निम्न हैं:

  • अनियमित पीरियड्स
  • कमर दर्द
  • खून की कमी
  • खून साफ़ करना
  • गैस्ट्रिक समस्या
  • पीरियड्स का जल्दी जल्दी आना
  • पीरियड्स में ज्यादा ब्लीडिंग
  • पोषक तत्व पूरक
  • मूत्र समस्याएं
  • रजोनिवृत्ति सिंड्रोम
  • स्त्री टॉनिक
  • स्वस्थ वजन
  • हाथ पैर में जलन
  • हार्मोनल असंतुलन
  • हैवी पीरियड आना
  • हॉर्मोन का असंतुलन
  • यह दवा लडकियां और महिलायें दोनों ले सकती हैं। यह एक टॉनिक है।

हेमपुष्पा के फायदे क्या हैं?

HEMPUSHPA SYRUP Health Benefits

हेमपुष्पा के निम्न फायदे हैं:

पीरियड्स को रेगुलर करना

कुछ लडकियों और महिलाओं में पीरियड्स समय पर नहीं आते। पीरियड्स होने के दौरान दर्द होता है। ब्लीडिंग ज्यादा होती है। कमर में दर्द, चक्कर आना और ऐठन होती है। ऐसे में इस दवा के सेवन से लाभ होता है।

पीरियड्स में दर्द

कुछ लडकियों को पीरियड्स में बहुत ऐंठन और दर्द होता है। ऐसी लड़कियों को हेमपुष्पा सिरप का सेवन पीरियड्स के दौरान करना चाहिए। ज़रूरी नहीं की वे पूरे महीने इसे पिए। केवल पीरियड्स के दिनों में ही इसका सेवन करके देखें।

मीनोपॉज में राहत

मीनोपॉज के दुरान महिला का शरीर बहुत से बदलाव से जूझ रहा होता है। पसीना आना, कमजोरी, कब्ज, कमजोर पाचन, हॉर्मोन लेवल गिर जाना आदि लक्षण होते हैं। ऐसे में हेम्पुषपा सिरप का सेवन लाभप्रद हो सकता है।

पेशाब सम्बन्धी दिक्कतों में फायदेमंद

इसे पीने से पेशाब की जलन, पेशाब नहीं रुकना, आदि में फायदा होता है।

त्वचा में चमक लाना

हेमपुष्पा खून साफ़ करती है जिससे त्वचा की कंडीशन ठीक होती है।

हेमपुष्पा की डोज़ क्या है?

HEMPUSHPA SYRUP Dose

  •  7 मिलीलीटर, की दो खुराक के दिन में दो बार ले।
  • या आपे डॉक्टर के सलाह अनुसार लें।
इसे भी पढ़ें -  गोखरू Tribulus terrestris Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

हेमपुष्पा का अन्य किन दवाओं से इंटरैक्ट कर सकती है?

HEMPUSHPA SYRUP Drug Interactions

ज्ञात नहीं है।

हेमपुष्पा को कितने दिन लेना चाहिए?

  • इसे एक दो महीने ले कर देखें। यदि पॉजिटिव असर हो तो लेते रहें।
  • पीरियड में अधिक ब्लीडिंग हो या दर्द ज्यादा होता हो तो केवल पीरियड्स में लें।

क्या इसे प्रेगनेंसी में ले सकते हैं?

यह दवा होरमोन पर असर डालती है। इसके लिए कोई शोध उपलब्ध नहीं है। इसे प्रेगनेंसी में बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं लें।

हेमपुष्पा के साइड इफ़ेक्ट क्या हो सकते हैं?

HEMPUSHPA SYRUP Adverse Effects

इससे कुछ महिलाओं का वज़न बढ़ सकता हो ।

यह साइड इफेक्ट की पूरी सूची नहीं है।

हमारा लक्ष्य आपको सही जानकारी प्रदान करना है। क्योंकि दवाएं प्रत्येक व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित करती हैं, हम इस बात की गारंटी नहीं दे सकते हैं कि इस जानकारी में सभी संभावित दुष्प्रभाव शामिल हैं। यह जानकारी चिकित्सा सलाह के लिए एक विकल्प नहीं है। हमेशा डॉक्टर से संभावित दुष्प्रभावों पर चर्चा करें।

हेमपुष्पा को कब नहीं लेना चाहिए?

HEMPUSHPA SYRUP Contraindications

  • मोटापा।
  • नियमित पीरियड्स।

हेमपुष्पा किन लोगों को सावधानी से लेनी चाहिए?

HEMPUSHPA SYRUP Precautions

  • दवा को नाप वाले ढक्कन से नाप कर ही लें।
  • इसे खाली पेट नहीं लें।
  • ब्रेकफास्ट के बाद और डिनर के बाद लें।

हेमपुष्पा प्रेगनेंसी केटेगरी क्या है?

यह हर्बल दवा है और इसकी प्रेगनेंसी केटगरी के लिए कोई शोध उपलब्ध नहीं है।

हेमपुष्पा किन रूपों में उपलब्ध है?

HEMPUSHPA SYRUP Availability

यह सिरप की तरह बोतल में आती है।

क्या माहवारी में हेमपुष्पा जैसी टॉनिक लेनी चाहिए?

हाँ, ले सकते हैं। लेकिन अगर ब्लीडिंग पर असर हो जैसे बहुत कम हो जाए या ज्यादा आये तो नहीं लें। आखिर सभी का शरीर एक जैसे नहीं होता।

हेमपुष्पा कैसे स्टोर करें?

  • HEMPUSHPA SYRUP Storage
  • दवा को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। इसे रौशनी और नमी से दूर रखें। दवा को अँधेरे में सूखे स्थान पर रखें।
  • दवा के सेवन से पहले एक्सपायरी डेट चेक करें।
  • उपयोग से पहले लेबल ध्यान से पढ़ें।
  • खराब दवा को ठीक तरह से डिस्पोज करें।
  • दवा को बच्चों की दृष्टि और पहुँच से दूर रखें।
  • गलती से दवा का ओवरडोज़ हो गया हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।
इसे भी पढ़ें -  नीम के तेल Neem Oil के फायदे और नुकसान

हेमपुष्पा का दाम क्या है?

Hempushpa 170 ml price MRP Rs. MRP ₹246

Loading...

2 Comments

  1. Kya isake sath vitamin b ka tablet sewan kar sakte hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!