हमदर्द जिग्रीना Hamdard Jigreena Capsules Uses, Side Effects, Dosages in Hindi

जिग्रीना, केमिकल फ्री हर्बल फार्मूला है भूख और पाचन शक्ति बढाने में मददगार है। जिगरीन, यकृत पर शराब, भोजन और पानी में मौजूद हानिकारक विषैले पदार्थों के खिलाफ जिगर की रक्षा में करता है।

हमदर्द जिग्रीना, जिगर के लिए दवाई है। यह हर्बल प्रोडक्ट है जिसे पुराने समय से लीवर के लिए इस्तेमाल की जाने वाली जड़ी बूटियों से बनाया गया है। जिग्रीना में लीवर प्रोटेक्टिव गुण है। इसे जिगर की कमजोरी, भूख नहीं लगना, पेट फूलना आदि में मदद करता है। यह हर्बल लीवर टॉनिक है जो लीवर के सही तरह से फंक्शन करने में मदद करता है। इसे लेने से पाचन में सुधार होता है और भूख नहीं लगना, पेट फूलना आदि में लाभ होता है।

जिग्रीना, केमिकल फ्री हर्बल फार्मूला है भूख और पाचन शक्ति बढाने में मददगार है। जिगरीन, यकृत पर शराब, भोजन और पानी में मौजूद हानिकारक विषैले पदार्थों के खिलाफ जिगर की रक्षा में करता है।

यह पेज हमदर्द जिग्रीना के बारे में हिंदी में जानकारी देता है जैसे कि दवा का कम्पोज़िशन, उपयोग, लाभ/बेनेफिट्स/फायदे, कीमत, खुराक/ डोज/लेने का तरीका, दुष्प्रभाव/नुकसान/खतरे/साइड इफेक्ट्स/ और अन्य महत्वपूर्ण ज़रूरी जानकारी। यह दवा का प्रचार नहीं है। इस पेज का उद्देश्य दवा सम्बंधित सही जानकारी देना है। दवा का इस्तेमाल डॉक्टर की राय पर ही करें।

  • दवा का नाम/उपलब्ध ब्रांड नाम: Jigreena
  • निर्माता: हमदर्द
  • मुख्य प्रयोग: लिवर स्वास्थ्य

हमदर्द जिग्रीना की संरचना क्या है?

Jigreena Composition/Ingredients

Each capsule contains dried aqueous extracts of:

  • रेवंदचीनी Revandchini (Rheum emodi) 323.6 mg
  • अर्जुन Arjuna (Terminalia arjuna) 32.36 mg
  • बिरंजसिफ (आर्टेमिसिया वल्गारिस) Biranjasif (Artemisia vulgaris) 38.83 mg
  • सरफोक Sarphoka (Tephrosea purpurea) 19.42 mg
  • भांगरा (एक्लीप्टा अल्बा) Bhangra (Eclipta alba) 19.42 mg
  • कालमेघ (एंड्रोग्राफिस पैनिकुलटा) Kalmegh (Andrographis paniculata) 19.42 mg

रेवंदचीनी किसे नहीं लेनी चाहिए?

रयूम एमोदी Rheum emodi या हिमालयी रबर्ब एक बारहमासी जड़ी बूटी परिवार पॉलीगोनसेई से संबंधित है। इसका इस्तेमाल विरेचक, टॉनिक, मूत्रवर्धक की तरह किया जाटा है। इसे बुखार, खांसी, अपचन, मासिक धर्म विकार का इलाज करने में किया जाता है। रेवंदचीनी हल्का purgative है। इसमें एंटीफ्लैमेटरी गुण भी पाए जाते हैं। वैज्ञानिक शोधों ने रेवंदचीनी में हेपेट्रोप्रोटक्टिव गतिविधि की पुष्टि की है। कार्बन टेट्राक्लोराइड के द्वारा यकृत क्षति के खिलाफ रयूम एमोदी राइज़ोम का असर विस्टर चूहों का मूल्यांकन किया गया। कार्बन टेट्राक्लोराइड ने एएसटी, एएलटी और एएलपी AST, ALT and ALP और कुल बिलीरुबिन में वृद्धि की। रयूम इमोडी देने पर एएसटी, एएलटी और एएलपी सामान्य हुए और यकृत पैटर्न की सामान्य संरचना बहाल हुई । रेवंदचीनी का हेपेट्रोप्रोटक्टिव एक्शन होने से यह यकृत क्षति के खिलाफ रक्षा करता है।

इसे भी पढ़ें -  दालचीनी Cinnamon के उपयोग, लाभ और साइड इफेक्ट्स

रेवंदचीनी रूबर्ब सूजन आंतों की बीमारियों, आंतों में रुकावट, appendicitis और पेट दर्द अज्ञात कारण Rhubarb is contraindicated in acute inflammatory intestinal diseases, intestinal obstructions, appendicitis and abdominal pain of unknown origin में नहीं दिया जाना चाहिए।

  • गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान भी यह contraindicated है।
  • गुर्दे की बीमारियों में, गठिया, संधिशोथ में भी इसे नहीं दिया जाना चाहिए।
  • इसका उपयोग गठिया से पीड़ित मरीजों के लिए निषिद्ध है।
  • संधिशोथ, मिर्गी और यूरिक एसिड परेशानी के मरीजों के लिए रेवंदचीनी निषिद्ध है।
  • गुर्दे या पित्त मूत्राशय पथरी का इतिहास के मरीजों के लिए रेवंदचीनी निषिद्ध है।

इसमें कुछ ऑक्सीलिक एसिड होता है, जो, जब उपभोग किया जाता है, रक्त में कैल्शियम के साथ गठबंधन कर ऑक्सालेट क्रिस्टल बना सकता है गुर्दे या पित्त में जमा हो सकते हैं। यह सूजन या febrile मामलों के लिए फिट नहीं है। जब यह आंतरिक रूप से दिया जाता है, तो मूत्र का रंग गहरा हो जाता हैं।

बिरंजसिफ आर्टेमिसिया वल्गारिस (मगगॉर्ट) किसे नहीं लेनी चाहिए?

बिरंजसिफ जिसे मगगॉर्ट भी कहा जाता है को मासिक धर्म की दिक्कतों, गर्भाशय संबंधी विकारों, पीरियड में दर्द, मांसपेशी ऐंठन, अस्थमा, पाचन और परजीवी उपद्रव से संबंधित रोगों में दिया जाता है।

बिरंजसिफ में दर्द निवारक, कृमिनाशक, विरेचक, क्षुधावर्धक, स्वेदन, और मूत्रवर्धक गुण हैं। यह यकृत टॉनिक भी है। इसके सेवन से पित्त स्राव बढ़ता है और पाचन ठीक से होता है। यह चयापचय को सुधारता है और आंतों की मूवमेंट में सुधार करता है।

मगगॉर्ट का प्रयोग गैस्ट्रिक जूस और पित्त स्राव को उत्तेजित करने के लिए भी किया जाता है। यह यकृत टॉनिक के रूप में भी प्रयोग किया जाता है।

मगगॉर्ट रूट मानसिक समस्याओं (मनोविज्ञान), चल रही थकान और अवसाद ( न्यूरैथेनिया ), अवसाद , बीमारी (हाइपोकॉन्ड्रिया), सामान्य चिड़चिड़ापन, बेचैनी, परेशानी सोने ( अनिद्रा ), और चिंता के लिए प्रकोप के लिए प्रयोग किया जाता है ।

बिरंजसिफ आर्टेमिसिया वल्गारिस (मगगॉर्ट) का सेवन निम्न स्थितियों में नहीं किया जाना चाहिए:

  • मगगॉर्ट में मौजूद केमिकल गर्भाशय को उत्तेजित कर सकते हैं।
  • इसे गर्भावस्था में नहीं लेना चाहिए। यह पीरियड्स लाता है और गर्भाशय संकुचन को उत्तेजित करता है। इससे गर्भपात हो सकता है।
  • दूध पिलाने वाली माताओं को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए। दूध से है बच्चे को जा सकता है।
  • जिन महिलाओं में पीरियड्स हैवी आते हैं, ब्लीडिंग ज्यादा होटी है को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • जिन लोगों को डेज़ी परिवार के पौधों से एलर्जी हैं, जैसे कि रगवार्ट, डेज़ीज और मैरीगोल्ड, को इससे भी एलर्जी हो सकती है।
इसे भी पढ़ें -  Divya Patanjali Sanjivani Vati Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

हमदर्द जिग्रीना को किन रोगों में प्रयोग करते हैं?

Loading...

हमदर्द जिग्रीना के चिकित्सीय उपयोग निम्न हैं:

Jigreena Indications

  • लीवर टॉनिक
  • लीवर की कमजोरी
  • भूख नहीं लगना
  • बेहतर पाचन शक्ति

हमदर्द जिग्रीना के लाभ क्या हैं?

  • यह हर्बल लीवर टॉनिक है।
  • यह भूख और पाचन को बढ़ावा देता है।
  • यह लीवर की रक्षा करता है।
  • इसमें एंटी-हेपेटोटोक्सिक गतिविधि है।
  • यह इष्टतम यकृत समारोह सुनिश्चित करता है।
  • यह शराब, भोजन और पानी से हानिकारक विषैले पदार्थों के खिलाफ जिगर की रक्षा करने में मदद करता है।

यह पाचन तंत्र से संबंधित समस्या से भी राहत देता है जैसे भूख नहीं लगना, गैस्ट्रिक जूस की कमी, कब्ज और पेट में दर्द में फायदा करता है।

हमदर्द जिग्रीना की डोज़ क्या है?

Jigreena Dose

  • वयस्क: दिन में दो बार, सुबह और शाम में 2 कैप्सूल, पानी के साथ।
  • इस दवा को एक गिलास पानी के साथ निगल कर लेते हैं। इस दवा को कभी भी चबा कर या तोड़ कर नहीं लेना चाहिए।

हमदर्द जिग्रीना की कीमत क्या है?

HAMDARD JIGREENA 60 CAPSULES FOR LIVER

MRP RS 150

हमदर्द जिग्रीना के साइड इफ़ेक्ट क्या हो सकते हैं?

Jigreena Adverse Effects

  • इससे पेट में ऐंठन हो सकती है।
  • इससे पीरियड में ब्लीडिंग अधिक हो सकती है ।
  • इससे लेक्सेटिव असर हो सकता है।
  • यह साइड इफेक्ट की पूरी सूची नहीं है।

हमारा लक्ष्य आपको सही जानकारी प्रदान करना है। क्योंकि दवाएं प्रत्येक व्यक्ति को अलग तरह से प्रभावित करती हैं, हम इस बात की गारंटी नहीं दे सकते हैं कि इस जानकारी में सभी संभावित दुष्प्रभाव शामिल हैं। यह जानकारी चिकित्सा सलाह के लिए एक विकल्प नहीं है। हमेशा डॉक्टर से संभावित दुष्प्रभावों पर चर्चा करें।

हमदर्द जिग्रीना को कब नहीं लेना चाहिए?

Jigreena Contraindications

  • इसे प्रेगनेंसी में नहीं लेना चाहिए।
  • इसे स्तनपान करवाने के दौरान नहीं लें।
  • इसे पीरियड के दौरान लेने से अगर ब्लीडिंग ज्यादा होती है तो इसे नहीं लें।
इसे भी पढ़ें -  दशमूलारिष्ट Dashmularishta (Dasamoolarishtam) Uses, Benefits, Side Effects, Dosage, Warnings in Hindi

क्या हमदर्द जिग्रीना प्रेगनेंसी में ले सकते हैं ?

नहीं, इसे गर्भावस्था में नहीं लेना चाहिए।

हमदर्द जिग्रीना किन रूपों में उपलब्ध है?

Jigreena Availability

यह कैप्सूल की तरह उपलब्ध है।

हमदर्द जिग्रीना कैसे स्टोर करें?

Jigreena Storage

  • दवा को निर्देशों के अनुसार ही स्टोर करें। इसे रौशनी और नमी से दूर रखें। दवा को अँधेरे में सूखे स्थान पर रखें।
  • दवा के सेवन से पहले एक्सपायरी डेट चेक करें।
  • खराब दवा को ठीक तरह से डिस्पोज करें।
  • दवा को बच्चों की दृष्टि और पहुँच से दूर रखें।
  • गलती से दवा का ओवरडोज़ हो गया हो तो डॉक्टर से संपर्क करें।
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!